Header Ads

शुगर के मरीजों के लिए


शुगर के मरीजों के लिए नुकसानदायक होता है सेब का सेवन

सेब हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन बी और फ्लेवोनोइड्स के गुण मौजूद होते हैं जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते है. शारीरिक कमजोरी को दूर करने और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए एप्पल जूस बहुत फायदेमंद होता है, पर क्या आपको पता है कि हर किसी के लिए सेब का सेवन फायदेमंद नहीं होता है.

अगर आपको शुगर की समस्या है तो भूलकर भी सेब का सेवन ना करें. खाली पेट में सेब का सेवन करने से शुगर पेशेंट को नुकसान हो सकता है. सेब में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाती है.

जो लोग अपने वजन को कम करने के लिए सेब का सेवन करते हैं उन्हें यह पता नहीं होता है कि सेब में कैलोरी और शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जिससे मोटापा जल्दी बढ़ता है. अगर आप अपने वजन को कम करना चाहते हैं तो आज से ही सेव का सेवन फौरन बंद कर दें.
शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है नारियल पानी का सेवन


आज के समय में डायबिटीज यानी शुगर के मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है. तेजी से बढ़ते शुगर के मरीजों की संख्या के कारण यह दुनिया भर में चिंता का विषय बन गया है. डायबिटीज की बीमारी में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है. जिससे इंसुलिन की क्षमता पर असर पड़ता है. ऐसे में शुगर पेशेंट को अपने खान-पान का बहुत ख्याल रखना पड़ता है. जिससे उनका शुगर लेवल कंट्रोल में रहे, पर सावधानी बरतने के बाद वह अपनी डाइट में कई ऐसी चीजों को शामिल नहीं कर पाते हैं जो फायदेमंद होती है. इन्हीं में से एक है नारियल पानी..
डायबिटीज पेशेंट को लगता है कि नारियल पानी का सेवन करने से शुगर लेवल बढ़ता है, पर ऐसा नहीं है अगर शुगर पेशेंट सही मात्रा में नारियल पानी का सेवन करते हैं तो डायबिटीज कंट्रोल में रहेगी. एक रिसर्च के अनुसार नारियल पानी डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार होता है, पर डायबिटीज के मरीजों को दिन में सिर्फ एक गिलास नारियल पानी का सेवन करना चाहिए. इससे ज्यादा इसका सेवन करने से नुकसान पहुंच सकता है.

नारियल पानी खून में शुगर लेवल को कम करता है. इंसुलिन की कमी के कारण डायबिटीज की समस्या होती है. नारियल पानी इंसुलिन के लेवल को बढ़ाता है. नारियल पानी में मिनरल्स, मैग्नीशियम और पोटेशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है. जो शरीर में पीएच लेवल को कंट्रोल में रखने के साथ-साथ पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखती है. इसके अलावा नारियल पानी का सेवन करने से किडनी भी स्वस्थ रहती है.
अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो व्रत रखते समय आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखे



इस बार 10 अक्टूबर 2018, बुधवार यानी कल से नवरात्रि प्रारंभ हो रही है, जो 18 अक्टूबर 2018, शुक्रवार तक रहेगी. हिंदू धर्म में नवरात्रि (Navratri 2018) पर देवी पूजन और नौ दिन के व्रत का बहुत महत्व होता है. व्रत का धार्मिक महत्व होने के साथ-साथ वैज्ञानिक महत्व भी है, जो स्वास्थ्य को कई तरह से फायदा पहुंचाता है. लेकिन अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो व्रत रखते समय आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखने और कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत है.

डायबिटीज के मरीजों को लंबे समय तक खाली पेट रहने से बचना चाहिए. इसलिए व्रत के दौरान समय-समय पर कुछ न कुछ खाते रहें. इस तरह डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर का स्तर नॉर्मल बना रहेगा.

व्रत के दौरान डायबिटीज के मरीज उन्हीं चीजों का सेवन करें, जिन्हें डाइजेस्ट होने में समय लगता है, साथ ही जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम हो.

डायबिटीज के मरीज हैं तो बेहतर होगा कि व्रत के दौरान समय-समय पर अपने ब्लड शुगर के स्तर की जांच करते रहें.

अगर व्रत के दौरान डायबिटीज के मरीज कमजोरी महसूस करें तो चाय और कॉफी पीने से बचें. बेहतर होगा कि कमजोरी महसूस होने पर ऐसी चीजों का सेवन करें जो ब्लड शुगर के स्तर को नॉर्मल रखने में मददगार हों.

अगर व्रत के दौरान डायबिटीज के मरीजों का ब्लड शुगर लेवल 70 से कम हो जाए तो उनके लिए व्रत तोड़ना ही सही होगा.

व्रत के दौरान डायबिटीज और खासतौर पर टाइप-2 डायबिटीज के मरीज रात के खाने के लगभग 2 से 3 घंटे के बाद ही एक्सरसाइज करें.
व्रत के दौरान ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं. इससे शरीर हाइड्रेटेड रहेगा और सेहत भी बनी रहेगी.

डायबिटीज के मरीजों के लिए नारियल पानी बहुत फायदेमंद होता है. इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स, अमीनो एसिड, विटामिन्स, कैल्शियम, आयरन और कई दूसरे न्यूट्रिएंट्स भी शामिल होते हैं, जिनसे शरीर को एनर्जी मिलती है. इसलिए व्रत के दौरान नारियल पानी पीना फायदेमंद रहेगा.
डायबिटीज के मरीज हैं तो बेहतर होगा कि व्रत रखने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.
शुगर लेवल को कंट्रोल में रखती हैं आम की पत्तियां.



आजकल ज्यादातर लोग शुगर यानी डायबिटीज की समस्या का सामना कर रहे हैं. डायबिटीज होने पर शरीर में ब्लड शुगर का लेवल बढ़ जाता है. जिससे शरीर में इंसुलिन के निर्माण की क्षमता पर बुरा असर पड़ता है. डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए खानपान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है. लोग शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए नियमित रूप से दवाइयों का सेवन करते हैं. जिससे उनके शरीर को बहुत सारे साइड इफेक्ट हो सकते हैं. आज हम आपको एक ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका इस्तेमाल करने से आपका शुगर लेवल हमेशा कंट्रोल में रहेगा.

आम की पत्तियां सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं. इसका इस्तेमाल करने से डायबिटीज का इलाज आसानी से किया जा सकता है. आम की पत्तियों के इस्तेमाल से शुगर की साथ साथ अस्थमा की समस्या से भी आराम मिलता है. आम की पत्तियों में भरपूर मात्रा में न्यूट्रिशंस मौजूद होते हैं जो कॉलेस्ट्रोल के लेवल को भी कम करने में मदद करते हैं. एक रिसर्च के अनुसार आम की पत्तियों में ग्लूकोस अवशोषित करने के गुण मौजूद होते हैं. जो ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल में रखते हैं. आम की पत्तियां शरीर में इंसुलिन के निर्माण को सही करती हैं. जिससे धीरे-धीरे शुगर लेवल कंट्रोल में आने लगता है .

शुगर को कंट्रोल में रखने के लिए 15 आम की ताजी पत्तियों को डेढ़ सौ मिलीलीटर पानी में अच्छे से उबाल लें. रात भर के लिए ऐसे ही छोड़ दें. सुबह इस पानी को छानकर पीए. लगाताr 3 महीने तक ऐसा करने से आपका शुगर लेवल हमेशा कंट्रोल में रहेगा.
डायबिटीज को करे कंट्रोल, ब्लड शुगर को रखे सही: शकरकंदी के फायदे



अगर आप डायबिटीक हैं, तो यकीनन आपको बहुत से लोग खाने से जुड़ी सलाह देते होंगे. और एक सलाह जो सबसे ज्यादा सुनने को मिलती है वह है आलूओं से दूरी बनाने की. डायबिटीक या मधुमेह से पीड़ित लोगों को कम आलू खाने की सलाह के पीछे लोगों के अपने-अपने तर्क होते हैं. इसके पीछे कारण भी है. आलू में काफी मात्रा में ग्लाइकेमिक एसिडहोता है. हाई ग्लाइकेमिक खाना जल्दी मेटाबोलाइज्ड होता है और शुगर लेवल को बढ़ा देता है. लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है कि आप अपने खाने से आलू या मीठी चीजों को हटा ही दें. शकरकंदी या शकरकंद को आप अपने खाने में शामिल कर ब्लड शुगर को नियंत्रित कर सकते है. यह मधुमेह से पीडि़त लोगों के लिए शकरकंदी के कई फायदे हैं . डायबिटीज में क्यों फूलता है सांस? ये हो सकती है वजह.

डायबिटीज मेटाबॉलिक रोगों में से एक है. जो खून में अधिक शुगर होने के चलते होती है. डायबिटीज को सही आहार और व्यायाम या दवाओं (oral medications) से नियंत्रित किया जा सकता है. डायबिटीज से पीड़ित लोगों को अक्सर फाइबर से भरपूर खाना खाने की सलाह दी जाती है. और शकरकंद या शकरकंदी इसमें एकदम फिट बैठती है.

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के मुताबिक शकरकंदी में फाइबर और विटामिन ए, विटामिन सी और जिंक जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं. शकरकंदी में विटामिन बी, आयरल, पोटैशियम, मैग्नेशियम भी काफी मात्रा में पाए जाते हैं.

Healing Foods' नाम की डीके पब्लिकेशन की किताब के अनुसार शकरकंदी डायबिटीज में काफी सहायक हैं. वे आपके ब्लड शुगर को बार-बार ऊपर नीचे होने से बचाती हैं. स्वीट पटेटो में ऐसे स्लो कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं जो ब्लड शुगर को एकदम से नहीं बढ़ाते.

अदरक के फायदे: क्या आप जानते हैं अदरक के इन 8 फायदों के बारे में

यह मिथ है कि स्टार्च फूड को डायबिटीज रोगी के आहार से दूर रखना चाहिए. जबकि यह जरूरी है. यह पोर्शन कंट्रोल का काम करता है इसलिए इसे खाने में एड करना जरूरी है. क्योंकि यह पोषण से भरा आहार है इसिलए आपको इससे अच्छी कैलोरी मिलेंगी. शकरकंदी में 109 Kcal/100 ग्राम होता है और 24 ग्राम कार्ब होते हैं. यह मिठे का एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता
डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है ये आहार.



आजकल ज्यादातर लोग डायबिटीज यानी शुगर की बीमारी का सामना कर रहे हैं. डायबिटीज की बीमारी होने पर शरीर में शुगर लेवल हाई हो जाता है जिससे शरीर की इम्युनिटी पावर कमजोर हो जाती है. डायबिटीज के मरीजों को कुछ भी खाने पीने से पहले 10 बार सोचना पड़ता है. आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं.

1- अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो फैटी फिश का सेवन करें. फैटी फिश में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है जो शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है. हफ्ते में तीन बार इसका सेवन करने से हार्ट स्ट्रोक होने का खतरा कम हो जाता है. फैटी फिश दिल को मजबूत करने के साथ-साथ शुगर लेवल को कंट्रोल में रखती है.

2- ब्लूबेरी में भरपूर मात्रा में फ्लैवोनॉइड्स, फाइबर और एंथोसायनिन जैसे तत्व मौजूद होते हैं. जो टाइप टू डायबिटीज से बचाव करते हैं. ब्लूबेरी में विटामिन सी, फाइबर और एलाजिक एसिड की भी भरपूर मात्रा पाई जाती है जो इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल को कम करती है.

3- अगर आपको शुगर की समस्या है तो अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें. हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं. जो शुगर को कंट्रोल में रखने के साथ-साथ दिल और आंखों को भी स्वस्थ रखते हैं.

4- रोजाना दालचीनी का सेवन करने से डायबिटीज से बचाव होता है. एक कप पानी में दालचीनी पाउडर मिलाकर उबाले. रोजाना इस पानी को पीने से शुगर हमेशा कंट्रोल में रहती है.
डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है ये आहार



आजकल ज्यादातर लोग डायबिटीज यानी शुगर की बीमारी का सामना कर रहे हैं. डायबिटीज की बीमारी होने पर शरीर में शुगर लेवल हाई हो जाता है जिससे शरीर की इम्युनिटी पावर कमजोर हो जाती है. डायबिटीज के मरीजों को कुछ भी खाने पीने से पहले 10 बार सोचना पड़ता है. आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं.

1- अगर आपको डायबिटीज की समस्या है तो फैटी फिश का सेवन करें. फैटी फिश में भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है जो शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है. हफ्ते में तीन बार इसका सेवन करने से हार्ट स्ट्रोक होने का खतरा कम हो जाता है. फैटी फिश दिल को मजबूत करने के साथ-साथ शुगर लेवल को कंट्रोल में रखती है.

2- ब्लूबेरी में भरपूर मात्रा में फ्लैवोनॉइड्स, फाइबर और एंथोसायनिन जैसे तत्व मौजूद होते हैं. जो टाइप टू डायबिटीज से बचाव करते हैं. ब्लूबेरी में विटामिन सी, फाइबर और एलाजिक एसिड की भी भरपूर मात्रा पाई जाती है जो इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल को कम करती है.

3- अगर आपको शुगर की समस्या है तो अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें. हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं. जो शुगर को कंट्रोल में रखने के साथ-साथ दिल और आंखों को भी स्वस्थ रखते हैं.

4- रोजाना दालचीनी का सेवन करने से डायबिटीज से बचाव होता है. एक कप पानी में दालचीनी पाउडर मिलाकर उबाले. रोजाना इस पानी को पीने से शुगर हमेशा कंट्रोल में रहती है.



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.