Header Ads

ब्लड प्रेशर चेक करना अब होगा चुटकियों का खेल,

ब्लड प्रेशर चेक करना अब होगा चुटकियों का खेल, माइक्रोसॉफ्ट ला रहा डिवाइस 
 ब्लड प्रेशर चेक करना अब होगा चुटकियों का खेल, माइक्रोसॉफ्ट ला रहा डिवाइस 

सैन फ्रांसिस्को : माइक्रोसॉफ्ट अपने स्मार्ट ग्लासेज (चश्मा) की अगली पीढ़ी विकसित करने में जुटी है, जो ब्लड प्रेशर नापने के डिवाइस के रूप में काम करेगी। इसे ग्लाबेला नाम दिया गया है। इसे ब्लडप्रेशर को नापने वाले किसी अन्य डिवाइस की तुलना में पहनना और इस्तेमाल करना काफी आसान होगा।

इस डिवाइस में ऐसे ऑप्टिकल सेंसर्स लगे हैं, जो यूजर्स से किसी प्रकार के इंटरैक्सन के बिना काम करता है। पारंपरिक तौर पर ब्लडप्रेशर की गणना के लिए बाजू में एक पट्टी लपेट कर उसे मशीन से जोड़कर रीडिंग लेनी होती है, लेकिन इस चश्मे को पहन कर लगातार रक्तचाप की रिडिंग बिना किसी झंझट के ली जा सकेगी।


इसके बारे में एसीएम जर्नल ऑफ इंट्रैक्टिव, मोबाइल, वेयरबेल और यूबिक्विटस टेक्नॉलजी में एक शोध पत्र प्रकाशित किया गया है। आईईईई स्पेक्ट्रमम की एक रिपोर्ट के मुताबिक, किसी व्यक्ति की दिल की धड़कन के बीच का समय या पल्स ट्रांजिट टाइम की गणना से अप्रत्यक्ष रूप से रक्तचाप की माप की गणना की जा सकती है।

हालांकि माइक्रोसॉफ्ट के ग्लास (चश्मे) ने परीक्षण के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन किया, लेकिन अभी इसे माइक्रोसॉफ्ट को बाजार में उतारने में समय लगेगा, क्योंकि उसके शोधार्थियों ने क्लिनिकल ट्रायल करने की योजना बनाई है।


लंबी आयु चाहते हैं तो कम खाएं कार्बोहाइड्रेट 
 लंबी आयु चाहते हैं तो कम खाएं कार्बोहाइड्रेट  

न्यूयॉर्क : अगर आप लंबी आयु चाहते हैं तो अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित कर दीजिए, क्योंकि भोजन में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है।

शोध में पाया गया है कि कार्बोहाइड्रेट में 40 फीसदी से कम या 70 फीसदी से ज्यादा ऊर्जा के सेवन से मौत का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन कार्बोहाइड्रेट के रूप में 50-55 फीसदी ऊर्जा ग्रहण करने वालों को मौत का खतरा कम रहता है।

शोध के सह-लेखक व बोस्टन स्थित हार्वर्ड टी. एच. चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रोफेसर वाल्टर विलेट ने कहा, "इन नतीजों में एक साथ कई पहलू हैं, जो विवादास्पद रहे हैं। बहुत ज्यादा और बहुत कम कार्बोहाइड्रेट नुकसानदेह हो सकता है, लेकिन सबसे जो गौर करने वाली बात है वह वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का प्रकार है।"

लांसेट पब्लिक हेल्थ जर्नल में प्रकाशित शोध के तहत 45 से 64 साल की आयु वर्ग के 15,428 वयस्कों को शामिल किया गया। प्रतिभागियों में पुरुष 600-420 किलो कैलोरी ऊर्जा रोज ग्रहण करते थे, जबकि महिलाएं 500-3600 किलो कैलोरी।


शोधकर्ताओं के आकलन के अनुसार, सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की आयु आवश्यकता से कम कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में चार साल अधिक पाई गई, जबकि अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में एक साल अधिक थी।


खाए अब सुपर ‘पिल’, करिए Blood Pressure कंट्रोल
खाए अब सुपर ‘पिल’, करिए Blood Pressure कंट्रोल

लंदन : ब्लड प्रेशर (BP) को सामान्य स्तर तक लाने वाले अद्भुत गोली (पिल) का वैज्ञानिकों ने पता लगा लिया है। वेज्ञानिकों की मानें तो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने वाली तीन दवाइयों के कॉम्बीनेशन से बनी यह गोली रक्तचाप के रोगियों के लिए वरदान साबित होगा।

वेज्ञानिकों के मुताबिक वर्तमान में बाजार में उपलब्ध बीपी की दवाइयों से केवल 50 प्रतिशत लोगों में ही ब्लड प्रशर नियंत्रण में रहता है। परंतु इस नए कॉंबीनेशन की गोली से छह महीने में लगभग 70 फीसदी लोगों का ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाएगा।
खाए अब सुपर ‘पिल’, करिए Blood Pressure कंट्रोल
ब्लड प्रेशर के लिए इस्तेमाल किए जाने वाली गोलियों टेल्मीसर्टान, अम्लोडिपेन और क्लोरोतालिडोन के कांबीनेशन से बनी यह गोली रोगियों को देने पर 70 फीसदी रोगियों में ब्लड प्रेशर सामन्य स्तर पर पहुंचा है।

इस शोध का नेतृत्व करने वाले डॉक्टर रूथ वेबस्टर ने बताया कि उनके अध्ययन से मिले परिणाम विश्वभर में लाखों लोगों का रक्तचाप नियंत्रण में रखने के साथ उनके दिल की बीमारी और स्ट्रोक का खतरा भी कम जाता है। जॉर्ज इंस्टीट्यूट फर ग्लोबर हेल्थ ने यह अध्ययन किया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.