Header Ads

थाइरोइड की समस्या के लिए असरदार योग


थाइरोइड की समस्या के लिए असरदार योग



योगा शरीर की ग्रंथियो को स्वस्थ और मेटाबोलिज्म को मजबूत बनाता है। योगा के कई शारीरिक और मानसिक लाभ होते है जो शरीर के कई रोगो को दूर कर देते है। यह Hypo या Hyperthyroidism को कम करने में भी मददगार साबित होते है।

यहाँ कुछ ऐसे योगा आसन के बारे में बताया जा रहा है, जिन्हे करने से आपको थाइरोइड की समस्या में राहत मिल सकती है। Read Yoga for Thyroid in Hindi (Thyroid ki Samasya ke Liye Yogasan).
थाइरोइड की समस्या के लिए योगासन
1. सर्वांगासन (Sarvangasana for Thyroid)


थाइरोइड ग्रंथियो के लिए सबसे प्रभावी आसन सर्वांगासन होता है, इसमे कंधो को उठाना होता है। ऐसा करने के पवरफुल पोस्चर के कारण ग्रंथि पर दबाव पड़ता है। थाइरोइड सबसे बड़ी रक्त आपूर्तिकर्ता ग्रंथि है और इस आसन को करने से रक्त के परिसंचरण में सुधार होता है।
2. मत्स्यासन (Matsyasana for Thyroid)
सर्वंगासना के अलावा आप मत्स्यासन भी कर सकते है इसमे आपको मछली की तरह पोज़ देना होता है यानी मछली की तरह बन जाए। इस आसन को करने से गले में खिचाव पड़ता है और थाइरोइड ग्रंथि पर दबाव बनता है।
3. भुजंगासन (Bhujangasana for Thyroid)


भुजंगासन से गर्दन पर काफ़ी खिचाव आता है और थाइरोइड ग्रंथि पर दबाव पड़ता है। यह आपके लिए बहुत असरदार साबित होती है।
4. हलासन (Halasana for Thyroid)


मत्स्यसन और सर्वंगासन करने के बाद हलासन करने से भी थाइरोइड ग्रंथि के लिए किए जाने वाले आसनो का एक पैकेज पूरा हो जाता है। यह 3 आसन सबसे प्रमुख होते है। इस आसन में आपको इस तरीके से करना होता है जैसे आप हल चला रहे हो। ऐसा करने से आपकी गर्दन पर ज़ोर पड़ता है और थाइरोइड ग्रंथि पर दबाव पड़ता है।
5. विपरीत करनी


विपरीत का अर्थ होता है उल्टा और करनी का अर्थ होता है किसके द्वारा। विपरीतकरनी नाम का यह आसन थाइरोइड ग्रंथि के लिए रामबाण होता है और इसमे सकारात्मक सुधार ला देता है। अगर आप उपर दिए गये 3 आसनो को करने में सक्षम नही है तो इस आसन को करे, इससे आपको अवश्य लाभ मिलेगा।
6. उष्ट्रासन (Ustrasana for Thyroid)


उष्ट्रासन को करने के भी आपको लाभ मिलता है। ऊट के सामान अपनी गर्दन रखनी होती है।
7. सेतु बंधासना (Bridge Formation Pose for Thyroid)


यह आसन थाइरोइड डिसॉर्डर के लिए सबसे महत्वपुर्ण आसन में से एक है। अगर कोई भी इस आसन को सही प्रकार से करना सिख ले, तो उसे थाइरोइड की समस्या से आसानी से छुटकारा मिल सकता है।
8. सिरसासना (Handstand Pose for Thyroid)


सिरसासना, थाइरोइड ग्रंथि को मैनेज करने के लिए सबसे अच्छा योगासना होता है। इसे करने से मेटाबोलिज्म फंक्षन, संतुलित रहता है और शरीर में ताज़गी और अलर्टनेस रहती है। ऐसा ही नही बल्कि यह अन्य रोगो में भी लाभकारी होता है।
9. धनुरासान (Bow Pose for Thyroid)


धनुष बान की तरह से यह पोज़ दिया जाता है जिससे गले पर खिचाव पड़ता है। इसे करने से हॉर्मोन्स नियंत्रण में रहते है साथ ही गले में तनाव के कारण ग्रंथि पर भी दबाव पड़ता रहता है।
10. उज्जायी प्राणायाम (Ujjayai Pranayam for Thyroid)




थाइरोइड की समस्या होने पर उज्जायी प्राणायाम सबसे अच्छा रहता है। इससे शरीर को आराम मिलता है साथ ही गले संबंधी सभी रोगो में राहत मिलती है।


उपर आपने जाने थाइरोइड की समस्या के दौरान करने वाले योगासन के अनेक प्रकार। जिसकी मदद से आप इस परेशानी को आसानी से ठीक कर सकते है और स्वस्थ रह सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.