Header Ads

गुप्‍तांगों में खुजली दूर करने के घरेलू उपाय –

गुप्‍तांगों में खुजली दूर करने के घरेलू उपाय –


प्राइवेट पार्ट में खुजली (गुप्‍तांगों में खुजली) एक आम समस्या बन गई है इसलिए गुप्‍तांगों में खुजली दूर करने के घरेलू उपाय जानना जरूरी हो जाता है। क्‍योंकि चाहे महिला हो या पुरुष लगभग सभी इस समस्‍या से परेशान हैं। इसका एक और कारण यह है कि यह समस्‍या शर्मनाक महसूस होती है। ऐसी स्थिति में गुप्‍तांगों की खुजली दूर करने के घरेलू उपायों की आवश्‍यकता पड़ती है। जननांग क्षेत्र हमारे शरीर के सबसे नाजुक क्षेत्र होते हैं जिनमें खुजली होना आपको असहज बना सकता है। निजी भागों में खुजली हर किसी के लिए बहुत ही आम, और कष्‍टदायक समस्‍या है। आइए जाने गुप्‍तांगों में खुजली के कारण और प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्‍या हैं।

जननांग (प्राइवेट पार्ट) में खुजली के कारण – Private Parts Me Khujli Ke Karan in Hindi


शरीर के निजी भागों में खुजली के कुछ सामान्‍य कारणों में संक्रमण जैसे कि खमीर, जीवाणु और कवक, यौन संक्रमित बीमारियां जैसे जननांग हरपीस, क्‍लैमिडिया, जननांग मस्‍सा, गोनोरिया, ट्राइकोमोनीसिस, रजोनिवृत्ति, हार्मोन उतार-चढ़ाव, रासायनिक टॉयलेट पेपर, कंडोम, फैब्रिक सॉफ्टनर, गर्भ निरोधक फोम, डूश (douche), साबुन और त्‍वचा समस्‍याएं या बीमारियां होती हैं। इस प्राकर के किसी भी माध्‍यम के कारण गुप्‍तागों में खुजली हो सकती है। जननांगों की खुजली महिला और पुरुष दोनो में होती है लेकिन महिलाओं में इसकी ज्‍यादा संभावना होती है।

गुप्त अंग मे खुजली के उपाय – Guptang me khujli ka gharelu upay in Hindi

प्राइवेट पार्ट में खुजली की समस्‍या समय के साथ गंभीर हो सकती है। इसलिए जल्‍दी से जल्‍दी जननांग की खुजली का उपचार किया जाना चाहिए। गुप्त अंग मे खुजली संक्रमण के कारण होती है। लेकिन हमारी दैनिक क्रिया भी इसमें अपना विशेष योगदान देती हैं जिनमें हमारी गलत जीवनशैली भी शामिल है। जांघों के बीच की खुजली को दूर करने के लिए आप चिकित्‍सकीय उपचार कर सकते हैं। लेकिन गुप्‍तांगों की खुजली दूर करने के कुछ आसान से घरेलू उपाय भी होते हैं जिन्‍हें आप अपने घर पर ही कर सकते हैं। विशेष बात यह है कि ये घेरेलू उपाय सस्ते और प्रभावकरी होते हैं। आइए इन्‍हें जानें।
जननांग खुजली का घरेलू उपाय रोजमेरी की पत्तियां – Rosemary Jannang Me Khujli Ke Gharelu Upay in Hindi

गुप्‍तांगों की खुजली एक प्रकार की संक्रामक बीमारी है जिसका उपचार आयुर्वेद के पास मौजूद है। आप जननांगों की खुजली को दूर करने के लिए रोजमेरी का उपयोग कर सकते हैं। यह एक जड़ी-बूटी है जिसके बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होते हैं। इसके लिए आप रोजमेरी की कुछ पत्तियां ले और इसे गर्म पानी में 20 मिनिट के लिए छोड़ दें। पानी के ठंडा होने पर आप इस पानी से अपने प्राईवेट पार्ट को धोएं। यह औषधीय पानी आपको खुजली से तुरंत ही राहत दे सकता है।

प्राईवेट पार्ट में खुजली का उपाय टी ट्री आयल – Tea Tree Oil For Private Parts Itching in Hindi

जीवाणु रोधी गुणों के कारण टी ट्री ऑयल फंगल संक्रमण के इलाज में प्रभावी होता है। आप इसका उपयोग कर अपने गुप्‍तांगों की खुजली से छुटकारा पा सकते हैं। आप अपने नहाने के पानी में टी ट्री आयल की 4-6 बूंदों को शामिल करें। आप अपने प्रभावित क्षेत्र को 10-20 मिनिट तक इस पानी में डुबा कर रखें। आप ऐसा रोजाना करें, जब तक कि आपको खुजली से राहत न मिल जाए।

इसके अलावा आप ऐलोवेरा जेल के 2 बड़े चम्‍मच लें और इसमें टी ट्री ऑयल की 4-6 बूंदों को शामिल करें। इस मिश्रण को अच्‍छी तरह से मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र में इसे लगाएं। यह आपको खुजली से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।
जांघों के बीच खुजली का उपचार है कैमोमाइल – Jangho Ke Bich Khujli Ka Upay Chamomile in Hindi


शरीर को आराम दिलाने वाली जड़ी-बूटी के रूप में कैमोमाइल को जाना जाता है। यह न केवल गुप्‍तांगों की खुजली से छुटकारा दिलाने में मदद करती है बल्कि यह जलन और सूजन को भी कम करती है। आप इसके औषधीय गुणों को बढ़ाने के लिए इसके साथ टी ट्री आयल का भी उपयोग कर सकते हैं।

खुजली को दूर करने के लिए आप 1 चम्‍मच कैमोमाइल चाय या 1 टी बैग लें। 2 कप पानी गर्म करें और इसमें कैमोमाइल चाय मिलाएं और 5 मिनिट तक उबालें। उबलने के बाद इसे ठंड़ा होने दें और छन्‍नी से छान लें। इस ठंडी चाय में आप टी ट्री आयल की 5-6 बूंदें शामिल करें। जननांग की खुजली दूर करने के लिए आप इस मिश्रण से अपने निजी अंगों को दिन में दो बार धोएं। यह आपकी खुजली को दूर करने का सबसे आसान तरीका हो सकता है।

गुप्‍तांगों की खुजली का उपाय नारियल तेल – Guptang Ki Khujli Ki Dawa Nariyal Tel in Hindi

कोकोनट तेल में हाइड्रेटिंग गुण होते हैं जो आपके प्राइवेट पार्ट में शुष्‍क त्‍वचा आराम दायक बनाता है। इसके अलावा नारियल तेल का उपयोग करने पर यह निजी अंगों के खमीर संक्रमण के इलाज में भी प्रभावी होता है। नारियल तेल में एंटीवायरल, एंटी-फंगल और एंटी-माइक्रोबायल गुण भी होते हैं। नारियल तेल का नियमित उपभोग करने से यह प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत कर सकता है।
आप रोजाना 2 बड़ा चम्‍मच नारियल का तेल उपभोग कर सकते हैं या इसे अपने आहार के रूप में भी उपयोग कर सकते हैं। आप नारियल तेल को प्रभावित क्षेत्र में नियमित रूप से लगाएं। आप नारियल के तेल में विटामिन ई और लहसुन के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं और खुलजी वाले भाग में उपयोग करें। इस तरह से आप जननांग की खुजली से राहत पा सकते हैं।

जननांग क्षेत्र में खुजली की दवा नीम – Jannang Chetra Me Khujli Ki Dawa Neem in hindi


त्‍वचा की विभिन्‍न प्रकार की समस्‍याओं के नीम बहुत ही फायदेमंद होती है। नीम में एंटी-फंगल और एंटी-बैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण का इलाज करने में मदद करते हैं।
आप 500 ग्राम पानी में 1 मुठ्ठी नीम की पत्तियां मिलाएं और इस पानी को 10 मिनिट तक उबालें। पानी के ठंडा होने पर इससे अपने गुप्‍तांगों को दिन में दो बार धुलें।

नारियल तेल में नीम तेल की कुछ बूंदे मिलाएं और इस मिश्रण को अपने जननांग की खुजली में लगाएं। 20 मिनिट के बाद आप आप इसे धोलें। यह आपको खुजली से राहत दिलाने में मदद कर सकता है।

आप सामान्‍य पानी के साथ भी नीम तेल का उपयोग कर सकते हैं। पानी में नीम तेल की कुछ बूंदे मिलाएं और इस पानी से प्रभावित क्षेत्र को धुलें। नीम तेल के गुण आपको खुजली से राहत दिला सकते हैं।

प्राईवेट पार्ट में खुजली का इलाज ओरेगानो ऑयल – Oregano Oil For Private Parts Itching in Hindi

सूक्ष्‍म जीवों के विकास को रोकने के लिए ओरेगानो ऑयल फायदेमंद होता है। विशेष रूप से यह कैंडीडा वृद्धि कोरोकता है जो संक्रमण और खुजली का प्रमुख कारण होता है। इस तेल में एंटी-फंगल, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-वायरल गुण होते हें जो गुप्‍तांगों के पीएच स्‍तर को संतुलित करने में मदद करता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि इस तेल का सेवन करने से यह खुजली के प्रभाव को कम कर सकता है।

खुजली का उपचार करने के लिए ओरेगानो ऑयल की 2-3 बूंदों को शुद्ध नारियल तेल में मिलाएं इस तेल को आप प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। 2 घंटों के बाद गर्म पानी से इसे साफ कर लें। किसी भी प्रकार की खुजली या संक्रमण का उपचार करने के लिए इसे दिन में दो बार उपयोग करें।
सेवन करने के लिए 1 गिलास गर्म पानी में इस तेल की 5 बूंदे शामिल करें और दिन में दो बार इसका सेवन करें। लेकिन यदि आप किसी अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए रक्‍त पतला करने वाली दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो इस तेल का सेवन न करें।

जांघों के बीच खुजली की दवा बोरिक एसिड – Jangho Ke Bich Khujli Ki Dawa Boric Acid in Hindi

एंटी-फंगल गुणों के लिए बोरिक एसिड को जाना जाता है। यह निजी हिस्‍सों के खमीर संक्रमण का इलाज करने में मदद करता है। 2009 के एक अध्‍ययन के अनुसार यौन संचारित रोगों के इलाज के लिए बोरिक एसिड का उपयोग किया जा सकता है। 2011 के एक अन्‍य अध्‍ययन के अनुसार बोरिक एसिड योनिनाइटिस (Vaginalitis) के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है।

1 कप पानी में ¼ चम्‍मच बोरिक एसिड डालें और अच्‍छी तरह से मिलाएं। इस मिश्रण से आप अपने खुजली प्रभावित क्षेत्र को धुलें। खुजली का असर कुछ कम होने पर भी इसका उपयोग दिन में तीन बार करें। जब तक की आपको खुजली से पूरा आराम न मिले। आप बाजार में मिलने वाले बोरिक एसिड युक्‍त उत्‍पादों का भी उपयोग कर सकते हैं जो जननांग की खुजली को दूर करने के लिए मिलते हैं।

लेकिन बोरिक एसिड को मौखिक रूप से न लें। गर्भवती महिलाओं को बोरिक एसिड का किसी भी प्रकार से उपयोग करने से बचना चाहिए।

पुरुष जननांग में खुजली के उपाय है लहसुन – Guptang Ki Khujli Ka Ilaj Hai Garlic in Hindi

जांधों के बीच की खुजली एक असुविधाजनक और कष्‍टप्रद समस्‍या है। लेकिन इसका उपचार आप लहसुन की सहायता से कर सकते हैं। लहसुन में जीवाणुरोधी और एंटी-बायोटिक गुण होते हैं जो आपके गुप्‍तांगों में होने वाली खुजली का इलाज करने में मदद करते हैं।

आप लहसुन के तेल में विटामिन ई की कुछ बूंदे मिलाएं। इस मिश्रण को आप अपने गुप्‍तांगों में लगाएं और लगभग 20 मिनिट के बाद इसे धो लें। यह खुजली और संक्रमण दोनो से राहत दिलाने में मदद करता है।


खुजली की समस्या समाधान करें दही से – Yoghurt For Private Parts Itching in Hindi
हमारे अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य में सहियोग करने वाले अच्छे बैक्‍टीरिया दही में मौजूद रहते हैं। ये बैक्‍टीरिया हमारे निजी अंगों में खुजली से छुटकारा पाने का प्रभावी और प्राकृतिक उपचार हो सकते हैं।

प्राईवेट पार्ट में खुजली होने के दौरान आप नियमित रूप से दही का सेवन करें। दही का सेवन करने से आपके शरीर में अच्‍छे और बुरे दोनों प्रकार के बैक्‍टीरिया को संतुलित करने में मदद मिल सकती है। जिससे आपको खुजली से राहत मिलेगी।

पुरुष जननांग में खुजली के उपाय समुद्री नमक – Sea Salt For Private Parts Itching in Hindi

संक्रमण फैलाने वाले बैक्‍टीरिया और कवक को समुद्री नमक से रोका जा सकता है। समुद्री नमक आपके गुप्‍तांगों में संक्रमण का इलाज बहुत ही प्रभावी तरीके से कर सकता है। इसके लिए आप 2 कप पानी में 1 बड़ा चम्‍मच समुद्री नमक मिलाएं। इस मिश्रण का नियमित रूप से प्रतिदिन अपने गुप्‍तांगों की सफाई के लिए उपयोग करें। यह संक्रामक बैक्‍टीरिया के विकास को कम कर आपको खुजली से राहत दिला सकता है।

अंडरवियर क्षेत्र में खुजली दूर करे तुलसी – Jangho Ke Bich Sankraman Dur Kare Tulsi in Hindi

बेसिल या तुलसी को अपने एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-फंगल, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुणों के लिए जाना जाता है। इन सभी गुणों के कारण तुलसी प्राईवेट पार्ट में होने वाली खुजली का उपचार कर सकती है। इस खुजली का उपचार करने के लिए आप तुलसी की कुछ पत्तियां लें और इसे पानी में 20 मिनिट तक उबालें। इस मिश्रण के ठंडा होने पर आप इस पानी को पिएं। यह आपकी खुजली को प्रभावी रूप से दूर करने में मदद कर सकता है।

जांघों के बीच चकत्ते का उपाय सेब का सिरका – Jangho Ke Bich Chakte Ka Upay Seb Ka Sirka in Hindi

एप्‍पल साइडर सिरका में एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। इस कारण यह गुप्तांगों की खुजली का सबसे अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। सेब के सिरका की 2 छोटी चम्‍मच लें और इसे 1 गिलास पानी में मिलाकर नियमित रूप से कुछ दिनों तक पीयें। इसके अतिरिक्‍त आप 1 कप गर्म या ठंडे पानी में 1 चम्‍मच सेब के सिरके को मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र को इससे धुलें। यह आपकी खुजली को ठीक करने में मदद करता है।

गुप्‍तांगों की खुजली से बचने के अन्‍य उपाय – Additional Tips For Private Parts Itching in Hindi

प्राईवेट पार्ट में खुजली होने के कई कारण हो सकते हैं। जिनमें आपकी जीवनशैली, खान-पान, वातावरण और स्‍वच्‍छता आदि भी शामिल होते हैं। नियमित रूप से सफाई न करना भी जननांगों की खुजली का प्रमुख कारण हो सकता है। इसलिए नियमित रूप से गुप्‍तांगों की सफाई की जानी चाहिए। आइए जाने जननांगों की खुजली से बचने के अन्‍य तरीके क्‍या हैं।
उचित स्‍वच्‍छता बनाए रखने के लिए नियमित स्‍नान करें और साफ अंडरवियर का उपयोग करें।
अपने निजी अंगों को बार-बार न धोएं और अधिक नमी से बचाएं। क्‍योंकि इसके परिणाम स्‍वरूप आपकी त्‍वचा शुष्‍क हो सकती है जो खुजली का कारण बन सकती है।
जितना संभव हो अपने निजी अंगों को खरोचने से बचें, क्‍योंकि यह आपकी खुजली को बढ़ा सकता है।
हमेशा ढीले और आराम दायक कपड़े पहने। तंग कपड़े पहनने से बचें, क्‍योंकि वे आपकी त्‍वचा में जलन पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा आप गर्मी के दौरान सिंथेटिक कपड़ों के बजाय सूती कपड़ों का उपयोग करें।
सुगंधित टॉयलेट पेपर, बबल वॉथ और कपड़े धोने वाले डिटर्जेट जैसे सुगंधित उत्‍पादों से बचें।
प्रतिदिन अच्‍छी मात्रा में पानी पीएं।
स्‍वस्‍थ्‍य व संतुलित आहार लें और फास्‍ट फूड से बचें।
जननांगों की सफाई करने वाले साबुनों, डच और स्‍वच्‍छता स्‍प्रे का उपयोग करने से बचें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.