Header Ads

सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय –


सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय –


Sardi Jukam Ke Gharelu Upay In Hindi सर्दी जुकाम और खांसी बरसात और ठंड के मौसम में सामान्‍य समस्‍या होती है। लेकिन सर्दी जुकाम आपको बहुत ही परेशानी में डाल सकता है। सामान्‍य सर्दी की वजह से जब आपको खांसी या बुखार होता है और आप घर पर ही बिस्‍तर पर आराम (Rest on bed) करते हैं तो यह आपके लिए सुखद अनुभव नहीं होता है। इस स्थिति में सिर दर्द, बदन दर्द, बुखार, सर्दी, नाक का बहना आदि असुविधाजनक घटनाएं आपके साथ घटित होती हैं। आप इनका इलाज भी करा सकते हैं, लेकिन आपके लिए अच्‍छी बात यह है कि इस सामान्‍य समस्‍या का उपचार आप अपने घर पर ही कुछ घरेलू उपायों के माध्‍यम से कर सकते हैं। आइए जाने सर्दी-खांसी-जुकाम के घरेलू इलाज के बारे में।


सर्दी जुकाम के घरेलू उपचार – Sardi Jukam Ka Gharelu Upchar in Hindi
आप सर्दी जुकाम से बचने के लिए कुछ प्रभावी और असरदार घरेलू उपायों का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी प्रकार की रासायनिक दवाओं का उपयोग करने की जरूरत नहीं है। आइए जाने (Cold and cough) सर्दी जुकाम को दूर करने के घरेलू उपाय क्‍या हैं।
सर्दी जुकाम के घरेलू नुस्खे में करें चिकिन सूप का सेवन – Sardi Jukam Ke Gharelu Nuskhe Chicken Soup in Hindi

यदि आप समझ रहे है कि चिकिन सूप का उपयोग हमेशा ही किसी दवा के रूप में उपयोग किया जा सकता है तो यह गलत है। लेकिन यदि आप सामान्‍य सर्दी या जुकाम से पीड़ित हैं तो यह आपके लिए अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है। अध्‍ययनों से पता चलता है कि सब्जियों के साथ चिकिन सूप का सेवन करने से आपके शरीर को गर्मी प्रदान करता है और यह आपके शरीर में न्‍यूट्रोफिल (neutrophils) की गति को धीमा कर सकता है जिससे यह प्रभावित क्षेत्र में अधिक समय तक ठहरता है और आपकी उपचार प्रक्रिया को बढ़ाने में मदद करता है।

न्‍युट्रोफिल सफेद रक्‍त कोशिकाओं (White blood cells) का एक प्रकार है जो आपके शरीर को संक्रमण से बचाने में मदद करता है। अध्‍ययनों में पाया गया कि चिकिन सूप (Chicken soup) विशेष रूप से ऊपरी श्‍वसन संक्रमण के लक्षणों को कम करने में प्रभावी होता है। कम सोडियम सूप भी पोषण दिलाने में मदद करते हैं और आपको हाइड्रेट रखने में सहायक होते हैं।

सर्दी जुकाम की घरेलू दवा है शहद – Sardi Jukam Ki Gharelu Dawa Shahad in Hindi
कच्‍चा शहद (Unpasteurized) में एंटीमाइक्रोबायल और एंटीऑक्‍सीडेंट गुण अच्‍छी मात्रा में मौजूद रहते हैं। शहद के ये गुण प्रतिरक्षा को बढाते हैं और खांसी के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं। कच्‍चे शहद का उपयोग विशेष रूप से 6 वर्ष की आयु से छोटे बच्‍चों के लिए बहुत ही प्रभावी होता है। लेकिन कुछ जानकार सलाह देते हैं कि 1 वर्ष से कम आयु वाले बच्‍चों को शहद (Honey) का सेवन नहीं कराया जाना चाहिए। यदि आप सर्दी जुकाम के दौरान शहद का उपयोग करते हैं और इससे आपको आराम नहीं मिलता है तो आपको डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। लेकिन आयुर्वेद में ऐसा माना जाता है कि यदि नियमित रूप से शहद का सेवन किया जाए तो यह सर्दी, खांसी जैसी सामान्‍य समस्‍याओं से छुटकारा दिला सकता है।

पुराने जुकाम का इलाज है अदरक की चाय – Purane Jukam Ka Ilaj Hai Adrak Ki Chai in Hindi
यह आयुर्वेद की सबसे ज्‍यादा शक्तिशाली जड़ी बूटीयों में से एक है। इसमें एंटीवायरल (Antiviral) गुण अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो पर्याप्‍त मात्रा में सेवन करने पर सर्दी के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं। इसके लिए आप अदरक को कच्‍चा ही खा सकते हैं लेकिन अदरक की चाय (ginger tea) ज्‍यादा सुविधाजनक और फायदेमंद होती है। इसके लिए आप अदरक का पेस्‍ट बनाकर इसका रस निकालकर इसमें नींबू का रस और शहद (Lemon juice and honey) को मिलाकर चाय तैयार करें। यह आपकी सर्दी को रोकने में आपकी मदद करती है।

सर्दी जुकाम का आयुर्वेदिक उपचार है लहसुन – Sardi Jukam Ka Ayurvedic Upchar Hai Lahsun in Hindi
एलिसिन (allicin) नामक यौगिक की अच्‍छी मात्रा लहसुन में पाई जाती है जिसमें एंटीमाइक्रोबायल गुण होते हैं। आप अपने आहार में लहसून का उपयोग करके सर्दी के लक्षणों को दूर कर सकते हैं। कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि यदि लहसुन का नियमित रूप से सेवन किया जाता है तो यह सर्दी जुकाम के प्रारंभिक या शुरुआती दौर में ही इसे रोकने में मदद करते हैं। लहसुन प्रकृति में गर्म होता है जो कि आपके शरीर को पर्याप्‍त गर्मी और पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराने में मदद करता है। इस तरह से आप सर्दी और जुकाम आदि के लक्षणों से बचने के लिए लहसुन (Garlic) का उपयोग कर सकते हैं। लहसुन को सर्दी जुकाम की आयुर्वेदिक दवा के रूप भी जाना जाता है।
सर्दी जुकाम बुखार का घरेलू उपचार विटामिन सी – Sardi Jukam Ka Gharelu Upchar Vitamin C in Hindi
आपके शरीर के अच्‍छे विकास के लिए विटामिन सी बहुत ही महत्‍वपूर्ण होता है, इसके बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ जिनमें सर्दी जुकाम भी शामिल हैं। संतरा, नींबू, अंगूर, पत्‍तेदार सब्जियां और अन्‍य फलों से विटामिन सी (vitamin C) की अच्‍छी मात्रा प्राप्‍त की जा सकती है। गर्म चाय में नींबू का रस और शहद मिलाकर सेवन करने से यह सर्दी के दौरान कफ को कम करने में मदद करता है। हालांकि इस तरह के विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन करने पर यह पूरी तरह से सर्दी को ठीक नहीं करता है लेकिन वे आपको पर्याप्‍त विटामिन सी उपलब्‍ध करा सकते हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System) को मजबूत करने में मदद करते हैं। विटामिन सी का उपयोग कर सर्दी से संबंधित संक्रमणों से भी बच सकते हैं।

सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय में करें प्रोबायोटिक्‍स का सेवन – Sardi Jukam Ke Gharelu Upay Probiotics in Hindi
ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें हमारे शरीर के लिए फायदेमंद बैक्‍टीरिया उपलब्‍ध होते हैं उन्‍हें प्रोबायोटिक्‍स (Probiotics) कहा जाता है। ये ऐसे बैक्‍टीरिया होते हैं जो आपके आंत और प्रतिरक्षा प्रणाली को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करते हैं। इन पर किये गए कुछ अध्‍ययन बताते हैं कि प्रोबायोटिक्‍स सामान्‍य सर्दी के संक्रमण को फैलने और उससे हमे ग्रसित होने से बचाते हैं। आप अपने शरीर में अच्‍छे बैक्‍टीरिया को बढ़ाने के लिए दही का उपयोग कर सकते हैं जो प्रोटीन और कैल्शियम (Protein and Calcium) की अच्‍छी मात्रा प्रदान करते हैं। इसके लिए आप अन्‍य खाद्य पदार्थों का भी चयन कर सकते हैं जो आपके शरीर के लिए अच्‍छे बैक्‍टीरिया (Good bacteria) उपलब्‍ध करा सकते हैं।


खांसी जुकाम के घरेलू नुस्खे में करें नमक और पानी से गरारे – Sardi Jukam Ka Gharelu Upchar Namak Aur Pani In Hindi

पानी में नमक मिलाकर गरारे करने से आपको गले की खरास से राहत मिल सकती है। नमक वाला पानी सर्दी के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। पानी के साथ नमक का उपयोग करने से यह कफ की मात्रा को कम कर सकता है जिसमें बैक्‍टीरिया होते हैं। इस उपाय को अजमाने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में 1 चम्‍मच नमक डालें और फिर इस पानी से गरारे (Gargle) करें। यह सर्दी के कारण होने वाले आपके गले के दर्द, और खरास आदि का प्रभावी तरीके से इलाज कर सकता है।
जुकाम के घरेलू उपचार के लिए पीये गर्म पानी – Jukam Ka Upchar Ke Liye Piye Garam Pani in Hindi

सामान्‍य शीत और गले की खरास के लिए आप गुनगुने पानी का उपयोग कर सकते हैं। गर्म पानी का उपयोग करने से गले की सूजन को कम करने में मदद मिलती है। इसका एक और फायदा यह है कि गर्म पानी पीने से या गरारे करने से आपके गले और मुंह में मौजूद बैक्‍टीरिया की सफाई की जा सकती है। इसलिए सर्दी के दौरान हमेशा गुनगुना पानी (Lukewarm water) पीने की सलाह दी जाती है।


सर्दी जुकाम की घरेलू दवा दूध और हल्‍दी – Sardi Jukam Ki Gharelu Dawa Milk And Turmeric in Hindi
रसोई घर में उपलब्‍ध सबसे सामान्‍य मसाला हल्‍दी जिसका उपयोग हम अपने भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के लिए करते हैं। हल्‍दी में एंटीऑक्‍सीडेंट बहुत अच्‍छी मात्रा में होते हैं जो कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को हल करने में हमारी मदद करते हैं। यदि सर्दी जुकाम से जल्‍दी राहत पाना है तो आपको हल्‍दी और दूध का इस्‍तेमाल करना चाहिए। दूध और हल्‍दी (turmeric) सर्दी जुकाम का सबसे प्रभावी और उपयोगी घरेलू उपचारों में से एक है। आप रात में सोने से पहले 1 गिलास गुनगुने दूध में 1 छोटा चम्‍मच हल्‍दी मिलाकर सेवन करें। यह सर्दी जुकाम से राहत पाने का सबसे अच्‍छा तरीका हो सकता है।


पुराने जुकाम का इलाज है हनी और ब्रांडी – Purana Jukam Ka Ilaj Hai Honey and Brandy in Hindi
आपने बुर्जुगों से सुना होगा कि ब्रांडी (Brandy) का उपयोग सीने को गर्म रखने के लिए उपयोग किया जाता है। ब्रांडी का उपयोग करने से शरीर के तापमान को बढ़ाया जाता है। यदि ब्रांडी में शहद को मिलाकर सेवन किया जाए तो यह सर्दी के दौरान होने वाली खांसी को कम करने में मदद करती है। इसके लिए आपको ब्रांडी की एक बोलत पीने की आवश्‍यकता नहीं है। आप केवल 1 चम्‍मच ब्रांडी में कुछ बूंदे शहद (Honey) की मिला सकते हैं और इसका सेवन कर सकते हैं। यह आपको सर्दी और खांसी दोनों से राहत दिलाने में मदद करती है।

सर्दी जुकाम का आयुर्वेदिक उपचार है मसालेदार चाय – Home Remedies for Cold And Cough Spiced Tea In Hindi

आप सर्दी जुकाम के दौरान अपनी सामान्‍य चाय को और अधिक स्‍वादिष्‍ट और प्रभावी बनाने के लिए इसे मसालेदार बना सकते हैं। इस प्रकार की चाय आपकी सर्दी को मिटाने में बहुत ही प्रभावी होती है। आप अपनी चाय बनाते समय इसमें तुलसी, अदरक और काली मिर्च (Ginger and black pepper) को मिला सकते हैं जो आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। ये तीनों मसाले (Spices) आपकी सामन्‍य सर्दी और जुकाम को दूर करने वाले औषधीय गुणों से भरपूर होती है।

गर्मी के जुकाम का इलाज है आंवला – Garmi Ke Jukam Ka Ilaj Hai Amla in Hindi
एक बहुत ही शक्तिशाली इम्यूनो मॉड्यूलेटर (immuno modulator) होने के कारण आंवला कई बीमारियों से हमारे शरीर की रक्षा करता है। नियमित रूप से आंवला का सेवन करने से बहुत से स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त हो सकते हैं। सामान्‍य मौसम में बदलाव या गर्मी के जुकाम को ठीक करने का सबसे अच्‍छा उपाय आंवला के रूप में मौजूद है। आवंला का सेवन करने से यह यकृत की उचित कार्यप्रणाली सुनिश्चित करता है और रक्‍त परिसंचरण में सुधार करता है। इसलिए आप गर्मी के जुकाम का उपचार करने के लिए आंवले का फायदेमंद उपयोग कर सकते हैं।
सर्दी जुकाम की घरेलू दवा अलसी के बीज – Sardi Jukam Ki Gharelu Dawa Flax seeds in Hindi

सामान्‍य सर्दी और खांसी को ठीक करने के लिए अलसी के बीज (Flax seeds) एक प्रभावी उपाय हैं। इसके लिए आप थोड़े से अलसी के बीजों को पानी में उबालें जब तक की मिश्रण गाढ़ा ना हो जाये। जब अच्‍छी तरह से अलसी बीज उबल जाएं तो आप इसे ठंडा करके इसमें नींबू का रस और शहद की कुछ बूंदे मिलाएं। इस मिश्रण को अच्‍छी तरह से मिलाने के बाद आप इसका सेवन कर सकते हैं। यह आपको सर्दी जुकाम से राहत दिलाने का सबसे अच्‍छा घरेलू उपाय है।

और पढ़ें – (नींबू पानी के फायदे और नुकसान)
सर्दी का घरेलू इलाज है अदरक और नमक – Sardi Ka Gharelu Ilaj Hai Adrak Aur Namak in Hindi
आप सोच रहे होगें कि एक अदरक कितने प्रकार से सर्दी का उपचार कर सकता है। लेकिन यह ऐसी जड़ी बूटी (Herb) है कि यह कई प्रकार से हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होती है। आप यदि अदरक की चाय (ginger tea) का सेवन नहीं करना चाहते हैं तो आप अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और इसमें अपने स्‍वादानुसार नमक मिलाएं। गले की खरास, सर्दी और खांसी (cold and cough) से बचने के लिए आप अदरक के इन टुकड़ों को मुंह में लें और चबाएं। यह आपके गले को राहत देगा और आपकी सर्दी का उपचार भी करेगा।
जुकाम का इलाज करें गाजर के रस से – Jukam Ka Ilaj Karen Gajar Se in Hindi

आपको सुनने में यह उपचार असामान्‍य लग सकता है लेकिन गाजर (carrot) का उपयोग कर आप सामान्‍य सर्दी और खांसी का उपचार कर सकते हैं। इसके लिए आप गाजर को कच्‍चे ही खा सकते हैं, या फिर आप इसका रस (Carrot juice) निकालकर भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जब आप गाजर से जुकाम का इलाज करेगें तो यह आपके लिए और स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी लाभ प्रदान कर सकता हैं।

सर्दी जुकाम बुखार का घरेलू उपचार है अच्‍छी नींद – Sardi Jukam Bukhar Ka Upchar Hai Achi Neend in Hindi
यदि आपको लगता है कि आपका अच्‍छा खान-पान ही आपके अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए आवश्‍यक है तो ऐसा सोचना गलत है। अच्‍छे खान-पान के साथ-साथ अच्‍छी जीवन शैली भी बहुत ही महत्‍वपूर्ण होती है। आपकी अच्‍छी जीवनशैली में अच्‍छी नींद भी शामिल है। यदि आप बदलते मौसम के दौरान पर्याप्‍त और अच्‍छी नींद नहीं लेते हैं तो यह आपके लिए कुछ सामान्‍य सी परेशानियां जैसे सर्दी या खांसी आदि का कारण बन सकता है। इसलिए आप ऐसी तमाम परेशानियों से बचने और अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए पर्याप्‍त नींद लेना सुनिश्चित करें।

सर्दी जुकाम से बचने के लिए भाप का प्रयोग – Sardi Jukam Se Bachne Ke Liye Steam In Hindi

आप सर्दी के कारण अपनी बंद नाक को साफ करने के लिए अपने चेहरे को एक गर्म पानी से भरे बर्तन के ऊपर ले जाएं और इससे निकलने वाली भाप से धीरे-धीरे सांस लें इससे आपकी बंद नाक साफ होगी और आपको सर्दी से राहत भी मिल सकती है।

सर्दी जुकाम से बचने के अन्‍य घरेलू उपाय – Sardi Jukam Se Bachne Ke Anya Gharelu Upay in Hindi

आप सर्दी जुकाम से बचने के लिए कुछ घरेलू और आसान तरीकों का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही आप अपनी जीवनशैली में कुछ परिवर्तन करके भी अपनी स्‍वास्‍थ्‍य समस्या को दूर कर सकते हैं। सामान्‍य सर्दी से बचने के उपाय इस प्रकार हैं।
आप अपने आहार में किण्वित खाद्य (fermented foods) पदार्थों और पेय को शामिल करें। यह आपके पाचन के लिए अच्‍छे होते हैं। इस प्रकार का आहार लेने से आपकी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाया जा सकता है।
सर्दी होने के दौरान आप शर्करा और एसिड (sugars and acid) बनाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।
इस दौरान आप अधिक से अधिक विटामिन सी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
सर्दी के दौरान अपने शरीर की उचित सफाई रखें और समय-समय पर अपने हाथों को (Cleaning hands) अच्‍छी तरह से धोएं।
जब सर्दी बहुत अधिक बढ़ जाए तो आपको भीड़-भाड़ बाले स्‍थानों से बचना चाहिए।
सर्दी होने के दौरान आप तेज धूप और धूल (Sunshine and dust) आदि के संपर्क में न आएं, यह आपकी सर्दी के प्रभाव को और अधिक बढ़ा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.