Header Ads

जानिए विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करे

जानिए विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करे : विटामिन डी की कमी के लक्षण, कारण, उपाय
Image result for विटामिन डी

क्या आप जानते हैं कि विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करें ? और विटामिन डी की कमी हमारे शरीर में क्यों हो जाती है, इसके क्या लक्षण हैं और विटामिन डी के मुख्य स्रोत क्या हैं? जिनकी मदद से आप विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं| इस लेख में हम आपको इन सारे सवालों का जवाब देंगे और आपको विटामिन डी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी भी देंगे जो हर व्यक्ति को जाननी आवश्यक है|


https://healthtoday7.blogspot.com/
विटामिन डी क्या है और इसके कार्य

विटामिन डी हमारे शरीर की वसा में घुलनशील एक प्रकार का विटामिन है| विटामिन डी, कैल्शियम को अवशोषित करके रखता है जिससे हमारी हड्डियों को मजबूती मिलती है| यह विटामिन हमें कई रोगों से लड़ने में मदद करता है और हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है|

विटामिन डी 2 प्रकार का होता है –
विटामिन D2
विटामिन D3

हमारी त्वचा, हृदय, हड्डियां, दांत, मसूड़े अर्थात हमारे शरीर के सम्पूर्ण विकास के लिए विटामिन डी बहुत अधिक महत्वपूर्ण है|
विटामिन डी की कमी के कारण
Image result for विटामिन डी
विटामिन डी का सबसे मुख्य स्रोत होता है – “सूरज की रौशनी” परन्तु आजकल लोगों की जीवनशैली बहुत अधिक बदल चुकी है| काफी महिलाएं तो काले होने के डर की वजह से धूप में ही नहीं जाती हैं| इसके अलावा शहरों में लोगों के घर की बनावट ऐसी है कि वहां धूप जाती ही नहीं और लोग भी धूप में जाना पसंद नहीं करते|

इस वजह से लोगों में विटामिन डी की कमी हो जाती है|

इसके अलावा सांवले या काले लोगों में विटामिन डी की होने के चांस ज्यादा होते हैं| दरअसल, हमारी त्वचा के पिगमेंट्स एक सनस्क्रीन की तरह काम करते हैं और सांवली त्वचा में ये पिगमेंट्स ज्यादा होते हैं इसलिए सांवली त्वचा वाले लोग जब धूप में जाते हैं तो उनमें विटामिन डी बनने की प्रक्रिया धीमी होती है और वहीँ गोरे लोगों में धूप में जाते ही तेजी से विटामिन डी बनने लगता है|
आजकल लोग फ़ास्ट फ़ूड का सेवन ज्यादा करते हैं और विटामिन डी से भरपूर चीज़ों का सेवन नहीं करते, ये भी विटामिन डी की कमी का एक मुख्य कारण है|
विटामिन डी की कमी होने के लक्षण

जब किसी व्यक्ति में विटामिन डी की कमी होने लगती है तो शुरुआत में तो कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते लेकिन धीरे धीरे कई शारीरिक समस्याएं होनी शुरू हो जाती हैं|
अत्यधिक मोटापा बढ़ना – जब शरीर में मोटापा बढ़ता है तो विटामिन डी बनने की क्षमता कम हो जाती है| अगर शरीर में विटामिन डी की ज्यादा ही कमी हो जाए तो मोटापा बहुत तेजी से बढ़ता ही जाता है|

Image result for विटामिन डी
पसीना ज्यादा आना – कई लोग शिकायत करते हैं कि उनको हमेशा पसीना आता रहता है| मेहनत करने के बाद तो सबको ही पसीना आता है लेकिन बिना वजह ही पसीना आते रहना विटामिन डी की कमी का लक्षण है|

थकान और चिड़चिड़ापन – विटामिन डी की कमी से शरीर में हमेशा थकान और सुस्ती बनी रहती है| व्यक्ति का स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है और बिना वजह गुस्सा भी बहुत आने लगता है|

ब्लड प्रेशर हाई होना – विटामिन डी हमारे ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है इसकी कमी होने पर व्यक्ति का कोलस्ट्रोल बढ़ने लगता है और ब्लड प्रेशर भी बहुत हाई रहने लगता है|
हड्डियां कमजोर हो जाना – विटामिन डी की कमी होने पर हड्डियां मुलायम हो जाती हैं जिससे वो कमजोर पड़ जाती हैं और आसानी से टूट भी सकती हैं| शरीर की हड्डियों में दर्द और सूजन विटामिन डी की कमी की वजह से ही होता है| ‘

एनर्जी की कमी – शरीर में एनर्जी की बहुत कमी हो जाती है और किसी भी काम को करने में मन नहीं लगता| हमेशा थकावट का अहसास होता है|

मसूड़ों में दिक्कत – विटामिन डी की कमी से दांत और मसूड़े कमजोर हो जाते हैं ऐसे में दांत जल्दी टूटने लगते हैं और मसूड़ों में सूजन रहती है| कुछ खाने पर दांतों में दर्द होता है और ठंडा गर्म पानी दातों में लगता है|

जल्दी बुढ़ापा आना – कम उम्र में ही व्यक्ति के शरीर पर झुर्रियां आने लगती हैं और व्यक्ति बूढ़ा सा दिखना शुरू हो जाता है| विटामिन डी से ही हमारी त्वचा का विकास होता है इसकी कमी से त्वचा बेजान हो जाती है व्यक्ति बूढ़ा सा हो जाता है|
विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करें : मुख्य स्रोत
विटामिन डी की कमी को दूर करने के लिए आपको विटामिन डी के स्रोतों के बारे में जानना होगा जिनके सेवन से आप इस कमी से निजात पा सकें –
सूरज की रौशनी
सूरज की रौशनी की विटामिन डी का सबसे मुख्य स्रोत माना गया है| यह सबसे उत्तम और निशुल्क इलाज है| हमारे शरीर को रोजाना 10 से 20 माइक्रो ग्राम विटामिन डी की जरूरत होती है जो कि धूप में मात्र 15 मिनट बैठने से भी मिल जाती है|

याद रखें कि सुबह की धूप ही विटामिन डी के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होती है| दोपहर की धूप में कई खतरनाक किरणें होती हैं जो हानिकारक होती हैं इसलिए सुबह की धूप ही लें|


जिन लोगों में विटामिन डी की कमी है वो सुबह कम से कम 45 मिनट के लिए धूप में जरूर बैठें|
अंडे का पीलाभाग

अंडे के पीलेभाग (जिसे जर्दी भी कहा जाता है) में भरपूर मात्रा में विटामिन डी होती है| अपने खाने में अंडे को भी शामिल करें, सुबह नाश्ते में अंडा खाना आपको दिनभर के लिए एनर्जी भी देगा और विटामिन डी भी मिलता रहेगा|
दूध से बनी चीज़ों का सेवन करें

दूध में सबसे अधिक कैल्शियम पाया जाता है| दूध, दही, मक्खन, पनीर का सेवन करने से विटामिन डी की कमी को पूरा किया जा सकता है| जिन बच्चों का दूध पसंद नहीं होता है उनके अंदर विटामिन डी की कमी हो जाती है और हड्डियां कमजोर हो जाती हैं|
संतरे का जूस पियें

संतरे के जूस में भरपूर विटामिन डी होता है| बच्चों को संतरा खिलाएं और संतरे का जूस निकालकर पिलायें ताकि शरीर में विटामिन डी प्रचुर मात्रा में बना रहे|
गाजर का सेवन करें

विटामिन डी की कमी हो जाये तो गाजर का सेवन करना शुरू कर दें| गाजर का जूस भी निकालकर पी सकते हैं इससे शरीर में विटामिन डी की कमी नहीं होगी|
सॉल्‍मन और टुना फिश (मछली)

साल्मन और टूना नामक मछली खाने से शरीर को बहुत अधिक विटामिन डी प्राप्त होता है| हालाँकि बहुत लोग शाकाहारी होने की वजह से मछली का सेवन नहीं कर सकते तो वह अंडा का सेवन करें वह भी उपयुक्त रहेगा|
मशरूम का सेवन करें
काफी लोग मशरूम को मांसाहार कहते हैं लेकिन ऐसा नहीं है| सभी लोग मशरूम का सेवन कर सकते हैं, मशरूम में बहुत प्रचुर मात्रा में विटामिन डी पाया जाता है| सूर्य की रौशनी पड़ते ही मशरूम के अंदर बहुत तेजी से विटामिन डी बनने की प्रक्रिया होने लगती है इस वजह से इसमें बहुत अधिक विटामिन डी होता है|
साबुत अनाजों का सेवन करें

पुराने ज़माने के लोग अपने नाश्ते में साबुत अनाजों का इस्तेमाल करते थे लेकिन आजकल के लोग इन सब चीज़ों से दूर भागते हैं| रोजाना सुबह नाश्ते में साबुत अनाज खाने से शरीर में कभी विटामिन डी की कमी नहीं हो सकती है|


विशेष – कुछ लोग शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए कैल्शियम की गोली खाते हैं लेकिन हमारे शरीर को उस कैल्शियम को पचाने में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है| जब तक आप शरीर को धूप से नहीं नहलाएंगे तब तक विटामिन डी की कमी को पूर्ण नहीं किया जा सकता है|


निष्कर्ष – इस लेख में हमने आपको विटामिन डी की कमी के कारण, लक्षण और इसके मुख्य स्रोतों के बारे में विस्तार से बताया है| हमें पूरी उम्मीद है कि आपको हमारी इस जानकारी से लाभ होगा और इस लेख को सोशल मिडिया पर भी शेयर करें ताकि अन्य लोग भी इसका लाभ उठा सकें| धन्यवाद!!

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.