Header Ads

पपीता खाने के 23 फायदे

पपीता खाने के 23 फायदे
https://healthtoday7.blogspot.com/

पपीता खाने के 23 फायदे
पपीता एक ऐसा फल है जो पूरे साल आसानी से मिल जाता है. भारत के ज्यादातर घरों में पपीते का पौधा आसानी से लगा हुआ मिल जाता है. पपीता जितना स्वादिष्ट होता है, यह उतना हीं हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी है. पपीते का रस भी बहुत फायदेमंद होता है. पपीते के बीज के भी ढेर सारे उपयोग हैं. पपीता बालों और त्वचा के लिए भी अच्छा होता है. पपीते का उपयोग उपयोग सलाद के रूप में भी किया जाता है.
तो आइए पपीता के क्या-क्या फायदे हैं और इसका उपयोग किस-किस तरह से किया जा सकता है.
पपीता के फायदे और उपयोग –
पपीता में विटामिन ए, पोटैशियम और कैल्शियम पाया जाता है.
मांसाहार करने वालों को पपीते का नियमित सेवन करना चाहिए
पपीता आसानी से पचने पचने वाला फल है. इसलिए इसे वो लोग भी खा सकते हैं, जिनकी पाचन शक्ति कमजोर है.
पपीते से दाद, खाज, खुजली दूर हो जाती है.
पपीते के नियमित सवेन से हाई बीपी को कण्ट्रोल किया जा सकता है.
पपीता खाने से शरीर में ऊर्जा का स्तर भी बढ़ जाता है.
कट जाने, सूजन हो जाने, या जल जाने पर प्रभावित स्थान पर पपीता लगाने से आराम मिलता है.
यदि किसी के पेट में कीड़े हो गए हों, तो पपीता का बीज और उसका छिलका कीड़ों को खत्म करने में मदद करता है.
https://healthtoday7.blogspot.com/
जिन लोगों को कब्ज की समस्या रहती है उन्हें पपीते का नियमित सेवन करना चाहिए.
पपीता खाने से सर्दी, खांसी, जुकाम आदि बीमारियाँ नहीं होती है.
लंबी उम्र पाने और लंबे समय तक जवान रहने के लिए पपीता खाना फायदेमंद है.
पपीते खाने से आमाशय और आंत संबंधी दिक्कतों में फायदा पहुँचता है.
नियमित रूप से पपीता खाने से झुर्रियाँ पड़ना, बालों का झड़ना, बवासीर, चर्मरोग, अनियमित मासिक धर्म से सम्बन्धित समस्याएँ खत्म हो जाती है.
पपीता दिल के मरीजों और सुगर के मरीजों के लिए बहुत लाभदायक होता है.
पपीते में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. यह हाई कोलेस्ट्राल को कम करने में मदद करता है.
पपीते का रस आंत और पेट सम्बन्धित समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है.
पपीते के नियमित सेवन से कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है.
पपीते में पाया जाने वाला एंजाइम शरीर में होने वाली सूजन को कम करता है.
पपीते में त्वचा और आँखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसमें पाए जाने वाला कैल्शियम शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाता है. यह शरीर की पाचन क्षमता को सही रखता है
पपीता पेट को संक्रमण से बचाता है.
पपीते के चूर्ण का सेवन करने से आमशय की जलन, जख्म, अपच दूर होता है.
पपीता हमें शारीरिक रूप से मजबूत बनाता है.
पपीता वजन कम करने में मदद करता है.
गर्भवती महिला को पपीता नहीं खाना चाहिए.


पपीता के ये हैं फायदे, बीमारियां से आपको रखता है दूर



नई दिल्ली। पपीता तो आपने खाया ही होगा लेकिन अकसर लोग इसके फायदे के बारे में नहीं जानते। यूनानी चिकित्सकों के अनुसार पपीता पाचन शक्ति को तेज करके भूख को बढ़ाता है, मूत्राशय के रोगों को नष्ट करता है और मोटापे को दूर करता है। पपीता कफ के साथ आने वाले खून को रोकता है एवं खूनी बवासीर को ठीक करता है। कच्चे पपीते की सब्जी और अचार भी बनती है। पके पपीते की चटनी व कचूमर भी बनाई जाती है। प्रतिदिन सुबह पपीते का सेवन करने से कब्ज दूर होती है और पाचन शक्ति बढ़ती है। यह पेट की गैस को दूर करता है। पपीते में पेप्सीन एंजाइम प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो एक प्रकार का पाचक रस है। पपीता प्रोटीन को पाचन के अलावा आंतों में सूखे मल को बाहर करके आंतों को एकदम साफ कर देता है।

औषधीय गुण 
पपीताआसानी से हजम होने वाला फल है। पपीता भूख व शक्ति को बढ़ाता है। यह प्लीहा (तिल्ली), यकृत (लीवर), पांडु (पीलिया) आदि रोग को समाप्त करता है। पेट के रोगों को दूर करने के लिए पपीते का सेवन करना लाभकारी होता है। पपीते के सेवन से पाचनतंत्र ठीक होता है। पपीते का रस अरूचि, अनिद्रा (नींद का न आना), सिर दर्द, कब्ज व आंवदस्त आदि रोगों को ठीक करता है। पपीते का रस सेवन करने से अम्लपित्त (खट्टी डकारें) बंद हो जाती है। पपीता पेट रोग, हृदय रोग, आंतों की कमजोरी आदि को दूर करता है। पके या कच्चे पपीते की सब्जी बनाकर खाना पेट के लिए लाभकारी होता है। पपीते के पत्तों के उपयोग से उच्च रक्तचाप में लाभ होता है और हृदय की धड़कन नियमित होती है। पपीता वीर्य को बढ़ाता है, पागलपन को दूर करता है एवं वात दोषों को नष्ट करता है। इसके सेवन से जख्म भरता है और दस्त व पेशाब की रुकावट दूर होती है। कच्चे पपीते का दूध त्वचा रोग के लिए बहुत लाभकारी होता है। पपीते के बीज कीड़े को नष्ट करने वाला और मासिक-धर्म को नियमित बनाने वाला होता है। पपीते का दूध दर्द को ठीक करता है, कोढ़ को समाप्त करता है और स्तनों में दूध को बढ़ाता है। पपीते का चूर्ण सेवन करने से आमाशय की जलन, जख्म, अर्बुद व अपच दूर होता है। हम इन बातों का दावा तो नहीं करते साथ ही किसी भी बीमारी के लिए डाक्टर की सलाह अवश्य ले लें।



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.