Header Ads

हिप्स की चरबी कम करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे

https://healthtoday7.blogspot.com/
हिप्स की चरबी कम करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे

हिप्स की चरबी कम करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे | 

हिप्स (Hips) की चरबी को कम करने का सबसे पहला नियम जो आयुर्वेद में है, आप इन उपायों का प्रयोग कर सकते हो, हिप्स पर चरबी का अधिक होना मोटापे का सबसे बड़ा लक्षण होता है। गलत तरह से खान-पान करना, रहन सहन में भी गलत तरीके प्रयोग करना आदि जैसी वजह से हिप्स बाहर निकल जाता है। और कमर की चरबी अधिक हो जाती है। धीरे-धीरे मोटापा गर्दन, हाथ और पैरों तक फैल जाता है। यानी इन जगहों पर चरबी अधिक हो जाती है। शरीर पूरी तरह से चरबी युक्त हो जाता है। और इंसान को चलने फिरने में भी दिक्कतों के साथ-साथ कई गंभीर बीमारीयों के होने का खतरा भी अधिक बढ़ जाता है। आइये आपको बताते है हिप्स की चरबी को कम कैसे करें। आयुर्वेद में इसका इलाज संभव है।


1.तिल (Til) - तिल के तेल से प्रतिदिन मालिश करने से शरीर पर बनी हुई अधिक चर्बी कम होती है।

2 : सरसो (Mustard) - सरसो के तेल से प्रतिदिन मालिश करने से मोटापा नष्ट होता है।

3 : दही (Curd) - दही को खाने से मोटापा कम होता है।

4 : छाछ (Buttermilk) - छाछ में कालानमक और अजवायन मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।

6 : अपामार्ग (Prickly) - अपामार्ग के बीजों को पानी में पकाकर खाने से भूख कम लगती है और चर्बी कम होने लगती है।

7 : कुल्थी (Kulthi) - 100 ग्राम कुल्थी की दाल प्रतिदिन सेवन करने से चर्बी कम होती है।

8 : पीपल (Sacred fig) - 4 पीपल पीसकर आधा चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।

9 : पालक (Spinach) - पालक के 25 ग्राम रस में गाजर का 50 ग्राम रस मिलाकर पीने से शरीर का फैट (चर्बी) समाप्त होती है। 50 ग्राम पालक के रस में 15 ग्राम नींबू का रस मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त होता है।

10 : पानी (Water) - भोजन से पहले 1 गिलास गुनगुना पानी पीने से भूख का अधिक लगना कम होता है और शरीर की चर्बी घटने लगती है। बासी ठंडे पानी में शहद मिलाकर प्रतिदिन पीने से मोटापा में लाभ मिलता है। 250 ग्राम गुनगुने पानी में 1 नींबू का रस और 2 चम्मच शहद मिलाकर खाली पेट पीना चाहिए। इससे अधिक चर्बी घटती है और त्वचा का ढीलापन दूर होता है।
10 दिन में ५ किलो घटाए वजन अजवाइन से |
Reduce weight 5 kg in 10 days with Celery


मोटापा न सिर्फ आपकी पर्सनेलटी (Personality) को खराब करता है, बल्कि कई बीमारियों का कारण भी बनता है। लेकिन मोटापा कम करना कोई आसान काम भी तो नहीं। लेकिन अगर हम आपको मोटापा कम करने का एक ऐसा नुस्खा बताएं जो न सिर्फ मोटापा कम करता है बल्कि बेहद सस्ता और आसानी से मिल जाने होता है, तो कैसा रहेगा। आपने अपनी रसोई में कई तरह के देखे होगें। उन्‍हीं में से एक है मसाला है 'अजवाइन'। अजवाइन न सिर्फ एक मसाला है, बल्कि एक ऐसी औषधि (Medicine) भी है जिसके प्रयोग से मोटापा कम किया जा सकता है और स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाया जा सकता है। तो चलिये जानें कि अजवाइन से मोटापे को कैसे कम किया जा सकता है।


पाचन संबंधी समस्या को सुधारती है (Improves digestive problems) -
यदि पाचन ठीक न हो तो मोटाबॉलिज्म (Metabolism) खराब होता है और इससे मोटापा भी बढ़ता है। अजवाइन पाचन संबधी किसी भी समस्‍या को ठीक करने में सहायक होती है। यह एक प्रकार का एंटी एसिड (Anti acid) होती है जोकि बदहज़मी (Indigestion) की समस्या से बचाव करती है। अजवाइन को छाछ के साथ पीने से पाचन संबधी समस्या जैसे अपच (Indigestion) आदि से राहत मिलती है।
असरदार नुस्खा अजवाइन (Effective Recipe Celery) - 

अजवाइन मोटापे कम करने में भी कारगर होती है। इससे मोपाटा कम करने के लिये रात को एक चम्मच अजवाइन को एक गिलास पानी में भिगो कर रख दें। सुबह उठने पर इसे छानकर एक चम्मच शहद (Honey) के साथ मिलाकर पीएं। इसके नियमित सेवन से जल्द ही मोटापा कम होने लगता है।

लेकिन अजवाइन या अन्य रोई भी नुस्खा कोई चमत्कार नहीं होता है। इन नुस्खों के साथ-साथ नियमित एक्सरसाइज (Exercise) व पौष्टिक (Nutritious) और संतुलित भोजन करने की भी जरूरत होती है। साथ ही शरीर को ठीक से हाइड्रेट (Hydrate) भी रखना होता है।

१ हफ्ते में पेट की चर्बी को कम करने के लिए १२ आयुर्वेदिक उपाय

सबसे पहले मोटापे से पीड़ित रोगी को समझना चाहिए कि जब तक आप अपने खान-पान में सुधार नहीं करेगें, तब तक आपका मोटापा(Obesity) दूर नहीं हो सकता है। सादा भोजन और व्यायाम (Exercise) शरीर में अधिक चर्बी को पिघलाता है। मालिश उसमें सहायता करती है और रोगी के शरीर मे कमजोरी नहीं आने देती है, साथ ही चर्बी घटने पर शरीर के मांस को ढीला नहीं पड़ने देती, बल्कि मालिश शरीर को मजबूत तथा आकर्षक बना देती है। इसलिए मोटापा कम करने वाले व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने भोजन में सुधार करे तथा प्रतिदिन व्यायाम करें। ठण्डी मालिश मोटापा दूर करने में विशेष सहायता करती है, इसके अलावा तेल मालिश या सूखी मालिश भी की जा सकती है। वैसे तेल मालिश का उपयोग कम ही करें तो अच्छा है क्योंकि तेल की मालिश (Massage) तभी अधिक लाभ देती है जब रोगी उपवास कर रहा हो।

रोगी को उबली हुई सब्जियां, क्रीम निकला हुआ दूध, संतरा, नींबू आदि खट्टे फल तथा 1-2 चपाती नियमित रूप से कई महीने तक लेनी चाहिए। रोगी को तली और भुनी हुई चीजों को अपने भोजन से पूरी तरह दूर रखना चाहिए। उपचार के दौरान रोगी को बीच-बीच में 1-2 दिन का उपवास भी रखना चाहिए। उपवास के दिनों में केवल नींबू पानी अधिक मात्रा में पीना चाहिए। इस प्रकार के भोजन व उपचार से कुछ दिनों तक तो रोगी को कमजोरी महसूस होगी, परन्तु कुछ दिनों के अभ्यास (Practice) से जब शरीर इसका आदि हो जाएगा, तब रोगी अपने को अच्छा महसूस करने लगेगा।


तुलसी (Holly Basil) के कोमल और ताजे पत्ते को पीसकर दही के साथ बच्चे को सेवन कराने से अधिक चर्बी बनना कम होता है। तुलसी के पत्तों के 10 ग्राम रस को 100 ग्राम पानी में मिलाकर पीने से शरीर का ढीलापन व अधिक चर्बी नष्ट होती है।तथा तुलसी के पत्तों का रस 10 बूंद और शहद (Honey) 2 चम्मच को 1 गिलास पानी में मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा कम होता है।

रात को सोने से पहले त्रिफला (Triphala) का चूर्ण 15 ग्राम की मात्रा में हल्के गर्म पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इस पानी को छानकर शहद (Honey) मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करें। इससे मोटापा जल्दी दूर होता है।

त्रिफला (Triphala), त्रिकुटा (Trikuta), चित्रक, नागरमोथा (Cypriol) और वायविंडग (Wayvindg) को मिलाकर काढ़ा में गुगुल को डालकर सेवन करें। त्रिफले का चूर्ण शहद के साथ 10 ग्राम की मात्रा में दिन में 2 बार (सुबह और शाम) पीने से लाभ होता है।
गिलोय (Giloy), हरड़ (Harad), बहेड़ा (Bahera) और आंवला (Gooseberry) मिलाकर काढ़ा बनाकर इसमें शुद्ध शिलाजीत मिलाकर खाने से मोटापा दूर होता है और पेट व कमर की अधिक चर्बी कम होती है।

* गिलोय 3 ग्राम और त्रिफला 3 ग्राम को कूटकर चूर्ण बना लें और यह सुबह-शाम शहद के साथ चाटने से मोटापा कम होता है।

* गिलोय, हरड़ और नागरमोथा बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना लें। यह 1-1 चम्मच चूर्ण शहद के साथ दिन में 3 बार लेने से त्वचा का लटकना व अधिक चर्बी कम होता है।

* गुग्गुल, त्रिकुट, त्रिफला और कालीमिर्च (Black Pepper) बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें और इस चूर्ण को अच्छी तरह एरण्ड के तेल में घोटकर रख लें। यह चूर्ण 3 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से मोटापा की बीमारी ठीक होती है।

* पीप्पल (Pipala) 150 ग्राम और सेंधानमक 30 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर कूटकर 21 खुराक बना लें। यह दिन में एक बार सुबह खाली पेट छाछ के साथ सेवन करें। इससे वायु के कारण पेट की बढ़ी हुई चर्बी कम होती है।

* पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबाल लें और दूध से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पी लें। इससे मोटापा कम होता है।

* चित्रक की जड़ का बारीक चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से पेट की बीमारियां और मोटापा समाप्त होता है।

* जवाखार 35 ग्राम और चित्रकमूल 175 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लें। यह 5 ग्राम चूर्ण एक नींबू का रस, शहद और 250 ग्राम गुनगुने पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लगातार 40 दिनों तक पीएं। इससे शरीर की फालतू चर्बी समाप्त हो जाती है और शरीर सुडौल (Shape) होता है। या फिर जौखार का चूर्ण आधा-आधा ग्राम दिन में 3 बार पानी के साथ सेवन करने से मोटापा दूर होता है।


* प्रतिदिन अनन्नास (Pineapple) खाने से स्थूलता नष्ट होती है क्योंकि अनन्नास चर्बी को नष्ट करता है।
५ दिन में वजन घटाने के लिये सेब का सिरका |
Quick weight loss With Apple vinegar

५ दिन में वजन घटाने के लिये सेब का सिरका (How to Use Apple Cider Vinegar to Reduce Weight)

क्या आप वजन घटाने के लिए सबकुछ कर चुके हैं? अगर सबकुछ करने के बावजूद आपका वजन अब भी उतना ही बना हुआ है तो एकबार इस उपाय को जरूर अपनाकर देखिए. कई रिसर्च में कहा गया है कि एसिडिक (Acidic) उपाय, ग्रीन टी (Green Tea), लेमन जूस (Lemon juice) और किसी भी दूसरे घरेलू उपाय से कहीं जल्दी वजन घटाता है. हालांकि सिरके (Vinegar) का बहुत अधिक इस्तेमाल आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं भी दे सकता है. ऐसे में जब भी सिरके का इस्तेमाल करें उसकी मात्रा का खास ख्याल रखें. सफेद सिरका (White Vinegar), काले सिरके (Black Vinegar) से ज्यादा बेहतर होता है. इसमें रासायनिेक (Chemical) पदार्थ कुछ कम मात्रा में होते हैं साथ ही वजन घटाने में ये काले सिरके से ज्यादा असरदार होता है. सेब से बना सिरका स्वाद और खुशबू दोनों में ही बेहतर होता है. अगर आप वाकई वजन घटाने की सोच रहे हैं तो यहां कुछ ऐसे उपाय हैं जिन्हें आजमाकर आप सिरके को अपने खाने का हिस्सा बना सकते हैं और वजन घटा सकते हैं

1. सलाद में मिलाकर खाएं सिरका (Vinegar) आप चाहें तो अपने रोज के सलाद में एक से दो चम्मच सिरका मिला सकते हैं. इससे आपके सलाद का स्वाद भी बढ़ जाएगा और वजन घटाने में भी ये कारगर साबित होगा.

2. अचार (Pickel) में मिलाकर आप चाहें तो अपने अचार के जार में दो से तीन चम्मच सिरका मिला सकते हैं. जब आप अचार का इस्तेमाल करें तो उसमें लगे सिरके को खाने में मिला लें.

3. खाना बनाने के दौरान खाना बनाने के दौरान नमक के साथ ही आप सिरके का इस्तेमाल भी कर सकते हैं. इससे नमक (Salt) की मात्रा का कम ही इस्तेमाल होगा. सिरके के प्रयोग से खाने का स्वाद तो बढ़ेगा ही साथ ही ये एनर्जी (Energy) भी बढ़ाने में मददगार होगा.

4. ब्रेड(Bread) में लगाकर अगर आप चाहें तो ब्रेड की स्लाइस (Slice) पर कुछ बूंदें सिरके की डालकर भी खा सकते हैं. इसका अरोमा (Flovour) और स्वाद आपको पसंद आएगा.

5. पानी के साथ आप चाहें तो एक कप पानी में एक चम्मच सिरका मिलाकर भी पी सकते हैं. स्वाद के लिए आप चाहें तो थोड़ी सी मात्रा में नमक (Salt) भी डाल सकते हैं.


कमर की चरबी कम करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे | 10 Home Remedies For Reducing Waist Fat


1 : नींबू (Lemon) - 25 ग्राम नींबू के रस में 25 ग्राम शहद मिलाकर 100 ग्राम गर्म पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम पीने से मोटापा दूर होता है।

एक नींबू का रस प्रतिदिन सुबह गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से मोटापे की बीमारी दूर होती है। 1 नींबू का रस 250 ग्राम पानी में मिलाकर थोड़ा सा नमक मिलाकर सुबह-शाम 1-2 महीने तक पीएं। इससे मोटापा दूर होता है। नींबू का 25 ग्राम रस और करेला का रस 15 ग्राम मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा नष्ट होता है। 250 ग्राम पानी में 25 ग्राम नींबू का रस और 20 ग्राम शहद मिलाकर 2 से 3 महीने तक सेवन करने से अधिक चर्बी नष्ट होती है। 1-1 कप गर्म पीनी प्रतिदिन सुबह-शाम भोजन के बाद पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। इसके सेवन से चर्बी कम होने के साथ-साथ गैस, कब्ज, कोलाइटिस (आंतों की सूजन,Intestinal inflammation) एमोबाइसिस (Mobaisis) और कीड़े भी नष्ट होते हैं।

2 : सेब और गाजर (Apples and carrots) - सेब और गाजर को बराबर मात्रा में कद्दूकस करके सुबह खाली पेट 200 ग्राम की मात्रा में खाने से वजन कम होता है और स्फूर्ति व सुन्दरता बढ़ती है। इसका सेवन करने के 2 घंटे बाद तक कुछ नहीं खाना चाहिए।

3 : मूली (Radish) - मूली का चूर्ण 3 से 6 ग्राम शहद (Honey) मिले पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापे की बीमारी से छुटकारा मिलता है। मूली के 100-150 ग्राम रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीने से मोटापा कम होता है। मूली के बीजों का चूर्ण 6 ग्राम और ग्राम यवक्षार के साथ खाकर ऊपर से शहद और नींबू का रस मिला हुआ एक गिलास पानी पीने से शरीर की चर्बी घटती है। 6 ग्राम मूली के बीजों के चूर्ण को 20 ग्राम शहद में मिलाकर खाने और लगभग 20 ग्राम शहद का शर्बत बनाकर 40 दिनों तक पीने से मोटापा कम होता है।
मूली के चूर्ण को शहद में मिलाकर सेवन करने से मोटापा दूर होता है।

4 : मिश्री (Sugar Candy) - मिश्री, मोटी सौंफ और सुखा धनिया बराबर मात्रा में पीसकर एक चम्मच सुबह पानी के साथ लेने से अधिक चर्बी कम होकर मोटापा दूर होता है।

5 : चूना (Lime) - बिना बुझा चूना 15 ग्राम पीसकर 250 ग्राम देशी घी में मिलाकर कपड़े में छानकर सुबह-शाम 6-6 ग्राम की मात्रा में चाटने से मोटापा कम होता है।

6 : सहजन (Drumstick) - सहजन के पेड़ के पत्ते का रस 3 चम्मच की मात्रा में प्रतिदिन सेवन करने से त्वचा का ढीलापन दूर होता है और चर्बी की अधिकता कम होती है।

7 : विजयसार (Marsupium) - विजयसार के काढ़े में शहद मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है।

8 : अर्जुन (Arjun) - अर्जुन के 2 ग्राम चूर्ण को अग्निमथ के काढ़े में मिलाकर पीने से मोटापा दूर होता है।

9 : भृंगराज (Bhringaraj) - भृंगराज के पेड़ के ताजे पत्ते का रस 5 ग्राम की मात्रा में सुबह पानी के साथ प्रयोग करने से मोटापा कम होता है।

10 : शहद (Honey) - 120 से 240 ग्राम शहद 100 से 200 मिलीलीटर (Milliliter) गुनगुना पानी के साथ दिन में 3 बार लेने से शरीर का थुलथुलापन दूर होता है।


२ हफ्ते में मोटापे से मुक्ति पाएँ |
Get rid of obesity In 2 weeks


पेट कम करने के लिए खाना छोड़ने या कम खाना खाने की बजाय स्वस्थ (Healthy) व पौष्टिक (Nutritious) आहार का सेवन करें। नियमित व्यायाम (Exercise) संतुलित आहार पेट की चर्बी कम करने में मददगार साबित हो सकता है।


"पेटी की चर्बी से हर दूसरा व्यक्ति परेशान नजर आता है। यह समस्या काफी आम हो चुकी है। इसके लिए अपनी एक नियमित दिनचर्या बनाएं और गंभीरता से इसका अनुसरण करें। आइए जानें कुछ ऐसे उपाय जिन्हें अपनाकर महज दो सप्ताह में ही बढ़े हुए पेट को कम किया जा सकता है।"

जौ-चने की रोटी (Barley-Gram bread) -
भोजन में गेहूं के आटे की रोटी की जगह जौ-चने (Barley-Gram) के आटे की रोटी का सेवन शुरू कर दें। इसका अनुपात है 10 किलो चना व 2 किलो जौ। इन्हें मिलाकर पिसवा लें। और इसी आटे की रोटी खाएं। इससे आप अतिरिक्त कॉर्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) लेने से बचेंगे और शरीर में अतिरिक्त कैलोरी (Calories) भी जमा नहीं होंगी।

पानी में सौंफ (Fennel With water) -
आधा चम्मच सौंफ लेकर एक कप खौलते पानी में डाल दी जाए और 10 मिनट तक इसे ढककर रखा जाए और बाद में ठंडा होने पर पी लिया जाए। नियमित रुप से इसे लेने पर पेट जल्द कम होगा।

नारियल पानी (Coconut Water) -
नारियल पानी इसमें अन्य फलों के मुकाबले ज्यादा इलेक्ट्रोलाइट्स (Electrolytes) पाया जाता है। न तो इसमें अतिरिक्त शुगर (Sugar) की मात्रा होती है और न ही कोई कृत्रिम फ्लेवर (Artificial Flavor) पाया जाता है। इसमें बिल्कुल भी कैलोरी (Calories) नहीं होती, जिससे मोटापा नहीं बढ़ता। इसके अलावा यह शरीर को तुरंत स्फूर्ति (Energy) देता है।


बॉल एक्सरसाइज (Ball exercises) -
बॉल एक्सररसाइज करें जमीन पर पीठ के बल पर सीधा लेट जाए। अब हाथों पर एक्सरसाइज वाली बडी़ बॉल को हाथों में ले कर अपने दोनों पैरों को ऊपर उठाएं। अब अपने हाथों की बॉल को अपने पैरों में पकड़ाएं और फिर पैरों को नीचे ले जा कर दुबारा बॉल ले कर ऊपर आएं। फिर पैरों से जो बॉल उठाई गई है उसे दुबारा हाथों में पकाड़ाएं। इस क्रिया को लगातार 12 बार करें।

पानी में शहद (Honey in water) -
शहद एक काम्पलेक्स शर्करा (Complex sugars) की तरह है, जो मोटापा कम करने में काफी हद तक मदद करता है। गर्म पानी में एक चम्मच शहद प्रतिदिन सुबह खाली पेट पीने से कुछ ही समय में परिणाम दिखने लगते हैं, आप चाहें तो इसमें इस मिश्रण में एक चम्मच नींबू रस भी डाल सकते हैं।

पुदीने की चटनी (Mint chutney) -
पुदीना (Peppermint) की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाई जाए और चपाती के साथ सेवन किया जाए, असरकारक होती है।

खाने के बीच में पानी न पियें (Do not drink water in between meals) -
खाना खाते समय ध्यान रखें कि बीच में कभी भी पानी न पीएं साथ ही खाना खाने के बाद भी पानी पीने से बचें। खाने के कम से कम 10-15 मिनट बाद गुनगुना पानी पियें। कुछ दिनों तक लगातार इस उपाय को अपनाएं और असर देखें।

लेमन टी या ग्रीन टी लें (Take lemon tea or green tea) -
दोपहर और रात के बीच में भूख लगने पर तले स्नैक्स (Snacks) खाने के बजाय ग्रीन या ब्लैक टी पीएं। इसमें थायनाइन नामक अमीनो एसिड (Acid) होता है, जो मस्तिष्क (Brain) में रिलैक्सग (Relax) के मिकल्स का स्त्राव करता है और आपकी भूख पर कंट्रोल करता है।
जॉगिंग व मॉर्निंग वॉक (Jogging and Morning Walk) -
पेट कम करने के लिए सुबह-सुबह जॉगिंग या वॉक करना अच्छा माना जाता है। अगर आपको जॉगिंग में समस्या आ रही है तो तेज चाल से वॉक कर सकते हैं। नियमित रुप से मॉर्निंग वॉक आपको बढ़ते पेट से जल्द निजात दिला सकता है।

इन उपायों को आजमाकर आप अपने पेट पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी को कम कर सकते हैं। लेकिन, जरूरत है कि आप इन उपायों को पूरी शिद्दत से निभायें और इन्‍हें आजमाने में कोई कोताही न बरतें। इसके साथ ही यदि आप किसी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या से ग्रसित हैं, तो आपको चाहिए कि किसी भी तरह के उपाय आजमाने से पहले अपने डॉक्‍टर से जरूर संपर्क करें।

पेट की चरबी कम करने के लिए 10 घरेलू नुस्खे | 10 Home Remedies For Reducing Stomach Fat

पेट की चरबी को कम करने का सबसे पहला नियम जो आयुर्वेद में है, आप इन उपायों का प्रयोग कर सकते हो

तुलसी (Basil) - तुलसी के कोमल और ताजे पत्ते को पीसकर दही के साथ बच्चे को सेवन कराने से अधिक चर्बी बनना कम होता है।
तुलसी के पत्तों के 10 ग्राम रस को 100 ग्राम पानी में मिलाकर पीने से शरीर का ढीलापन व अधिक चर्बी नष्ट होती है।
तुलसी के पत्तों का रस 10 बूंद और शहद 2 चम्मच को 1 गिलास पानी में मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा कम होता है।
बेर (Jujibe) - बेर के पत्तों को पानी में काफी समय तक उबालकर पीने से चर्बी नष्ट होती है।

टमाटर (Tomatoes) - टमाटर और प्याज में थोड़ा-सा सेंधानमक डालकर खाना खाने से पहले सलाद के रूप में खाने से भूख कम लगती है और मोटापा कम होता है।

त्रिफला (Triphala) - रात को सोने से पहले त्रिफला का चूर्ण 15 ग्राम की मात्रा में हल्के गर्म पानी में भिगोकर रख दें और सुबह इस पानी को छानकर शहद मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करें। इससे मोटापा जल्दी दूर होता है। त्रिफले का चूर्ण शहद के साथ 10 ग्राम की मात्रा में दिन में 2 बार (सुबह और शाम) पीने से लाभ होता है।
2 चम्मच त्रिफला को 1 गिलास पानी में उबालकर इच्छानुसार मिश्री मिलाकर सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
त्रिफला का चूर्ण और गिलोय का चूर्ण 1-1 ग्राम की मात्रा में शहद के साथ चाटने से पेट का बढ़ना कम होता है।

हरड़ ( Harad) - हरड़ 500 ग्राम, 500 ग्राम सेंधानमक व 250 ग्राम कालानमक को पीसकर इसमें 20 ग्राम ग्वारपाठे (Aloe Vera) का रस मिलाकर अच्छी तरह मिलाकर सूखा लें। यह 3 ग्राम की मात्रा में रात को गर्म पानी के साथ प्रतिदिन सेवन करने से मोटापे के रोग में लाभ मिलता है।

सोंठ (Dry Ginger) - सोंठ, जवाखार, कांतिसार, जौ और आंवला बराबर मात्रा में लेकर पीसकर छान लें और इसमें शहद मिलाकर पीएं। इससे मोटापे की बीमारी समाप्त हो जाती है।
सोंठ, कालीमिर्च, छोटी पीपल, चव्य, सफेद जीरा, हींग, कालानमक और चीता बराबर मात्रा में लेकर अच्छी तरह से पीसकर चूर्ण बना लें। यह चूर्ण सुबह 6 ग्राम चूर्ण में गर्म पानी के साथ पीने से मोटापा कम होता है।

गिलोय (Giloy) - गिलोय, हरड़, बहेड़ा और आंवला मिलाकर काढ़ा बनाकर इसमें शुद्ध शिलाजीत मिलाकर खाने से मोटापा दूर होता है और पेट व कमर की अधिक चर्बी कम होती है।
गिलोय 3 ग्राम और त्रिफला 3 ग्राम को कूटकर चूर्ण बना लें और यह सुबह-शाम शहद के साथ चाटने से मोटापा कम होता है।
गिलोय, हरड़ और नागरमोथा बराबर मात्रा में मिलाकर चूर्ण बना लें। यह 1-1 चम्मच चूर्ण शहद के साथ दिन में 3 बार लेने से त्वचा का लटकना व अधिक चर्बी कम होता है।

जौ (Barley) - जौ का रस व शहद को त्रिफले के काढ़े में मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त होता है।

गुग्गुल (Guggul) - गुग्गुल, त्रिकुट, त्रिफला और कालीमिर्च बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें और इस चूर्ण को अच्छी तरह एरण्ड के तेल में घोटकर रख लें। यह चूर्ण 3 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से मोटापा की बीमारी ठीक होती है।
1 से 2 ग्राम शुद्ध गुग्गुल को गर्म पानी के साथ दिन में 3 बार सेवन करने से अधिक मोटापा कम होता है।
५ दिन में तोंद कम करने के लिए मैजिकल स्पेशल चाय |
Magical Special Tea To Reduce Toxicity In 5 Days

शरीर पर चरबी का अधिक होना मोटापे का सबसे बड़ा लक्षण होता है। गलत तरह से खान-पान करना, रहन सहन में भी गलत तरीके प्रयोग करना आदि जैसी वजह से पेट बाहर निकल जाता है। और कमर की चरबी अधिक हो जाती है। धीरे-धीरे मोटापा गर्दन, हाथ और पैरों तक फैल जाता है। यानी इन जगहों पर चरबी अधिक हो जाती है। शरीर पूरी तरह से चरबी युक्त हो जाता है। और इंसान को चलने फिरने में भी दिक्कतों के साथ-साथ कई गंभीर बीमारीयों के होने का खतरा भी अधिक बढ़ जाता है। आइये आपको बताते है कमर की चरबी को कम कैसे करें। आयुर्वेद में इसका इलाज संभव है।

एक चम्मच सूखा अदरक पाउडर, आधा चम्मच धनिया पाउडर, दो चम्मच गुड़, आधा चम्मच सौंफ, एक टी बैग और एक कप पानी। सौंफ को दो मिनट पानी में उबालिए और गर्म पानी में 1 मिनट के लिए टी बैग डालें। इससे फ्लेवर (Flavor) आ जाएगा। और चाय का स्वाद भी कुछ बदल जाएगा जो पीने में अच्छा लगेगा। आखिर में सारे पदार्थ इसमें मिला दें और गुड़ (Jaggery) मिलाकर इसे घोलें। जब गुड़ मिल जाए तो स्वाद के साथ पीएं।

कमर की चरबी कम करने के लिए आप इन उपायों का प्रयोग कर सकते हो कमर की चरबी को कम करने का सबसे पहला नियम जो आयुर्वेद में है। वह है भूख से कम ही भोजन का सेवन करें। जितनी भूख है उससे कम ही खाना खायें। इससे पेट का आकार नहीं बढ़ता और पाचन भी ठीक रहता है। कम भोजन करने से पेट में गैस नहीं बनती है। कोशिश करें कि दिन में 2 बार शौच जाएं।

मोटापे से मुक्ति का एक और बड़ा सरल उपाय यह है कि भोजन के तुरंत बाद पानी का सेवन न करें। भोजन करने के लगभग 1 घंटे के बाद ही पानी पीयें। इससे कमर का मोटाप नहीं बढ़ता है। और यह तरीका पेट को कम करने में भी मददगार होता है।


10 दिन में तोंद कम करने के लिए 20 घरेलू नुस्खे | 20 Home Remedies For Reducing Paunch In 10 Days

डिकामाली (Dikamali) - डिकामाली (एक तरह का गोंद) लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग की मात्रा में गर्म पानी के साथ मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापा कम होता है।

कूठ (Cactus Root) - कूठ को गुलाब जल में पीसकर पेट पर लेप करने से पेट की बढ़ती हुई अवस्था में लाभ होता है। इसका लेप हाथ, पांव पर लेप करने से सूजन कम होती है।


माधवी (Hiptage Benghalensis) - माधवी के फूल की जड़ 10 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम छाछ के साथ सेवन करने से कमर पतली व सुडौल होता है।

बरना - बरना के पत्तों का साग नियामित रूप से सेवन करने से मोटापा दूर होता है।

एरण्ड (Castor) - एरण्ड की जड़ का काढ़ा बनाकर 1-1 चम्मच की मात्रा में शहद के साथ दिन में 2 बार सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
एरण्ड के पत्तों का रस हींग मिलाकर पीने और ऊपर से पका हुआ चावल खाने से अधिक चर्बी नष्ट होती है।


पिप्पली (Pippali) - पिप्पली का चूर्ण लगभग आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शहद के साथ प्रतिदिन 1 महीने तक सेवन करने से मोटापा समाप्त होता है। पीप्पल 150 ग्राम और सेंधानमक 30 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर कूटकर 21 खुराक बना लें। यह दिन में एक बार सुबह खाली पेट छाछ के साथ सेवन करें। इससे वायु के कारण पेट की बढ़ी हुई चर्बी कम होती है। पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबाल लें और दूध से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पी लें। इससे मोटापा कम होता है।

जौखार (Jukhar) - जौखार 35 ग्राम और चित्रकमूल 175 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लें। यह 5 ग्राम चूर्ण एक नींबू का रस, शहद और 250 ग्राम गुनगुने पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लगातार 10 दिनों तक पीएं। इससे शरीर की फालतू चर्बी समाप्त हो जाती है और शरीर सुडौल होता है।
जौखार का चूर्ण आधा-आधा ग्राम दिन में 3 बार पानी के साथ सेवन करने से मोटापा दूर होता है।


लुके मगसूल - 50 ग्राम लुके मगसूल को कूटकर चूर्ण बना लें और यह चूर्ण 1 ग्राम की मात्रा में सुबह पानी के साथ सेवन करें। इससे मोटापा दूर होता है।

माजून मुहज्जिल (Safoof Mohazzil) - माजून मुहज्जिल 10 ग्राम की मात्रा में लेकर पानी के साथ रात को सोते समय पीने से पेट का बढ़ना कम होता है।


बबूल (Acacia) - बबूल के पत्तों को पानी के साथ पीसकर शरीर पर करने से त्वचा का ढीलापन दूर होकर मोटापा कम होता है।

10 दिन में तोंद कम करने के लिए 20 घरेलू नुस्खे | 20 Home Remedies For Reducing Paunch In 10 Days


डिकामाली (Dikamali) - डिकामाली (एक तरह का गोंद) लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग की मात्रा में गर्म पानी के साथ मिलाकर सुबह-शाम पीने से मोटापा कम होता है।


कूठ (Cactus Root) - कूठ को गुलाब जल में पीसकर पेट पर लेप करने से पेट की बढ़ती हुई अवस्था में लाभ होता है। इसका लेप हाथ, पांव पर लेप करने से सूजन कम होती है।

माधवी (Hiptage Benghalensis) - माधवी के फूल की जड़ 10 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम छाछ के साथ सेवन करने से कमर पतली व सुडौल होता है।

बरना - बरना के पत्तों का साग नियामित रूप से सेवन करने से मोटापा दूर होता है।


एरण्ड (Castor) - एरण्ड की जड़ का काढ़ा बनाकर 1-1 चम्मच की मात्रा में शहद के साथ दिन में 2 बार सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
एरण्ड के पत्तों का रस हींग मिलाकर पीने और ऊपर से पका हुआ चावल खाने से अधिक चर्बी नष्ट होती है।

पिप्पली (Pippali) - पिप्पली का चूर्ण लगभग आधा ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शहद के साथ प्रतिदिन 1 महीने तक सेवन करने से मोटापा समाप्त होता है। पीप्पल 150 ग्राम और सेंधानमक 30 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर कूटकर 21 खुराक बना लें। यह दिन में एक बार सुबह खाली पेट छाछ के साथ सेवन करें। इससे वायु के कारण पेट की बढ़ी हुई चर्बी कम होती है। पिप्पली के 1 से 2 दाने दूध में देर तक उबाल लें और दूध से पिप्पली निकालकर खा लें और ऊपर से दूध पी लें। इससे मोटापा कम होता है।


जौखार (Jukhar) - जौखार 35 ग्राम और चित्रकमूल 175 ग्राम को अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लें। यह 5 ग्राम चूर्ण एक नींबू का रस, शहद और 250 ग्राम गुनगुने पानी में मिलाकर सुबह खाली पेट लगातार 10 दिनों तक पीएं। इससे शरीर की फालतू चर्बी समाप्त हो जाती है और शरीर सुडौल होता है।
जौखार का चूर्ण आधा-आधा ग्राम दिन में 3 बार पानी के साथ सेवन करने से मोटापा दूर होता है।


लुके मगसूल - 50 ग्राम लुके मगसूल को कूटकर चूर्ण बना लें और यह चूर्ण 1 ग्राम की मात्रा में सुबह पानी के साथ सेवन करें। इससे मोटापा दूर होता है।

माजून मुहज्जिल (Safoof Mohazzil) - माजून मुहज्जिल 10 ग्राम की मात्रा में लेकर पानी के साथ रात को सोते समय पीने से पेट का बढ़ना कम होता है।


बबूल (Acacia) - बबूल के पत्तों को पानी के साथ पीसकर शरीर पर करने से त्वचा का ढीलापन दूर होकर मोटापा कम होता है।

अनन्नास (Pineapple) - प्रतिदिन अनन्नास खाने से स्थूलता नष्ट होती है क्योंकि अनन्नास चर्बी को नष्ट करता है।

चित्रक - चित्रक की जड़ का बारीक चूर्ण शहद के साथ सेवन करने से पेट की बीमारियां और मोटापा समाप्त होता है।

बेल (Bel) - बेल के पत्ते और हरड़ बारीक पीसकर लगाने से मोटापा दूर होता है।

परवल (Parwal) - परवल और चीते का काढ़ा बनाकर सौंफ और हींग का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से मोटापा कम होता है।

ईसबगोल (Plantago Ovata) - ईसबगोल के नियमित सेवन करने से कोलेस्ट्राल नियंत्रित होता है और शरीर में अधिक चर्बी नहीं बनती।

रस (Juice) - फलों का रस बहुत उपयोगी है। मोटापा कम करने के लिए 6 से 8 महीने तक फलों का रस लेना लाभदायक होता है। इसके सेवन से किसी भी प्रकार के दुष्परिणामों का सामना नहीं करना पड़ता। फलों का रस कैलोरी को कम करता है जिससे स्वभाविक रूप से वसा कम हो जाती है। इससे शरीर का वजन और मोटापा कम होता है। गाजर, ककड़ी, पत्तागोभी, टमाटर, तरबूज, सेब व प्याज का रस फायदेमंद होता है।

असगंध (Somnifera) - असगंध 50 ग्राम, मूसली 50 ग्राम और काली मूसली 50 की मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें और 10 ग्राम की मात्रा में सुबह दूध के साथ लेने से मोटापे की बीमारी समाप्त होती है।

अजवायन (Ajwain) - अजवायन 20 ग्राम, सेंधानमक 20 ग्राम, जीरा 20 ग्राम और कालीमिर्च 20 ग्राम को कूटकर चूर्ण बना लें और यह चूर्ण प्रतिदिन सुबह खाली पेट छाछ के साथ पीएं। इससे शरीर की अधिक चर्बी नष्ट होती है।

करेला (Bitter Gourd) - करेले के रस में 1 नींबू का रस मिलाकर सुबह सेवन करने से शरीर की चर्बी कम होती है।

चावल (Rice) - चावल का गर्म-गर्म मांड लगातार कुछ दिनों तक सेवन करने से मोटापा दूर होता है।
तेजी से वजन कम करने के लिए पिएं टमाटर-दही का शेक | To Reduce Weight Quickly, Drink Tomato - Curd Shake

अपने बढ़ते वजन पर ब्रेक (Break) लगाने के लिए आप क्या-क्या करते हैं? जिम (Gym) में घंटों कसरत करते हैं, तरह-तरह के वेट लॉस पैकेज (Weight loss package) लेते हैं या फिर डाइटिंग (Dieting) के चक्कर में अपनी भूख मारते रहते हैं? हमारे पास आपके लिए कुछ ऐसे आसान घरेलू उपाय हैं जिन्हें आप अपने रुटीन (Routine) में शामिल करके वजन पर नियंत्रण (Control) तो कर ही सकते हैं, साथ ही आपकी जेब भी ढीली नहीं होगी।

टमाटर-दही का शेक (Tomato-Curd Shake) -
एक कप टमाटर के जूस में एक कप दही (Fat Free), आधा चम्मच नींबू का रस, बारीक कटा अदरक, काली मिर्च व स्वादानुसार नमक मिलाकर ब्लेंड (Blend) कर लें। रोज एक ग्लास इस शेक को पीने से आपका वजन तेजी से गिरेगा।

करौंदे का जूस (Gooseberry Juice) -
करौंदे का जूस भी वजन घटाने में बहुत फायदेमंद है। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म (Metabolism) ठीक रहता है और फैट्स (Fats) कम करने में आसानी होती है। 

गर्म पानी के साथ शहद (Honey With Warm Water) -
रोजाना सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ शहद पीने से वजन घटाने में बहुत आसानी होती है। इससे शरीर में शुगर का लेवल मेनटेन (Maintain) रहता है और त्वचा भी दमकती है।


नींबू पानी (Lemonade) -
वजन घटाने के लिए रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी का सेवन भी एक कारगर उपाय है। सर्दियों में जिन्हें ठंड या साइनस की समस्या है वे पानी को गुनगुना करके उसमें नींबू डालकर ‌पी सकते हैं।

खूब पानी पिएं (Drink Plenty Of Water) -
दिन में आठ से नौ ग्लास पानी पीने से भी वेट कम करने में मदद मिलती है। कई शोधों में माना गया है कि दिन में आठ से नौ ग्लास पानी से 200 से 250 कैलोरी आप बर्न कर सकते हैं।
पेट की चर्बी को हमेशा के लिए दूर करने के लिए घरेलू नुस्खे | Home remedies To Loose Belly fat

जिस तरीके से आप अबतक अपना डाइयेट फॉलो (Diet Follow) कर रहे थे , उसी राह पर चलते रहने से तो वजन कम होने से रहा। यानी अगर आप अपना लुक बदलना चाहते हैं, तो आपको अपने नियमित आहार को बदलना होगा। पेट की चर्बी(Fat) कम करना चाहते हैं, तो आपको अपने जीने का अंदाज बदलना होगा।
वजन कम करने के टिप्‍स (How To Weight Loss Tips) -

नींबू पानी से करें शुरुआत (Start Your Day With Lemonade) -
अपने दिन की शुरुआत नींबू पानी से करें। पेट पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी (Excess Fat) को कम करने का यह घरेलू उपाय है। गुनगुने पानी में नींबू का रस (Lemon Juice) और थोड़ा सा नमक मिला लें। रोज सुबह इसका सेवन करने से आपका मेटाबॉलिज्‍म (Metabolism) अच्छा रहता है और साथ ही आपको वजन कम करने में भी मदद मिलती है।


ब्राउन राइस (Brown Rice) -
सफेद चावल (White Rice) से दूर रहें। अगर आप चावल खाने के इतने ही शौकीन हैं, तो इसके स्‍थान पर ब्राउन राइस का सेवन करें। इसके अलावा अपने आहार में भी ब्राउन ब्रेड (Brown Bread), साबुत अनाज (Whole Grains) और ओट्स(Oats) जैसे खाद्य पदार्थ शामिल करें।


मीठे से दूर रहें (Stay Away From Sweets) -
अगर आप चर्बी (Fat) कम करना चाहते हैं, तो मिठाई (Sweets) से दूर रहें। मीठे पदार्थ जैसे, मिठाई, मीठे पेय पदार्थ(Sweet Beverages) और तैलीय खाद्य पदार्थों (Oily Foods) से दूर रहें। ये खाद्य पदार्थ आपके शरीर पर अति‍रिक्‍त चर्बी जमा करते हैं। यह चर्बी आपके शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों जैसे पेट (Stomach) और जांघों (Thighs) पर जमा हो जाती है।


खूब पानी पियें (Drink Plenty Of Water) -
पेट की चर्बी कम करने के लिए आपको खूब पानी पीना चाहिए। यह बेहद बेहतरीन उपाय है। नियमित अंतराल (Interval)पर पानी पीते रहने से आपका मेटाबॉलिज्‍म (Metabolism) बढ़ जाता है और आपके शरीर से विषैले (Toxic) पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और आपका शरीर स्‍वस्‍थ रहता है।


कच्‍चा लहसुन खायें (Eat Raw Garlic) -
सुबह-सुबह कच्‍चा लहसुन खाना आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। रोजाना सुबह लहसुन की दो तीन कलियां चबाना और ऊपर से नींबू पानी पीना आपके लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे वजन कम करने की आपकी प्रक्रिया(Process) दोगुनी हो जाएगी। इसके साथ ही आपके शरीर में रक्‍त प्रवाह (Blood Flow) भी सुचारू (Smooth) हो जाएगा।


मांसाहार से दूर रहें (Stay Away From Non-Veg) -
मांसाहारी भोजन में वसा (Fat) काफी मात्रा में होती है। यह वसा आपके शरीर में जमा हो जाती है, जिससे आपको स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानियां (Health Related Problems) हो सकती हैं। अगर आप वाकई वजन कम करना चाहते हैं तो बेहतर है कि आप मांसाहार (Non-Veg) छोड़कर शाकाहारी (Vegetarian) भोजन अपनायें।

खूब सब्जियां खायें (Eat Plenty Of Vegetables) -

अपने आहार में खूब फल और सब्जियां (Fruits And Vegetables) शामिल करें। सुबह शाम एक कटोरी फल और सब्जियां खाना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। इससे आपका पेट तो भरा ही रहेगा साथ ही आपको खूब एंटीऑक्‍सीडेंट्स(Anti-oxidants), मिनरल (Mineral) और विटामिन (Vitamins) मिलेंगे।


खाना पकाने का तरीका बदलें (Use this Beneficial Spices in Cooking Method) -
भोजन पकाते समय ऐसे मसालों का उपयोग करें जो वजन कम करने में मदद करे। दालचीनी (Cinnamon), अदरक(Ginger) और काली मिर्च (Black Pepper) का उपयोग भोजन पकाते समय जरूर करें। इन मसालों में सेहत के लिए फायदेमंद तत्‍व (Beneficial Element) होते हैं। इससे आपकी इनसुलिन क्षमता (Insulin Capacity) बढ़ती है और साथ ही रक्‍त में शर्करा (Glucose) की मात्रा कम होती है।


क्रेनबेरी का जूस (Cranberry Juice to Reduce Belly Fats) -
क्रेनबेरी के जूस में ऑर्गेनिक एसिड (Organic Acid) काफी मात्रा में होता है, जो हमारे डायजस्टिव एंजाइम्‍स (Digestive Enzymes) पर सकारात्‍मक असर डालता है। यह एंजाइम (Enzyme) हमारे शरीर में जमा अतिरिक्‍त वसा को समाप्‍त करने का काम करता है।

बादाम (Almond) -
बादाम में विटामिन ई (Vitamin E) और प्रोटीन (Protein) के अलावा फाइबर (Fiber) की मात्रा भी काफी अधिक होती है। जिससे व्‍यक्ति का पेट लंबे समय तक भरा रहता है। हालांकि, उनमें कैलोरी (Calories) की मात्रा थोड़ी अधिक होती है, लेकिन वे पेट का मोटापा नहीं बढ़ाते।

१० दिन में करे तोंद को फ्लैट |
 Get Flat Belly in 10 Day (Hindi)

यदि आपका लगातार वजन (Weight) बढ़ रहा है तो सावधान हो जाइए। कमर और पेट का ये बढ़ता साइज कई बीमारियों (Diseases) का कारण बन सकता है। यदि आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे छोटे-छोटे नुस्खे, जिन्हें अपनाकर आप बिना ज्यादा मेहनत किए वजन को नियंत्रित कर सकते हैं।
- पुदीने (Mint) की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाकर चपाती के साथ खाएं। पुदीने वाली चाय (Mint Tea) पीने से भी वजन नियंत्रण में रहता है।

- रोज खाने से पहले गाजर (Carrot) खाएं। खाने से पहले गाजर खाने से भूख कम हो जाएगी। आधुनिक विज्ञान (Modern Science) भी गाजर को मोटापा कम करने में कारगर मानता है।


- आधा चम्मच सौंफ (Fennel) को एक कप खौलते पानी में डाल दें। 10 मिनट तक इसे ढँककर रखें। ठंडा होने पर इस पानी को पिएं। ऐसा तीन माह तक लगातार करने से वजन कम होने लगता है।

- पपीता (Papaya) नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन (Season) में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी (Fat) कम होती है।

- दही (Curd) को खाने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ (Buttermilk) का भी सेवन दिन में दो-तीन बार क

- छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ (Buttermilk) के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।
- ज्यादा कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर (Sugar), आलू (Potato) और चावल (Rise) में अधिक कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।

- केवल गेहूं के आटे (Wheat flour) की रोटी की बजाय गेहूं (Wheat), सोयाबीन (Soybeans) और चने (Gram) के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।
- सब्जियों (Vegetables) और फलों (Fruits) में कैलोरी (Calories)कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला (Banana) और चीकू (Chiku) न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है।

- आंवले व हल्दी (Gooseberry and Turmeric) को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लें। कमर (Waist) एकदम पतली हो जाएगी।

- मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च (Green Pepper) या काली मिर्च (Black Pepper) को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च (Research) में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन (Capsaicin) से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल (Control) में रहता है।

- लटजीरा (Rough Chaff Tree) या चिरचिटा (Aspera) के बीजों को एकत्र कर लें। किसी मिट्टी के बर्तन में हल्की आंच पर भूनकर पीस लें। एक-एक चम्मच दिन में दो बार फ़ाक लें, बहुत फायदा होगा।
- दो बड़े चम्मच मूली के रस (Radish juice) में शहद (Honey) मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं। ऐसा करने से 1 माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।

- मालती की जड़ (Root Of Malti) को पीसकर शहद मिलाकर खाएं और छाछ पिएं। प्रसव के बाद होने वाले मोटापे में यह रामबाण की तरह काम करता है।

- खाने के साथ टमाटर (Tomatoes) और प्याज (Onions) का सलाद काली मिर्च (Black Pepper) व नमक (Salt) डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन के (Vitamin K), आयरन (Iron), पोटैशियम (Potassium), लाइकोपीन (Lycopene) और ल्यूटिन (Lutein) मिलेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।

- रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद (Honey) मिलाकर पिएं। इस घोल को पीने से शरीर से वसा (Fat) की मात्रा कम होती है।

- गुग्गुल गोंद (Guggul Gum) को दिन मे दो बार पानी में घोलकर या हल्का गुनगुना कर सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है।

- हरड़ (Harad) और बहेड़ा (Bahera) का चूर्ण बना लें। एक चम्मच चूर्ण 50 ग्राम परवल (Parwal) के जूस (1 गिलास) के साथ मिलाकर रोज लें, वजन तेजी से कम होने लगेगा।

- करेले की सब्जी खाने से भी वजन कम करने में मदद मिलती है। सहजन के नियमित सेवन से भी वजन नियंत्रित (Weight Control) रहता है।

- सौंठ, दालचीनी की छाल (Cinnamon Bark) और काली मिर्च (Black Pepper) (3 -3 ग्राम) पीसकर चूर्ण बना लें। सुबह खाली पेट और रात सोने से पहले पानी से इस चूर्ण को लें, मोटापा कम होने लगेगा।


७ फलो से घटाए मोटापा|| 7
Fruits To Reduce Fat


वजन (Weight) को बढ़ाना आसान है लेकिन उसे घटाना एक सबसे बड़ी चुनौती है। लोग वजन को कम करने के हर तरह के प्रयास को सख्ती से लागू करने की कोशिश करते हैं, लेकिन इसमें कुछ लोग कामयाब होते हैं तो बहुत ऐसे भी हैं जिनके शरीर में लेस मात्र का अंतर नहीं दिखता। लोग वजन को कम करने के लिए एक तरीका और अपनाते हैं। वह कम खाना शुरू कर देते हैं। यह तरीका आपके शरीर को नुकसान (Damage) पहुंचा सकता है। आप अपने जरूरी डाइट (Diet) को कम मत कीजिए बल्कि ऐसे फल खाइए जो वजन को कम करने में सहायक हैं। तो आइए जानते हैं मोटापा (Fat) कम करने के लिए इन फलों के गुण और फायदे :

नींबू (Lemon) - 
नींबू कई रोगों के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह विटामिन सी (Vitamin C) का बहुत बड़ा स्रोत (Source) है। यह न केवल आपके बालों के लिए गुणकारी है बल्कि इससे मोटापा भी कम किया जा सकता है। शरीर से विषाक्त पदार्थ (Toxic Substances) को दूर करने में सहायक नींबू को यदि पानी के साथ पीएंगे तो वजन कम करने का इससे दूसरा उपाय कोई और नहीं है।

संतरा (Orange) - 
विटामिन सी (Vitamin C) का सबसे बड़ा स्रोत संतरा (Orange), नींबू (Lemon),और मौसमी (Sweetlime) की जाति का फल है। अपने ग़ुणों और स्वाद से भरपूर संतरा हर किसी के लिए एक पसंदीदा फल है। नारंगी की तरह दिखने वाले संतरे में विटामिन सी के अलावा विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन बी (Vitamin B), फॉस्फोरस (Phosphorus), कैल्शियम (Calcium), प्रोटीन (Protein)और ग्लूकोज़ (Glucose) भी पाया जाता है। वैसे तो इसके बहुत सारे फायदे हैं लेकिन जो लोग संतरे का नियमित सेवन करते हैं वो मोटापे पर भी नियंत्रण पा सकते हैं।
तरबूज (Watermelon) - 
वैसे तो यह फल ज्यादातर गर्मियों (Summer) में ही मिलता है। यह एक ऐसा फल है जिसमें 91 प्रतिशत (91%) पानी की मात्रा होती है। इसे खाने से न केवल आपके शरीर में पानी की आपूर्ति होती है बल्कि यह वजन को कम करने में सहायक भी है।



अंगूर (Grapes) - 

प्रोटीन(Protein), कैलॉरी (Calorie), कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate), सोडियम (Sodium), फाइबर (Fiber), विटामिन सी (Vitamin C), कैल्शियम (Calcium), कॉपर (Copper), मैग्नीशियम (Magnesium), मैंग्नीज (Manganese), जिंक (Zinc) और आयरन (Iron) जैसे पोषक तत्वों से भरपूर अंगूर एक बलवर्धक एवं सौन्दर्यवर्धक (Energetic and Cosmetic) फल माना गया है। यह माइग्रेन (Migrane) और त्वचा (Skin) के रोगों के लिए फायदेमंद तो है ही, साथ ही इससे वजन को भी कम किया जा सकता है।


अनानास (Pineapple) - 
शारीरिक शक्ति को विकसित करने वाला अनानास पाचन संबंधित विकार को नष्ट कर देता है। पित्तनाशक (Antiphlogistic), कृमिनाशक (Anthelmintic) और हृदय (Heart) रोगों के लिए हितकारी अनानास मोटापा कम करने के मामले में भी एक प्रभावकारी फल है। इसमें मौजूद ब्रोमोलेन एंजाइम (Bromolean Enzyme) आपके पाचन तंत्र को दुरूस्त रखने के साथ ही, वजन कम करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


पपीता (Papaya) - 
पेट के रोगों में रामबाण की भूमिका निभाने वाला पपीता (Papaya) मोटापा कम करने के लिए एक चमत्कारिक फल माना जाता है। इसका प्रतिदिन सेवन करने से लाभ जरूर मिलता है।


स्ट्रॉबेरी (Strawberry) -
एंटी ऑक्सीडेंट (Antioxidant) और विटामिन-सी (VItamin C) से भरपूर स्ट्रॉबेरी न केवल आपकी त्वचा को खूबसूरत बनाता है बल्कि वजन को कम करता है। मोटापे में इसका सेवन करते रहना चाहिए।
मोटापा तेजी से घटने वाली आयुर्वेदिक जूस | Ayurvedic Juice For Weight Loss

आज के समय की बात करें तो हर दूसरा व्यक्ति मोटापा की चपेट मे आ चुका है। जिसके निजात पाने के लिए आप हर तरह के उपाय अपनाते है। रोज जिम (Gym) जाना, योगा (Yoga), डाइटिंग (Dieting) करते है।

कई लोग तो मोटापा (Fat) से निजात पाने के लिए दवाओं (Medicines) का भी इस्तेमाल करते है। जिससे कि इस मोटापा से मुक्ति पा सके, लेकिन आप जानते है कि इन दवाओं का साइड इफेक्ट (Side Effect) भी होता है। जो आपके लिए खतरनाक (Dangerous) साबित हो सकता है।
अगर आप चाहते है कि आपका मोटापा तेजी से घटे तो हम आपको अपनी खबर में एक ऐसे जूस के बारें में बता कहे है। जिसका सेवन रात के समय करने से आपको जल्द ही मोटापा से निजात मिल जाएगा। इस जूस को बनाने के लिए आपको किसी स्पेशल (Special) चीज की जरुरत नहीं होती है। यह सब चीजें आपके घर में आसानी से मिल जाएगी। जानिए कैसे बनाएं जूस।


सामग्री (Ingredients) -
1. 1 नींबू कटा हुआ | (1 Lemon)
2. 1 ग्लास पानी | (1 Glass Water)
3. 1 खीरा | (1 Cucumber)
4. 1 चम्म्च पिसा हुआ अदरक | (1 Teaspoon Ginger)
5.1 चम्मच एलोवेरा जूस | (1 Teaspoon Aloe Vera Juice)
6. थोड़ा हरा धनिया | (Coriander Leaves)



ऐसें बनाएं जूस (How To Make) -

सबसे पहले इन चीजों को लेकर ग्राइडर (Grinder) में डालकर अच्छी तरह से पीस लें। फिर इसे रात को सोने से पहले पीएं। इसमें ऐसे तत्व (Element) पाए जाते है जो रात को लेने से आपके शरीर से चर्बी को कम करता है। जिससे आपका मोटापा (Fat) कम होता है।
इसके अलावा यह जूस आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म (Metabolism) को गति देगा और जिस समय आप नींद में होंगे आपका मेटाबॉलिज्म सक्रिय (Metabolism Activated) होकर मोटापा कम करने में सहायक होगा। रोज इस जूस का सेवन कुछ ही दिनों में आपको मोटापे से निजात दिला देगा। खास तौर से पेट की चर्बी (Stomach Fat) को कम करने में यह बेहद काम की चीज है। इसलिए इसका सेवन रोज करें।


वजन घटाना है तो इस्तमाल करें लौकी | Bottle Gourd To Reduce Weight

मोटापा (Fat) कम करने के लिए लोग क्या कुछ नहीं करते। पैसा खर्च करते हैं और कई बार मूर्ख भी बन जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है, कुछ घरेलू नुस्खे (Home Remedies) इस्तेमाल कर भी आप जल्दी वजन को कंट्रोल (Weight Control) कर सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही घरेलू और कारगर वजन घटान के 7 नुस्खों के बारे में-
लौकी (Bottle Gourd) -
सब्जियों में लौकी बहुत कम लोगों की पंसदीदा है, लेकिन जिन लोगों को वजन कम करना है उनके लिए यह बेस्ट सोर्स (Best Source) है। लौकी में फाइबर (Fiber) की मात्रा का अधिक होना और फैट (Fat) नहीं होना इसकी खूबी है। और यही खूबी वजन कम करने में सहायता करती है। लौकी में 96 प्रतिशत पानी और 12 कैलोरी (12 Calories) होती है। इसलिए इसे खाने से कम कैलोरी शरीर में जाती है और मोटापा छू हो जाता है।
साथ ही खीरा भी आप अपनी डाइट (Diet) में शामिल कर सकते हैं क्योंकि इसमें भी पानी की मात्रा अधिक पाई जाती है। खीरे में 90 प्रतिशत पानी होता है। यह फैट (Fat) को कम करता है।


नारियल पानी (Coconut Water) -
प्रकृति का सबसे अनोखा ड्रिंक (Unique Drink) है नारियल पानी। यह हमारे मैटाबॉलिज्म (Metabolism) को मजबूत करता है और इलैक्ट्रोलेट्स (Electrolets) से भरा होता है। अल्सर (Ulcer) और पेट की समस्याओं के अलावा वजन घटाने में भी यह कारगर है। शरीर मे उत्पन्न होने वाले टॉक्सिन (Toxin) को भी नारियल पानी बाहर निकाल देता है। रोजाना एक से दो ग्लास नारियल पानी आपके शरीर में जबरदस्त बदलाव ला सकता है।
ब्लैक कॉफी और ग्रीन टी (Black Coffee And Green Tea) -

रिसर्च (Research) बताते हैं कि ग्रीन टी और ब्लैक कॉफी पीने से मोटापा कम होता है। हालांकि ब्लैक कॉफी को फायदेमंद बनाने के लिए इसमें शक्कर नहीं मिलानी चाहिए। इसे पीन से कुछ ही हफ्तों में वजन कम किया जा सकता है।
ग्रीन टी पीने से भी मोटापे को कम किया जा सकता है। रिसर्चकर्ताओं (Researchers) के मुताबिक ग्रीन टी मैटाबॉलिज्म (Metabolism) को बढ़ाता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसी के चलते वजन कम करने के लिए ग्रीन टी यूज करने की सलाह दी जाती है।


खूब पानी पीएं (Drink Plenty Of Water) -
पानी भी मोटापा घटाने में सहायक होता है। अगर आप खूब पानी पिते हैं तो इससे कैलोरी बर्न (Calorie Burn) करने में मदद मिलती है और यह शरीर में मौजूद टॉक्सिन (Toxins) को मूत्र के माध्यम से बाहर निकाल देता है। ध्यान रखें खाने के ठीक बाद ज्यादा पानी नहीं पिएं।


ये सब्जियां भी असरकारक (These Vegetables Are Also Effective) -
लौकी के अलावा और भी ऐसी सब्जियां हैं जो मोटापे की दुश्मन कही जाती हैं। इनमें गोभी (Cauliflower), गाजर (Carrot) और टमाटर (Tomatoes) शामिल हैं। मोटापा कम करने के लिए इन सब्जियों को अपनी डाइट (Diet) में शामिल करें।

कमर की चर्बी घटाने के लिये क्‍या खाएं और क्‍या नहीं? | Benificial Diet To Reduce Waist Size

कमर की चर्बी (Fat) घटाने के लिये आपको सबसे पहले अपनी जुबान पर लगाम लगाना होगा। हम ये नहीं बोल रहे हैं कि आप खाना ही बंद कर दें, हमारा कहने का मतलब है कि आप जो कुछ भी खा रहे हैं उसमें से वो चीज़ें हटा दें जिसमें ढेर सारा वसा (Fat) और कैलोरी (Calories) भरी हो।
उदाहरण के तौर पर अगर आप ब्रेड (Bread) खाते हैं तो वाइट ब्रेड (White Bread) की जगह ब्राउन या वीट ब्रेड (Brown Or Wheat Bread) खाना शुरु कर दें। वहीं दूसरी ओर तली भुनी चीज़ की जगह पर सादी रोटी सब्‍जी खांए। इससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है और शरीर में चर्बी भी नहीं जमती।

बिस्‍कुट (Cookies) की जगह पर घर का बना पराठा खाना चाहिए | बिस्‍कुट में काफी शक्‍कर (Sugar) और मैदा होता है। मगर पराठे में गेहूं का आटा होता है जो कि आयरन (Iron) और फाइबर (Fiber) से भरा होता है।


फलो के जूस (Fruit Juice) की जगह पर दूध (Milk) पिने से आपके शरीर का 99 प्रतिशत कैल्‍शियम (Calcium) हड्डियों और दांतों में रहता है। कैल्‍शियम से हड्डियां मजबूत बनती हैं इसलिये दूध पीना सबसे अच्‍छा विकल्प (Option) है।

तला हुआ खाना (Fried Food) की जगह रोटी-सब्‍जी खाना चाहिए| तला हुआ खाने से पेट तो भर जाता है लेकिन उसमें वसा और कैलोरीज़ होती हैं। रोटी सब्‍जी में काफी सारा पोषण (Nutrition) होता है और इसे खाने से पेट भी भर जाता है।


वड़ा पाव की जगह इडली सांभर खाना चाहिए| वड़ा पाव में काफी सारा मैदा (Flour), बटर (Butter) और तेल (Oil) होता है। वहीं इडली में ढेर सारी ऊर्जा (Energy) और सांभर में ढेर सारी दाल होती है जो कि प्रोटीन (Protein) का अच्‍छा स्रोत (Source) होता है।


क्रीम वाले सूप (Cream Soup) की जगह सब्ज़ी का सूप (Vegetable Soup) पीना चाहिए| सूप पीने वालों को बिना क्रीम डाले मिक्‍स वेज सूप (Mix Veg Soup)पीना चाहिये। इसमें ताजा टमाटर (Fresh Tomatoes) का प्रयोग करना चाहिये।



वाइट राइस (White Rice) की जगह ब्राउन राइस (Brown Rice) खाएं| 1 कप पके हुए ब्राउन राइस में 4 ग्राम फाइबर की मात्रा होती है। लेकिन 1 कप पके हुए वाइट राइस में केवल 1 ग्राम फाइबर होता है।



वाइट पास्‍ता (White Pasta) की जगह वीट पास्‍ता (Wheat Pasta) खाएं| वीट पास्‍ता में हाई फाइबर (High Fiber) और पोषण (Nutrition) की मात्रा अधिक होती है। वाइट पास्‍ता में केवल मैदा होता है।


मिल्‍क चॉकलेट (Milk Chocolate) की जगह डार्क चॉकलेट (Dark Chocolate) पिए| डार्क चॉकलेट में मिल्‍क चॉकलेट के मुकाबले कम शक्‍कर होती है। इसके साथ डार्क चॉकलेट का स्‍वाद मुंह में ज्‍यादा देर तक टिका रहता है।


आलू के चिप्‍स (Potato Chips) की जगह पॉपकार्न (Popcorn) खाएं| पॉपकार्न में आलू के चिप्‍स के मुकाबले 80% कम वसा होता है और दोगुना फाइबर (Double Fiber) होता है।


आइसक्रीम (Ice-Cream) की जगह दही (Curd) बिना शक्‍कर के खाये| दही खाने से आपको प्रोटीन (Protien), विटामिन सी (Vitamin C) और विटामिन बी (Vitamin B) मिलता है।


कोल्‍ड्रिंक (Cold-drink) की जगह लेमन वॉटर (Lemon Water) पिए| 300 एमएल (300ml) कोल्‍ड्रिंक में 10 चम्‍मच शक्‍कर मिली होती है। वहीं लेमन वॉटर पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढती है, त्‍वचा साफ बनती है और मोटापा घटता है।


मिल्‍क शेक (Milk Shake) की जगह ताजे फलों की स्‍मूदी (Fresh Fruits Smoothie) बिना शक्‍कर के पिए| मिल्‍क शेक में काफी कैलोरी होती है इसलिये इसकी जगह पर घर की बनी फलों की स्‍मूदी पियें।


फ्रूट जूस (Fruits Juice) की जगह फल (Whole Fruit) खाएं| जूस में फाइबर कम होता है और शक्‍कर अधिक होती है। वहीं फल में ढेर सारा फाइबर, रस और प्राकृतिक शक्‍कर (Natural Sugars) हेाती है।
20 घरेलू उपाय कमर और पेट का साइज कम करने के लिए | Reduce Hips & Tummy

बढ़ता वजन (Weight) हर किसी के लिए एक बड़ी परेशानी (Problem) होती है, आज हम आपको 20 ऐसे घरेलू उपाय बताएंगे जिससे आप आसानी से कमर और पेट पे जमी चर्बी (Fat) को सिर्फ 30 दिन में पूरी तरह से खत्म कर सकते है|
पुदीने की ताजी हरी पत्तियों की चटनी बनाकर चपाती के साथ खाएं। पुदीने वाली चाय (Mint Tea) पीने से भी वजन नियंत्रण में रहता है।


रोज खाने से पहले b खाएं। खाने से पहले गाजर खाने से भूख कम हो जाएगी। आधुनिक विज्ञान (Modern Science) भी गाजर को मोटापा कम करने में कारगर मानता है।


आधा चम्मच सौंफ (Fennel) को एक कप खौलते पानी में डाल दें। 10 मिनट तक इसे ढँककर रखें। ठंडा होने पर इस पानी को पिएं। ऐसा तीन माह तक लगातार करने से वजनकम होने लगता है।

दही (Curd) को खाने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ (Buttermilk) का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के समय छाछ (Buttermilk) के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।

केवल गेहूं के आटे (Wheat flour) की रोटी की बजाय गेहूं (Wheat), सोयाबीन (Soybeans) और चने (Gram) के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।

मोटापा कम नहीं हो रहा हो तो खाने में कटी हुई हरी मिर्च (Green Pepper) या काली मिर्च (Black Pepper) को शामिल करके बढ़ते वजन पर काबू पाया जा सकता है। एक रिसर्च (Research) में पाया गया कि वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन (Capsaicin) से भूख कम होती है। इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वजन कंट्रोल (Control) में रहता है।

लटजीरा (Rough Chaff Tree) या चिरचिटा (Aspera) के बीजों को एकत्र कर लें। किसी मिट्टी के बर्तन में हल्की आंच पर भूनकर पीस लें। एक-एक चम्मच दिन में दो बार फ़ाक लें, बहुत फायदा होगा।

मालती की जड़ (Root Of Malti) को पीसकर शहद (Honey) मिलाकर खाएं और छाछ पिएं। प्रसव के बाद होने वाले मोटापे में यह रामबाण की तरह काम करता है।

रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पिएं। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।


करेले (Bitter) की सब्जी खाने से भी वजन कम करने में मदद मिलती है। सहजन के नियमित सेवन से भी वजन नियंत्रित (Weight Control) रहता है।

सौंठ (Saunth), दालचीनी की छाल (Cinnamon Bark) और काली मिर्च (Black Pepper) (3 -3 ग्राम) पीसकर चूर्ण बना लें। सुबह खाली पेट और रात सोने से पहले पानी से इस चूर्ण को लें, मोटापा कम होने लगेगा।

हरड़ (Harad) और बहेड़ा (Bahera) का चूर्ण बना लें। एक चम्मच चूर्ण 50 ग्राम परवल (Parwal) के जूस (1 गिलास) के साथ मिलाकर रोज लें, वजन तेजी से कम होने लगेगा।


आंवले व हल्दी (Gooseberry and Turmeric) को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लें। कमर (Waist) एकदम पतली हो जाएगी।

पपीता (Papaya) नियमित रूप से खाएं। यह हर सीजन (Season) में मिल जाता है। लंबे समय तक पपीता के सेवन से कमर की अतिरिक्त चर्बी (Fat) कम होती है।

खाने के साथ टमाटर (Tomatoes) और प्याज (Onions) का सलाद काली मिर्च (Black Pepper) व नमक (Salt) डालकर खाएं। इनसे शरीर को विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन के (Vitamin K), आयरन (Iron), पोटैशियम (Potassium), लाइकोपीन (Lycopene) और ल्यूटिन (Lutein) मिलेगा। इन्हें खाने के बाद खाने से पेट जल्दी भर जाएगा और वजन नियंत्रित हो जाएगा।


ज्यादा कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) वाली वस्तुओं से परहेज करें। शक्कर (Sugar), आलू (Potato) और चावल (Rice) में अधिक कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।



गुग्गुल गोंद (Guggul Gum) को दिन मे दो बार पानी में घोलकर या हल्का गुनगुना कर सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती है।

सब्जियों (Vegetables) और फलों (Fruits) में कैलोरी (Calories)कम होती है, इसलिए इनका सेवन अधिक मात्रा में करें। केला (Banana) और चीकू (Chiku) न खाएं। इनसे मोटापा बढ़ता है।

दो बड़े चम्मच मूली के रस (Radish juice) में शहद (Honey) मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं। ऐसा करने से 1 माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.