Header Ads

क्या होगा अगर आंसू ही न बने?


क्या होगा अगर आंसू ही न बने?





जब आंखें पर्याप्त आंसू नहीं बना पातीं, तब उन्हें पर्याप्त लुब्रिकेशन नहीं मिल पाता और वे ड्राइ हो जाती हैं. आपको आंखों में चुभन और जलन का एहसास होता है. आंखों के अंदर या फिर उसके बाहरी हिस्से में चिपचिपा म्यूकस बनता है, जो लाइट के प्रति आंखों को ज़्यादा संवेदनशील बना देता है, आंखें लाल हो जाती हैं या आपको धुंधला दिखने लगता है. यहां हम पांच तरीक़े बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप इन समस्याओं को सुलझा सकते हैं.


गर्म पानी
एक साफ़-सुथरा कपड़ा लें और उसे गर्म पानी में भिगोएं. पांच मिनट के लिए इस कपड़े को अपने आंखों पर रखें. बाद में हल्के हाथों से कपड़े को ऊपरी और निचली आइलिड्स पर रगड़ें, ताकि आंखों पर लगी गंदगी या कचरा साफ़ हो सके. यह प्रक्रिया तब तक दोहराएं, जब तक कि पानी गर्म है. यह प्रक्रिया आंसू की गुणवत्ता को बेहतर बनाकर आंखों की जलन और लालिमा को कम करता है.




नारियल तेल

यह तेल आंखों को नमी देनेवाले एजेंट की तरह काम करता है और आंसूओं को जल्दी सूखने से बचाता है. इसके अलावा इसमें ऐंटी-इन्फ़्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आंखों में हो रही चुभन को कम करने में सहायक होते हैं. कॉटन बॉल को नारियल तेल में डुबोएं और इसे आंखों पर 15 मिनट तक रखा रहने दें. इस प्रक्रिया को दिनभर में कई बार दोहराएं.


पोषण देनेवाले सप्लिमेंट्स
अध्ययन बताते हैं कि ओमेगा-3 फ़ैटी एसिड्स वाले खाद्य पदार्थ आपकी आंखों को ड्राइ होने से बचा सकते हैं. अपनी डायट में ओमेगा-3 को शामिल करने के लिए आप सैल्मन मछली, अलसी, अखरोट, सोयाबीन इत्यादि को अपनी डायट में शामिल कर सकते हैं. ये पोषक खाद्य पदार्थ आंखों की सूजन को कम कर आंसू बनाने में मदद करते हैं, जिनसे आंखें ड्राइ नहीं होने पातीं.





ऐलोवेरा जेल
अपने अल्कलाइन गुणों की वजह से ऐलोवेरा ड्राइ आइज़ के लिए प्रभावी उपाय है. इसका मॉइस्चराइज़िंग और ऐंटी-इन्फ़्लेमेटरी गुण आंखों की सूजन और लालिमा को कम करता है. ऐलोवेरा के पत्ते को धोकर उसमें से जेल निकाल लें. टिशू पेपर पर थोड़ा जेल निकालकर इसे आइलिड्स पर लगाएं. 10 मिनट बाद आंखों को कुनकुने पानी से धोएं. दिन में दो बार इस प्रक्रिया को दोहराएं और पाएं सेहतमंद आंखें.


गुलाब जल

यह आंखों को तनावमुक्त रखने और थकी हुई आंखों को आराम पहुंचाने में मदद करता है. ड्राइ आइज़ की एक बड़ी वजह है विटामिन ए की कमी और गुलाब जल में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में होती है. कॉटन बॉल्स या कॉटन पैड्स को गुलाब जल में डुबोएं और इन्हें बंद आंखों पर लगाएं. 10 मिनट तक आंखों पर रखा रहने दें, फिर ठंडे पानी से आंखों को धो लें. यदि तुरंत आराम पाना चाहती हैं तो शुद्घ गुलाब जल को आइ ड्रॉप की तरह भी इस्तेमाल कर सकती हैं. ‌इस प्रक्रिया को दिन में तीन बार दोहराएं.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.