Header Ads

कुछ खास सेक्स पोजिशंस

कुछ खास सेक्स पोजिशंस समय पर डिलीवरी कराने में होती हे मददगार

अक्सर प्रेगनेंसी के दिनों में महिलाएं सेक्स करने से बचती हैं। उन्हें लगता है कि ऐसा करने से कहीं उन्हें या उनके गर्भ में पल रहे बच्चे को कोई नुकसान न हो जाए। कई बार पूरी तरह से सेक्स बंद कर देना भी डिलीवरी के समय समस्याएं पैदा करती हैं या डेट निकल जाने के कई दिनों बाद डिलीवरी हो पाती है।

कई महिलाओं में ऐसा देखा जाता है कि गर्भावस्था की डिलीवरी डेट के बाद भी प्रसव नहीं हो पाता। इसे पोस्ट-टर्म डिलीवरी कहते हैं। ऐसा होने के बाद नॉर्मल डिलीवरी में अक्सर समस्याएं आती हैं। डॉक्टर को हार मानकर सिजेरियन डिलीवरी करानी पड़ती है। लेट डिलीवरी होने का डॉक्टर पहले पता नहीं कर पाते, जिसके कारण ये कई बार मां-बच्चे दोनों के लिए खतरनाक हो जाता है।

विषेशज्ञों का कहना है कि खानपान के साथ कई बार कुछ खास सेक्स पोजिशंस भी समय पर डिलीवरी कराने में मददगार होते हैं।

पोस्ट-टर्म डिलीवरी के कारण 
कई बार अनुवांशिक कारण भी होते हैं जैसे परिवार में अगर किसी की पहले पोस्ट-टर्म डिलीवरी हुई हो तो, भी संभावना होती है। बच्चे के गर्भ में स्थिति सही नहीं होती है तो भी प्रसव में देरी हो सकती है। मोटापा भी प्रसव में देरी होने का मुख्य कारण होता है।

सेक्स से कराएं टाइम पर डिलीवरी 
अगर परिवार में किसी की पोस्ट-टर्म डिलीवरी हुई होती है तो डॉक्टर पहले ही कई तरह के उपाय बताने लगते हैं जिससे की डिलीवरी टाइम पर हो जैसे चटपटा खाना, अच्छी हेल्दी रुटीन रखना, सुबह घूमना आदि। इन सबके अलावा कुछ विशेष तरह के सेक्स पोजिशंस भी समय पर डिलीवरी कराने में मदद करते हैं।

सेक्स पोजिशन 1 
इस सेक्स पोजिशन में पुरुष और महिला ए-दूसरे के सामने लेटे होते हैं। उसके बाद पुरुष के शरीर पर महिला को अपना बायां पैर रखना होता है। इस पोजिशन में सेक्स करने से भ्रूण को किसी तरह का नुकसान नहीं होता और टाइम पर डिलीवरी में भी सहायक होता है।

सेक्स पोजिशन 2 
एक आरामदायक सोफे पर महिला बैठ जाए। पुरुष उसके ठीक सामने सोफे पर बैठे। ऐसा करने के बाद इंटरकोर्स करें। इससे महिला को प्रसव करने में आसानी होती है।

सेक्स पोजिशन 3 
महिला पीठ के बल बिस्तर पर लेट जाए। फिर अपने घुटनों को मोड़ ले और पैरों के बीच में कुछ जगह छोड़ दे। बिल्कुल वैसे ही लेटें जैसे डिलीवरी के दौरान महिला पैरों को खोलकर बिस्तर में लेटती है। अब इंटरकोर्स करें। इससे आप सेक्स का मजा भी ले पाएंगे और गर्भस्थ शिशु को कोई नुकसान भी नहीं होगा। साथ ही डिलीवरी भी टाइम पर हो जाएगी।


सेक्स जीवन बेहतर बन सकती है ये पोजीशन

सेक्स जीवन को व भी रोमांचक बनाना है तो आपको कई तरह के एक्सपेरिमेंट करने होते है। आज के लोग व कपल नए नए तरीके अपनाने से पीछे भी नहीं हटते। अगर आपकी सेक्स जीवन में रोमांच है तो बहुत ही अच्छी बात है लेकिन अगर नहीं है टतो हम आपको बता देते हैं कुछ ऐसी पोजीशन जिससे आपकी भी सेक्स जीवन बेहतर बन सकती है। इन पोजीशन के बारे में सुना होगा व नहीं सुना तो जान लीजिये।

* लोटस पोजिशन : ये पोजीशन आजकल ट्रेंड में है। हालाँकि पहले भी यूज़ में लिया जाता है लेकिन आज के अनुसार देखा जाए तो कपल इसे करना प्रेफर करते हैं। इसमें महिला को पुरुष की गोद में बैठना होता है जिससे महिला व पुरुष का मुंह एक दूसरे के सामने आ जाता है। इससे इंटीमेसी व पेनिट्रेशन दोनों ही ज्यादा होता है व प्रेग्नेंसी का भय भी ही होता।

* क्रैब वॉक : इस पोजीशन में दोनों ही पार्टनर अपने हाथों का सहारा लेते हैं व एक दूसरे के सामने बैठते हैं महिला पुरुष के पास बढ़ती है व अपने पैरों को उसके के कंधों पर रख देती है।

* डॉग स्टाइल : डॉग स्टाइल में महिला डॉग के स्टाइल में नीचे जाती है मेल पार्टनर पीछे से आता है। इसके बारे में तो आपने सुना ही होगा। इसे अक्सर कपल अपनाते हैं, जिन्हें पैरेंट बनने की जल्दी होती है वो अधिकांश इसे अपनाते हैं क्योंकि इससे प्रेग्नेंट होने के चांस बढ़ते हैं।
जाने डिलीवरी के बाद सेक्स करने का सही समय

प्रेगनेंसी में कुछ महिलाओं की डिलीवरी नॉर्मल होती है, तो कुछ की सीजेरियन करनी पड़ती है। किसी भी तरीके से डिलीवरी हो, शरीर को वापस पहले की तरह सामान्‍य होने में काफी समय लगता है, ऐसे में डिलीवरी के बाद फिजिकल रिलेशनशिप बनाने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। डॉक्टर की राय में दोबारा सेक्‍स करने से पहले कम से कम 4 से 6 सप्ताह तक का गैप रखना जरूरी है। इससे सर्विक्‍स को बंद होने का समय मिल जाता है। शरीर अच्छी तरह से हील कर जाता है। ऐसे में डिलीवरी के बाद अक्सर महिलाएं इस बात को लेकर चिंतित रहती हैं कि पार्टनर के साथ सेक्स कब करें। बच्चे के जन्म के लगभग तीन सप्ताह के बाद महिलाएं सेक्स करने के लिए तैयार होती हैं। ऐसा इसलिए, क्योंकि इस समय तक प्रसव के बाद होने वाले रक्तस्राव की समस्या खत्म हो जाती है।

डिलीवरी के बाद सेक्स करने का सही समय

नॉर्मल डिलीवरी 
यदि बच्चा नार्मल हुआ हो तो, प्रसव के बाद कब सेक्स करना उचित है। इसके लिए डॉक्टर से सलाह ले लें क्योंकि इस दौरान संक्रमण होने का खतरा बहुत अधिक होता है। दरअसल, प्लेसेंटा के बाहर निकलने से गर्भाशय पूरी तरह से जख्मी हो जाता है और इसके घाव को भरने में थोड़ा समय लगता है।

छह हफ्ते तक करें इंतजार 
कुछ लोग बच्चे के जन्म लेने के एक महीने के अंदर ही सेक्स करना शुरू कर देते हैं, यह सही नहीं है। सेक्स करने के लिए कम से कम छह सप्ताह तक इंतजार करें। खासतौर से, जिन महिलाओं का पेरिनियम क्षेत्र प्रसव के दौरान फट जाता या वहां चीरा लगाया जाता है। उन्हें कुछ दिन का इंतजार जरूर करना चाहिए।

सिजेरियन डिलीवरी 
यदि सिजेरियन डिलीवरी हुई है तो कम से कम 6 हफ्तों के बाद यौन संबंध बनाएं लेकिन डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें। इससे यह पता चल सकेगा कि सिजेरियन के बाद जो टांके लगे हैं, वो ठीक से भरे हैं या नहीं। ऑपरेशन के बाद होने वाली ब्लीडिंग रुकी है कि नहीं क्योंकि प्रसव में ब्लीडिंग यूट्रस के अंदर से होती है, जहां पर प्लासेंटा स्थित होता है। हालांकि, यह ब्लीडिंग हर गर्भवती महिला को होती है, चाहे उस की डिलीवरी नॉर्मल हुई हो या सिजेरियन। एक बार डॉक्‍टर सेक्स करने की इजाजत दे देता है, तो सेक्स के दौरान ध्यान रखें कि टांके पर किसी तरह का कोई दबाव न पड़े। ऐसे में सेक्स के दौरान अपने पोजीशन का जरूर ध्यान रखें।

डिलीवरी के बाद जब करें पहली बार सेक्‍स 
- फोरप्ले करें। यह अद्भुत सेक्स के लिए एक मात्र मंत्र है। अगर आपको सेक्स करने में तकलीफ है, तो कुछ दिनों के लिए फोरप्ले से काम चलाएं। सेक्स की शुरुआत धीमी गति से ही करें।
- सेक्स के दौरान कोई दर्द या तकलीफ महसूस हो रही है तो अपने पार्टनर को जरूर बताएं ताकि दोनों मिलकर उसका हल निकल सकें।
- स्तनपान और हार्मोनल परिवर्तन से आमतौर पर योनि में सूखापन आता है इसलिए खुद को लुब्रीकेट करें।
- कीगेल एक्सरसाइज करें। ये आपकी पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों में सुधार लाने का काम करता है। पोस्ट-डिलीवरी के बाद ये बहुत लाभप्रद है।
कैसे करे क्वाइट सेक्स अपनाए यह 5 सरल पोजिशन

जब ​परिवार के साथ रहते है तो कई बार कपल्स फोरप्ले नहीं कर पाते है. ऐसे में उन्हें भय रहता है​ कि कहीं कोई देख ना लें या रूम में ही कुछ कर रहे हो तो उसकी आवाज बाहर नहीं चली जाएं. इतना ही नहीं कई बार कपल सेक्स करने से कतराते है तो आज हम आपको बताने जा रहे है कि ऐसे स्थिति में आप कैसे क्वाइट सेक्स कर सकते है जिससे रूम के बाहर आवाज नहीं जाए औरआप इस जीवन को इन्जॉय कर सकें.

डॉगी स्टाइल -कई बार ज्यादा मूवमेंट की वजह से बेड आवाज करने लगता है. जिस वजह से सेक्स भी नहीं कर पाते. ऐसे में आप डॉगी स्टाइल में सेक्स कर सकते है. इसके लिए आप बेड पर नहीं बल्कि बेड के कोने पर हाथों के सहारे झुके .व . फिर सेक्स करें .. . इससे आवाज भी नहीं आएगी .व . आप असानी से सेक्स का मजा ले सकेंगे .. .

69 पोजिशन - .इस पोजिशन को आप .सरलता . से कहीं भी कर सकते हैं .. . यह पोजिशन बहुत क्वाइटली कर सकते है जिसे किसी के बारे में पता भी नहीं चलेगा .. .

स्टैंडिंग पोजीशन - .कई बार बेड पर सेक्स करने की बजाए आवाज होने का .भय . होता है ऐसे में आप स्टैंडिंग पोजीशन के जरिए चुपचाप इसका मजा ले सकते है .. . वहीं अगर आपकी पार्टनर आहें भरती है तो उन्हें ऐसा करने से ना कहे या फिर उनके मुंह पर हाथ रख दें .. .

शावर सेक्स - .शावर के दौरान अप इसका सबसे ज्यादा मजा ले सकते है .. . साथ ही बाथरूम मेंस्पेस ज्यादा होती है तो आप कई सारी पोजिशन भी ट्राई कर सकते है .. .

चेयर सेक्स - .सेक्स करने के लिए यह भी पोजिशन भी अच्छी है .. . इसेरात के वक्त में ट्राई कर सकते है .. . ध्यान रहें कुर्सी की या आपक केपाटर्नर की आवाज नहीं आए .
शावर सेक्स का सुरक्षित तरीके से मजा लेने के लिए ध्यान रखें कुछ बाते

कई कपल्स बेड के साथ-साथ शावर सेक्स का भी आनंद लेते हैं। यह बेडरूम सेक्स की तुलना में सुरक्षित भी होता है। शावर सेक्स सुरक्षित सेक्स होने के साथ ही अधिकतर कपल्स का फेवरेट भी होता है। इससे उनमें सेक्स में संतुष्टि अधिक महसूस होती है। देर तक शावर के नीचे एक-दूसरे के साथ प्यार करते हुए इसका मजा ही कुछ और होता है। इससे आप एक-दूसरे के और भी ज्यादा करीब आते हैं। प्यार भी बढ़ता है। यदि आप भी शावर का सुरक्षित तरीके से मजा लेना चाहते हैं तो कुछ बातों को ध्यान में जरूर रखें।

रहें फ्लेक्सिबल 
शावर सेक्स जितना सुरक्षित माना जाता है, उतनी ही इसके लिए तैयारी भी करनी पड़ती है। शावर सेक्स के लिए दोनो पार्टनर्स को फ्लेक्सिबल होना चाहिए।

ट्राई करें ये चीजें 
शावर सेक्स के दौरान फिसलने का भी डर रहता है इसलिए पहले से ही एहतियात बरतें। मार्केट में इसके लिए कई तरह की चीजें मौजूद हैं। मसलन, स्किडप्रूफ मेट्स से लेकर सिंगल लॉकिंग सक्शन फुटरेस्ट जैसी कई चीजें आपको आसानी से मिल जाएंगी। इन चीजों की मदद से आप शावर सेक्स के दौरान किसी भी सेक्स पोज़िशन को आसानी से हैंडल कर पाएंगे।

पानी न ठंडा और ना ही अधिक गर्म 
शावर सेक्स करना तो ठीक है, पर पानी का भी ध्यान जरूर दें। पता चला एक-दूसरे की बांहों में खोए रहने के कारण यह भूल बैठे कि गीजर भी ऑन है और पानी अधिक गर्म हो गया। साथ ही कुछ लोग ठंडे पानी में इस तरह का सेक्स करना पसंद करते हैं, तो कुछ गुनगुने पानी में। ध्यान रहे कि पानी का तापमान सामान्य हो, ताकि दोनों पार्टनर्स में से किसी को भी परेशानी न हो।

सेक्स के अलावा शरारत 
शावर के दौरान पार्टनर सिर्फ सेक्स पर ही फोकस न करें। इस बीच पार्टनर एक-दूसरे के साथ शरारत और अठखेलियां करते रहें ताकि ध्यान बंटे ना और दोनों एक-दूसरे का साथ अधिक इंजॉय कर पाएं।

एक-दूसरे की बॉडी सहलाएं 
शावर सेक्स के दौरान दोनों पार्टनर एक-दूसरे को गले लगाएं, स्क्रब करें और धीरे-धीरे एक-दूसरे की बॉडी को सहलाएं।

बेस्ट पोजिशन 
बात करें शावर सेक्स के दौरान बेस्ट पोजिशन की, तो यह आपके बाथरूम की स्पेस के ऊपर निर्भर करता है, लेकिन फिर भी सिटिंग पोजिशन इसके लिए बेस्ट मानी जाती है।
आपका लाइफ पार्टनर दूसरों के साथ हमबिस्तर तो नहीं, यूं करें सही जानकारी

रिलेशनशिप दो लोगों के विश्‍वास, प्‍यार और केयरिंग पर टिका होता है। जब इस प्‍यार भरे रिश्‍तें में कोई तीसरा आ जाता है तो रिश्‍तें में दरार आ जाती है, लेकिन अगर आपको इस बात की भनक ही न लगें कि आप दोनों के बीच कोई तीसरा आ गया है? हालांकि रिश्‍तें में बेवजह शक करना गलत बात है, लेकिन आपका पार्टनर आपको धोखा दे रहा है, इस चीज को इग्‍नोर करना भी गलत बात है।

अगर आप काफी लम्‍बे समय से महसूस कर रही हैं कि आपके पार्टनर के बिहेवियर में आपको लेकर बहुत बदलाव आया है तो आपको समझ जाना चाहिए कि दाल में कुछ काला है। अगर आपका पार्टनर आपके साथ सेक्‍स करने में भी इंटरेस्‍ट नहीं रखता है तो आपको समझना चाह‍िए कि वो अपने सेक्‍सुअल डिमांड कहीं और पूरी कर रहा है।

अगर आपको भी अपने पार्टनर पर शक है कि वो किसी और के साथ सेक्‍सुल एक्टिव है तो नीचे बताई गए तरीकों से भी जान सकते हैं कि आपके पार्टनर वाकई किसी और के साथ तो हमबिस्‍तर तो नहीं हो रहा है। सेक्‍स में इंटरेस्‍टः अगर आपको धीरे-धीरे ये महसूस होने लगे कि आपका पार्टनर आपके साथ सेक्स में इन दिनों कम दिलचस्‍पी दिखा रहा है तो इस ओर ध्यान दें। इसके पीछे हमेशा मेडिकल इश्यूज ही नहीं, बल्कि ऐसा भी हो सकता है कि अब उसकी सेक्‍सुअल जरुरत कोई और पूरी कर रहा हो। कुछ पुरुषों का जब कहीं अफेयर होता है तो उनकी सेक्सुअल डिमांड में बदलाव आ जाता है, इसल‍िए इस तरफ आपको ध्‍यान देने की जरुरत है।

अजमाने लगे सेक्‍स के नए तरीकेः अचानक से अगर आपको लगने लगे कि आपके पार्टनर के सेक्‍स करने के तरीके में बदलाव आया है जैसे अचानक वह सेक्‍स के दौरान कुछ नए पोजिशंस और एक्‍सपैरिमेंट करने लगे हैं। सेक्स में ये नए एक्‍सपैरिमेंट, इस बात का संकेत है कि वह ये एक्‍सपैरिमेंट किसी नए पार्टनर के साथ ट्राई कर रहे हैं। लुक और हाइजीन को लेकर सचेत अगर अचानक से आपके पार्टनर अपने लुक, फिटनेस और हाइजीन को लेकर बहुत कॉन्शियस हो गए है, तो आपको ज्‍यादा सचेत होने की जरूरत है। अगर कहीं बाहर से आकर वो नहाने की जल्दी करते हैं, तो हो सकता है कि वो कोई सबूत मिटाने की कोशिश कर रहे हों।
हर समय फोन पर लगे रहनाः अगर आप इन दिनों देख रही हैं कि आपके पार्टनर जरुरत से ज्‍यादा ही फोन पर बिजी हैं, तो ये आपको सच में अलर्ट होने की जरुरत है। अगर अब उनके हर डिवाइस पर पासवर्ड है और वो वॉशरूम या स्टडी तक में फोन ले जाने लगे है तो ये आपको समझ जाना चाहिए कि वो आपके धोखा दे रहे हैं। घर आने लगे है लेट अगर आजकल आपके पार्टनर अक्‍सर लेट आने लगे है और पूछने वो हमेशा काम का बहाना या किसी दोस्‍त से मिलने का बहाना बनाते है तो इसका मतलब साफ है कि वो झूठ बोल रहे हैं। महीनें में एक आधी बार लेट आना समझ में आता है। लेकिन रोज-रोज लेट आना और ऑफिस वर्क का एक्‍सयूज बनाना, आपके रिश्‍तें के ऊपर मंडरा रहें खतरें का अलार्म हैं।

आपको करने लगें इग्नोर अगरः आपके पार्टनर को आजकल इस बात से बिल्‍कुल भी फर्क नहीं पड़ता हैं कि आपने क्‍या पहना है और क्‍या नहीं, इसके अलावा वो आपकी हर छोटी- छोटी बातों में गलतियां ढूंढने लगे और आपको इग्‍नोर करने लगे तो समझ जाइए कि वो आपसे दूर और किसी और के करीब होते जा रहे हैं।
शावर सेक्स का सुरक्षित तरीके से मजा लेने के लिए ध्यान रखें कुछ बाते


कई कपल्स बेड के साथ-साथ शावर सेक्स का भी आनंद लेते हैं। यह बेडरूम सेक्स की तुलना में सुरक्षित भी होता है। शावर सेक्स सुरक्षित सेक्स होने के साथ ही अधिकतर कपल्स का फेवरेट भी होता है। इससे उनमें सेक्स में संतुष्टि अधिक महसूस होती है। देर तक शावर के नीचे एक-दूसरे के साथ प्यार करते हुए इसका मजा ही कुछ और होता है। इससे आप एक-दूसरे के और भी ज्यादा करीब आते हैं। प्यार भी बढ़ता है। यदि आप भी शावर का सुरक्षित तरीके से मजा लेना चाहते हैं तो कुछ बातों को ध्यान में जरूर रखें।
रहें फ्लेक्सिबल 
शावर सेक्स जितना सुरक्षित माना जाता है, उतनी ही इसके लिए तैयारी भी करनी पड़ती है। शावर सेक्स के लिए दोनो पार्टनर्स को फ्लेक्सिबल होना चाहिए।

ट्राई करें ये चीजें 
शावर सेक्स के दौरान फिसलने का भी डर रहता है इसलिए पहले से ही एहतियात बरतें। मार्केट में इसके लिए कई तरह की चीजें मौजूद हैं। मसलन, स्किडप्रूफ मेट्स से लेकर सिंगल लॉकिंग सक्शन फुटरेस्ट जैसी कई चीजें आपको आसानी से मिल जाएंगी। इन चीजों की मदद से आप शावर सेक्स के दौरान किसी भी सेक्स पोज़िशन को आसानी से हैंडल कर पाएंगे।

पानी न ठंडा और ना ही अधिक गर्म 
शावर सेक्स करना तो ठीक है, पर पानी का भी ध्यान जरूर दें। पता चला एक-दूसरे की बांहों में खोए रहने के कारण यह भूल बैठे कि गीजर भी ऑन है और पानी अधिक गर्म हो गया। साथ ही कुछ लोग ठंडे पानी में इस तरह का सेक्स करना पसंद करते हैं, तो कुछ गुनगुने पानी में। ध्यान रहे कि पानी का तापमान सामान्य हो, ताकि दोनों पार्टनर्स में से किसी को भी परेशानी न हो।

सेक्स के अलावा शरारत 
शावर के दौरान पार्टनर सिर्फ सेक्स पर ही फोकस न करें। इस बीच पार्टनर एक-दूसरे के साथ शरारत और अठखेलियां करते रहें ताकि ध्यान बंटे ना और दोनों एक-दूसरे का साथ अधिक इंजॉय कर पाएं।

एक-दूसरे की बॉडी सहलाएं 
शावर सेक्स के दौरान दोनों पार्टनर एक-दूसरे को गले लगाएं, स्क्रब करें और धीरे-धीरे एक-दूसरे की बॉडी को सहलाएं।
बेस्ट पोजिशन 
बात करें शावर सेक्स के दौरान बेस्ट पोजिशन की, तो यह आपके बाथरूम की स्पेस के ऊपर निर्भर करता है, लेकिन फिर भी सिटिंग पोजिशन इसके लिए बेस्ट मानी जाती है।

आधा घंटे बाद इस दवाई को पानी से धोकर सेक्‍स करें तो दर्द नहीं होगा


सवाल: मैं 18 साल की और मेरा बॉयफ्रेंड 24 साल का है। मैंने उसके साथ सेक्‍स किया तो मुझे काफी दर्द हुआ। हम दोनों एक-दूसरे को बहुत प्‍यार करते हैं। मैंने पहली बार सेक्‍स पीरियड के पांचवें दिन किया था। दूसरी बार सेक्‍स करने में भी मुझे काफी दर्द हुआ और मुझे ब्‍लीडिंग भी हुई। क्‍या उम्र में अपने से इतने बड़े पुरुष के साथ सेक्‍स करना सही है?
जवाब: सबसे पहले तो अपने पार्टनर को बोलें कि वह हमेशा कॉन्‍डम का प्रयोग करें। इसके अलावा आप मार्केट से 2 फीसदी लॉक्‍स जेल लाकर सेक्‍स से आधा घंटे पहले अपने वजाइना के चारों ओर लगा लें। आधा घंटे बाद इसे पानी से धोकर सेक्‍स करें तो दर्द नहीं होगा। अगर आपका पार्टनर कॉन्‍डम का प्रयोग नहीं करना चाहता तो आप सेक्‍स न करें या फिर पीरियड के 15 दिन के भीतर कर लें। मुझे लगता है कि ये सब बातें मानने के बाद आपको भविष्‍य के वक्‍त ब्‍लीडिंग नहीं होनी चाहिए। हो सकता है पहली बार सेक्‍स के वक्‍त आपकी हायमन फट जाने की वजह‍ से आपको ब्‍लीडिंग हुई हो।

सवाल: मैं 30 साल का हूं और पिछले साल मेरी शादी हुई थी। शादी के कुछ महीने बाद मुझे विदड्रॉवल मैथड को यूज करने में परेशानी होने लगी, क्‍योंकि क्‍लाइमैक्‍स पर पहुंचते ही मैं इजैक्‍युलेट हो जाता था। मगर अब पिछले कुछ महीनों से मुझे इजैक्‍युलेट होने में परेशानी हो रही है। इजैक्‍युलेट होने के लिए मुझे मास्‍टरबेट करना पड़ता है। मुझे अपने पार्टनर को लेकर काफी बुरा लगता है। मैं क्‍या करूं?

जवाब: मुझे लगता है कि आपको सेक्‍स के वक्‍त कोई दूसरी पोजिशन ट्राइ करनी चाहिए। उदाहरण के तौर पर आपकी पार्टनर के पैर आपके कंधों पर हों या फिर आप बेड के किनारे पर खड़े हों तो आपकी पार्टनर बिस्‍तर पर लेटी हो। इन पोजिशंस को ट्राइ करने से आपको इजैक्‍युलेट करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा आप इंसर्ट करने के बाद क्‍लाइमैक्‍स के करीब पहुंचने पर पुलआउट कर लें और वजाइना के ऊपर मास्‍टरबेट करें और इजैक्‍युलेट होने से ठीक पहले वजाइना में फिर से इंसर्ट कर दें ओर फिर इजैक्‍युलेट करें। हो सके तो फोरप्‍ले में अधिक टाइम निकालें। ऐसा करने से आप और आपकी पार्टनर सेक्‍स को अधिक इंजॉय कर पाएंगे।
महिलाओं को सबसे ज्यादा पसंद है ये सेक्स पोजीशन !

डेस्क. सेक्स शादीशुदा लाइफ का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसकी वजह से पति-पत्नी हमेशा आपस में जुड़े रहते हैं। इसीलिए अपने पार्टनर की पसंद की जानकारी भी बहुत जरूरी होती है।

इसी पसंद में सेक्स पोजीशन भी शुमार करता है। तो आज हम आपको कुछ ऐसे सेक्स पोजीशन के बारे में बताते हैं जो महिलाओं को खासा पसंद हैं। इन पोजीशंस से आप अपनी बेहटार सेक्स लाइफ को और बेहतर बना सकते हैं।

सेक्स पोजीशन से लाइफ हो सकती है और रोमांटिक

इन सेक्स पोजीशन से आप अपने पार्टनर को सेक्स का भरपूर मजा तो देंगे ही साथ ही आप इन नए प्रयोगों से अपनी सेक्स लाइफ को रोमांचित भी कर सकेंगे। सेक्स के दौरान ऐसी पोजीशन बनाए जिसमें पुरुष महिला के ऊपर होता है। यह सबसे पुरानी क्रिया है, जिसे महिलाएं सबसे ज्‍यादा पसंद करती हैं। इस क्रिया में महिलाओं को प्रेम और सेक्‍स दोनों का बराबर से अनुभव होता है। .

सेक्स की एक बेहतरीन पोजीशन में पुरुष की जांघों पर उसकी पार्टनर बैठ जाती है। इस क्रिया में बैठकर सेक्स किया जाता है। इसमें सीधे दिल से दिल का संपर्क होता है। .

एक अन्य पोजिशन में महिला अपने पार्टनर के ऊपर बैठ जाती है। आम तौर पर महिलाओं को हावी होना पसंद होता है और इस पोजीशन में उसी बात का अहसास ज्‍यादा होता है। इस पोजीशन में महिलाएं बहुत जल्‍द ऑर्गम्स तक पहुंच जाती हैं। .

यह पोजिशन बेहद ही कारगर और रोमांचक माना जाता है। महिलाओं को अलग-अलग तरह से सेक्‍स करना पसंद होता है। पोजीशन '66′ प्‍यार और सेक्‍स का अलग अहसास कराता है। इसमें महिला अपने पुरुष पार्टनर के ऊपर पीठ करके बैठ जाती है। .

महिलाओं को स्‍पून फिटिंग पोजीशन भी काफी पसंद होती है। इस पोजीशन में जिस प्रकार दो चम्‍मच एक दूसरे में फिट हो जाते हैं, उसी प्रकार महिला, पुरुष एक दूसरे के आलिंगन में खो जाते हैं। पुरुष पीछे की तरफ रहता है और महिलो को आनंद के चरमोत्‍कर्ष पर पहुंचाता है। .

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.