Header Ads

दिवाली के पटाखे बनते है अस्थमा


दिवाली के पटाखे बनते है अस्थमा रोगियों की परेशानी का कारण, इन 5 चीजों की मदद से पाए राहत

दिवाली का समय आ चुका हैं और यह त्योहार पूरे भारत में खुशियों के साथ मनाया जाता हैं। इस त्योहार पर पटाखे भी जलाए जाते हैं और खुशियाँ जाहिर की जाती हैं। लेकिन ये पटाखे अस्थमा रोगियों के लिए खुशियाँ नहीं परेशानी लेकर आते हैं। क्योंकि पटाखों से प्रदूषण होता है, जिससे अस्थमा रोगियों को खांसी, सांस लेने में तकलीफ जैसे समस्याएँ होने लगती हैं। इसलिए अगर आप अपने दिवाली के त्योहार को अच्छे से बनाना चाहते हैं तो उन चीजों की मदद ले, जो आपको अस्थमा में राहत दिलाएं। तो आइये हम बताते हैं आपको उन चीजों के बारे में। 
* मेथी के दाने

मेथी को पानी में उबाल कर इसमें शहद और अदरक का रस मिलाकर रोजाना पीएं। इससे आपको अस्थमा की समस्या से राहत मिलेगी। 

* केला

एक पके केले को छिलके सहित सेंककर बाद में उसका छिलका हटाकर केले के टुकड़ो में पिसी काली मिर्च डालकर गर्म-गर्म दमे रोगी को देनी चाहिए। इससे रोगी को राहत मिलेगी।

* लहसुन

लहसुन अस्थमा के इलाज में काफी कारगर साबित होता है। अस्थमा रोगी लहुसन की चाय या 30 मिली दूध में लहसुन की पांच कलियां उबालें और इस मिश्रण का हर रोज सेवन करने से अस्थमा में शुरुआती अवस्था में काफी फायदा मिलता है। 





* अजवाइन और लौंग

गर्म पानी में अजवाइन डालकर स्टीम लेने से भी अस्थमा को नियंत्रित करने में राहत मिलती है। यह घरेलू उपाय काफी फायदेमंद है। इसके अलावा 4-5 लौंग लें और 125 मिली पानी में 5 मिनट तक उबालें। इस मश्रिण को छानकर इसमें एक चम्मच शुद्ध शहद मिलाएं और गर्म-गर्म पी लें। हर रोज दो से तीन बार यह काढ़ा बनाकर पीने से मरीज को लाभ होता है।
* तुलसी

तुलसी अस्थमा को नियंत्रित करने में लाभकरी है। तुलसी के पत्तों को अच्छी तरह से साफ कर उनमें पिसी काली मिर्च डालकर खाने के साथ देने से अस्थमा नियंत्रण में रहता है। इसके अलावा तुलसी को पानी के साथ पीसकर उसमें शहद डालकर चाटने से अस्थमा से राहत मिलती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.