Header Ads

सेक्सुअल फिटनेसः


सेक्सुअल फिटनेसः क्या आप सेक्सुअली फिट हैं?(
सेक्स को लेकर आज भी लोगों के मन में भ्रांतियां और ग़लतफ़हमियां हैं, क्योंकि सेक्स (Sexual fitness) को लेकर कुछ खुलापन भले ही आ गया हो, लेकिन मैच्योरिटी अब भी नहीं आई है. ऐसे में यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है कि क्या हम सेक्सुअली फिट हैं?

– एक सामान्य इंसान को सेक्स की ज़रूरत और चाहत होती है.
– यह चाहत व ज़रूरत अलग-अलग लोगों में अलग-अलग हो सकती है. किसी को कम, किसी को ज़्यादा.
– इसी तरह आकर्षण होना भी स्वाभाविक है.
– फैंटसीज़ यानी कल्पना करना, जैसे- किसी ख़ास व्यक्ति की ओर यदि हम आकर्षित होते हैं, तो उसके बारे में सोचना और कल्पना में उसके साथ सेक्स करना भी स्वाभाविक व सामान्य है.
– सेक्स (Sexual fitness) की चाह होने पर मास्टरबेट करना भी हेल्दी माना जाता है.
– यदि आप में ऊपर बताए तमाम लक्षण मौजूद हैं, तो आप सेक्सुअली फिट हैं और यदि आप में सेक्स ड्राइव यानी सेक्स की चाह कम है या कम हो रही है, तो आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम है.
– अगर आप शादीशुदा हैं, तो आपकी सेक्स लाइफ कितनी अच्छी है?
– क्या सेक्स से आपको और आपके पार्टनर को पहले जैसी संतुष्टि नहीं मिलती?
– क्या सेक्स से आपको ऊब और बोरियत होने लगी है?
– क्या यह महज़ शारीरिक क्रिया बन गया है आपके लिए या अब भी भावनात्मक रूप से आप इसे आनंददायक क्रिया मानते हैं?
ये तमाम सवाल ख़ुद से और अपने पार्टनर से करें, तो आप ख़ुद जान जाएंगे कि आप सेक्सुअली कितने फिट हैं.
व्यस्त ज़िंदगी में भी अगर सेक्स आपकी प्राथमिकताओं में से बाहर हो गया है, तो सचेत हो जाइए. शोधों में भी यह बात कई बार साबित हो चुकी है कि शादीशुदा लोग कुंवारे लोगों की अपेक्षा अधिक हेल्दी और लंबी ज़िंदगी जीते हैं. ऐसे में सेक्स के महत्व और सेक्सुअल फिटनेस को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता.
सेक्सुअल फिटनेस को आप इस तरह से बांटकर देख सकते हैं-

भावनात्मक पहलू:

अगर आपका अपने पार्टनर से भावनात्मक लगाव है, तो ज़ाहिर है सेक्स लाइफ बेहतर बनेगी, लेकिन अगर आप दोनों ही मशीनी ज़िंदगी जीने के आदी हो चले हैं, तो सेक्स की चाह भी कम होती चली जाएगी यानी आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम
होती जाएगी.
स्पेशल टिप: ऐसे में ज़रूरी है पार्टनर के साथ समय बिताएं. प्यार भरी बातें करें, एक-दूसरे को सहयोग करें, जिसका सीधा प्रभाव आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा.

मानसिक स्थिति:

मानसिक तनाव, काम का बोझ और घरेलू ज़िम्मेदारियां भी आपको सेक्स के प्रति उदासीन बना देती हैं. बेहतर होगा कि अपने काम का तनाव बेडरूम में न ले जाएं. आप मिल-जुलकर हर समस्या का समाधान निकाल सकते हैं, इसलिए अपने रिश्ते और सेक्स लाइफ पर इन रोज़मर्रा की बातों का असर न पड़ने दें.
स्पेशल टिप: पुरुषों की 90% सेक्स समस्या, जैसे- शीघ्रपतन आदि मानसिक अवस्था से ज़्यादा जुड़ी होती है, बजाय शारीरिक
समस्या के.
ठीक इसी तरह महिलाओं में योनि में सूखापन, दर्दयुक्त सेक्स आदि भी सेक्स के प्रति उदासीनता की वजह से हो सकता है.

शारीरिक पहलू:

सेक्सुअल फिटनेस बहुत हद तक आपकी शारीरिक फिटनेस से भी जुड़ी होती है. अगर आपको कोई सेक्सुअल या शारीरिक समस्या है, तो काउंसलर या एक्सपर्ट की मदद लेने से परहेज़ न करें.
स्पेशल टिप: योग व एक्सरसाइज़ को भी अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं. साथ में जॉगिंग या योगा क्लासेस जॉइन करें, इससे आप दोनों में नज़दीकियां बढ़ेंगी, जिसका सकारात्मक असर आपकी सेक्सुअल फिटनेस पर पड़ेगा.

नकारात्मक सोच से बचें

मन में बैठी भ्रांतियों व ग़लतफ़हमियों के कारण अपनी सेक्सुअल फिटनेस कम न होने दें-
अधिकतर लोगों को लगता है कि फैंटसाइज़ करना, मास्टरबेट करना या किसी की तरफ़ आकर्षण महसूस करना ग़लत है. जबकि ये तमाम चीज़ें आपकी सेक्सुअल फिटनेस का अहम् हिस्सा हैं और आपकी फिटनेस को दर्शाती हैं.

सामाजिक व पारिवारिक पहलू

जहां तक महिलाओं की बात है, तो बचपन से ही पालन-पोषण अलग ढंग से होने के कारण या अन्य कारणों से भी वो सेक्स को लेकर उतनी उत्साहित नहीं रहतीं. उन्हें लगता है कि सेक्स के बारे में बात करना ग़लत है या चाहत होने पर भी सेक्स के लिए पहल न करना ही सही है, क्योंकि स्त्रियों को शर्मीला होना चाहिए और यही शर्मीलापन उनके संस्कार व चरित्र की सही व्याख्या करेगा. तमाम ऐसी बातें महिलाओं को सेक्सुअली अनफिट बनाती हैं और वो अपने पार्टनर को ठीक से सहयोग नहीं करतीं.
इसके अलावा वो अपनी बॉडी को लेकर भी काफ़ी कॉन्शियस रहती हैं, उन्हें लगता है कि उनका फिगर या उनकी शारीरिक
ख़ूबसूरती उनके पार्टनर को आकर्षित करने के लिए नाकाफ़ी है.
स्पेशल टिप: इस तरह की नकारात्मक सोच न रखें. फिज़िकल फिटनेस पर ध्यान ज़रूर दें, लेकिन मानसिक रूप से भी पॉज़ीटिव बनी रहें. आपका सहयोग और आपका प्यार आपकी शारीरिक ख़ूबसूरती से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है रिश्ते व सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाए रखने के लिए.
क्या करें?
– फोरप्ले ज़रूर करें. अच्छे सेक्स के लिए अच्छा फोरप्ले बहुत ज़रूरी है.
– इसी तरह से अच्छे सेक्स के लिए रोमांस होना भी बहुत ज़रूरी है, इसलिए व्यस्त दिनचर्या से रोमांटिक पलों को ज़रूर चुराएं.

– खान-पान हेल्दी हो. फिज़िकल फिटनेस आपको सेक्सुअली भी फिट रखेगी.
– सेक्स बूस्टर फूड को अपने डायट का हिस्सा बनाएं, जैसे- हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फ्लैक्स सीड(अलसी), सोयाबींस, सनफ्लावर सीड्स, सी फूड, नट्स, ताज़ा फल, ख़ासकर विटामिन सी युक्त आदि. साथ ही एक्सरसाइज़ भी करें.
– जंक फूड, अल्कोहल का सेवन कम करें.
– तनाव से दूर रहें.
– अगर कोई समस्या हो, तो काउंसलर व एक्सपर्ट से सलाह लें.


महिलाओं के इन 6 सिग्नल्स से जानें क्या चाहती है वो?

आपकी पार्टनर आपसे क्या चाहती है, ये जानना ज़्यादा मुश्किल काम नहीं. बस उनके बॉडी सिग्नल्स को पहचानने की कला आपको सीखनी होगी. कम से कम ये 6 सिग्नल्स तो आप जान ही लें. ताकि ये समझ सकें कि आपकी पार्टनर आपसे क्या चाहती है.



1. अगर वो बार-बार बालों में उंगलियां घुमाए:

इसका अर्थ है कि वो आपका अटेंशन चाहती है और आपसे अधिक जुड़ाव की ख़्वाहिश है उसे. वह आपको पसंद करती है और चाहती है कि आप उसके बारे में बातें करें, उसकी तारीफ़ करें. और यक़ीन मानें, ऐसा करके आप उसके दिल में परमानेंट अपनी जगह बना सकते हैं.
2. बातचीत के दौरान वो बार-बार घड़ी देखे:
तो इसका मतलब है कि उसे आपकी बातों में दिलचस्पी नहीं है और वो आपकी बातों से बोर हो रही है. इसका अर्थ ये भी हो सकता है कि वो जल्दी में है और उसे कहीं पहुंचना है. इसलिए बेहतर होगा कि आप अपनी बातों पर वहीं फुलस्टॉप लगा दें और उसे जाने दें.

3. अगर वो आंखों में आंखें डालकर बात करे:

इसका अर्थ है कि उसे अपने प्यार पर, आप पर पूरा विश्‍वास है. वह इस रिश्ते को लेकर पूरी तरह आश्‍वस्त है. इसके अलावा अगर वो बातचीत के दौरान आपकी ओर देखे, फिर नज़रें झुका लें तो समझ जाएं कि वो आपकी ओर आकर्षित है और आपसे भी इसी आकर्षण की उम्मीद करती है.

4. अगर वो कमर पर हाथ रखकर खड़ी हो:
अगर उसके दोनों हाथ कमर पर हों तो तो यह इस बात का संकेत है कि उसमें अधिकार भावना है और वो पुरुष को डॉमिनेट करना चाहती है. अगर उसका एक ही हाथ कमर पर हो तो इसका मतलब है कि वह आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहती है. अगर वो हाथ बांधकर खड़ी हो तो हो सकता है आपमें उसकी दिलचस्पी न हो.


5. अगर बैठने के बाद वो बार-बार पोज़िशन बदले:

अगर ऐसा है तो उसमें आत्मविश्‍वास की कमी है या ये भी हो सकती है कि आपके सामने वो कम्फ़र्टेबल न महसूस करती हो या इस रिश्ते को लेकर कुछ दुविधा में हो.
6. अगर वो आपमें अक्सर कमियां निकाले:


तो सावधान हो जाएं. ये अनहेल्दी रिलेशनशिप का संकेत हो सकता है. शायद वो आपमें कमियां गिनाकर आपको नीचा दिखाने की कोशिश कर रही हो या ख़ुद को सुपीरियर साबित करने के लिए ये सब कर रही हो, ताकि आप पर हुक्म चला सके.

जानें पुरुषों की ये इंटरेस्टिंग बातें
– पुरुष ही एकमात्र ऐसा प्राणी है जो अपने दुश्मन के साथ बैठकर भी खा सकता है.
– क्या महिलाओं की तुलना में पुरुषों को कलर ब्लाइंडनेस अधिक होता है? हां ये सच है. जहां 100 में से 6 पुरुषों को कलर ब्लाइंडनेस की समस्या होती है, वहीं 1000 में से स़िर्फ एक महिला को कलर ब्लाइंडनेस हो सकता है.
– जब चार या अधिक पुरुष साथ बैठते हैं तो अधिकतर स्पोर्ट्स पर बातचीत करते हैं, जबकि चार महिलाएं साथ बैठती हैं, तो वे पुरुषों के बारे में बात करती हैं.
– जो पति सुबह घर से निकलने के पहले पत्नी को किस करते हैं, वे किस करके न निकलने वाले पतियों की तुलना में 5 साल अधिक जीते हैं.
– अगर पुरुष कभी फूल ख़रीदता है तो वो ज़्यादातर रेड कलर का फूल सिलेक्ट करता है, जबकि महिलाएं पिंक, ब्लू या अन्य कलर के फूल ही ख़रीदती है.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.