Header Ads

बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण और उपाय


बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण और उपाय 
(Bacha sote time bistar gila karne ke karan aur upay)
असल में अभी तक इस बात का सटीक पता कोई नहीं लगा पाया है कि बच्चे सोते समय बिस्तर में पेशाब क्यों करते हैं। मगर, विशेषज्ञों के अनुसार कुछ विशेष चीज़ें इस समस्या की वजह हो सकती हैं। इस ब्लॉग में हम आपको बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के 13 संभावित कारण और इसे कम करने के उपाय बता रहे हैं
1. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का ज्यादा गहरी नींद में सोना (Reasons for kids bedwetting in hindi - deep sleep)यह बच्चे के बिस्तर गीला करने का सबसे बड़ा कारण माना जाता है। कई माता-पिता बताते हैं कि उनके जिन बच्चों को सोते समय बिस्तर गीला करने की आदत है, वो उनके बाकी बच्चों की तुलना में बहुत ज्यादा गहरी नींद में सोते हैं और जगाने पर भी जल्दी जाग नहीं पाते हैं। एक शोध के अनुसार, इनमें से कुछ बच्चे तो इतनी गहरी नींद में सोते हैं कि उनके दिमाग तक मूत्राशय भरने का संकेत भी नहीं पहुंच पाता है।
2. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का मूत्राशय पर नियंत्रण पूरी तरह से विकसित न होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : less control over bladder)कुछ बच्चों को शरीर व दिमाग के बीच का तालमेल सीखने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है। ऐसे में उनका दिमाग सोते समय मूत्राशय या ब्लैडर को ढंग से नियंत्रित नहीं कर पाता है और वो नींद में बिस्तर गीला कर देते हैं। इसके साथ ही कुछ बच्चों का तंत्रिका तंत्र देरी से परिपक्व होता है, ऐसे में उनका दिमाग नींद में मूत्राशय भरने की पहचान नहीं कर पाता है और उनका पेशाब बिस्तर में ही निकल जाता है।
3. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का मूत्राशय "छोटा" होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : small bladder)विशेषज्ञ बताते हैं कि सामान्य आकार का होने के बावजूद, सोते समय कुछ बच्चों का मूत्राशय, पूरा भरने से पहले ही दिमाग को पेशाब करने के संकेत भेज देता है। रात के समय ऐसे बच्चों का मूत्राशय अपनी क्षमता से कम पेशाब इकट्ठा कर पाता है और वे सोते वक्त बिस्तर गीला कर देते हैं। इसके अलावा कुछ बच्चों का मूत्राशय पूरी तरह विकसित होने में अन्य बच्चों की तुलना में ज्यादा समय लेता है। इसकी वजह से वह रातभर में बनने वाला पेशाब जमा नहीं कर पाता है और वे रात में बिस्तर गीला कर देते हैं
।4. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे के शरीर में हार्मोन सम्बंधी असंतुलन होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : hormonal imbalance)हमारे शरीर में पेशाब बनने की प्रक्रिया को एंटीडाइयूरेटिक हॉर्मोन (ADH in hindi) नियंत्रित करता है और यह सुनिश्चित करता है कि शरीर रात के समय ज्यादा मात्रा में पेशाब ना बनाए। अगर बच्चे का शरीर उचित मात्रा में यह हॉर्मोन नहीं बना पाता है, तो रात को सोते समय उसका शरीर ज्यादा पेशाब उत्पादित करता है। ऐसे में ब्लैडर पर नियंत्रण ना होने पर बच्चा बिस्तर गीला कर सकता है।
5. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे के मूत्रमार्ग में संक्रमण होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : urinary tract infection)बच्चे को मूत्रमार्ग का संक्रमण होने पर, उसकी पेशाब रोकने की क्षमता घट जाती है। इस वजह से वह रात को सोते समय बिस्तर गीला कर सकता है। बच्चे को लाल-गुलाबी पेशाब आना, पेशाब करते समय जलन होना और बार बार पेशाब आना, उसके मूत्रमार्ग में संक्रमण होने के लक्षण हो सकते हैं।
6. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का सोने से पहले ज्यादा पानी पीना (Reasons for kids bedwetting in hindi : drinking too much water)बच्चे के शरीर को एक नियमित मात्रा में तरल पदार्थों की आवश्यकता होती है। अगर वह सोने से पहले ज़रूरत से ज्यादा तरल पदार्थ पी लेता है, तो उसका शरीर पेशाब के ज़रिए अतिरिक्त तरल को बाहर निकालने की कोशिश करता है। ज्यादा पेशाब बनने से उसका मूत्राशय जल्दी भर सकता है और वह नींद में बिस्तर गीला कर सकता है।
7. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का कैफीन युक्त पदार्थों का सेवन करना (Reasons for kids bedwetting in hindi : taking caffeinated drinks)कैफीन नामक पदार्थ मानव शरीर में पेशाब के उत्पादन को बढ़ा देता है। अगर आपका बच्चा सोते समय कैफीन युक्त पदार्थ जैसे कॉफी आदि लेता है, तो उसके मूत्राशय में रात को ज्यादा पेशाब जमा हो जाता है। इसकी वजह से वह नींद में बिस्तर गीला कर सकता है।
8. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे का तनावग्रस्त होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : depression)इसका सही कारण अब तक विशेषज्ञों को समझ नहीं आ पाया है, लेकिन वो इस बात को मानते हैं कि तनावग्रस्त होने पर बच्चा नींद में बिस्तर गीला कर सकता है। उसके तनाव की कई वजहें हो सकती हैं, जैसे कोई प्यारी चीज खो जाना, माता-पिता का झगड़ा, परिवार में नया भाई-बहन आना, स्कूल जाने की शुरुआत करना आदि।
9. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे को डायबिटीज होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : sugar)डायबिटीज से पीड़ित बच्चों के खून में शुगर की मात्रा आम बच्चों से अधिक होती है, जिसकी वजह से उनका शरीर ज्यादा मात्रा में पेशाब बनाने लगता है। ऐसे में रात को ज्यादा पेशाब बनने और मूत्राशय की पेशियों पर सही नियंत्रण ना होने की वजह से वो बिस्तर गीला कर सकते हैं।
10. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे को कब्ज होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : kabj)अगर बच्चा कब्ज से पीड़ित है, तो वह नींद में बिस्तर गीला कर सकता है। इसका प्रमुख कारण यह है कि मलाशय व आंतें खाली ना होने की वजह से उसके मूत्राशय पर दबाव डालती हैं। इस वजह से सोते समय उसका मूत्राशय ज्यादा पेशाब जमा नहीं कर पाता है और बच्चे का पेशाब बिस्तर में निकल जाता है।
11. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : सोते समय बच्चे का ढंग से सांस न ले पाना (Reasons for kids bedwetting in hindi : breathing problems)कुछ मामलों में बच्चे के बिस्तर गीला करने की वजह, उसका नींद में ठीक से सांस ना ले पाना हो सकती है। सोते समय उसके ठीक से सांस ना ले पाने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे टॉन्सिल बड़े होना, उचित अवस्था में ना सोना आदि। इससे बच्चे के दिमाग को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है और उसे मूत्राशय के संकेतों को ढंग से समझने में समस्या आ सकती है। ऐसे में वह नींद में बिस्तर गीला कर सकता है।
12. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : बच्चे में शारीरिक या मानसिक कमियां होना (Reasons for kids bedwetting in hindi : physical or mental deficiency)बच्चे में शारीरिक या मानसिक कमियां (जैसे मूत्राशय का ढंग से काम न करना, तंत्रिका तंत्र पूरी तरह से विकसित न होना आदि) होने की वजह से, वह सोते समय बिस्तर गीला कर सकता है।
13. बच्चे के नींद में बिस्तर गीला करने के कारण : आनुवांशिक कारण (Reasons for kids bedwetting in hindi : genetic karan)वैज्ञानिक बताते हैं कि अगर बच्चे के माता-पिता या उनके निकट सम्बन्धियों में से कोई बचपन में रात को बिस्तर में पेशाब करता था, तो वह भी ऐसा कर सकता है। सबसे दिलचस्प बात यह है कि जिस उम्र में उनके माता-पिता ने बिस्तर गीला करना बंद किया था, बच्चा भी उतना बड़ा होने पर ऐसा करना बंद कर सकता है।बच्चे का नींद में बिस्तर गीला करना कम करने के उपाय (Bache ka bistar gila karna kam karne ke upay)आप निम्न उपायों की मदद से अपने बच्चे की बिस्तर गीला करने की समस्या को कम कर सकते हैं -
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे को मूत्र का प्रवाह नियंत्रित करना सिखाएं (Kids bed wetting solution in hindi : teach to control)बच्चे को यह विशेष गतिविधि करवाने से बिस्तर गीला करने की समस्या से राहत मिल सकती है। उसे दिन में कम से कम दो बार 10 से 20 मिनट के लिए पेशाब रोकने के लिए प्रेरित करें। इससे उसके मूत्राशय की पेशाब इकट्ठा करने की क्षमता बढ़ती है और बच्चे को अपने प्रजनन अंग व मूत्र का प्रवाह नियंत्रित करने में मदद मिलती है।
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे को सोने से पहले पेशाब करवाएं (Kids bed wetting solution in hindi : peeing before sleep)अपने बच्चे को सुलाने से पहले उसे एक बार पेशाब जरूर करवाएं। इससे उसे बिस्तर गीला करने की समस्या से राहत पाने में मदद मिलती है। इसके अलावा अगर वो रात में जागे तो उससे एक बार पूछ लें कि उसे पेशाब करने तो नहीं जाना है।
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे को सोने से पहले ज्यादा तरल पदार्थ ना दें (Kids bed wetting solution in hindi : less liquids before sleep)ज्यादा तरल पदार्थों की वजह से बच्चे के शरीर में रात में ज्यादा पेशाब बनता है, ऐसे में उसे सोने से पहले ज्यादा तरल पदार्थ न दें। ऐसा करने से वह रात को पहले की तुलना में कम पेशाब करने लग सकता है।
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे को तनावमुक्त माहौल दें (Kids bed wetting solution in hindi : stressfree enviournment)ऊपर हम आपको बता चुके हैं कि तनाव की वजह से बच्चे नींद में बिस्तर गीला कर सकते हैं। इसलिए उन्हें इस समस्या से राहत दिलाने के लिए, तनावमुक्त माहौल दें। उनके सामने झगड़ा ना करें और उन्हें भरपूर प्यार दें।
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे की कब्ज का पता लगाएँ (Kids bed wetting solution in hindi : kabj ka pata lagaye)असल में जब बच्चे शौचालय का उपयोग करना सीख जाते हैं, तो माता-पिता के लिए उनकी कब्ज व दस्त जैसी समस्याओं का पता लगाना मुश्किल हो सकता है। अगर आपका बच्चा कुछ दिनों से रात को बिस्तर में पेशाब करने लगा है, तो उससे यह जानने की कोशिश करें कि वह कब्ज से पीड़ित है या नहीं। अगर वह कब्ज से पीड़ित है, तो उसे डॉक्टर के पास ले जाएं या उसकी कब्ज ठीक करने के घरेलू उपाय आज़माएँ।
बच्चे का नींद में बिस्तर पर पेशाब करना कम करने के उपाय : बच्चे को कैफीनयुक्त पदार्थ न दें (Kids bed wetting solution in hindi : no caffeine)जैसा कि आप जानते हैं, कैफीन की वजह से बच्चे के शरीर में ज्यादा पेशाब बनता है। इसलिए उसकी बिस्तर गीला करने की आदत कम करने के लिए उसे कैफीनयुक्त पदार्थ देना बंद कर दें।बच्चों का नींद में बिस्तर गीला करना आमतौर पर कोई बड़ी समस्या नहीं है। बेहद दुर्लभ मामलों में (करीब 3 प्रतिशत से भी कम) यह किसी गंभीर समस्या का लक्षण होता है। अगर आपका बच्चा सोते समय बिस्तर में पेशाब कर देता है, तो उसे डांटने के बजाय उसकी मदद करें और उसे भावनात्मक रूप से सहारा दें। इसके साथ ही अगर आप अपने बच्चे के बिस्तर गीला करने के बारे में चिंतित हैं, तो इस बारे में एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.