Header Ads

शरीर के लिए खतरनाक है Bad Fat



शरीर के लिए खतरनाक है Bad Fat , जानिए इससे बचने का तरीका
https://healthtoday7.blogspot.com/

https://healthtoday7.blogspot.com/
मोटापे को अगर समय रहते कंट्रोल ना किया गया तो ये आगे चलकर डायबिटीज और हार्ट प्रॉब्लम जैसी कई खतरनाक बीमारियों की वजह बन सकता है। वजन बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है गलत आहार। कुछ खाद्य पदार्थ हाई कैलोरी युक्त होते हैं जो शरीर में बैड फैट्स को बढ़ाकर मोटापे का रूप देते हैं।

मोटापे की वजह है 'Bad Fat'
फैट्स तीन तरह के होते हैं, सैचुरेटेड, पॉलीसैचुरेटेड, मोनोअनसैचुरेटेड फैट। अनसैचुरेटेड फैटस शरीर के लिए अच्छे होते है, जिन्हे गुड फैटस कहा जाता है जबकि सैचुरेटेड फैटस (बैड फैट) स्वास्थ्य के लिए अच्छे नहीं माने जाते और यही मोटापे का कारण भी बनते हैं।

https://healthtoday7.blogspot.com/
सेहत का दुश्मन भी है सैचुरेटेड फैट

https://healthtoday7.blogspot.com/
सैचुरेटेड फैट शरीर में सीधे ब्लडस्ट्रीम में जाकर बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ाता है, जिससे मोटापे के साथ दिल की बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। शोध के अनुसार, इससे बचने के लिए रोजाना के खाने में सैचुरेटेड फैट की मात्रा को काबू में रखना चाहिए।

केले से वजन कम करने के उपाय

केले से वजन काम करने और मोटापे से छुटकारा पाने के लिए आजकल हम सभी बनाना डाइट प्लान के बारे में सुन रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि दूध और केला खाने से शरीर का वजन बढ़ता है। यही कारण है कि हम वजन घटाते समय केले का सेवन करने से बचते हैं। लोग ऐसा मानते हैं कि केले में बहुत ज्यादा कैलोरी होती है जिससे उनका वजन बढ़ता है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो केले को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

केले में विटामिन बी6, विटामिन सी, फाइबर, पोटैशियम, बायोटिन और मैगनीज होता है। यह तत्व शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक हैं। इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि केले से वजन कम कैसे किया जा सकता है।

बनाना डाइट प्लान – केले से वजन कम करना
https://healthtoday7.blogspot.com/
वेट लॉस करना हो तो बनाना डाइट प्लान को अच्छा माना जाता है। जो लोग वजन कम करना चाहते हैं।उन लोगों के बीच यह प्लान बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय है। आइए जानते हैं कि मोटापे से छुटकारा पाने के लिए केले खाने से किस तरह फायदा होता है।
पका हुआ केला जब थोड़ा हरा हो तब उसमें स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। इसे सुबह सुबह खाएँ तो पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है। इससे आप का मन खाना खाने का नहीं होता।
केला खाकर अगर अगर गर्म पानी पिया जाए तो इससे वजन घटाने में मदद होती है। अगर आपको मोटापा कम करना है तो सुबह के नाश्ते में एक केला और एक कप गर्म पानी पिएं और रात को खाना 8:00 बजे से पहले खा लें।
केला पाचन क्रिया को बढ़ाकर शरीर को कार्बोहाइड्रेट सोखने से रोकता है।
सुबह केले खाने से बॉडी का फैट खत्म हो जाता है।
गरम पानी पीने से बॉडी में ऊर्जा बनती, बॉडी को ऑक्सीजन मिलती है और शरीर में पानी की कमी नहीं होने पाती है। आपको शायद मालूम हो कि पानी में भी बहुत से पोषक तत्व होते हैं।
बनाना डाइट प्लान के नियम

https://healthtoday7.blogspot.com/
वेट लॉस करने के लिए डाइट प्लान बहुत प्रकार के हो सकते हैं। किसी भी डाइट प्लान की सफलता के लिए यह आवश्यक है कि आप सभी बताए गए नियम को मानें।
केले से वजन कम करने हेतु हमेशा हरे पीले रंग का पका हुआ ताजा केला खाएं और जरूरत से ज्यादा केला खाना अवॉइड करें। लंच और डिनर में आप कुछ भी खा सकते हैं।
बनाना डाइट में आप सिर्फ गर्म पानी का सेवन करें।
चाय, कॉफी और सोडा का सेवन करना ठीक है। लेकिन अगर जल्दी वजन घटाना चाहते हैं तो इन सबका सेवन बंद कर दें।
रात को सोने से 4 घंटे पहले खाना खाएं।
शराब का सेवन बिल्कुल ही बंद कर दें।

केले में कितनी कैलोरी होती है
एक बड़े केले में 100 से लेकर 120 तक कैलोरी हो सकती है।
केल में कैलोरी तो ज्यादा होती है, पर इसके साथ ही इसमें फाइबर की मात्रा भी अधिक होती है। जो शरीर में हाई ब्लड शुगर बढ़ने से रोकता है। इसमें मौजूद फाइबर पाचन क्रिया को धीमा कर के शरीर की एनर्जी को बढ़ाता है ।https://healthtoday7.blogspot.com/
क्या केला खाने से वजन बढ़ता है
अगर आप रोज लेने वाली कैलोरी से ज्यादा केला नहीं खाएंगे तो आपका वजन नहीं बढ़ेगा। वजन तभी बढ़ता है जब आप आवश्यकता से अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं फिर चाहे आप केला खाएं या कुछ और।
केला किस समय खाना चाहिए
सुबह के नाश्ते में केला गर्म पानी के साथ लेना चाहिए।
वर्कआउट करने के 15 मिनट पहले और बाद में केला खा सकते हैं। इससे केले का कार्बोहाइड्रेट शरीर को लंबे समय तक ऊर्जा प्रदान करता है।
रोज कितने केले खाएं
दिन में दो से तीन के लिए खाएं ज्यादा केले खाने से कैलोरी बढ़ जाएगी। जिससे आपका वजन भी बढ़ सकता है।

जो लोग दिन भर कुछ न खाकर सिर्फ केला ही खाते हैं। वो केले से वजन कम कर पाते हैं। पर अगर आप खाने के साथ 8 से 10 केले खाएंगे तो वजन बढ़ेगा। वेट लॉस करने के लिए डाइट प्लान के साथ-साथ व्यायाम और योग भी करना चाहिए।
https://healthtoday7.blogspot.com/

कैसे होता हैं सेहत के लिए जानलेवा
दरअसल, यह फैट धमनियों यानि आर्ट्रीज में इकट्ठा होने लगता है, जिससे कोलेस्ट्रॉल धीरे-धीरे एक परत के रूप में यहीं जमा होने लगता है। यह धमनियां ऑक्सीजन युक्त खून को हार्ट से पूरे शरीर में ले जाने का काम करती हैं। ऐसे में आर्ट्रीज में ब्लॉकेज होने से ब्लड सर्कुलेशन धीमा हो जाता है, जिसके कारण शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। नतीजा आपको मोटापे के साथ हार्ट अटैक, स्ट्रोक का सामना करना पड़ता है।
https://healthtoday7.blogspot.com/
शरीर के अलग हिस्सों में जमा होती जिद्दी फैट
बैड फैट से सिर्फ पेट ही नहीं बल्कि शरीर के अलग-अलग हिस्सों में फैट जमा होना शुरू हो जाता है, जोकि सेहत के लिए काफी हानिकारक है। आपने देखा होगा कि कुछ लोगों के कूल्हों पर चर्बी ज्यादा जमी होती है जबकि कुछ लोगों की बैली फैट यानि पेट की चर्बी अधिक होती है हालांकि पेट में जमी चर्बी सबसे ज्यादा खतरनाक मानी जाती है।


कितना हो फैट?


फैट की मात्रा काफी हद तक आपकी लाइफस्टाइल, वेट, उम्र और सेहत पर डिपेंड करती है। औसतन एक व्यक्ति को दिनभर में ली जाने वाली कैलोरी का 20-35% फैट लेना चाहिए, जिसमें सैचुरेटेड फैट 10% और ट्रांस फैट 1% होना चाहिए। इसके लिए सेचुरेटेड और ट्रांस फैट की जगह मोनोअनसेचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैट्स फूड में शामिल करें।
डाइट में करें बदलाव
मोटापे और बैड फैट से बचने के लिए अपने आहार में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा बढ़ा दें। इसका सबसे अच्छा स्त्रोत मछली हैं लेकिन अगर आप शाकाहारी है तो डाइट में अखरोट शामिल करें। इसके अलावा टोफू, सोयाबीन, राजमा और एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल, नट्स, सीड्स, पीनट बटर, मस्टर्ड ऑयल, एवोकाडो और मीट में भी मोनोअनसैचुरेटेड फैट मौजूद होता है, जो बैट फैट को कंट्रोल करता है।


दिल का भी रखें ख्याल
कोलेस्ट्रॉल व हार्ट स्टोक की समस्या से बचने के लिए आपको खान-पान में सैचुरेटेड फैट का मात्रा को कंट्रोल करना होगा। पोर्क, स्किन वाला चिकन, लार्ड, क्रीम, बटर, चीज और दूसरे डेयरी प्रॉडक्ट का सेवन करने से बचें क्योंकि इनमें सैचुरेटेड फैट मात्रा बहुत ज्यादा होती है। अगर खान-पान संतुलित होगा तो इससे आपका वजन भी काबू में रहेगा, जिससे आप दिल की बीमारियों से भी बचे रहेंगे क्योंकि हार्ट डिजीज का सबसे बड़ा कारण मोटापा है।

एक्सरसाइज भी है जरूरी
बैड फैट व मोटापे को कंट्रोल करने के लिए एक्सरसाइज करना भी बेहद जरूरी है। इससे ना सिर्फ फैट कंट्रोल होगा बल्कि इससे शरीर में लचीलापन भी आएगा। साथ इससे दिल और रक्तवाहिकाओं संबंधी प्रॉब्लम को भी दूर रखता है। आप अपनी वर्कआउट रुटीन में हार्ड एक्सरसाइज की बजाए योगासन, जॉगिंग, रनिंग, स्विमिंग, वॉकिंग और डांसिंग शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा पिलेट्स एक्सरसाइज भी वजन कंट्रोल करने के लिए बेस्ट है।
https://healthtoday7.blogspot.com/


Lower Belly Fat के लिए 5 बेस्ट एक्सरसाइज, महीने में दिखेगा फर्क
https://healthtoday7.blogspot.com/
https://healthtoday7.blogspot.com/

लोअर बेली फैट यानी पेट के निचले हिस्से का मोटापा शरीर का आकार बिगाड़ देता है। हाई कैलोरी फूड्स, खराब लाइफस्टाइल, जरूरत से ज्यादा मीठा, तनाव, अवसाद और चिंता, लोअर फैट को बढ़ाने का कारण बनती हैं। वहीं प्रेग्नेंसी के बाद कुछ महिलाओं के पेट के नीचे चर्बी जमा हो जाती है। इस तरह के फैट को कम करना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आज हम आपको कुछ खास एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे, जिससे कुछ ही समय में लोअर बेली फैट कम हो जाएगा।


लोअर फैट के लिए एक्सरसाइज
Knee Plank

इस एक्सरसाइज को करने के लिए सीधा लेट जाए और घुटनों को मोड़ें। इसके बाद हाथों से 90 डिग्री का कोण बनाएं। 45 सेकेंड यह एक्सरसाइज करने से पेट की मसल्स मजबूत होती है और बॉडी परफेक्ट शेप में आ जाएगी। पेट के निचले हिस्से की चर्बी कम करने के लिए भी यह कारगर एक्सरसाइज है।

Plank Exercise
https://healthtoday7.blogspot.com/
प्लैंक एक्सरसाइज से पेट की चर्बी ही कम नहीं होती बल्कि इससे पेट की मसलस भी मजबूत होती हैं। रोजाना कम से कम 45 सेकेंड प्लैंक एक्सरसाइज करें। इससे लोअर बेली फैट कुछ महीनों में ही कम हो जाएगा। इस व्यायाम को आप कहीं भी कर सकते हैं। इसमें पैरों के पंजों और कोहनी पर शरीर का भार रखें और फिर कुछ देर इस स्थिति में रहने के बाद सामान्य हो जाए।

Side Plank
https://healthtoday7.blogspot.com/
कम से कम 45 मिनट साइड प्लैंक भी जरूर करें। साइड प्‍लैंक करने के लिए करवट की मुद्रा में लेट जाएं और फिर अपने एक हाथ व कोहनी पर शरीर का पूरा वजन डालें। इसके बाद शरीर को हवा में उठाएं और दूसरे हाथ को कमर पर रखें। अब दूसरी तरफ करवट लेकर यही प्रक्रिया दोहराएं। इस बात का ध्यान रखें कि आपके पैर व कमर सीधे ही रहें।

Jackknife Sit Up
https://healthtoday7.blogspot.com/
जैक नाइफ सिट अप एक्सरसाइज को रोजाना 30 सेकेंड करने से ही महीनेभर में आपके पेट की चर्बी कम हो जाएगी। इस एक्सरसाइज को करने के लिए जमान पर सीधा लेट जाएं। इसके बाद पैरों को ऊपर की ओर उठाएं और फिर शरीर के अगले भाग को ऊपर की तरफ उठाते हुए हाथों से पैरों को छूने की कोशिश करें।

Cobra Stretch

कोबरा स्ट्रेस एक्सरसाइज को भुजंगासन भी कहते हैं। समतल जमीन पर मैट बिछाकर बैठ जाएं। इसके बाद अपनी हथेली को कंधे के समानातंर लाएं। दोनों पैरों के बीच की दुरी को कम करके पैरों को सीधा एवं तना हुआ रखें। अब सांस लेते हुए शरीर के अगले भाग को नाभि तक 90 डिग्री का कोण बनाते हुए उठाएं। इस स्थिति में धीरे-धीरे सांस लें और छोड़ें। रोजाना 30 मिनट यह एक्सरसाइज करने से पेट के निचले हिस्से की चर्बी गायब हो जाएगी।
https://healthtoday7.blogspot.com/
एक्सरसाइज ही नहीं, डाइट पर भी दें ध्यान
https://healthtoday7.blogspot.com/
लोअर फैट कम करने के लिए एक्सरसाइज के साथ-साथ डाइट पर ध्यान देना भी जरूरी है क्‍योंकि पेट के फैट को कम करना 80 प्रतिशत सही खाने पर निर्भर करता है। एक्सरसाइज के साथ डाइट में माइक्रो न्यूट्रीएंट्स, स्वस्थ और संतुलित आहार लें। साथ ही जंक फूड, चीनी और मसालेदार भोजन से भी परहेज करें।

वजन कम करने के लिए खाएं ये आहार
https://healthtoday7.blogspot.com/
वजन कम करना चाहती हैं तो अपनी डाइट में लहसुन, प्याज, अदरक, लाल मिर्च, गोभी, टमाटर, दालचीनी और सरसो आदि शामिल करें। इनमें वसा कम होती है, जिससे लोअर फैट कम करने में मदद मिलती है। साथ ही, सुबह गर्म पानी को नींबू के रस और शहद के साथ लेने से भी वजन कम होता है।
भरपूर पिएं पानी
https://healthtoday7.blogspot.com/
फैट कम करने में भरपूर मात्रा में पानी पीना बहुत जरूरी है। पानी पीने से शरीर भी स्‍वस्‍थ रहता है क्‍योंकि इससे विषाक्‍त पदार्थ शरीर से बाहर निकल जाते हैं। ऐसे में हर रोज कम से 8-10 गिलास पानी जरूर पिएं।

https://healthtoday7.blogspot.com/
हिप्स और थाइस फैट से ज्यादा खतरनाक है Belly Fat

https://healthtoday7.blogspot.com/
मोटापा एक ऐसी बीमारी है जिसे समय रहते कंट्रोल ना किया गया तो आगे चलकर यह कई खतरनाक बीमारियों की जन्म देती है जिसमें डायबिटीज, हार्ट प्रॉब्लम, घुटनों का दर्द जैसी कई बीमारियां शामिल है इसलिए समय रहते मोटापे पर कंट्रोल करना बहुत जरूरी है।

1. शरीर के अलग हिस्सों में जमा होती जिद्दी फैट
जिद्दी फैट शरीर के किसी भी हिस्से में अधिक हो सकती है। आपने देखा होगा कि कुछ लोगों के कूल्हों पर चर्बी ज्यादा जमी होती है जबकि कुछ लोगों की बैली फैट यानि पेट की चर्बी अधिक होती है हालांकि पेट में जमी चर्बी सबसे ज्यादा खतरनाक मानी जाती है। 

2. Apple या Pear, कैसी है आपकी बॉडी शेप?
जिन लोगों के शरीर में फैट पेट के आस-पास (सेंटर हिस्से) जमी हो उनकी बॉडी एप्पल शेप कहलाती हैं जबकि फेट के कूल्हों व उससे नीचे हिस्से में जमा होनी वाली बॉडी पियर शेप्ड होती है। 
https://healthtoday7.blogspot.com/
3. हिप्स और थाइस से ज्यादा खतरनाक पेट की चर्बी
एप्पल शेप्ड फिगर वाले लोगों की फैट आंत की चर्बी (visceral fat) की होती हैं जो वाइटल आर्गन जैसे लिवर और दिल को नुकसान पहुंचाती है। पेट के आस-पास जमी फैट लोगों को टाइप-2 डायबिटीज, कार्डियोवेस्कुलर, इंसुलिन की गड़बड़ी जैसी बीमारियां अधिक घेरती हैं जबकि हिप्स और थाइस फैट वाले लोगों इस मामले में उनसे ज्यादा सुरक्षित होते हैं।

4. बैली फैट वालों को टाइप-2 डायबिटीज का खतरा
हाल ही में जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (JAMA) में प्रकाशित एक अध्ययन में यह बात स्पष्ट की गई है कि जिन लोगों के पेट की चर्बी ज्यादा इक्ट्ठी होती है उन्होंने हिप्स और थाइस फैट वाले व्यक्तियों के मुकाबले टाइप 2 डायबिटीज का अधिक खतरा होता है। वहीं वह कार्डियोवैस्कुलर (cardiovascular) बीमारी के भी जल्दी शिकार बनते हैं।

5. कैसे घटाएं पेट की जिद्दी चर्बी
बाकी अंगों की बजाए पेट की चर्बी घटाना थोड़ा मुश्किल है, खासकर महिलाओं के लिए।महिलाओं के शरीर में उच्च स्तर पर एस्ट्रोजन नाम हार्मोन बनता हैं जो पेट पर चर्बी जमा करने का काम करता है। वेट लॉस के बावजूद बैली फेट सेल्स घुलते नहीं बल्कि सिकुड़ जाते हैं जो दोबारा से सक्रिय होने लगते हैं। डाइट व एक्सरसाइज कर पेट की चर्बी घटाई जा सकती है। 
-डाइट में करें बदलाव
डाइट में हाई फाइबर फूड्स, सेब, गाजर और साबुत अनाज से बने खाद्य पदार्थ शामिल करें। इसी के साथ हाई कार्बोहाइड्रेट्स आहार जिसमें ग्लाइसेमिक तत्व की मात्रा कम हो शामिल करें। यह आहार पेट की चर्बी कम करने में मददगार साबित होंगे।
- एक्सरसाइज भी बहुत जरूरी
जिद्दी फैट हटाने के लिए एक्सरसाइज करना भी बहुत जरूरी है। इसके सिर्फ आपकी बॉडी फ्लैक्सिबल ही नहीं होगी बल्कि पेट के मसल्स भी स्ट्रांग होगे। पिलेट्स एक्सरसाइज, योगासन, एरोबिक एक्सरसाइज, स्विमिंग, वॉकिंग और डांसिंग बेहद फायदेमंद है। वजन के साथ-साथ यह दिल और रक्तवाहिकाओं संबंधी प्रॉब्लम को भी दूर रखता है। 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.