Header Ads

सोंठ के फायदे और नुकसान –


सोंठ के फायदे और नुकसान – 



sonth in hindi सूखी अदरक जिसे सोंठ के नाम से जाना जाता है का उपयोग प्राचीन समय से ही आयुर्वेद में व्‍यापक रूप से किया जा रहा है। सोंठ के फायदे कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किये जाते हैं। सोंठ का उपयोग दर्द निवारक के रूप में किया जाता है। यह दर्द से राहत दिलाने के साथ ही सर्दी को ठीक करने, पेट या मूत्र के संक्रमण का इलाज करने और वजन घटाने में मदद करती है। इस लेख में आप जानेगें सूखी अदरक पाउडर या सोंठ के फायदे, औषधीय गुण, उपयोग और नुकसान के बारे में।


सोंठ क्या होती है – 
जैसा कि आप जानते हैं कि अदरक हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। लेकिन हर मौसम में और हर जगह पर इसकी उपलब्‍धता होना संभव नहीं है। इसलिए अदरक को विशेष परिस्थितियों में सुखा कर उपयोग के लिए तैयार किया जाता है। इस सूखी हुई अदरक को ही सोंठ कहते हैं। सोंठ को अलग क्षेत्रों में कई नामों से जाना जाता है। मलयालम में ‘ चुक्‍कू’ कन्नड़ में ‘शुंती’, बंगाली में सोनथ आदि नामों से जाना जाता है। इसे आप सूखे पाउडर के रूप में उपयोग कर सकते हैं। सोंठ पाउडर का रंग धूमिल सफेद (off-white) होता है। इसे स्‍टोर करना बहुत ही आसान होता है क्‍योंकि इसकी शेल्‍फ लाइफ लगभग 1 वर्ष की होती है। आइए जाने सोंठ में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व क्‍या हैं।

सोंठ के पोषक तत्‍व – Nutritional Value Of Ginger Powder in Hindi

अदरक की तरह ही सोंठ हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है क्‍योंकि इसमें अदरक के सारे गुण होते हैं। इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों में अंतर मात्र इसके सूखे होने के कारण हो सकता है। सोंठ पाउडर में मौजूद पोषक तत्‍व की उपस्थिति इस प्रकार है :
फाइबर
कार्बोहाइड्रेट
प्रोटीन
सोडियम
आयरन
विटामिन सी
पोटेशियम

इन पोषक तत्‍वों की उपस्थिति के कारण सोंठ का उपयोग विभिन्‍न प्रकार की औषधीयों को बनाने में किया जाता है।

आप सामान्‍य रूप से सोंठ का सेवन कर सकते हैं। सोंठ आपके संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है।
 आइए जाने सोंठ के फायदे और स्‍वास्‍थ्‍य लाभ क्‍या हैं।
औषधीय गुणों से भरपूर सोंठ का उपयोग बहुत से घरेलू उपचारों के लिए किया जाता है। सोंठ के फायदे पेट दर्द, दस्‍त, मलती, गठिया आदि के उपचार में किया जाता है। इसके अलाव सोंठ गर्भावस्‍था के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है साथ ही यह गर्भावस्‍था के दौरान उल्‍टी और मतली का भी उपचार करने में मदद करती है। इसके अलावा कैंसर और कीमोथेरेपी के दुष्‍प्रभावों को कम करने की क्षमता सोंठ में मौजूद रहती है। इन्‍हीं गुणों के बहुत सी दवाओं में महत्‍वपूर्ण घटक के रूप में सोंठ का उपयोग किया जाता है। आइए विस्‍तार से जाने सोंठ के फायदे जो हमारे शरीर में सकारात्‍मक प्रभाव डालते हैं।
सोंठ पाउडर फॉर वेट लॉस – Ginger Powder For Weight Loss in Hindi

क्‍या आप अपना वजन कम करना चाहते हैं। यदि ऐसा है तो सोंठ आपकी मदद कर सकती है। वजन घटाने के लिए सोंठ एक अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। आप वजन कम करने के लिए अदरक के विकल्‍प के रूप में सोंठ का उपयोग कर सकते हैं। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि अदरक में वजन कम करने वाले गुण मौजूद होते हैं जो कि सोंठ में भी पर्याप्‍त मात्रा में होते हैं। इसके लिए आप 1 कप गर्म पानी में ½ छोटा चम्‍मच सोंठ पाउडर को मिलाएं। इस पानी को नियमित रूप से प्रतिदिन सेवन करने पर वजन घटाने में मदद मिल सकती है। आप इस पानी का स्‍वाद बढ़ाने के लिए इसमें शहद का उपयोग कर सकते हैं। सोंठ में थर्मोजेनिक एजेंट होते हैं जो शरीर के मोटापे को कम करने में सहायक होते हैं। आप भी अपने वजन को सोंठ और शहद के फायदे से नियंत्रित कर सकते हैं।

सोंठ के लाभ मुँहासे के लिए – Ginger Powder Benefits For Acne in Hindi


सुंदर त्‍वचा सभी चाहत होती है। लेकिन मुंहासे एक ऐसी समस्‍या है जो लगभग सभी महिला और पुरुषों को प्रभावित कर सकती है। लेकिन इनसे छुटकारा पाने के लिए सोंठ आपकी मदद कर सकती है। सोंठ पाउडर में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी बैक्‍टीरियल गुण होते हैं। ये गुण त्‍वचा छिद्रों में मौजूद गंदगी और मुंहासे पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को नष्‍ट कर सकते हैं।
मुंहासों का उपचार करने के लिए दूध पाउडर के साथ थोड़ा सा सोंठ पाउडर मिलाएं। इस मिश्रण को अपने लगाने से पहले चेहरे को साफ करें। चेहरा साफ करने के बाद आप इस मिश्रण को अपने चेहरे और गर्दन पर अच्‍छी तरह से लगाएं। लगभग 25-30 मिनिट के बाद अपने चेहरे को धो लें और किसी मॉइस्‍चराईजर का उपयोग करें। मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए इस घरेलू विधि को सप्‍ताह में कम से कम 1 वार उपयोग करें। यह फेस मास्‍क आपके चेहरे को फ्रेश और युवा बनाए रखने में मदद करेगा।


सोंठ और गुड़ के फायदे पेट के लिए – Sonth Benefits For Upset Stomach in Hindi
यदि आपका पेट खराब है या पेट की अन्‍य कोई समस्‍या है तो अदरक का इस्‍तेमाल करें। लेकिन जब ताजा अदरक उपलब्‍ध नहीं होता है तो क्‍या करेंगे। ऐसी स्थिति में सोंठ के फायदे अदरक से कम नहीं होते हैं। खराब पेट आपको बेचैनी और गंभीर दर्द दे सकता है। इसलिए इस प्रकार की समस्‍याओं को दूर करने के लिए आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। सोंठ में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं जो पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करते हैं। इस तरह से सोंठ पाचन को ठीक करने और पोषक तत्‍वों के अवशोषण को उत्‍तेजित करने में सहायक होते हैं। यह पेट की गैस की समस्‍याको भी आसानी से दूर कर सकती है। इन सभी लाभों को देखते हुए सोंठ का नियमित सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।
(
सोंठ खाने के फायदे करे सर्दी का उपचार – Sonth Benefits For Common Cold in Hindi

मौसम में परिवर्तन होने के कारण हम सामान्‍य सर्दी का शिकार अक्‍सर होते रहते हैं। इसके अलावा संक्रमण के कारण भी हम सर्दी से ग्रसित हो सकते हैं। सामान्‍य सर्दी भी हमारे दैनिक जीवन को कष्‍टदायक बना सकती है। लेकिन इससे छुटकारा पाने का सबसे अच्‍छा तरीका सोंठ का नियमित उपभोग हो सकता है। सौंठ में एंटी-इंफ्लामेटरी, जिंजरोल और शोगल जैसे पोषक तत्‍व मौजूद रहते हैं। ये सभी सामान्‍य सर्दी के लक्षणों को प्रभावी रूप से दूर करने में मदद करते हैं। सोंठ पाउडर को गर्म पानी से साथ उपभोग करने पर यह सर्दी और फ्लू से तत्‍काल राहत पाया जा सकता है। आप सोंठ पाउडर के साथ नमक और लौंग मिला कर भी सेवन कर सकते हैं। सामान्‍य सर्दी से राहत पाने के लिए इन्‍हें दिन में दो बार सेवन करें।

सोंठ से करें सूजन का इलाज – Sonth Benefits For Relieve Inflammation in Hindi

यदि आप गठिया के दर्द और सूजन से छुटकारा चाहते हैं तो सोंठ किसी दवा से कम नहीं है। सोंठ में मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण के कारण यह सूजन का प्रभावी रूप से इलाज कर सकता है। गठिया की सूजन के अलाव आपके शरीर में लगी चोट की सूजन को भी सोंठ से दूर किया जा सकता है।

इसके लिए आप 1 जग पानी में 4-5 चम्‍मच सोंठ के पाउडर को मिलाएं और इसे उबालें। इस उबले हुए सोंठ मिश्रित पानी का नियमित रूप से सेवन करें। यह आपको सूजन से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा। इसके अलावा जोड़ों के दर्द होने पर भी आप सोंठ पाउडर को पेस्‍ट बनाकर प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं। यह जोड़ों के दर्द से भी राहत दिला सकता है।

अदरक पाउडर मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाएं – Ginger Powder Benefits For Metabolism in Hindi
सूखे हुए अदरक या सोंठ में थर्मोजनिक एजेंट (thermogenic agents) होते हैं। ये गुण शरीर में मौजूद वसा को कम करने और मोटापे का इलाज करने के लिए भी उपयोगी होते हैं। सोंठ का सेवन करने से यह चयापचय दर को बढ़ा सकता है जिससे शरीर में मौजूद अतिरिक्‍त वसा को कम किया जा सकता है। सोंठ शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्‍तर को कम करने के लिए भी उपयोगी है। इस तरह से आप अपने शरीर में चयापचय दर में वृद्धि करने के लिए सोंठ के फायदे प्राप्त कर सकते हैं।

सोंठ के औषधीय गुण सीने के दर्द को ठीक करे – Sonth Benefits For Chest Pain in Hindi

अपने उपचार गुणों के कारण सोंठ विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए लाभकारी होती है। सोंठ के इन्‍ही लाभों में से एक सीने का दर्द का उपचार भी है। सोंठ पाउडर का उपयोग करके सीने के दर्द को ठीक किया जा सकता है। सीने का दर्द अक्‍सर घातक नहीं होता है। लेकिन इस दर्द को सामान्‍य नहीं माना जा सकता है। इसके लिए तुरंत चिकित्‍सकीय उपचार की आवश्‍यकता होती है। लेकिन सोंठ से आप छाती के दर्द का घरेलू उपचार भी कर सकते हैं। इसके लिए आप कच्‍चे नारियल पानी में सोंठ पाउडर और चीनी का मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण का सेवन करने से आपको सीने के दर्द से राहत मिल सकती है। इसके अलावा नारियल के फायदे और सोंठ के फायदे आपके शरीर को अतिरिक्‍त लाभ दिला सकते हैं।

जिंजर पाउडर गुड फॉर स्किन – Ginger Powder Good For Skin in Hindi

यह आपकी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ्‍य रखने और टोनर के रूप में कार्य करता है। आप अपनी त्‍वचा उपचार के लिए 3 गिलास पानी में 2-3 चम्‍मच सोंठ पाउडर मिलाएं। इस मिश्रण को तब तक उबालें कि मिश्रण की मात्रा आधी न हो जाए। फिर इस मिश्रण को ठंड़ा करें और किसी मलमल के कपड़े से छान लें। इस छने हुए मिश्रण को किसी बोतल में भरकर फ्रिज या ठंडे स्‍थान पर रखें। प्रतिदिन इस मिश्रण में कपास की रूई भिगों कर अपने चेहरे पर लगाएं। यह त्‍वचा की अशुद्धियों को दूर कर त्‍वचा में नमी बनाए रखता है।

सोंठ में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। ये गुण त्‍वचा छिद्रों में जमी हुई गंदगी को हटाने में सहायक होते हैं। यह गंदगी मुंहासों का प्रमुख कारण होती है। सोंठ पाउडर के साथ गुलाब जल और दूध पाउडर मिलाकर पेस्‍ट तैयार करें। इस पेस्‍ट को अपने चेहरे पर लगाएं। यह त्‍वचा की सभी समस्‍याओं को दूर करने में मदद कर सकता है।

जिंजर पाउडर बेनिफिट्स फॉर प्रेगनेंसी – Ginger Powder Benefits For Pregnancy in Hindi

आयुर्वेद के अनुसार सोंठ गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। सोंठ के औषधीय गुण न केवल महिला के लिए फायदेमंद होते हैं, बल्कि यह पेट में बच्‍चे के लिए भी उपयोगी होते हैं। अक्‍सर देखा जाता है कि गर्भवती महिलाओं को सोंठ से बनी चाय दी जाती है। इसके अलावा भारत में प्रसव के बाद महिलाओं को सोंठ के लड्डू दिये जाते हैं। सोंठ में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व महिलाओं को गर्भावस्‍था और प्रसव के बाद होने वाले संक्रमणों से बचाता है। इसके साथ ही यह इस दौरान रक्‍तचाप, उल्‍टी और मतली जैसी समस्‍याओं का भी उपचार कर सकता है। गर्भावस्‍था के दौरान ये समस्‍याएं सामान्‍य और गंभीर हो सकती है। इस तरह से सोंठ गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही उपयोगी हो सकती है।


सोंठ से करें सिर दर्द का इलाज – Sonth Powder Benefits For Headache in Hindi
अदरक पाउडर के सबसे अच्‍छे लाभों में से एक सिरदर्द से राहत दिलाना है। जब भी आपको सिर दर्द की समस्‍या हो तो आप सोंठ से बने पेस्‍ट का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप थोडे से सोंठ पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलाकर पेस्‍ट तैयार करें और अपने माथे में लगाएं। य आपके सिर दर्द का इलाज कर सकता है। इसके अलावा आप अपने गले के दर्द को दूर करने के लिए भी इस पेस्‍ट का उपयोग कर सकते हैं। सोंठ में दर्द निवारक गुण होते हैं जो हमें दर्द से राहत दिला सकते हैं।

सोंठ के नुकसान – Sonth Ke Nuksan in Hindi

सभी खाद्य पदार्थ चाहे वह औषधी हो या आहार हो सभी के अच्‍छे और बुरे प्रभाव होते हैं। इसी तरह से सोंठ के फायदे बहुत अधिक होते हैं।
लेकिन इसके कुछ हल्‍के दुष्‍प्रभाव भी होते हैं। आइए इन्‍हें जाने।
अधिक मात्रा में सोंठ या ताजे अदरक का सेवन करने पर यह आपके पेट की समस्‍या को और अधिक बढ़ा सकता है। अधिक सोंठ का सेवन करने से पेट की जलन, ऐंठन और दस्‍त की परेशानी हो सकती है।
कुछ महिलाएं सोंठ और अदरक के प्रति अतिसंवेदनशील होती है। अधिक मात्रा में सोंठ का सेवन करने से उनके मासिक धर्म के दौरान अतिरिक्‍त प्रवाह हो सकता है।
यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो औषधीय रूप में सोंठ का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।
गर्भवती महिलाओं के लिए सोंठ बेहद फायदेमंद होती है। लेकिन फिर भी खुराक की उचित मात्रा के लिए डॉक्‍टर से संपर्क किया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.