Header Ads

योनि में दर्द किन कारणों से हो सकता है


योनि में दर्द किन कारणों से हो सकता है
पीरियड्से के दौरान महिलाओं को वेजाइना में दर्द होने के साथ और भी कई कारणों की वजह से योनि में दर्द हो सकता है। जिनका समय से इलाज कराना जरुरी होता है नहीं हो गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।



शरीर में दर्द किसी भी जगह हो सकता है लेकिन योनि के पास दर्द होना किसी गंभीर समस्या के संकेत हो सकते हैं। इसके लक्षणों को जांच के जरिए इसके कारणों के बारे में पता किया जा सकता है। वेजाइना मे दर्द पीरियड्स के दौरान या यौन संबंध बनाने के बाद भी हो सकता है। दर्द के पीछे का कारण इंफेक्शन भी हो सकता है। दर्द होने के पीछे का कारण मेडिकल और साइकोलॉजिकल समस्या हो सकती है। समय से इसका इलाज करके जटिलताओं के खतरे को कम किया जा सकता है। तो आइए आपको योनि में होने वाले दर्द के पीछे के कारणों के बारे में बताते हैं। [
वेजाइनल ड्राईनेस: पर्याप्त ल्यूब्रिकेशन ना होने की वजह से यौन संबंध बनाते समय असहज महसूस होता है। वेजाइनल ड्राईनेस की वजह से योनि के पास टीयर्स हो जाते हैं जिसकी वजह से दर्द होने लगता है।

पीरियड्स: पीरियड्स के दौरान क्रैम्प सभी महिलाओं को होते हैं लेकिन कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान योनि में दर्द और असहज महसूस होता है। महिलाओं के पीरियड्स आने से कुछ समय पहले से मसल्स और पूरे शरीर में तरल पदार्थ रहने लगता है जिसकी वजह से सिरदर्द की समस्या होती है इसके साथ ही योनि में भी दर्द होता है। [
फाइब्रॉएड: गर्भाशय में फाइब्रॉएड की ग्रोथ होती है। महिलाओं में यह एक या उससे ज्यादा भी हो सकता है। फाइब्रॉएड के आकार और जगह की वजह से क्रोनिक पेल्विक पेन हो सकता है। जिसकी वजह से वेजाइना में दर्द की जगह दबाव महसूस होता है। फाइब्रॉएड योनि के ऊपर की तरफ हो सकता है। जिसका दर्द पीरियड्स के दौरान अधिक बढ़ सकता है।

एंड्रियोमेट्रियोसिस: एंड्रियोमेट्रियोसिस एक कंडीशन होती है जिसमें सामान्य रुप से गर्भाशय के अंदर बढ़ने वाले टिशू गर्भाशय के बाहर बढ़ने लगते हैं। जिससे महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या होती है। जैसे ही यह हार्मोन बाहर आने लगते हैं तो इसमें सूजन आ जाती है और पेल्विक पेन होने लगता है। कभी-कभी यह दर्द कम होता है लेकिन पीरियड्स के दौरान यह दर्द काफी बढ़ जाता है। ऐसा पीरियड्स के दौरान होने वाले क्रैम्प की वजह से होता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.