Header Ads

गर्भावस्था में गैस या पेट फूलना


गर्भावस्था में गैस या पेट फूलना : लक्षण, कारण और घरेलू उपाय 
(garbhavastha me gas ki problem ke lakshan, karan aur gharelu upay)
गर्भवती महिलाओं में गर्भावस्था में गैस की समस्या (pregnancy me gas ki problem) होना आम बात है। अक्सर असंतुलित भोजन और कम एक्टिव (सक्रिय) होने की वजह से गर्भवती महिलाओं को गैस हो सकती है। गर्भावस्था में गैस बनने की समस्या को आमतौर पर पेट फूलने की समस्या भी कहा जाता है। इस ब्लॉग में आपको गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) बनने से जुड़़े लक्षण, कारण और उससे बचने के उपायों के बारे में बताया जा रहा है।
1. गर्भावस्था में गैस कब होती है?
 (pregnancy me gas ki problem kab hoti hai)गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या महिलाओं को पहली तिमाही के अंत से शुरु हो जाती है और इस समस्या से लगभग हर प्रेगनेंट महिला को जूझना पड़ता है। खासतौर पर यह उन महिलाओं को ज्यादा होती है जो अक्सर अपने खानपान के प्रति ध्यान नहीं देती हैं।
2. क्या गर्भावस्था में गैस होना सामान्य है? (kya pregnancy me gas ki problem aam hai)गर्भावस्था में गैस (gas during pregnancy) की समस्या प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली साधारण समस्याओं में से एक है। क्योंकि, यह एक आम परेशानी है इसी वजह से गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) होना किसी प्रकार की खतरे की घंटी नहीं होती। यदि आपके पेट में असहनीय दर्द हो तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, क्योंकि यह कभी कभी गंभीर अपच और आंतों में संक्रमण की वजह से हो सकता हैं। अगर आपको पेट के किसी हिस्से में लगातार दर्द हो रहा है या आपको दस्त की समस्या है तो जल्द से जल्द किसी डॉक्टर को दिखाएं।
)3. गर्भावस्था में गैस के लक्षण क्या हैं? 
(pregnancy me gas ki problem ke lakshan kya hai)गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या से होने वाली तकलीफ असहनीय होती है, इसीलिए समय रहते गैस के लक्षण को जान लेना बेहद जरूरी होता है। गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) के लक्षण नीचे बताए गए हैं -
गैस के लक्षण : बार-बार गैस निकलना : गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) होने की स्थिति में बार-बार गैस निकलने की परेशानी होती है।
गैस के लक्षण : पेट में दर्द : गर्भावस्था के दौरान यदि अक्सर पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है तो इसे गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) का लक्षण मान सकते है।
गैस के लक्षण : पेट में एेंठन : गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) होने पर पेट में एेंठन होती है।
गैस के लक्षण : सीने में जलन : सीने में जलन होना भी गर्भावस्था में गैस का लक्षण हो सकता है।पढ़े - 4. गर्भावस्था में गैस की समस्या के क्या कारण होते हैं? (pregnancy me gas ki problem ke kya karan hote hai)
गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) बनने का मुख्य कारण हार्मोनों में बदलाब होता है। इसके अलावा गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) बनने के अन्य कई कारण हो सकते हैं जो नीचे बताए गए हैं -
गैस बनने का कारण : प्रोजेस्टेरोन हार्मोन : गर्भावस्था में गर्भवती महिला के शरीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के बढ़ने से उनकी पाचन क्रिया धीमी हो जाती है, जिस वजह से गैस बनती है। इसे गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) बनने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है।
गैस बनने का कारण : कब्ज : जब पेट की बड़ी आंत में भोजन जमा होता है तो अक्सर कब्ज की समस्या होती है। कब्ज होने के कारण ही गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या होती है।
गैस बनने का कारण : अंसुलित भोजन : असंतुलित भोजन लेने की वजह से भी आपको गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की परेशानी हो सकती है। कभी कभी भोजन में कुछ सब्जियां जैसे पत्ता गोभी, फूल गोभी, ब्रोकली और दूध एवं उससे बनी वस्तुएं खाने की वजह से भी गैस बन सकती है।
गैस बनने का कारण : पाचन की कमी : देर रात खाना खाने और भोजन के तुरंत बाद सोने की वजह से आपके पेट में खाना पूरी तरह से पच नहीं पाता है। इस वजह से गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) होती है।
गैस बनने का कारण : वजन का बढ़ना : प्रेगनेंसी में महिलाओं का वजन बढ़ना सामान्य है। वजन बढ़ने की वजह से पाचन क्रिया पर असर पड़ता है और इससे गैस बनता है।
गैस बनने का कारण : गर्भाशय के आकार में वृद्धि : गर्भावस्था के विभिन्न चरणों में जब गर्भाशय का आकार बढ़ने लगता है तो पेट के निचले हिस्से पर दबाव बनता है। इस कारण खाना हजम नहीं हो पाता और गैस बनती है।
गैस बनने का कारण : आंतों में बैक्टेरिया : गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या का एक और कारण आंतों में बैक्टेरिया (bacteria in hindi) हो सकता है।


5. गर्भावस्था में गैस में क्या नहीं खाना चाहिए? (pregnancy me gas ki problem me kya nahi khana chahiye)
गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) बनाने वाली वस्तुओं को यदि आप खाने से परहेज करती हैं तो आपको गैस की समस्या से राहत मिल सकती है, लेकिन यह याद रखें कि इन वस्तुओँ को न खाने से आपके गैस केवल कम हो सकती है। गैस बनाने वाली वस्तुएं निम्न है -
सब्जियां : एेसी कई हरी सब्जियां हैं जिनसे गैस बनती है। इन सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट (carbohydrates in hindi) की जो मात्रा पाई जाती है उसे गर्भावस्था में पचा पाना मुश्किल होता है, नतीजतन इनसें गैस बनती है। गैस बनाने वाली सब्जियों मेें पत्ता गोभी, फूल गोभी, बीन्स, प्याज, मूली एवं पालक आदि शामिल हैं।
दालें : यूं तो दालों में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है, लेकिन गर्भावस्था में अत्यधिक दाल खाने से गैस की समस्या हो सकती है। इनमें हरी मूंग, अरहर की दाल, छोले आदि मुख्य हैं।
फल : कुछ फलों में अत्यधिक कार्बोहाइड्रेट की मात्रा पाई जाती है। यह पाचन क्रिया के समय आंतों में फंसे रह जाने की वजह से गैस बनाने का काम करते है। इन फलों के परहेज से आपको गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या से थोड़ी राहत मिल सकती है। गैस बनाने वाले फलों में मुख्य रूप से सेब, आम, चेरी, तरबूज शामिल है।
पेय पदार्थ : गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की परेशानी की वजह पेय पदार्थ भी हो सकते हैं। इनमें चाय, कॉफी, सोडा आदि शामिल हैं।
शराब : प्रेगनेंसी में शराब पीने से भी आपको गैस की समस्या हो सकती है। इनमें बीयर, वाइन आदि शामिल है।
गैस बनाने वाली अन्य वस्तुएं : विशेषज्ञ कहते हैं कि किशमिश, मुनक्का, सौंफ, सूरजमुखी के बीज, खसखस और गेंहू से भी कभी-कभी गैस बनने की परेशानी होती है।


6. गर्भावस्था में गैस कम करने के घरेलू उपाय क्या हैं? (pregnancy me gas ki problem ke gharelu nuskhe kya hai)
हालांकि गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की परेशानी को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता है, लेकिन कुछ सामान्य घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) को कम जरूर कर सकती हैं।नोट - विशेषज्ञों का कहना है कि प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में महिला को किसी भी प्रकार का उपचार नहीं किया जाना चाहिए। इसीलिए किसी भी उपचार को घर पर आज़माने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार सलाह जरूर ले लें।
मेथी के दानों का उपयोग गैस के लिए रामबाण माना जाता है। रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में करीब दो बड़ी चम्मच मेथी भिगो कर रखें। सुबह मेथी को छान लें और खाली पेट इसे पी लें।
अदरक के सही उपयोग से भी गर्भावस्था में गैस की परेशानी (pregnancy me gas ki problem) से राहत मिल सकती है। एक चम्मच अदरक के रस में शहद मिला कर पीएं।
एक चम्मच धनिया के बीजों को कूट कर एक गिलास गरम पानी में मिलाएं। पांच मिनट के बाद उसे छान कर पी लें।
एक गिलास गरम पानी में एक बड़ी चम्मच शहद और दालचीनी का पाउडर मिलाएं। थोड़ी देर बाद इसे छान कर पी लें, इससे आपकी गैस की परेशानी कम हो जाएगी।
एक गिलास गरम दूध में एक चम्मच दालचीनी का पाउडर मिलाएं और उसे पी लें। इसमें स्वाद के लिए शहद मिला सकते हैं।


7. गर्भावस्था में गैस की समस्या दूर करने के लिए क्या करें? (pregnancy me gas ki problem dur karne ke liye kya kare)गर्भावस्था में गैस की समस्या (pregnancy me gas ki problem) दूर करने के लिए आपको उन सारी आदतों को बदलना होगा जो गैस बनाने में सहायक होती हैं। आप नीचे बताए गए उपायों को अपना सकती हैं -
अपने आहार से कार्बोहाइड्रेट की मात्रा को कम करने से आपको गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। कार्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं में - गेहूं, चावल, मैदा आदि शामिल है।
भरपूर मात्रा में पानी पीएं।
एक बार में भरपेट भोजन करने से बचें, और दिनभर में थोड़ी-थोड़ी मात्रा में भोजन करें।
कृत्रिम तरीकों से बनने वाली वस्तुओं को भोजन में शामिल न करें। जैसे - मैगी, नूडल्स, पैकेज्ड फूड आदि।
रोजाना नियमित समय पर भोजन करें।
भोजन को अच्छी तरह से चबा कर खाएं।
सोडा युक्त पेय पदार्थ न पीएं, जिनमें शराब एवं कोल्ड ड्रिंक्स शामिल है।
रात को सोने से पहले चाय या कॉफी न पीएं।
खाना खाने के तुरंत बाद न सोएं।
हर बार खाना खाने के बाद थोड़ी देर पैदल चलें, इससे आपका पाचन तंत्र अच्छे से काम करेगा।
रोजाना योग करें।
खाना खाने के बाद टाइट कपड़े न पहनें।कभी-कभी पेट दर्द और पेट में एेंठन गर्भावस्था में गैस की परेशानी (pregnancy me gas ki problem) हो सकती है। आमतौर पर गर्भावस्था में गैस की समस्या गर्भवती महिलाओँ के शारीरिक बदलाव की वजह से हीती है, जिसका उपाय कुछ घरेलू उपचारों से कर सकते हैं। हालांकि ज्यादा गैस होने की समस्या को नजरअंदाज किया जाना भी अापके और आपके शिशु के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इसीलिए गर्भावस्था में गैस (pregnancy me gas ki problem) की समस्या ज्यादा होने पर जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से सलाह लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.