Header Ads

*गाजर के औषधीय गुण

*गाजर के औषधीय गुण इसे खाने से क्या-क्या फायदे होंगे _

भारतीयों में फल, सब्जी एवं सलाद के रूप में प्रयोग की जाने वाली गाजर गरीबों का टानिक है. इसमें विटामिन बी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है. इसमें जो पोषक तत्व होते हैं, वे सेवन करने वाले के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं. इसके कुदरती गुण कई बीमारियों में बेहद फायदेमंद होते हैं.
कमजोरी दूर करने में फायदेमंद – गाजर में संतुलित आहार के सभी गुण मौजूद होते हैं. यदि इसके रस का नियमित उपयोग किया जाये तो किन्ही कारणों से आई कमजोरी दूर की जा सकती है. इसका रस पीते ही रक्त की मात्रा बढ़ना प्रारंभ हो जाती है. रक्त में कोलेस्ट्राल जमने की प्रक्रिया मंद हो जाती है. मरदाना शक्ति में इजाफा होता है. यदि अधिक काम करने से थकावट आ गयी हो, तो वह दूर हो जाती है. गर्भिणी महिला एवं बच्चों के लिए भी यह बहुत फायदेमंद है. इसको पीने से स्मरण शक्ति में भी वृद्धि होती है. यदि आँखों की रौशनी धुधली हो गयी हो, तो वह तेज हो जाती है. क्योंकि इसमें विटामिन ए भी प्रचुर मात्रा में पाई जाती है. इसके आलावा आँख सम्बन्धी अन्य रोगों में भी फायदेमंद होती है.

महिला रोगों में फायदेमंद – महिला रोगों को दूर करने में इसकी अहम् भूमिका हो सकती है. यदि मासिक धर्म में दर्द होता हो, या वह बंद हो गया हो, या गर्भाशय में कोई दोष आ गये हों, या श्वेत प्रदर से महिला पीड़ित हो, तो तीन चम्मच गाजर के बीजों को कूट कर उसे गुण एवं नमक के घोल में उबाल लें, जब आधा पानी रह जाए, तो उसे सुबह-शाम पीयें. इससे उपरियुक्त सभी रोगों में फायदा होगा. यदि महिला का गर्भपात हो जाता हो, तो एक गिलास गाजर का जूस और एक गिलास दूध को मिलाकर उबाल लें. जब आधा मिश्रण बच जाए, तो उसे सुबह-शाम पीते रहें. इससे गर्भपात की समस्या से निज़ात मिलेगी. किन्तु इसके लिए कुछ परहेज की भी जरूरत है. उस महिला को चटपटी चीजें, चाट, पकौड़ी खाने से बचना चाहिए. यदि महिला को अपने बच्चे को पिलाने के लिए पर्याप्त दूध नहीं हो रहा हो, तो उसे जीरा मिला कर सुबह-शाम एक गिलास गाजर का जूस पीना चाहिए. इससे पर्याप्त मात्रा में दूध बनने लगेगा. जिन महिलाओं को हिस्टीरिया की बीमारी हो, उसे एक गिलास गाजर के जूस में आधा नीबू निचोड़ कर देना चाहिए, इससे उसका यह रोग दूर हो जाता है.
हृदय रोग में फायदेमंद – हृदय रोगियों के लिए गाजर बहुत ही फायदेमंद है. हार्ट अटैक के रोगियों को गाजर एवं पालक का जूस मिलकर पीना चाहिए. इससे उनके हृदय की गति नियमित हो जाती है. गाजर का मुरब्बा खाने से भी यह रोग दूर होता है. एक गिलास गाजर के रस में एक नीबू निचोड़ कर पीने से भी लाभ होता है. इसे पीने से हृदय को बल एवं शीतलता प्राप्त होती है. सीने में दर्द की शिकायत हो तो एक गिलास गाजर के रस में स्वादानुसार शहद मिला कर पीने से दर्द होना बंद हो जाता है.

दमा रोग में फायदेमंद – गाजर का जूस दमा रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है. यदि दमा रोगी सुबह और दोपहर एक-एक गिलास गाजर का जूस पीता है, तो उसे आश्चर्यजनक रूप से फायदा होता है. यह प्रक्रिया कम से कम 15 दिन करना चाहिए. यदि कोई दमा रोगी लम्बे समय तक भी गाजर का जूस पीता है, तो भी उसे कोई हानि नही होती है. इसके आलावा दमा रोगी को गाजर, चुकंदर और शलजम तीनों की समान मात्रा में रस निकाल कर उसे एक गिलास दूध में मिला कर आधी मात्रा रहने तक उबाल लेना चाहिए. फिर उसमे थोड़ी सी शहद मिलाकर उसे सुबह-दोपहर-शाम पीना चाहिए. इससे दमा ठीक हो जाएगा.
Image result for gajar
गठिया, जोड़ों के दर्द में फायदेमंद – जिन रोगियों को गठिया या जोड़ों का दर्द हो, उसके लिए गाजर का जूस बहुत ही फायदेमंद है. इस प्रकार के रोगियों को दिन में तीन बार एक-एक गिलास गाजर का जूस देना चाहिए. इस तरह इसका उपयोग करने से रोगी को बहुत फायदा होता है. इसका कारण है कि गाजर शरीर की प्रतिरोधक क्षमता तो बढाता है. जिससे यह रोग ठीक हो जाता है. इसके आलावा गाजर, चुकंदर और पत्तागोभी का बराबर मात्रा में रस मिलाकर उसे शहद के साथ लेने से जोड़ों का दर्द ठीक हो जाता है. चार कली लहसुन, पत्तागोभी और गाजर की चटनी भोजन के साथ खाने से भी इस प्रकार के रोगियों को फायदा मिलता है. इसके अलावा रोगी एक गिलास गाजर के रस में काली मिर्च और सेंधा नमक मिलाकर पीने से भी फायदा होता है.

पेट के रोग में फायदेमंद – जिन्हें आँतों की गैस, ऐठन, शोथ, घाव, जलोदर, अपच या पेट में वायु में पैदा होती हो, उनके लिये गाजर बहुत ही फायदेमंद है. इस प्रकार के रोगियों को नियमित रूप से गाजर के रस का सेवन करना चाहिए. उन्हें आश्चर्यजनक रूप से फायदा होगा. गाजर, नीबू और पालक का रस पीने से कब्ज दूर हो जाती है. यदि पेट में गैस बन रही हो, तो गाजर का एक कप रस उसके एक चौथाई प्याज के रस में काला नमक और अदरक का रस मिलाकर पीने से कब्ज ठीक हो जाती है. यदि किसी को दस्त आने लगें तो उसे एक गिलास गाजर के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से आराम मिलता है. एक कप गाजर के रस में भुना हुआ जीरा डालकर दिन में चार बार पीने से फायदा पहुचता है. पेचिस के रोगियों जिन्हें रक्त आता हो, समान मात्रा में गाजर और दूध मिलाकर नित्य दो बार पीने से लाभ होता है. जिन पेट की रोगियों की आँतों में सूजन हो, उन्हें 185 ग्राम गाजर रस, 150 ग्राम चुकंदर रस और 160 ग्राम खीर का रस, तीनों को मिलाकर दिन में तीन बार पीने से रोगी के आँतों की सूजन उतर जाती है.

कैंसर रोगियों के लिए फायदेमंद – कैंसर रोगियों के लिए गाजर उपयोगी है. यदि कैंसर रोगी अपने भोजन में किसी न किसी रूप में नियमित रूप से गाजर का उपयोग करता है, तो उसे फायदा होता है. किन्तु कैंसर रोगी को मसाला डाले गाजर और पालक रस नियमित रूप से पीना चाहिए. किन्तु इसमें नमक नही डालना चाहिए. गाजर, पालक के रस में थोड़ा सा अदरक का रस मिलाकर पीने से भी रोगी फायदा होता है. कैंसर रोगी जब तक जीवित रहे, गाजर का जूस पीता रहे, निश्चित ही उसे फायदा लगेगा.
चर्म रोग में फायदेमंद – गाजर का रस चर्म रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है. इसके नियमित सेवन से रक्त शोधन हो जाता है, इस कारण किसी भी कारण से हुए चर्म रोग में फायदा पहुचता है. जिन रोगियों को सफेद दाग हो, उन्हें अधिक से अधिक गाजर खाना चाहिए और जूस भी पीना चाहिए. बस इसके साथ खटाई और नीबू का सेवन करने से बचना चाहिए. जिनकी चमड़ी रूखी हो, गाजर के एक गिलास रस में भुना पिसा जीरा और काला नमक मिलाकर नियमित रूप से पीना चाहिए. इसके आलावा कद्दूकस में गाजर को कस कर उसे दूध में उबाल कर उसका बूरा बना लें, शाम को गाजर के रस के साथ उसका सेवन करना फायदेमंद साबित होता है. दाद या खुजली होने पर गाजर और पालक का रस दिन में चार बार पीयें, फायदा होगा. गाजर की खीर बना कर खाएं. गाजर, पालक और खीरे के रस को खाली पेट पीयें. फायदा होगा.

डायबिटीज में फायदेमंद – गाजर एवं उसका जूस डायबिटीज रोग की भी बहुत ही कारगर दवा है. 310 ग्राम गाजर का रस, 185 ग्राम पालक के रस में मिला कर पीयें, बहुत फायदा होगा. इसके आलावा एक गिलास गाजर का रस, एक कप करेले का रस, आधा कप आंवले का रस मिलाकर दिन में तीन बार पीने से फायदा होता है. इसके अलावा गाजर, मूली, जामुन की गुठली सब मिलाकर रस निकाल कर एक-एक गिलास दिन में दो बार पीने से मधुमेह में फायदा मिलता है. इसके आलावा 100 ग्राम गाजर के रस में दो-दो चम्मच प्याज और करेले का रस मिलाकर नित्य दो बार पीने से मधुमेह की बीमारी ठीक हो जाती है. इन सबके साथ मरीज को सूखा धनिया, गाजर, करेला और सेंधा नमक सबकी मात्रा स्वादानुसार की चटनी भी भोजन के साथ खाना चाहिए.




आवश्यक जानकारी बिना पढ़े मत छोड़ना _ नीचे दिया हुआ पूरा लेख पढ़िये
छोटे-छोटे पर बड़े काम के टिप्स_नीचे दिया गया पूरा लेख पढ़िये बिना पढ़े मत छोड़ना
१-निम्बू का अचार अगर खराब होने लगे तो अचार को किसी बर्तन मे निकाल कर सिरका डाल कर पका लीजिये
अचार फिर से नया हो जायेगा।

२-निम्बू के अचार में नमक के दाने पड जाते हैअचार डालते समय ही थोडी पीसी चीनी भी बुरक दे तो ये दाने नही
पडेगें | और अगर पड गये है तो भी थोडी पीसी चीनी बुरक दीजिये अचार नया सा हो जायेगा।

४--आम का अचार बनाते समय जब फांको में नमक हल्दी लगाकर रखती है तब उनपर १-२ चम्मच पीसी चीनी भी बुरक दीजिये इससे जहा सारी फाकें पानी छोड देगीं वही अचार की रगतं भी साफ़ सुथरी बनी रहे गी अचार चमकीला बनेगा।

५--आम के मीठे अचार में थोडा सा अदरक भी कस कर
मिला दीजिये अचार अधिक पौष्टिक व चटपटा बनेगा।

६--आप के पास चटनी बनाने के लिये यदी कुछ नही है तब भी आप चटनी का मजाले सकते है कोइ भी खट्टा फ़ल जैसे--अलुचा,खट्टासेव,हरी कच्ची ईमली, अनार या रसभरी,लेकर हरी मिर्च,नमक के साथ पीस कर चटनी बना लीजिये अनोखा स्वाद देगी।

7--थोडे से गाढे दही में अगर शहद फ़ेट कर उसे सलाद के उपर डालकर तो देखीये सलाद का मजा ही दुगना हो जायेगा सलाद गुण कारी व पोष्टिक भी हो जायेगी।

8--बनाने से पहले यदी साबुत मसुर की दाल को कडाही मे हल्का सा भुन कर फिर बनाइये अधिक सोंधी बनेगी।

9--कई बार गर्मी में दोसे का घोल बहुत खट्टा हो जाता है अगर दोसे का घोल ज्यादा खट्टा हो गया है तो--उस में२,३ गिलास पानी दाल कर रख दें १/२ घटें बाद उपर का पानी धीरे से निकाल दें खटास कम होजाएगी।

10--इडली बनाने से पहले कभी भी घोल को चलाएं नही रात में ही घोल को बहुत अच्छे से चला कर रखदें इससे इडली बहुत फ़ूली हुई और सोफ़्ट बनेगी। जरा अजमाकर तो देखीये

11हम कई बार तरह तरह की जानवरो की शकल बनादेते है सलाद में,अब जब भी खाने के लिये सलाद की प्लेट सजायें , तो उसमें किसी जीव जंतु की डिजाइन ना बना कर फ़ुल पत्तियों के डिजाइन बनाएं जीव जतुं का आकार देख कर अक्सर लोगो का मन उसे खाने का नही करता है

12सलाद बनाने से पहले सब्जीयों में को कुछ देर फ़्रीजर मे रखें फिर सलाद काटें आसानी से कटेगा खुबसुरत दिखेगा।

13--टमाटर, पपीता, खरबूजा, सेव आदी फ़ल काटते समय उनका जो रस हाथ म पर लग जाता है उसे चेहरे पर व कोहनियों पर मल लें सुखने पर स्नान कर लें त्वचा कमनीय हो जाएगी
14 --चाय पार्टी में अगर आप खुब सूरत टॊकरी में तरह तरह के ताजे फल सजा के रखेंगी तो टेबल तो खूबसूरत दिखेगी ही और मेन्यू में फ़लों की ताजगी भी आजाएगी।

15--केले अगर आप ने ज्यादा खालिये है तो आप एक इलायची खा लीजिये जल्दी ही हजम होजाएगा

16--अगर आप सब्जियां छिलकर उबालें तो उसका पानी नही फ़ेकें पानी मे अनेक पोष्टिक तत्व होते है इसे आप दाल या करी मे इस्तेमाल कर सकते है।

17--निम्बू का रस निचोड्ने से पहले यदी उनको कुछ देर तक गरम पानी में रखदे तो दोगुना रस निकलेगा।

18--आलु उबालते समय उसमें थोडा सा नमक भी डाल दीजिये।आलू का छिलका तुरन्त उतर जयेगा।

19--आलू को उबालने से पहले २० मिनट तक ठंडेपानी में रखीये। फ़िर आग पे रखीये इससे आलू बहुत कम समय में ही गल जायेंगे आप अजमाके तो देखीये

20--सेव केला आदि फ़ल काटने के बाद काले पडजाते है अत: उनमे नीम्बू के रस का छिड्काव कर दें तो काले नही पडेगें।

21--निम्बू का अचार अगर खराब होने लगे तो अचार को किसी बर्तन मे निकाल कर सिरका डाल कर पका लीजिये
अचार फिर से नया हो जायेगा।

22--निम्बू के अचार में नमक के दाने पड जाते हैअचार डालते समय ही थोडी पीसी चीनी भी बुरक दे तो ये दाने नही
पडेगें और अगर पड गये है तो भी थोडी पीसी चीनी बुरक दीजिये अचार नया सा हो जायेगा।

23--आम का अचार बनाते समय जब फांको में नमक हल्दी लगाकर रखती है तब उनपर १-२ चम्मच पीसी चीनी भी बुरक दीजिये इससे जहा सारी फाकें पानी छोड देगीं वही अचार की रगतं भी साफ़ सुथरी बनी रहे गी अचार चमकीला बनेगा।
https://healthtoday7.blogspot.com/
24-आम के मीठे अचार में थोडा सा अदरक भी कस कर
मिला दीजिये अचार अधिक पौष्टिक व चटपटा बनेगा।

25--आप के पास चटनी बनाने के लिये यदी कुछ नही है तब भी आप चटनी का मजाले सकते है कोइ भी खट्टा फ़ल जैसे--अलुचा,खट्टासेव,हरी कच्ची ईमली, अनार या रसभरी,लेकर हरी मिर्च,नमक के साथ पीस कर चटनी बना लीजिये अनोखा स्वाद देगी।

26*अंडा फ़्राई करते समय घी में थोडा सा सिरका डाल दें इससे घर में जो अंडे कि गंध फ़ैल जाती है वह नही फ़ैलेगी।

27*अंडॊ को उबालते समय पानी मे थोडा सा नमक भी डाल दीजिये ईससे अडां फ़ूटेगा नही और आसानी से निकल भी जायेगा।

28***आमलेट को अधिक स्पंजी बनाने के लिये नोन स्टिक पैन को आग पर गर्म करेऔर घी डाल दीजिये और फ़ेटे हुए अडें का घोल डाल कर कांटे से और फ़ेटे। सिकते समय ही उसमें हवा अधिक भर जायेगी आमलेट स्पंजी बन जाये जायेगा।

29***अगर रसोई का कोई भी बर्तन बहुत अधिक चिकना हो गया है और साफ़ नही हो रहा हो तो बचीहुई चाय की पत्तियों को बर्तन को अच्छी तरह से रगडे फ़िर साबुन से धोलें सारी चिकनाइ दुर हो जाएगी

30****अगर अंडा चटक जाऎ,तोउबाल ने से पहले उस स्थान पर सिरका मल दें। उबालते समय अंडा नही टूटेगा।

31**घी में नमक की एक डली डाल कर रख दे घी खराब नही होगा।

32**आज कल चींटियों को घर में घर में घुसने से रोकना होतो उनकी कतार पे तम्बाकू मिले पानी की कुछ बूंदे छिडक दीजियेफ़िर देखिये सब भाग जायेंगी।

33***प्लास्टिक कंटेनर मे दुर्गंध दुर करनी हो तो रात भर के लिए उसमें अखबार तोड मोद के कर भर दीजिये दुर्गंध दुर हो जाएगी।

34**लकडी के फ़र्नीचर में अगर दाग धब्बे लग गए है तो उनको साफ़ करने के लिए स्प्रिट का प्रयोग करीये दाग तुरन्त निकल जाए गा

35****इनामेल पेण्ट वाले लकडी के फ़र्नीचर को दमकाना हो तो उस को सर्फ़ मिले गुनगुने पानी से रगडें।

36****लिपस्टिक के दाग छुडाने है तो उस पर एसिटोन लगा कर बाद मे साबुन लगा कर फ़िर पानी से धो दीजिये

37***कार पोलिश नही है तब भी आप कैसे पोलिश करे आईये देखिये एक बाल्टी में गर्म पानी लें एक कप पैराफ़िन मिलाने से चमक बढ जाती है अलबत्ता उसे अपने समय से सुखने दीजिये।

38***चमडे के जूतो पर पेट्रोलियम जैली लगाइये वे चमकने लग जायेंगे और उन में दरार भी नही पडेगी।

39***नेल पोलिश को सुखने से बचाने के लिये उसे फ़्रिज मे रखिये।
कपडे पर से चाय के दाग हटाने के लिये उस पर पावडर रगड दीजिये।

40***जूतो पर बरसात में काई लगजाती है,जूते से काई हटा ने के लिये उसे स्पिरिट और पानी से साफ़ करें साफ़ हो जायेगी।
https://healthtoday7.blogspot.com/
41--काँच की कट्लरी को साफ़ करने के लिये उसे निम्बू के रस वनमक मिले पानी से साफ़ करीये चमक जायेंगे।
लकडी के फ़र्नीचर पर पानी या किसी अन्य वस्तु का दाग लग गया हो तो उसे थोडा सा अल्कोहल लेकर साफ़ कर ले।

42***कांच के खिड्की दरवाजों पर दाग धब्बे लग गए हों तो पहले उन पर चूने का पानी लगादे फ़िर कुछ देर बाद अखबार से रगड कर पोंछ दीजिये चमक आजाएगी।

43***नान स्टिक बर्तन को साफ़ करने के लिये खट्टे दही में थोडा सा नीम्बू का रस मिला दीजिये इस से आप बर्तन साफ़ करीये आसानी से साफ़ हो जायेगे।

44***सिल्क या ऊनी कपडों पर मक्खन के दाग लग गए हो तो उस स्थान पर टैलकम पावडर डाल दीजिये ओर कुछ देर बाद गुनगुने पानी से धो दीजिये दे खियेगा दाग जाता रहेगा।

45***अगर आप के फ़्रिज मे महक आ रही है तो आप ४,५ कच्चे कोयले के टुकडे रख दीजिये महक जाती रहेगी। अगर नही जाये तो ३ सप्ताह के बाद बदल दीजिये।

46***अण्डे उबालने के बाद बचे पानी को यू ही न फ़ेंकें बल्कि उसे गमले या क्यारी में डाल दें
पौधे खिल उठेंगें।

47***रसोई मे अगर एकाएक आग भडक उठे तो फ़ौरन उस पर नमक और खाने कासोडा,डाल दें इससे न सिर्फ़ आग फ़ैल ने से रुकेगी व धुएँ को भी रोकेगी

48***बिजली जाने पर मोमबत्ती जला कर शीशे के सामने रखिये कमरे मे दुगनी रोशनी हो जायेगी।

49***पानी मे चुट्की भर खाने का सोडा व १/४ चम्मच हल्दी डाल कर उबालें व जेवर डाल कर उबाले सोने के जेवर नये जैसे चमकने लग जायेंगे।

50***दूध जलने पर उसे दुसरे बर्तन में बिना खुरचे पलट दीजिये, अब एक चुट्की मीठा सोडा डाल कर गर्म करें गंध गायब हो जायेगी।

52***प्लास्टिक के बर्तन गन्दे हो जाये तो उनको मिट्टी के तेल से साफ़ करीये चमक बढ जायेगी।

53***घर मे रखी हुई दवाईया बहुत बार रहजाती है और उनकी डेट निकल जाती हैजैसे कैपसूल,टेबलेट,सीरप,एक्सपायर होजाते है इन्हे फ़ेके नही घर की बगिया में लगे पेड-पौधो में डाल दीजिये उनके लिये यह टोनिक का काम करेगी।

54***क्रोकरी में अगर पीले दाग-धब्बे लग गये है तो उन्हे साफ़ करने के लिये क्रोकरी में सफ़ेद टूथ पाउडर डालकर रगड दीजिये।दाग-धब्बे
साफ़ हो जायेगें और यदि इसमें सोडाबाईकार्ब भी डाल कर लगा देतो दाग धब्बे खत्म हो जाएंगे।

55***घर में यदि कोकरोच हो गये है तो खीरे के टुकडे काटकर रातभर के लिये कमरो के अदंर रखदेंकाकरोच व अन्य कीडे मकोडे गायब हो जाएंगे।
कपडे प्रेस करते समय पानी स्प्रे करते है उस में थोडे से परफ़्यूम की बूदें मिलादें कपडो पर छिडक दें।आप के कपडे भीनी भीनी सुगधं देते रहेगें।

56***वाशिगं मशीन के अदरं साबुन के धब्बे पड गए है तो गुनगुने पानी में एक कप सिरका डाल कर खाली मशीन को चला दीजिये।
दाग धब्बे गायब होजाये गें।

57***यदि लोहे के औजार रखने वाले डिब्बे में थोडे से कोयले के टुकडे रख दिये जाएं तो उनमें कभी जंग नही लगेगी

58***इस्तेमाल मेंलाई हुई चाय की पत्तियों को आप धोकर फ़िर आप उसे मनीप्लाटं के पौधे मे डाले देखियेगा पौधा कितनी तेजी से बढता है।

59***आप के प्लास्टिक के टिफ़िन में खाने की गघं से भर जाते है आप खाने को फ़ोयल में लपेट कर प्लास्टिक मे रखने के बाद ही टिफ़िन में रखें

60 अगर आप राजस्थानी-बेसन के गट्टे कि सब्जी बनाने जा रही है तो ध्यान रखें कि गट्टे में मोयन पर्याप्त हो नही तो गट्टे सख्त हो जायेगें (आप बेसन मेंथोडा सा मोयन डालकर दही से गूंथे गट्टे बहुत स्वादिष्ट व नरम बनेगे)

61*मूली की भुजीया भूनते समय यदि छौंक ते समय थोडा सा बेसन भी भून लें तो सब्जी बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी

62*समोसे का आटा गूथते समय आप उसमें थोडा सा चावल का आटा भी मिलादें तो समोसे अधिक कुरकुरे बनेगे

63***भटूरे के आटे में खमीर उठाने के लिये ब्रेड के २,३ स्लाइस तोडकर मिला दीजिये देखियेगा कितनी जल्दी खमीर उठजाता है

64***दही बडे बनाने के लिये पिसी हुई दाल में थोडी सी सूजी भी फ़ेटकर मिलादे, बडॆ अधिक नरम बनेगे।

65***आलू की टिकिया बनाते वक्त थोडे से कच्चे केले को उबाल कर उस्क गूदा भी मिला दीजिये टिकिया बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी।

66***अगर प्याज अधिक कट जाए या कटा हुआ बच जाये तो उसे नमक लगा कर थो्डा सा सिरका डाल कर रखदीजिये खाने के साथ खाएं स्वादिष्ट लगेगा।

67***चावल जब पकने पर आजाए तो उसमें कुछ बूदें नीबूं का रस निचोड दीजिये फ़िर देखिये चावल कितने महकदार व खिले खिले बनेगें

68***कच्चा केला काटते समय हाथ काले पड जाते है।उन्हे साफ़ करने के लिए कुछ बुदें नीम्बू का रस व जरा सा नमक लगा कर साफ़ करे हाथ तुरन्त साफ़ हो जाएगे।

69****बथुआ उबाल कर उसका पानी फ़ेकें नही, उस से पैर साफ़ करे चिकने होजाएगें

70***उबला पालक पीस कर उससे आटा गूथंले आकर्षक, स्वादिष्ट व पौष्टिक पालक पराठा बने गा |

70 अगर आप राजस्थानी-बेसन के गट्टे कि सब्जी बनाने जा रही है तो ध्यान रखें कि गट्टे में मोयन पर्याप्त हो नही तो गट्टे सख्त हो जायेगें (आप बेसन मेंथोडा सा मोयन डालकर दही से गूंथे गट्टे बहुत स्वादिष्ट व नरम बनेगे)

71***मूली की भुजीया भूनते समय यदि छौंक ते समय थोडा सा बेसन भी भून लें तो सब्जी बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी

72***समोसे का आटा गूथते समय आप उसमें थोडा सा चावल का आटा भी मिलादें तो समोसे अधिक कुरकुरे बनेगे

73***भटूरे के आटे में खमीर उठाने के लिये ब्रेड के २,३ स्लाइस तोडकर मिला दीजिये देखियेगा कितनी जल्दी खमीर उठजाता है

74***दही बडे बनाने के लिये पिसी हुई दाल में थोडी सी सूजी भी फ़ेटकर मिलादे, बडॆ अधिक नरम बनेगे।

75***आलू की टिकिया बनाते वक्त थोडे से कच्चे केले को उबाल कर उस्क गूदा भी मिला दीजिये टिकिया बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी।

76***अगर प्याज अधिक कट जाए या कटा हुआ बच जाये तो उसे नमक लगा कर थो्डा सा सिरका डाल कर रखदीजिये खाने के साथ खाएं स्वादिष्ट लगेगा।

77***चावल जब पकने पर आजाए तो उसमें कुछ बूदें नीबूं का रस निचोड दीजिये फ़िर देखिये चावल कितने महकदार व खिले खिले बनेगें

78***कच्चा केला काटते समय हाथ काले पड जाते है।उन्हे साफ़ करने के लिए कुछ बुदें नीम्बू का रस व जरा सा नमक लगा कर साफ़ करे हाथ तुरन्त साफ़ हो जाएगे।

79****बथुआ उबाल कर उसका पानी फ़ेकें नही, उस से पैर साफ़ करे चिकने होजाएगें

80***उबला पालक पीस कर उससे आटा गूथंले आकर्षक, स्वादिष्ट व पौष्टिक पालक पराठा बने गा

81..आटा गूथते समय पानी मे थोडा दूध भी मिलायें इससे रोटीयं व पराठे अधिक पोष्टिक स्वादिष्ट बनेगे।

82..दाल को उबालते समय उसमें एक चुट्की पीसी हल्दी और घी या तेल की कुछ बूदेँ डालें।देखियेगा दाल जल्दी पकेगी और बहुत स्वादिष्ट भी बनेगी।

83..अगर आप भिडीं की सब्जी बनारही है तो उसमें थोडा सा नीबू का रस या दही मिला लिजीये आप की सब्जी पैन में चिपकेगी

84...करेले की सब्जी बनाते समय उसका कड्वापन दूर करने के लिये उसमें थोडा सा मेथी पाउडर मिला दीजियें।फ़िर देखियेगा कमाल कड्वापन गायब होजायेगा।

85..यदि दूध में खटास आने लगेऔर फ़टने का खतरा लगे तो,उसमें१ चम्मच पानी में १/२चम्मच खाने का सोडा मिलाकर डाल दीजिये दूध नही फ़टेगा

86..अखरोट का छिलका उतारना होतो उन पर उबलता पानी डालकर थोडी देर केलिये अलग रख दे फ़िर तोड्ने पर साबुत गिरी निकल आएगी।

87..अंडो को उबाल्ते समय पानी मे थोडा सा नमक भी डाल दीजिएक कभी भी अंडा नही फूटेगा।

88...गोभी या बन्दगोभी की सब्जी बनाते समय उसमें एक चम्मच दूध व आधा चम्मच चीनी भी डाल दीजिये फ़ीर देखीये सब्जी का स्वाद और रगं कैसे निकल के आता है

89...भटूरे के आटे मे जल्दी खमीर उठाना हो तो ब्रेड के २-३ स्लाइज तोड्कर मिला दीजिये

90...प्याज को ऎसी सूखी जगह पर जाली में लटकाकर रखें,जहां ताजी हवा आती जाती हो।प्याज जल्दी खराब नही होगें

91****हरी मटर को भन्डार करने के लियेउन्हे प्लास्टिक बैग मे कस कर केबाध कर रखे। ज्यादा दिनो तक रहेगे ताजा .......अगर आप मटर को काफ़ी दिन एक लिये रखना चाहते हो तो उन्हे उबलते हुये पानी में पांच मिनट तक डालकर रखे फ़िर इन्हे छोटे छोटे पैकटो में भरकर फ़्रिजर में रखदे।ताकी आवश्यकतानुसार प्रयोग कर सके।

92***अगर आप सब्जियां छिलकर उबाले तो उनका पानीफ़ेके नही इस पानीमें अनेक पौष्टिक तत्व होते है इसे आप शोरबा या चटनीके लिये इस्तेमाल कर सकती है।

93***कटे हुये फ़लो को रखना नही चाहीये मगर रखना पड्जाये तो आप उसे दूध मिले हुये पानी में रख सक्ते है काले नही पडॆगे।

94***सब्जियो का रगं बनाये रखने के लिये उन्हे ज्यादा नही पकाएं।लगाताए आचंपर रहने सेअपना रगं खो देती है।

95**कई बार घी बनाते समय घी जल जाता है जले हुये घी में एक ताजा कटा हुआ आलू का टुकडा डालकर आग पर रखें जला हुआ घी साफ़ होजाएग।

96***करेले टिन्डे भिन्डी तोरईआदी सब्जिया नरम पड गई होतो इन्हे थोडी देर पानी में भीगो कर रखें फ़ीर ये आसानी से कट जायेगी व छिल जायेगी

97***हाथो से प्याज की दुर्गन्ध दुर करने के लिए कच्चे आलू मले ,दुर्गन्ध दुर हो जाये गी|

98***आलु उबालते समय पानी मे अगर थोडा सा नमक डाल दे तो आलु का छिलका तुरन्त उतर जायेगा

99***अगुरं का रस निकालने से पहले हल्के गर्म पानी में पाच मिनट के लिये रख दे ज्यादा रस निकलेगा।

100***कोफ्ते तलते समय तेल पर्याप्त गरम होना चाहिये, इन्हें धीमी आग में मततलिये. कम गरम तेल में कोफ्ते डालने से वे तेल में फट सकते हैं., पनीर में अरारोटकम होने पर कोफ्ते तेल में फट सकते हैं.

101****अगर सब्जी मे नमक अधिक पड जाता है तो उबला आलु डाल कर सब्जी ओर थोडी देर पका लीजियेन नमक ठीक होजायेग

102***मूंग की दाल की मंगोडी की दाल गीली हो गई है तो आप उबले आलू को मसल कर दाल मे मिला दीजिये मंगोडी और भी खस्ता बनेगी

103***आप के हाथ में किसी भी मसाले के दाग लग गये है तो उनको दूर कर्ने के लिये आप कच्चे आलू को काट कर हाथ पे रगडिए धब्बे दूर हो जाएगें

104***आलू के चिप्स आप लोग सब बनाते ही होगें उनको स्टोर करनेपर कई बार उनमे से अजीब सी गध आने लगती हैइस के लिये आप उसमें सूखी हुई लाल मिर्च व नीम की सूखी पत्तियां रखीये डिब्बा बदं होने पर भी गधं नही आयेगी।
https://healthtoday7.blogspot.com/
105**यदी आलू मे रक्खे रक्खे झूरियां पड जाती है तो उन्हे नमक के पानी में डालकर उबालें ।आलू का बासी पन जाता रहे गा।

106***प्याज की गधं अगर हाथो से नही जारही हो तो हाथमें कच्चे आलु को रगडे बस गधं गायब |

107***आलू के पराठे बनाने जा रही है तो थोडा सा आम के अचार का मसाला डाल कर बनाये पराठे बहुत स्वादिष्ट बनेगे।

108***आलू को १५,२० मिनट तक ठंडे पानी में डाल कर रक्खे उसके बाद उबालीये आधे समय मे ही आलू उबल जायेंगे|

109***आलू की सब्जी बनाने जा रही है तो अगर सब्जी जल्दी पकाना चाहती है तो आप आलू को लम्बाई में काटें आळु जल्दी गलेगेंऔर सब्जी अधिक स्वादिष्ट बनेगी।

110***आलू उबाल ने के बाद पानी नही फ़ेके,उस पानी से नीम्बु मिला कर उस पानी से सर धोये बाल चमक जाएगे

111***अगर आखें थकी-थकी हो तो कच्चे आलु का गोल गोल काट कर आखो पे रखें आंखो की थकान गयब हो जायेगी

112**8अगर आप आलु के पराठे बनाने जारही है तो आप आलू को थोडा गरम ही छिल ले अच्छी तरह से मैस हो जाएगें

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.