Header Ads

वजन कम करने के लिए शाकाहारी खाना


वजन कम करने के लिए शाकाहारी खाना

अपने रोजाना के आहार में अनाज लेने के अनेक फायदे हैं। जिसे बहुत कम लोग जानते है। हममे से अधिकतर माँसाहारी भोजन जैसे- चिकन, फिश व अण्डो का प्रयोग वजन कम करने के लिए करते है। हम यह अनुमान लगाते है कि शाकाहारी आहार लेकर एनर्जी तथा पोषण प्राप्त नहीं कर सकते। जबकि शाकाहारी आहार को सर्वाधिक स्वास्थ्यवर्धक व हेल्दी आहार माना गया है। 

शाकाहारी भोजन के अनेक स्वास्थ्य लाभ है। यह कोलेस्ट्रोल को कम करता है, हाई ब्लड प्रेशर, हायपरटेंशन, हृदय संबंधित बिमारियाँ व अन्य में लाभदायक है। अनाज युक्त आहार वज़न कम करने में सहायक है। यह अनसेचुरेटेड फैट व केलोरी कम करता है। शाकाहारी आहार लेने की शुरूआत स्वस्थ आहार योजना (हेल्दी डाइट चार्ट) बनाकर करनी चाहिए जिसमें बहुत सा फाइबर, प्रोटीन, एन्टीऑक्सीडेंट तथा अन्य विटामिन शामिल हो जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक है।

वजन कम करने के श्रेष्ठ शाकाहारी आहार


शाकाहारी आहार में वे सारे पोषण शामिल होने चाहिए जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक है।
1. हरी पत्तेदार सब्जियाँ 

वजन कम करने के शाकाहारी भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियाँ श्रेष्ठ आहार में मानी गई है। ये पोषण, विटामिन, मिनरल्स तथा एन्टीऑक्सीडेन्ट का पावर हाउस कहलाते है। शाकाहारी आहार में हरी पत्तेदार सब्जियाँ महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है यह प्रोटीन व फाइबर का मुख्य स्त्रोत है। यह शाकाहारी आहार शरीर से केलोरी व फैट कम करके वजन कम करने में बहुत सहायक है।

उत्तम स्त्रोत – पालक, ब्राकोली
2. नट्स एवं बीज (Nuts and Beans for Weight Loss)

नट्स एवं बीज फाइबर, विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन तथा अन्य हेल्दी फैट के शक्तिशाली स्त्रोत माने गए है। अन्य फेटी आहारो की तुलना में नटस एवं बीज अधिक हेल्दी होते है। यह ओमेगा 3 फेटी एसिड का उत्तम स्त्रोत हैं। ये आहार कोलेस्ट्रोल कम करने, हड्डियों को मजबूती प्रदान करने तथा दिमाग की कार्य प्रणाली को ढंग से चलाने में सहायक है। सुखे मेवे तथा बीज में विटामिन होते है, यह नियमित आहार में शामिल करने चाहिए।

उत्तम स्त्रोत– बादाम, अखरोट, अलसी, मूंगफली कद्दू के बीच, सुरजमुखी के बीज।
3. बिन्स एवं सोया प्रोडक्ट (Beans and Soya Product for Weight Loss)

शाकाहारी डाइट में माँस, फिश तथा वे भोजन नहीं आते है, जिनमें प्रोटीन की उच्च मात्रा हो। इसकी जगह इस डाइट में डेयरी प्रोडक्ट, सोया प्रोडक्ट व बिन्स होते है जो प्रोटिन व अन्य पोषण का स्त्रोत है। बिन्स और सोया में फाइबर व प्रोटीन होने के कारण यह कोलेस्ट्रल लेवल कम करके शरीर का फैट कम करता है। बिन्स के अनेक प्रकार है, यह आवश्यक केमिकल, विटामिन, कैल्शियम, फोलेट व अमीनो एसिड होते है जो शरीर के लिए आवश्यक होते है। बिन्स व सोया प्रोडक्ट वजन कम करने में सहायक है। यह मेटाबॉलिक रेट (दर) को बढ़ाता है।
मुख्य स्त्रोत – किडनी बिन्स, सोया बिन्स, टोफू, बेक्ड बिन्स ब्लेक बिन्स, लेनटिल्स।
4. अनाज (Grains for Weight Loss)

अनाज में बहुत सा पोषण व आयरन, जिंक होते है। सारे अनाज वेगी डाइट में बहुत महत्वपूर्ण है, यह शरीर को एनर्जी देते है, इसमें कार्बोहाइड्रेड, फाइबर, प्रोटीन व आवश्यक मिनरल्स होते है।

मुख्य स्त्रोत – सफेद ब्रेड, ओट्स, पोरिज, ब्राउन राइस, सुजी।
5. फल (Fruits for Weight Loss)

शाकाहारी आहार में फल महत्वपूर्ण है। इनमें केलोरी की मात्रा कम होती है व उच्च मात्रा में फाइबर, विटामिन, मिनरल्स, एन्टीऑक्टीडेन्ट व अन्य पोषण होता है। नियमित पोषण वाले आहार में फल अवश्य होता है। फल शरीर के लिए एवं स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक हैं।

जैसे ब्लडप्रेशर कम करना, कोलेस्टेरोल लेवल बनाए रखना, वजन कम करने के लिए फल अवश्य खाने चाहिए। इसमें केलोरी की मात्रा कम होती है।
मुख्य स्त्रोत – तरबूज, (वाटर मिलन) मस्क मिलन (खरबूजा) एपल, ऑरेज बेरिज, पपाया।

ये सभी 4 शाकाहारी आहार वज़न कम करने में सहायक है। ये शाकाहारी आहार अलग-अलग प्रकार के है इन सभी को नियमित आहार में शामिल करना चाहिए।


20 मिनट तेजी से दौड कर पेट की चरबी को कम करे





पेट की चर्बी या शरीर के अन्य भागों की चर्बी, वसा की एक विशेष रूप से हानिकारक प्रकार है जो आपके अंगों के आसपास जमा होती है। पेट की चर्बी कम करने के लिए पहले 2 सप्ताह, सबसे महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि आहार और व्यायाम में परिवर्तन लाने से कम समय में अपेक्षाकृत ज्यादा वज़न घटा सकते है। यदि आप जल्दी से पेट की चरबी को कम करना चाहते है तो तेजी से दौड़े। 





1. केवल सप्ताह में तीन बार 20 मिनट तेजी से दौड़ना आपको मजबूत एब्स प्रदान करेगा। तेजी से दौड़ने से आपके शरीर के अन्य भागों जैसे जांघ, कूल्हों और नितम्ब से भी चरबी खर्च होती है।


2. उच्च तीव्रता होने के कारण इससे कम तीव्रता वाले अकेले व्यायाम की तुलना में ज्यादा वजन घटाने में सहायता मिलती है।

3. कुछ समय के लिए तेजी से दौड़ने पर वास्तव में 200 कैलोरी खर्च होती है जो लम्बे समय तक जॉगिंग या घूमने से कही अधिक है।


4. तेजी से दौड़ने पर आपकी मेटाबोलिक दर बढ़ जाती है। जिससे आप व्यायाम के बाद भी लगातार कैलोरी खर्च करते है।


5. ध्यान रखें कि सप्ताह में तीन या चार से अधिक बार तेजी से नहीं दौड़े ताकि आपकी मांसपेशियों को आराम मिल सकें।


6. जिस दिन आप तेजी से नहीं दौड़ते है आप कम या मध्यम तीव्रता के व्यायाम कर सकते है।


7. तेजी से दौड़ने से पहले अपने को वार्म अप कर ले।


8. इससे आपका शरीर, शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से व्यायाम के लिए तैयार हो जाता है, विभिन्न मांसपेशियों में रक्त संचरण बढ़ता है और लचीलापन भी बढ़ता है जिससे आपको चोट लगने की संभावना कम हो जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.