Header Ads

पपीता खाने के 15 फायदे, जो आपको हैरत में डाल देंगे


पपीता खाने के 15 फायदे, जो आपको हैरत में डाल देंगे

पपीता फल सभी ने देखा भी होगा और खाया भी होगा। अगर नहीं खाया हैं, तो खाना शुरू कर दीजिए। ऐसे कहने से तो शायद ही कोई हमारी बात सुनें, लेकिन पोस्ट पढ़ने के बाद आपको अपने आप लगेगा। कि हमें पपीता खाना चाहिए। आईये जानते हैं पपीता खाने के फायदो के बारे में।

पपीता खाने के 15 फायदे |
papaya Benefits in hindi

1. पपीते में फाइबर उच्च मात्रा में पाया जाता है जिसके कारण हमारा कॉलेस्ट्रोल लेबल नियंत्रित रहता हैं। 
2. एक मध्यम आकर के पपीते में 120 कैलोरी होती हैं, अगर आप वजन घटाने की सोच रहे हैं, तो डाईट में पपीते को जरूर शामिल करें। पपीते में मौजूद फाइबर्स वजन घटाने में मददगार होते हैं। 
3. पपीता खाने से हमारे शरीर को अच्छी मात्रा में विटामिन ए मिलता हैं, जिससे आँखों की रोशनी बढ़ती हैं। 
4. पपीता खाने से हमें विटामिन सी मिलता हैं, जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं। 
5. पपीता खाने से हमारा पाचन तंत्र बिल्कुल ठीक रहता हैं। 
6. जिन महिलाओं को पीरियड्स के दौरान दर्द की शिकायत होती हैं, उन्हें पपीते का सेवन करना चाहिए। 


7. कब्ज की समस्या में पपीते का सेवन बहुत फायदेमंद होता हैं। 
8. अगर किसी के दांतों से खून निकलता हैं,तो पपीता खाने से इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता हैं। 
9. पपीता खाने से शरीर में हार्मोन बदलते हैऔर,तनाव,गुस्से के समय में ये आपका शांत करता हैं। 
10. पपीता खाने से हड्डियाँ मजबूत होती है,इससे गठिया के रोगी को बहुत आराम मिलता हैं। 
11. पपीता मधुमेह रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं, क्योंकि इसमें शुगर नाम मात्र ही होता हैं 

12. पपीता खाने से हमारे शरीर को विटामिन सी, विटामिन ई और बीटा-कैरोटीन सरीखे एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होते हैं जो आपकी त्वचा को झुर्रियों से दूर रखते हैं। 
13. पपीते के सेवन से कोलन और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम रहता हैं। 
14. यह एक ऐसा फल है जिसे गर्भावस्था के दौरान सेवन नहीं करना चाहिए, लेकिन यही फल बच्चे के जन्म के पश्चात् मां के दूध में वृद्धि करने में सहायक होता है। डॉक्टर भी बच्चे के जन्म के बाद इस फल को खाने के लिए सुझाव देते हैं। 
15. पपीता पीलिये के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता हैं। 
नोट: एक बात का ध्यान अवश्य रखें, पपीता खाना तो हैं, लेकिन ताजा क्योंकि ज्यादा पुराना पपीता खाने का कोई फायदा नहीं हैं। 
तो आप सभी ने पपीते के बारे में तो पढ़ ही लिया होगा। अगर आपको किसी भी प्रकार के फलों के फायदो या घरेलू उपाय के बारे में जानकारी चाहिए। तो कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं हम आपकी पूरी सहायता करेंगे


पपीता के ये सात फायदे आपको रखेंगे दुरुस्त

पपीता के ये सात फायदे आपको रखेंगे दुरुस्त
पपीता एक स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक फल सके फल के साथ ही इसके पेड़ में भी कई औषधीय गुण पाए जाते है। हालांकि यह फल बच्चों को कम ही भाता है, परन्तु यह कई रोगों का एक मात्र उपचार है। कच्चे पपीते में विटामिन ए और सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही आयुर्वेद शास्त्र में पपीते को लाइलाज बीमारियों को दूर करने वाला माना गया है। पपीते में विटामिन सी, विटामिन ई और बीटा कैरोटीन जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। जिससे व्यक्ति का यौवन लंबे समय तक बना रहता है। हमारे शरीर में नब्बे प्रतिशत बीमारियां पेट से ही उपजती हैं। खान पान की गड़बड़ी और पाचन तंत्र की खराबी के कारण की शरीर को उचित पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं। जिसके कारण ही लंबे समय के बाद शरीर में रोग उत्पन्न होने लगते हैं। इसलिए भी पपीता रोजाना की डाइट में शामिल किया जाना चाहिए। यही वो फल है जिसके सेवन मात्र से कई तरह की बीमारियों से दूर रहा जा सकता है। आज हम आपको पपीते के कुछ महत्वपूर्ण फायदे के बारे में बता रहे हैं।
1 हृदय रोगों को दूर करने में सक्षम


हृदय रोगों का मूल कारण कॉलेस्ट्रोल होता है। हृदय की रक्त शिराओं में जब कॉलेस्ट्रोल जमा हो जाता है तो हृदय से संबंधित बीमारियां शुरू हो जाती हैं। पपीते में फाइबर, विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो रक्त शिराओं में कॉलेस्ट्रोल को जमा नहीं होने देता। जिसके कारण हृदय संबंधी रोगों के होने की गुंजाइश बेहद कम हो जाती है।
2 पाचन शक्ति में वृद्धि करना


आज के दौर में लोग अधिकतर फास्ट फूड को ही पसंद करते हैं। इस प्रकार का भोजन पाचन तंत्र के लिए बेहद हानिकारक है, लेकिन इसके हानिकारक होने के बारे में पता होने पर भी लोग इसके सेवन नियमित रूप से करते हैं। पपीते में कई प्रकार के पाचक एंजाइम्स होते हैं। साथ ही इसमें कई डाइट्री फाइबर्स भी होते हैं जिसके वजह से पाचन क्रिया सही रहती है और व्यक्ति कब्ज से परेशान नहीं रहता। साथ ही रोजाना पपीते का सेवन कभी कभार फास्ट फूड के सेवन से होने वाले विपरीत प्रभावों से भी हमें दूर रखता है।
I
3 जलने और कटने को भी ठीक करता है


पपीते में एंटी इंनफलेमेट्री गुण पाए जाते हैं। इस गुण के कारण यह सूजन की समस्या को ठीक करता है। साथ ही रगड़, छाले और जले हुए भाग पर कच्चे पपीते का रस लगाने से यह समस्या तेजी से सही हो जाती है।

4 कैंसर की रोकथाम में मददगार


पपीते में एंटी-ऑक्सीडेंट, flavonioids और phytonutrients प्रचुर मात्रा में होते हैं, जो आपकी कोशिकाओं को क्षति पहुंचने नहीं देते। कुछ अध्ययनों ने पपीते के सेवन से कोलन और प्रोस्टेट कैंसर के कम खतरे की पुष्टि भी की है।
5 मां का दूध बनाने में सक्षम


यह एक ऐसा फल है जिसे गर्भावस्था के दौरान सेवन नहीं करना चाहिए, लेकिन यही फल बच्चे के जन्म के पश्चात् मां के दूध में वृद्धि करने में सहायक होता है। डॉक्टर भी बच्चे के जन्म के बाद इस फल को खाने के लिए सुझाव देते हैं।
6 बढ़ती उम्र को रोकने में सहायक


पपीते में विटामिन सी, विटामिन ई और बीटा-कैरोटीन जैसे एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। यह सभी विटामिन त्वचा से झुर्रियों को दूर रखते हैं और असमय होने वाली त्वचा की समस्याओं को भी सही करते हैं। इस फल को रोजाना खाने की आदत आपको लंबे समय तक जवां रखने में मदद करती है।
7 नेत्रों के लिए है फायदेमंद




पपीते में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो आंखों की रोशनी को कम नहीं होने देता। अधिकतर बढ़ती उम्र में आंखों की रोशनी कम हो जाती है। पपीता अपने आहार में शामिल करने से इस मुसीबत से बचा जा सकता है।
इसके अलावा भी पपीते के कई फायदे हैं जो इस प्रकार हैं:
किसी व्यक्ति को पीलिया होने पर पपीता बहुत ही फायदेमंद होता है ।
पपीता दातों में से आने वाले खून को रोकता है।
पपीता खाने से कब्ज नहीं होता, तो इससे बवासीर रोग में भी लाभ मिलता है।
पपीते में पपेन नामक पदार्थ होता है जो भोजन को पचाने में सहायक होता है।
पपीते का प्रयोग प्राकृतिक ब्लीच के रूप में भी किया जाता है।
पपीते को चेहरे पर लगाने से मुहांसे नहीं होते हैं।
पपीता साल में 12 महीने मिलता है। यह फल तथा सब्जी दोनों के रूप में उपयोगी है।
पपीते का उपयोग जैम तथा जेली बनाने में भी किया जाता है।

मोटापा घटाने के घरेलू उपाय




दुबला और छरहरा हर कोई रहना चाहता है पर वजन कम करने की लाख कोशिशों के बावजूद आप ऐसा शरीर हासिल नहीं कर पाते। लेकिन बिना कसरत किए इन उपायों को आप यदि अपनाते हैं तो आपको अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे। 
पपीते का सेवन 
अपने बढ़ते वजन को घटाना है तो पपीते का ज्यादा से ज्यादा सेवन कीजिए। इससे शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं जमती और वजन तेजी से घटता है।
गुनगुने पानी का सेवन 
आप खाना खाने के बाद पौन या एक घंटे बाद पानी पीजिए। अगर आप गुनगुना पानी पी रहे हैं तो और भी अच्छा। इससे वजन को घटाया जा सकता है। 
ग्रीन टी 
आजकल ग्रीन टी के जरिए वजन को कम करने का ट्रेंड चला है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो मोटापा घटाने के साथ-साथ चेहरे की झुर्रियों को भी दूर करता है। बिना चीनी इसे आप पीते हैं तो और जल्दी फायदा होगा। 

मिर्च 

शोध की माने तो वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है। लेकिन ज्यादा मिर्च खाना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। 
पत्तागोभी का जूस
आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रहे इसके लिए आप रोज पत्तागोभी का जूस पीजिए। पत्तागोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं।
टमाटर खाइए 
शरीर की वसा को कम करने में टमाटर का भी योगदान है। सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से वसा में कमी होती है।
शहद और पानी 
चर्बी को कम करने में शहद का बहुत ही बड़ा योगदान रहता है। रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पीजिए। इससे चर्बी कम होती है। 


शहद और नींबू 


गरम पानी में नींबू का रस और शहद घोलकर खाली पेट पीने से शरीर में अतिरिक्त चर्बी जमा नहीं हो पाती। 


पुदीना और शहद 


हम सभी जानते हैं कि पुदीना और शहद स्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थ है। इससे मोटापा भी घटता है। इसके लिए आप एक चम्मच पुदीने के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लीजिए जल्दी असर करेगा। 


दही का सेवन 


डेयरी प्रोडक्ट में यदि आप दही का सेवन ज्यादा से ज्यादा करते हैं तो शरीर की चर्बी भी नहीं बढ़ेगी और वजन भी कम होगा। इसके अलावा छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करना लाभदायक है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.