Header Ads

प्रेगनेंसी में भूख न लगना


प्रेगनेंसी में भूख न लगना : कारण और उपाय 
(Pregnancy me bhukh na lagna : karan aur upay)
महिलाओं को प्रेगनेंसी में अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए, लेकिन दुर्भाग्यवश उन्हें इस दौरान भूख न लगने की समस्या का सामना करना पड़ता है। प्रेगनेंसी में महिलाओं के खानपान का असर सीधा बच्चे पर पड़ता है, इसलिए इस दौरान उन्हें पौष्टिक चीज़े खानी चाहिए। इस ब्लॉग में हम आपको प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) न लगने के कारण और भूख बढ़ाने के घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं।प्रेगनेंसी में वजन बढ़ने का मतलब है कि आप जो खा रही हैं, वो बच्चे के आवश्यकतानुसार ठीक है,
 इसलिए इस दौरान आमतौर पर 11 से 15 किलो वजन बढ़ता है। लेकिन पहली तिमाही में (vomiting in hindi), मिचली (nausea in hindi) आदि की वजह से वज़न सिर्फ एक या दो किलों ही बढ़ पाता है, क्योंकि इस दौरान गर्भवती को भूख नहीं लगती है। साथ ही बता दें कि पहली तिमाही के बाद हर हफ्ते 50 ग्राम वजन बढ़ता है।
1. प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में भूख न लगना : कारण और घरेलू उपाय (Pregnancy ki pehali timahi me bhukh na lagna : karan aur gharelu upay)प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस यानि उल्टी (vomiting in hindi), मिचली (nausea in hindi), घबराहट आदि की समस्या होती है, जिसकी वजह से इस दौरान उन्हें भूख नहीं लगती हैं। प्रेगनेंसी में भूख न लगने से तकरीबन 75 प्रतिशत महिलाएं परेशान होती हैं। इन महिलाओं को प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में खाने से दुर्गंध आती है
 इसके अलावा, इस दौरान गर्भवती महिलाओं में हार्मोनल बदलाव भी होते हैं, जिसकी वज़ह से उनमें भूख की कमी हो सकती है। प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के घरेलू उपाय - प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में भूख न लगने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए महिलाएं नीचे लिखे गए उपायों को आज़मा सकती हैं -
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ पीएं - प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में गर्भवती महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ लेने चाहिए और इसलिए उन्हें दिन में 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए। इसके अलावा, गर्भवती महिलाएं ताज़े फलों का जूस, नारियल पानी, नींबू पानी, अदरक पानी आदि चीजें भी पी सकती हैं।ध्यान दें - अगर उल्टी ज्यादा हो रही है, तो गर्भवती महिलाएं दिन में दो से तीन बार अदरक की चाय पी सकती हैं
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए बार बार खाएं - कई लोगों की ऐसी धारणा होती है कि गर्भवती महिलाओं को तीन बार भर पेट भोजन करना चाहिए, लेकिन यह पूरी तरह से गलत है। दरअसल, गर्भवती महिलाओं को पूरे दिन में 6 बार थोड़ा थोड़ा खाना चाहिए, इससे उनकी भूख बढ़ती है।ध्यान दें - अगर आपको कई बार ज्यादा भूख लगे तब भी एक बार में ज्यादा खाना न खाएं, क्योंकि इससे उल्टी ज्यादा हो सकती है।
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए हल्का खाएं - प्रेगनेंसी में भूख बढ़ाने के लिए गर्भवती महिलाओं को दिन में कई बार हल्का भोजन करना चाहिए, जिससे वे दिन भर संतुलित आहार ले सकेंगी। इसके लिए उन्हें अपनी डाइट में फल, सूखे मेवे आदि चीज़ें शामिल कर सकती हैं।ध्यान दें - प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाएं अपनी डाइट में उन्हीं चीज़ों को शामिल करें, जिनसे उन्हें दुर्गंध न आती हो, वरना उल्टी ज्यादा हो सकती है।
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए फास्ट फूड्स न खाएं - अधिकांश गर्भवती महिलाएं फास्ट फूड्स (जैसे- बर्गर, पिज्जा आदि) खाना पसंद करती हैं, लेकिन यह भूख को खत्म कर देती है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को फास्ट फूड्स के बजाय सलाद, अंगूर, बादाम आदि खाना चाहिए।ध्यान दें - गर्भवती महिलाएं ज्यादा देर से रखे फल, सलाद आदि खाने से बचे, क्योंकि यह उनके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है।
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए अपनी पसंदीदा चीज़े ही खाएं - प्रेगनेंसी में महिलाओं को अपनी पसंद की चीज़ों को ही खाना चाहिए, इससे उनका स्वाद अच्छा रहता है।ध्यान दें - पसंदीदा चीज़ें खाने के साथ ही गर्भवती महिलाओं को उन सभी पोष्टिक चीज़ों को भी लेना चाहिए, जो उनके डॉक्टर ने कहा हो।
प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के लिए विटामिन लें - प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को विटामिन ए (हरी सब्जियां, दूध आदि), विटामिन बी (पालक, बादाम, अंडा आदि), विटामिन सी (टमाटर, संतरा आदि), विटामिन डी (सूरज की धूप, मछली), विटामिन ई (पालक, अंडा आदि), विटामिन के (मटर, खीरा, दूध आदि) से भरपूर चीज़े लेनी चाहिए। इसके अलावा अगर इन चीज़ो को खाने के बाद भी आपकी भूख नहीं बढ़ रही है, तो डॉक्टर की सलाह से मल्टीविटामिन्स की गोलियां ले सकती हैं।ध्यान दें - गर्भवती महिलाएं मल्टीविटामिन्स की गोलियां खाने से पहले डॉक्टर से ज़रूर संपर्क कर लें।2. प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में भूख न लगना : कारण और घरेलू उपाय (Pregnancy ki dusari timahi me bhukh na lagna : karan aur gharelu upay)प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में ज्यादातर गर्भवती महिलाओं की मॉर्निंग सिकनेस की समस्या खत्म हो जाती है, जिसकी वजह से उनकी भूख थोड़ी थोड़ी वापस आने लगतीो है। इस दौरान गर्भवती महिलाओं को भूख की कमी से राहत पाने के लिए अपनी डाइट में पौष्टिक चीज़ों को शामिल करना चाहिए। प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) बढ़ाने के घरेलू उपाय - अगर प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही में भी आपको भूख की कमी महसूस हो रही है, तो आप खूब पानी पीएं, दिन में ज्यादा बार कम कम खाएं और फास्ट फूड्स से दूर रहें। इसके अलावा इस दौरान आपको एक दिन में 1800 कैलोरी की ज़रूरत होती है, इसके लिए आप सोयाबीन, बादाम, राई, मछली आदि चीज़ें ले सकती हैं।3. प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में भूख न लगना : कारण और घरेलू उपाय (Pregnancy ki tisari timahi me bhukh na lagna : karan aur gharelu upay)प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में भूख न लगने की समस्या पूरी तरह से खत्म हो जाती है, क्योंकि इस समय तक उल्टी, मिचली बंद हो जाती है, लेकिन अगर फिर भी आपको भूख की कमी महसूस हो रही है, तो अपनी डाइट में पोषक तत्वों को शामिल करें। हालांकि, इस तिमाही में ज्यादा खाना खाने से आपको सीने में जलन की शिकायत हो सकती है। प्रेगनेंसी में भूख बढ़ाने के घरेलू उपाय - गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में अगर थोड़ा सा खाने में ही आपकी भूख खत्म हो जाती है, तो नीचें लिखे गये उपायों से आप इससे राहत पा सकती हैं -
प्रेगनेंसी में भूख बढ़ाने के लिए फाइबर युक्त पदार्थ लेने चाहिए, जैसे - पत्तेदार सब्जियां, ब्राउन ब्रेड, चोकर युक्त रोटियां, फल आदि।
गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में गर्भवती महिलाएं एक बार में ज्यादा खाना खाने के बजाय बार बार थोड़ा थोड़ा खाएं।
प्रेगनेंसी की तीसरी तिमाही में गर्भवती महिलाओं को पनीर, सलाद, हरी सब्जियां, दूध आदि भरपूर मात्रा में लेना चाहिए।4. प्रेगनेंसी में भूख न लगने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए? (Pregnancy me bhukh na lagne par doctor ke pas kab jana chahiye)आमतौर पर गर्भवती महिलाओं को भूख की कमी महसूस होती ही है, भले ही उन्होंने ऊपर लिखे गये चरणों का पालन किया हो, लेकिन यह बच्चे के विकास के लिए सही नहीं है। ऐसे में उन्हें डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करना चाहिए। इसके अलावा अगर गर्भवती महिला को भूख न लगने के साथ साथ सिरदर्द बना रहता है, तो डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें । प्रेगनेंसी में भूख (pregnancy me bhukh) न लगने की वजह से कई गर्भवती महिलाएं कमज़ोर हो जाती हैं, इसलिए उन्हें इस दौरान अपने खानपान का भरपूर ध्यान रखना चाहिए। प्रेगनेंसी की शुरूआत से ही गर्भवती महिलाओं को ज्यादा पानी पीना चाहिए और दिन में थोड़ा थोड़ा खाना कई बार खाना चाहिए। इसके अलावा उल्टी और मतली की समस्या से निजात पाने के लिए उन्हें डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.