Header Ads

गर्भवती होने के लिए करें योग


गर्भवती होने के लिए करें योग 
(Yoga to get pregnant in hindi)
मां बनने की इच्छा हर महिला को होती है। कुछ महिलाएं आसानी से गर्भधारण कर लेती हैं, तो कुछ को गर्भधारण करने में समस्या होती है। यह समस्या शारीरिक एवं मानसिक दोनों प्रकार की हो सकती है। एेसी कई परेशानियों का हल योग में है। गर्भवती होने के लिए योग (yoga to get pregnant in hindi) को काफी फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि इससे महिलाओं की प्रजनन क्षमता (फर्टिलिटी / fertility) में वृद्धि होती है। इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे प्रेगनेंट होने के लिए योग (pregnant hone ke liye yoga) क्यों करना चाहिए, योग व प्रणायाम के प्रकार, उनके फायदें और योग से जुडे टिप्स।


. गर्भवती होने के लिए योग क्यों करना चाहिए? (pregnant hone ke liye yoga kyu karna chahiye)महिलाओं को गर्भवती होने के लिए योग (pregnant hone ke liye yoga) करना चाहिए, क्योंकि इसके अनेक प्रकार के लाभ होते हैं, जिनका उल्लेख नीचे किया जा रहा है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : तनाव में कमी - दरअसल, डॉक्टर्स कहते हैं कि तनाव की वजह से कई बार महिलाओँ को ओवुलेशन संबंधी समस्याएं हो सकती है। गर्भवती होने से पहले रोजाना योग करने से मन शांत एवं तनाव दूर रहता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : प्रजनन क्षमता में वृद्धि - कुछ योग आसन एेसे हैं, जिन्हें नियमित रूप से किए जाने पर महिलाओं की प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : वजन घटना - जिन महिलाओँ को वजन बढ़ने की वजह से गर्भधारण करने में समस्या हो रही है, उनके लिए योग सबसे बेहतर विकल्प है। नियमित रूप से पश्चिमोत्तनासन, भुजंगासन, और बद्धकोणासन जैसे योग आसनों को करके महिलाएं अपने वजन को नियंत्रण में रख सकती हैं।
  • गर्भवती होने के लिए योग : खून का प्रवाह अच्छे से होना - कई योग आसनों को करने से महिलाओं के पेल्विक क्षेत्र, गर्भाशय और पीठ के निचले भाग समेत शरीर के अन्य हिस्सों में खून का प्रवाह अच्छे से हो पाता है, जिससे उन्हें गर्भधारण में मदद मिल सकती है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : विषैले पदार्थों का निकलना - नियमित रूप से सर्वांगासन करने पर महिलाओं के शरीर में खून का प्रवाह सुचारू रूप से हो पाता है। इससे शरीर के सभी विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और प्रजनन तंत्र स्वस्थ होता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ना - रोजाना योग करने से न केवल शरीर स्वस्थ रहता है, बल्कि इससे बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ती है। इसीलिए गर्भधारण करने से पहले नियमित रूप से योग जरूर करें।
  • गर्भवती होने के लिए योग : अोवुलेशन सुचारू होना - रोजाना योग करने के कई गुण होते हैं, जिनमें महिलाओं की स्वस्थ ओवुलेशन प्रक्रिया एक है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : हार्मोन संतुलित रहना - हर रोज योग आसन करने से महिलाओं के शरीर में हार्मोनों का संतुलन बना रहता है।
2. प्रेगनेंट होने के लिए कौन से योग करें और उनके फायदे क्या है? (pregnant hone ke liye kon se yoga kare aur unke fayde kya hai)यूं तो योग आसन कई प्रकार के होते हैं, लेकिन प्रेगनेंट होने के लिए कौन से योग आसन (pregnant hone ke liye yoga) करने चाहिए और उनके फायदे क्या है, यह जानना भी जरूरी होता है। अगर आप किसी गंभीर शारीरिक या मानसिक परेशानी से जूझ रही हैं, तो योग शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें। गर्भधारण में सहयोगी योग आसनों के नाम और उनके फायदे नीचे बताए गए हैं -
  • गर्भवती होने के लिए योग : पश्चिमोत्तानासन (yoga to get pregnant in hindi : paschimottanasana / seated forward bend yoga in hindi)
    • पश्चिमोत्तनासन, अंडाशय और गर्भाशय को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है।
    • यह आसन कमर के निचले हिस्से और कूल्हों की मांसपेशियों को लचीला बनाता है।
    • इस आसन को नियमित रूप से करने से महिलाएं तनाव और अवसाद मुक्त हो सकती है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग हस्तपदासन (yoga to get pregnant in hindi : hastapadasana / standing forward bend yoga in hindi)
    • रोजाना हस्तपदासन करने से कमर के निचले हिस्से की मांसपेशियों को फैलने में मदद मिलती है, इससे उनमें लचीलापन आता है।
    • इस आसन को करने से पेल्विक क्षेत्र और तंत्रिका तंत्र में खून का प्रवाह अच्छे से हो पाता है।
    • यह आसन तनाव दूर रखता है।
    • यह आसन करने से पेट के निचले हिस्से और रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : जानुशीर्षासन (yoga to get pregnant in hindi : janusirsasana / one-legged forward bend yoga in hindi)
    • जानुशीर्षासन करने से पीठ, कमर और जांघों के पिछले हिस्से की मांसपेशियों की अकड़न दूर होती है और उनमें लचीलापन आता है।
    • इस आसन को करने से तनाव दूर होता है।
    • इससे कई यौन संबंधी रोग दूर होते हैं।
    • इस आसन को करने से पाचन क्रिया स्वस्थ होती है।
    • इससे तंत्रिका तंत्र का संतुलन बना रहता है।

  • गर्भवती होने के लिए योग : बद्धकोणासन या तितली आसन (yoga to get pregnant in hindi : baddha konasana ya titli asana / butterfly pose yoga in hindi)
    • बद्धकोणासन करने से आपकी श्रोणि क्षेत्र और कूल्हों की मांसपेशियों में लचीलापन आता है।
    • इस आसन को करने से महिलाओं की प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है।
    • इससे पेल्विक क्षेत्र में खून का प्रवाह अच्छे से होता है।
    • इस आसन से महिलाओं की हाई बीपी एवं अस्थमा की समस्या नियंत्रण में रहती है।
    • इससे थकान और तनाव से मुक्ति मिलती है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : विपरीत करनी आसन (yoga to get pregnant in hindi : viparita karani asana / legs up the wall pose yoga in hindi)
    • विपरीत करनी आसन करने से महिलाओं के पेल्विक क्षेत्र में खून का प्रवाह अच्छे से हो पाता है।
    • इस आसन को करने से कमर और रीढ़ की हड्डी लचीली होती है।
    • यह आसन गर्भधारण में सहायक होता है।
    • इस आसन को करने से पैरों की वेरिकोज नसों में खून का प्रवाह सुचारू रूप से हो पाता है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : बालासन (yoga to get pregnant in hindi : balasana / child's pose yoga in hindi)
    • रोजाना बालासन करने से कूल्हों, जांघों और टखनों की मांसपेशियां मजबूत होती है।
    • इस आसन को करने से दिमाग शांत रहता है।
    • इससे थकान व तनाव से मुक्ति मिलती है।
    • इससे पेल्विक क्षेत्र में रक्त संचार अच्छे से होता है और यह प्रजनन क्षमता बढ़ाने में मदद करता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : सर्वांगासन (yoga to get pregnant in hindi : sarvangasana / shoulder stand pose yoga in hindi)
    • नियमित रूप से सर्वांगासन करने से महिला की थायराइड ग्रंथि को आराम मिलता है और उससे हार्मोन का स्राव सुचारू रूप से हो पाता है।
    • इस आसन को करने से गर्भाशय में खून का प्रवाह अच्छे से होता है।
    • इससे पेल्विक क्षेत्र को आराम मिलता है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : सेतुबंधासन (yoga to get pregnant in hindi : setu bandhasana / bridge pose yoga in hindi)

    • सेतुबंधासन करते समय पेल्विक क्षेत्र ऊपर की ओर होने की वजह से गर्भाशय और अंडाशय में रक्त संचार अच्छे से हो पाता है।
    • इससे मासिक धर्म में होने वाली परेशानियां कम होती है।
    • इस आसन को करने से तनाव दूर होता है।
    • यह थायराइड हार्मोनों को नियंत्रण में रखता है।
    • यह पीठ की मांसपेशियों को आराम देता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : भुजंगासन (yoga to get pregnant in hindi : bhujangasana / cobra pose yoga in hindi)
    • नियमित भुजंगासन करने से महिला के गर्भाशय में जरूरी हार्मोनों का संचार होता है और उसकी प्रजनन क्षमता बढ़ती है।
    • इस आसन को करने से पीठ दर्द में राहत मिलती है।
    • इससे कब्ज और गैस की समस्या दूर होती है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : शवासन (yoga to get pregnant in hindi : shavasana / corpse pose yoga in hindi)
    • नियमित शवासन करने से आपके शरीर को आराम मिलता है।
    • इससे तनाव एवं थकान दूर होती है।
    • यह आसन महिलाओं में प्रजनन क्षमता बढाने में भी मदद करता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : ताड़ासन (yoga to get pregnant in hindi : tadasana / mountain pose yoga in hindi)
    • रोजाना ताड़ासन करने से पेल्विक क्षेत्र में खून का प्रवाह सुचारू रूप से होता है।
    • यह आसन बैठने, पैदल चलने और खड़े होने पर अकड़ी हुई मांसपेशियों को लचीला बनाता है।
    • यह आसन शरीर के लगभग सभी अंगों को प्रभावित करता है और प्रजनन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।
  • गर्भवती होने के लिए योग : योगिनी स्क्वाट आसान (yoga to get pregnant in hindi : yogini squat asana / yogini squat asana yoga in hindi)
    • योगिनी स्क्वाट आसन करने से पेल्विक क्षेत्र की मांसपेशियां मजबूत होती है।
    • यह आसन गर्भधारण में सहायक होता है।
  • प्रेगनेंट होने के लिए योग : पद्मासन (yoga to get pregnant in hindi : padmasana / lotus pose yoga in hindi)
    • रोजाना पद्मासन करने से मन शांत रहता है।
    • इस आसन को करने से महिलाओं का रक्तचाप नियंत्रण में रहता है।
    • इससे विभिन्न हार्मोनों का संतुलन बना रहता है और प्रजनन क्षमता में वृद्धि होती है।
3. प्रेगनेंट होने के लिए कौन से प्राणायाम करने चाहिए? (pregnant hone ke liye kon se pranayam karne chahiye)प्रेगनेंट होने के लिए महिलाएं विभिन्न प्रकार के प्राणायाम कर सकती हैं, जो नीचे बताए गए हैं -कपाल भाति प्राणायाम -रोजाना कपाल भाति प्राणायाम करने से महिलाओं का प्रजनन तंत्र मजबूत होता है। इससे शरीर के विभिन्न अंगों में खून का प्रवाह सुचारू रूप से हो पाता है। योग विशेषज्ञ कहते हैं कि कपाल भांति प्राणायाम शरीर की लगभग हर बीमारी को नियंत्रित करने में सहायक होता है।नाड़ी शोधन प्राणायाम -नाड़ी शोधन प्राणायाम करने से शरीर के विभिन्न अंगों तक अॉक्सीजन की आपूर्ति होती है। इससे दिमाग शांत होता है और तनाव दूर रहता है। यदि प्रेगनेंसी की तैयारी कर रही महिलाएं नियमित रूप से नाड़ी शोधन प्राणायाम करती हैं, तो इससे उनकी प्रजनन क्षमता बढ़ने और उन्हें गर्भधारण करने में मदद मिल सकती है।
भ्रामरी प्राणायाम -भ्रामरी प्राणायाम, महिलाओं के हाई बीपी को नियंत्रित रखने में सहायक होता है। यह सिर दर्द से राहत दिलाता है, मन को शांत करता है और इससे अच्छी नींद आती है। भ्रामरी प्राणायाम से सेक्स हार्मोनों का संतुलन बना रहता है और गर्भधारण में सहायता मिलती है।5. गर्भवती होने के लिए योग करने से जुड़े टिप्स क्या है? (pregnant hone ke liye yoga karne se jude tips kya hai)गर्भवती होने के लिए योग (yoga to get pregnant in hindi) करते समय महिला को निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -
  • योग करने के लिए किसी साफ-सुथरी और खुली जगह का चयन करें।
  • बिस्तर पर बैठ कर योग न करें, इसके लिए योगा मैट पर या किसी चटाई का ही उपयोग करें।
  • इस बीच भरपूर मात्रा में पानी पीएं, क्योंकि यह शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है।
  • इस दौरान अपने खान-पान का भी ख्याल रखें और संतुलित भोजन खाएं।
  • भर पेट भोजन करने के बाद योग न करें। भोजन के दो से तीन घंटों के बाद या पहले योग करें।
  • मासिक धर्म के समय योग करने से परहेज करें, या फिर किसी विशेषज्ञ की सलाह पर ही योग करें।
  • बुखार, कमजोरी और कोई सर्जरी हुई हो तो डॉक्टर की सलाह पर ही योग अभ्यास शुरू करें।
  • अगर योग करते समय किसी प्रकार की तकलीफ हो रही हो, तो जबरन न करें।
  • अगर आप गर्भधारण के लिए नियमित रूप से योग कर रही हैं तो शराब और सिगरेट न पीएं।

प्रेगनेंट होने के लिए महिलाओं को शारीरिक रूप से फिट होने के साथ ही मानसिक रूप से भी फिट होना बहुत जरूरी होता है। इसीलिए अगर आप गर्भधारण करने का सोच रही हैं, तो आज से ही योग करना शुरू कर दें, क्योंकि योग में न केवल शारीरिक बल्कि कई मानसिक समस्याओं का भी हल है। इस ब्लॉग में गर्भवती होने के लिए योग (yoga to get pregnant in hindi) व प्राणायाम के प्रकार और उनके फायदों के बारे में विस्तार से बताया गया है। लेकिन अगर आप किसी गंभीर शारीरिक या मानसिक परेशानी से जूझ रही हैं, तो योग शुरू करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.