Header Ads

मार्च के पहले ही दिन जान लें कि एक स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को कितना पानी पीना चाहिए

मार्च के पहले ही दिन जान लें कि एक स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को कितना पानी पीना चाहिए
सबसे ज्‍यादा जरूरी है कि बॉडी को हाइड्रेट रखना।

इसी समय से अगर ध्‍यान न दिया जाए तो सेहत को कई तरह के नुकसान झेलने पड़ सकते हैं। इनमें सबसे ज्‍यादा जरूरी है कि बॉडी को हाइड्रेट रखना। ©Shutterstock.



मार्च महीने की शुरूआत के साथ ही मौसम में गर्मी महसूस होने लगती है। इसी समय से अगर ध्‍यान न दिया जाए तो सेहत को कई तरह के नुकसान झेलने पड़ सकते हैं। इनमें सबसे ज्‍यादा जरूरी है कि बॉडी को हाइड्रेट रखना। आइए बताते हैं कि एक स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को असल में कितना पानी पीना चाहिए।

यह भी पढ़ें – ज्‍यादा लिया तनाव, तो बढ़ जाता है अर्ली मीनोपॉज का जोखिम

लाइफ लाइन है पानी

अच्‍छे आहार और स्‍वच्‍छ हवा की ही तरह शरीर के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी पानी है। शुद्ध, स्वच्छ पेयजल आपके शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए बहुत कुछ करता है। पानी न सिर्फ हमारी प्‍यास बुझाता है बल्कि यह हमारे पूरे शरीर के लिए फायदेमंद है। इसलिए यह जानना भी जरूरी है कि हमें कब और कितना पानी पीना चाहिए।

यह भी पढ़ें – चित्‍त को शांत करता है ध्‍यान, हर रोज बस पंद्रह मिनट करें अभ्‍यास

सुबह उठकर
सुबह सोकर उठने के बाद पानी पीना स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत जरूरी होता है। उठने के बाद एक गिलास नॉर्मल या ल्‍यूकवर्म वाटर आपकी आंतों के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह शरीर की गंदगी निकालने में मदद करता है। आंतों फसे अपशिष्‍ट पदार्थों को बाहर निकालता है।

खाना खाने से पहले

खाने से पहले पानी पीने से आप भरा महसूस करते हैं; इसका मतलब है कि आपको अपने भोजन को कम करने की संभावना नहीं होगी। जब आप हाइड्रेटेड होते हैं तो भोजन के लिए पेट भी तैयार हो जाता है, पानी स्वाद की कलियों को जगाता है और पेट की परत को मॉइस्चराइज़ करता है। एक गिलास पानी पीने से मुंह नम हो जाता है।

वर्कआउट से पहले

तापमान, आर्द्रता और आपके शरीर के द्रव स्तर के आधार पर, आपको अपने वर्कआउट के दौरान और बाद में डिहाइड्रेशन से बचने के लिए एक या कई गिलास पानी की आवश्यकता हो सकती है। यह आपको स्‍ट्रोक की समस्‍या से बचाता है।

वर्कआउट के बाद

वर्कआउट के बाद, आपको पसीने और पेशाब के माध्यम से खोए हुए तरल पदार्थों को बदलने के लिए बहुत सारा पानी पीने की आवश्यकता हो सकती है। आप किसी भी वातावरण में व्‍यायाम करें, लेकिन पानी जरूर पीएं।

बैक्‍टीरिया के संपर्क में आने पर

यदि आप अस्पताल या काम और स्कूल में बीमार लोगों के आसपास हैं, तो बैक्‍टीरिया और वायरस को दूर करने में मदद करने के लिए सामान्य से थोड़ा अधिक पानी पीएं। इससे शरीर बैक्‍टीरिया से मुक्‍त हो जाएगा। अच्छी तरह से हाइड्रेटेड शरीर बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्‍शन को आगे बढ़ने से रोकता है।

जब आप बीमार हों

जब किसी व्‍यक्ति को फीवर, कफ या कोल्‍ड की समस्‍या होती है तो शरीर में पानी की कमी यानी डिहाइड्रशन की समस्‍या हो जाती है। ऐसे समय में शरीर को पानी की सख्‍त जरूरत होती है। कई विशेषज्ञ मानते हैं कि इस स्थिति में अगर पानी का सेवन किया जाए तो बीमारी जल्‍दी दूर हो जाती है।

जब आप थके हों
क्या आप जानते हैं कि थकान डिहाइड्रेशन के लक्षणों में से एक है? जब आपके शरीर में पानी की कमी होती है तभी थकान महसूस होती है। अगर आप ऑफिस में काम करने के दौरान थका हुआ महसूस कर रहे हैं तो एक ग्‍लास पानी आपकी थकान दूर कर सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.