Header Ads

नॉर्मल डिलीवरी के बाद अगर आपको लगती है जल्दी-जल्दी पेशाब


नॉर्मल डिलीवरी के बाद अगर आपको लगती है जल्दी-जल्दी पेशाब, जाने इसका उपचार
माँ बनने के बाद एक महिला के जीवन में शारारिक और मानसिक तौर पर काफी बदलाव आते है और अक्सर देखा जाता है कि डिलीवरी के बाद महिलाओं को जल्दी-जल्दी पेशाब आने की समस्या होने लगती है। सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद ऐसे मामले कम देखे जाते हैं जबकि नॉर्मल डिलीवरी के बाद ये समस्या ज्यादा होती है। आइए आपको बताते हैं कि नॉर्मल डिलीवरी के बाद महिलाओं को ज्यादा पेशाब क्यों लगती है और क्या है इस समस्या का उपचार।
डिलीवरी के बाद क्यों लगती है बार-बार पेशाब
नॉर्मल डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर खासकर यौन अंगों की मांसपेशियों में फैलाव आ जाता है और वो कमजोर हो जाती हैं। ये ढीली मांसपेशियां कई बार यूरिन को देर तक नहीं रोक पाती हैं इसलिए महिला को बार-बार पेशाब होने का एहसास होता है और कई बार यूरिन लीक भी हो जाता है। इसके साथ ही बहुत सारी महिलाओं में नॉर्मल डिलीवरी के बाद कब्ज की समस्या भी देखी जाती है। यही नहीं, गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। शिशु को जन्म देने के बाद भी उनके हार्मोन्स में लगातार बदलाव होते रहते हैं। इसलिए कई बार हार्मोनल असंतुलन भी बार-बार पेशाब आने का कारण बन सकता है।
तनाव भी है एक बड़ी वजह
ऐसा देखा जाता है कि ज्यादातर महिलाएं गर्भावस्था के दौरान और डिलीवरी के बाद कई तरह के मानसिक तनाव का शिकार होती हैं। तनाव के कारण भी महिलाओं में बार-बार यूरिन जाने की समस्या हो सकती है। ऐसे में जब महिला अचानक बहुत तेज हंसती है, ताकत लगाती है या छींकती है, तो यूरिन निकल जाता है।

कब तक रहती है ये समस्या
आमतौर पर महिलाओं में ये समस्या शिशु के जन्म के बाद से 1 साल के अंदर ठीक हो जाती है। हालांकि कुछ मामलों में जब मांसपेशियां तेजी से रिकवर नहीं कर पाती हैं या महिला को वजाइनल इंफेक्शन आदि हो जाए, तो ये समस्या कई साल तक हो सकती है।

कैसे करें बार-बार पेशाब आने की समस्या का उपचार
# पेशाब को रोकने के लिए कीगल एक्सरसाइज सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है। इस एक्सरसाइज में शरीर में कीगल प्वाइंट की पहचानकर यूरिन को अपनी इच्छा अनुसार रोका जा सकता है। हालांकि अगर महिला को बहुत अधिक मात्रा में यूरिन लीक होता है, तो एक्सरसाइज के द्वारा इसे नहीं रोका जा सकता है। इसके लिए ऑपरेशन इलाज है या महिलाएं चाहे तो पैड का इस्तेमाल करें। इसके अलावा इन बातों का ध्यान रखें-

# सिगरेट, बीड़ी, गुटखा, पान-मसाला आदि खाने से भी यूरिन जल्दी आता है इसलिए अगर आप इन चीजों का सेवन करती हैं, तो इसे तुरंत बंद कर दें। ये आदतें शिशु के लिए भी खतरनाक हो सकती हैं अगर आप उसे स्तनपान करवाती हैं।

# मोटापे के कारण ब्लैडर पर दबाव पड़ता है इसलिए मोटापे को अपने से दूर रखें।
# बार-बार पेशाब जाने के डर से कम पानी पीना खतरनाक है। आपको पर्याप्त पानी और तरल पदार्थों का सेवन करते रहना चाहिए। शरीर में पानी की कमी दूध के निर्माण संबंधी और अन्य तरह की परेशानियां खड़ी कर सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.