Header Ads

महिलाओं के लिए सेक्‍स क्‍यों है फायदेमंद

महिलाओं के लिए सेक्‍स क्‍यों है फायदेमंद 




महिलाएं सेक्स के दौरान न सिर्फ आंनद का अनुभव करती है बल्कि सेक्स से उन्हें कई प्रकार के शारीरिक और भावनात्मक लाभ भी होते है सेक्स से महिलाओं के शारीरिक सरंचना में भी परिवर्तन आता है। सेक्स के दौरान अपने पार्टनर द्वारा मिले शारीरिक और भावनात्मक सर्पोंट से महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ता है। यंू तो महिलाओं में हमेशा सेक्स की चाहत होती है लेकिन मासिक पूरा हो जाने के पांच से सात दिन तक महिलाएं सेक्स के मूड में ज्यादा होती है क्योंकि मासिक चक्र पूरा होने के बाद सेक्स वाले हार्मोस सक्रिय हो जाते है। माहावारी के पांच से सात दिन में सेक्स करना ज्यादा ही आनंद की अनुभूति कराता है साथ ही इसका लाभ कम से कम 12 दिनों तक रहता है। महावारी के बाद महिलाओं में सेक्स ही तीव्र इच्छा जागृत होना स्वाभाविक है क्योंकि इन दिनों में गर्भधारण की संभावना कम हो जाती। वैसे तो यह शारीरिक जरुरत का एक हिस्सा है। सेक्स वैवाहिक संबंधों को सुखी बनाता है और भविष्य में दोनों के बीच सेक्स को लेकर दूरियां कभी नहीं आती।

महिलाओं के लिए सेक्स के लाभ 

- यह एक शारीरिक व्यायाम है जो आपको स्वस्थ रखता है। महिलाओं में सेक्स के दौरान से शरीर में कैलोरी को जलन होता है यानी सेक्स शरीर का वजन कम करने में मददगार होता है इससे महिलाअ‍ें का वजन कम होता है। 

- सेक्स कई बीमारियों को कम करता है और अन्य बीमारियों के संक्रमण से शरीर की प्रतिक्षा करता है और महिलाओं को स्वस्थ बनाता है। 

- सेक्स से रक्तचाप नियंत्रित रहता है और कई बीमारियों से मुक्ति मिलती है। 

- सेक्स दिल को मजबूत बनाता है जिससे दिल से जुड़ी बीमारियों की संभावना कम होती एक सप्ताह में सेक्स दो बार या दो से अधिक बार सेक्स करने से महिलाओं में घातक दिल के दौरे की संभावना उन महिलाओं के तुलना में कम हो जाती है जो कम सेक्स करती है। 

- सेक्स महिलाओं में आत्मसम्मान को बढ़ाता है। 


- सेक्स करने से कई बीमारियों के दर्द से राहत मिल सकती है जैसे- गठिया, सिर दर्द इत्यादि में सेक्स के बाद कुछ राहत पा सकते है। 

- महिलाओं में सेक्स पेल्विक मांसपेशियों को मजबूत बनाता है संभोग के दौरान उनकी पेल्विक मांसपेशियों को व्यायाम होता है जिससे महिलाओं में यूरीन असंयम का जोखिम कम हो जाता है। 

- बेहतर नींद के लिए सेक्स जरुरी है। संभोग के बाद महिलाओं को बेहतर नींद आती है और स्वास्थ्य लाभ होता है।

प्रेग्नेंसी में SEX के दौरान कंडोम का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो होगा ये




प्रेग्नेंसी नारी जीवन की ऐसी अवस्था है, जिसमें एक महिला को जितना ध्यान अपने खानपान पर देना होता है उतना ही अपने लाइफस्टाइल पर भी देना होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि जिस तरह से एक आम महिला और एक गर्भवती महिला की संरचना में काफी अंतर होता है, ठीक उसी तरह एक ​महिला के गर्भवती होते ही उसका लाइफस्टाल भी अन्य महिलाओं से अलग हो जाता है. लेकिन कई बार महिलाएं इसे जल्दी से स्वीकार करने से परहेज करती हैं और अपनी मस्ती में रहती हैं.

उन महिलाओं को शायद इस बात की जानकारी नहीं होती है कि उनकी इन हरकतों का सीधा असर उनके शिशु पर पड़ रहा है. सेक्स हर व्यक्ति की जिंदगी का वो पल होता है, जिसे करते वक्त बेहद आनंद और खुशी मिलती है. प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना अन्य अवस्थाओं से बहुत अलग होता है. यहां हम आपको बता रहे हैं कि गर्भवती महिला को सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल क्यों नहीं करना चाहिए.

अक्सर लोग ये सोचते हैं कि प्रेग्नेंसी के वक्त अगर वो बिना कंडोम के सेक्स करते हैं तो कोई नुकसान नहीं होगा. क्योंकि जब एक महिला प्रेग्नेंट है तो फिर ना तो गर्भवती होने के चांस रहते हैं और ना ही वैजाइना में इंफेक्शन होने का खतरा रहता है. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ये आपके लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है. क्योंकि गर्भावस्था में कंडोम के बिना सेक्स करने से एसटीडी, एड्स, वैजाइनल इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है.

इससे मां और शिशु दोनों को गहरा खतरा होने के चांस रहते हैं. प्रेगनेंसी के दौरान सर्विक्स म्यूकल प्लग से बंद हो जाता है, जिससे गर्भाशय में स्पर्म घुस नहीं पाते हैं. जिसके चलते वैजाइना के अलावा शरीर के दूसरे अंगों में इंफेक्शन होने का खतरा रहता है. प्रेग्नेंसी के वक्त इस बात का खास ध्यान रखें कि भूल कर भी कंडोम के बिना सेक्स ना करें.

प्रेग्नेंसी के चलते अगर आप एसटीडी के उपचार के लिए कोई दवा लेते हैं तो ये आपके शिशु के स्वास्थ्य को काफी नुकसान पहुंचा सकती है. प्रेग्नेंट महिला को एसटीडी के अलावा क्लामिडिया, सिफिलिस, हर्पिस, हेपाटाइटिस बी, ग्रोनोरियाम, एचआईवी/एड्स हो सकता है. इसका सीधा असर डिलीवरी के वक्त मां और शिशु दोनों पर पड़ता है. ध्यान रखें कि प्रेंग्नेसी की प्लानिंग से पहले ही अपना एसटीडी और अन्य चेकअप करा लें. क्योंकि प्रेग्नेंसी के वक्त इसके लक्षणों की पहचान करना बहुत मुश्किल हो जाता है.




सुबह सुबह सेक्स करना है, सेहत के लिए कितना फायदेमंद…


अगर आप ऐसा सोच रहे है कि सुबह-सुबह सेक्स करना आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है या फिर इससे कोई नुकशान हो सकता है तो आप बिलकुल गलत सोच रहे है | आज हम आपको यहाँ यह बता रहे कि सुबह-सुबह सेक्स करना आपकी सेहत के लिए कितना अधिक फायदेमंद है | यह न केवल आपकी हेल्थ को ही सही रखते हुए आपको फिट बनाता है बल्कि गंभीर बीमारियों से आपकी रक्षा भी करता है |


मॉर्निंग सेक्स के फायदे –कई सर्वे में यह देखा गया है कि सिर्फ चाय या नाश्ता करके घर से निकलने वालों के मुकाबले मॉर्निंग सेक्स करने वाले ज्यादा खुश रहते हैं और हेल्थी भी | सुबह-सुबह सेक्स करने वालों के शरीर में एक ऐसे तत्व का रिसाव होता है जो पूरे दिन प्यार बनाए रखने में लाभदायक सिद्ध होता है | यह आपके इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने के साथ ही आपको दिन भी चुस्त बनाए रखता है | यह आपके बालों, स्किन और नाखूनों को भी बेहतर बनाने में मददगार साबित हुआ है | हफ्ते में तीन बार सुबह-सुबह सेक्स करने वालों को हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा भी कम जो जाता है |


क्या करें और क्या न करें ?रात को बिस्तर पर जाने से पहले वॉशरूम जाना न भूलें | क्योंकि सुबह लवमेकिंग के बीच में वॉशरूम जाना आपके पार्टनर का मूड बिगाड़ सकता है और आपकी पूरी मेहनत पर पानी फेर सकता है |


सोने से पहले दातों को ब्रश करना न भूले। सांसों को फ्रेश करने के लिए आपके बेड के पास माउथ फ्रेशनर या कुछ होना चाहिए। आपके सांसों की दुर्गंध आपके पार्टनर का मूड खराब कर सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.