Header Ads

इन दो चीजों के साथ मुली का सेवन न करें, होगा नुकसान


इन दो चीजों के साथ मुली का सेवन न करें, होगा नुकसान

मुली का सेवन बहुत ही कम लोग करते हैं, लेकिन इसके फायदों के बारे में अवगत नहीं हैं। अकेले मुली कई रोगों के लिए गुणकारी है। इसे आप न केवल सलाद के रूप में खा सकते हैं बल्कि पराठा और दाल के रूप में भी सेवन कर सकते हैं। आपको बता है कि मूली सफेद, पिंक और काली आदि कई तरह का होता है, जो गर्मियों और सर्दियों में उगाया जाता है।


सफेद मूली भारत में सबसे ज्यादा पाया जाता है। इसमें कई तरह के स्वास्थ्य लाभ है। यह मूली वास्तव में हमारे लिवर और पेट को साफ करने में मदद करता है, इस प्रकार यह डिटॉक्सीफाई भी करता है। काली मूली और इसकी पत्तियों का उपयोग पीलिया के इलाज के लिए किया जाता है, क्योंकि यह अतिरिक्त बिलीरुबिन से छुटकारा दिलाने में सहायता करता है। आपको बता दें कि पीलिया रोग का मुख्य कारण खून में बिलीरुबिन की मात्रा अधिक होना है।
इन दो चीजों के साथ मुली का सेवन न करें
1. संतरा के साथ न खाएं मूली

यदि आप मूली का सेवन कर रहे हैं, तो उसके साथ संतरा खाने से बचना चाहिए। इन दोनों का मिश्रण भी जहर से कम नहीं होता। इन्हें एक साथ खाने से न केवल पेट से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं बल्कि आपका पेट खराब हो सकता है। मूली खाने के 12 घंटे के बाद ही संतरे का सेवन कीजिए। – स्किन के लिए संतरे के जूस के फायदे
2. मूली के बाद करेला खाने से बचें

क्या आप मूली खाने के बाद करेले का सेवन करते हैं। तो आपको बता दें कि ऐसा करना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि इन दोनों का कॉम्बिनेशन आपके पेट में रिएक्शन कर सकता है। जब भी आप मूली का सेवन करें, तो इसके 24 घंटे के अंदर करेले का सेवन न करें। इससे सांस लेने में तकलीफ के साथ-साथ दिल संबंधित परेशानी होने की संभावना बढ़ सकती है।
मूली के फायदों के बारे में आइए जानते हैं

1. लाल रक्त कोशिकाओं के नुकसान को नियंत्रित करने के लिए मूली का सेवन किया जाना जाता है। इस प्रक्रिया में रक्त में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी बढ़ जाती है।

2. मूली एंथोसायनिन का एक अच्छा स्रोत है, जो हृदय रोगों के जोखिम को कम करने के साथ-साथ दिल को ठीक करने का काम करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन सी, फोलिक एसिड और फ्लेवोनोइड्स हेल्थ को बेहतर बनाने में सहायता करता है।

3. आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यून सिस्टम में सुधार करना मूली के सबसे महत्वपूर्ण लाभों में से एक है। इसमें मौजूद विटामिन सी आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है और कई बीमारियों से आपको दूर रखता है।

4. मूली आपके सिस्टम को पर्याप्त मात्रा में फाइबर प्रदान करता है, इसलिए इससे आपके पाचन में सुधार हो सकता है। यह पित्त उत्पादन को भी नियंत्रित करता है तथा आपके लिवर और पित्ताशय की सुरक्षा करता है।

5. मूली आपके शरीर को पोटेशियम प्रदान करता है, जो आपके रक्तचाप को कम करने में मदद करता है, और आपके रक्त प्रवाह को नियंत्रित रखता है, खासकर यदि आप उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं। आयुर्वेद के अनुसार, मूली से रक्त पर शीतलन प्रभाव पड़ता है।
6. मुली न केवल आपके पाचन तंत्र के लिए अच्छी है, बल्कि यह एसिडिटी, मोटापा, गैस्ट्रिक समस्याओं और मतली के साथ अन्य रोगों को भी ठीक करने में सहायता करता है।

7. मूली विटामिन ई, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी6, और विटामिन के से भरपूर है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर, जिंक, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, तांबा, कैल्शियम, आयरन और मैंगनीज भी पाया जाता है।

8. अगर आप गर्मियों में मूली खाते हैं, तो यह हाइड्रेट रखने में बहुत ही सहायता करता है, क्योंकि इसमें मौजूद पानी आपके शरीर को हाइड्रेट रखता है।
मूली के पत्ते के फायदे

मूली के पत्तों में कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मौजूद है। यह आयरन, कैल्शियम, फोलिक एसिड, विटामिन सी और फॉस्फोरस से भरपूर हैं और फिट रहने में आपकी मदद कर सकता है। फाइबर से समृद्ध मूली की पत्तियां आपके पाचन को बढ़ाने और सूजन तथा कब्ज से छुटकारा दिलाने में सहायता कर सकता है। आज हम जानेंगे मूली की पत्तियों के फायदों के बारे में…
डायबिटीज को नियंत्रण में रखे



इसमें कई ऐसे गुण पाए जाते हैं जो ब्लड शुगर के स्तर की जांच करने में सहायता कर सकता है। इसलिए, आप अपने डायबिटीज को नियंत्रण में रखने में सक्षम हों पाएंगे। इसलिए आप अपने इसे दैनिक आहार को शामिल करना न भूलें।
मूत्राशय को साफ करने में करे मदद

मूली के पत्ते के रस को नेचुरल मूत्रवर्धक के रूप में जाना जाता है जिसमें स्टोन डिजॉल्व करने की क्षमता होती है। आप इसका सेवन कीजिए, आपको निश्चित रूप से इसका फायदा होगा।

पाइल्स से निपटने में करे मदद


पाइल्स या बवासीर एक दर्दनाक स्थिति है जो आपकी शांति को भंग कर सकता है, लेकिन आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि हम आपको बताते हैं कि आप इससे कैसे निपट सकते हैं। पाइल्स यानि बवासीर के रोगियों के लिए मूली एवं इसके पत्तों की सब्जी खाना बेहद लाभकारी होता है। रोजाना इसके प्रयोग से आपकी समस्या समाप्त हो सकती है।

मूली के पत्ते में एंटी-बैक्टीरियल गुण है से सूजन से छुटकारा पाने में आपकी मदद कर सकता है। इसके लिए आप पानी में सूखी मूली के पत्तों के पाउडर को मिलाएं और इसे पीजिए।
जॉन्डिस में करे मदद
मूली की पत्तियां विटामिन सी में समृद्ध हैं और आपको पीलिया से छुटकारा दिलाने में सहायता कर सकता है। आप मूली का जूस पी सकते हैं।
इम्यून सिस्टम को बढ़ाए मूली का पत्ता

मूली के पत्तों का प्रयोग आप सब्जी या पराठे बनाने में कर सकते हैं। इसका सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता या इम्यून सिस्टम में इजाफा होता है और थकान महसूस नहीं होती।
स्कर्वी रोग में लाभकारी

यदि आप स्कर्वी से पीड़ित हैं तो आपको मसूड़ों में रक्तस्राव का अनुभव हो सकता है। इसके लिए मूली की पत्तियां जो विटामिन सी से भरपूर है इस समस्या से निजात दिलाने में आपकी सहायता कर सकता है। –
कब्ज से दे राहत

मूली की पत्तियां फाइबर से भरपूर है इसलिए यह कब्ज से राहत देता है। वहीं इसके रस को पानी और मिश्री के साथ पीने पर पीलिया रोग में लाभ मिलता है। इतना ही नहीं यह बालों का झड़ना भी कम करता है।
नमक की कमी को पूरा करे

चूंकि मूली की पत्तियों में सोडियम होता है और यह बॉडी में नमक की कमी को पूरा करता है, इसलिए लो ब्लडप्रेशर के मरीजों के लिए भी यह बेहद लाभकारी है। इसके अलावा इसमें मौजूद एंथेकाइनिन दिल के लिए गुणकारी होता है।
विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाले

मूली के पत्तों में आवश्यक पोषक तत्व होता है। मूली के पत्तों की एंटीमाइक्रोबायल और जीवाणुरोधी गुण शरीर को डिटॉक्सीफाइंग और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में सहायता करते हैं। – 
गठिया रोग में गुणकारी
गठिया शायद दुनिया में सबसे दर्दनाक बीमारियों में से एक है। इसमें घुटने सूज जाते हैं और कई तरह की समस्या उत्पन होती है। इसके लिए आप मूली के पत्तों का पेस्ट बना लीजिए और इस पेस्ट को दर्द वाली जगह पर लगाएं। यह सूजन को कम करने में मदद कर सकता है

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.