Header Ads

5 बदलाव, जो घटा देंगे हाइपरटेंशन का प्रभाव


5 बदलाव, जो घटा देंगे हाइपरटेंशन का प्रभाव

बदलती जीवनशैली की सबसे आम बीमारी है हाइपरटेंशन यानी हाई बल्ड प्रेशर (बीपी). पहले जहां आमतौर पर 50 की उम्र के बाद बीपी की समस्या शुरू होती थी, अब कम उम्र के लोग भी इससे दो-चार हो रहे हैं. आंकड़ों के मुताबिक़ 60 की उम्र पार करने के बाद 50% लोग इस बीमारी की गिरफ़्त में आ जाते हैं और 70 तक पहुंचते-पहुंचते 75% लोग. हाई बीपी का सबसे बड़ा असर आपके दिल पर पड़ता है. आपका हृदय कई तरह से इससे प्रभावित होता है. इसके चलते हृदय की रक्तवाहिनियां संकरी हो जाती है और अंतत: हृदय तक पर्याप्त रक्तसंचार नहीं हो पाता. इसका नतीजा हार्ट अटैक भी हो सकता है. हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों में हृदय रोग होने की संभावना काफ़ी अधिक होती है. हाई बीपी के चलते हृदय पर लोड पड़ता है. आइए जानते हैं कि पांच ऐसे तरीक़े, जो आपको हाई बीपी से बचे रहने में मदद कर सकते हैं. 



सही खानपान, कर देगा ज़िंदगी आसान 
ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने में खानपान का महत्व सबसे अधिक है. अपने रोज़ाना के खानपान में फलों, सब्ज़ियों, साबुत अनाज, हाई फ़ाइबर फ़ूड, फ़ैट फ्री या लो फ़ैट चीज़ें शामिल करें. सैचुरेटेड और ट्रान्स फ़ैट्स, अधिक नमक और शक्कर को अलविदा कह दें.

वज़न का ध्यान रखें, वो आपका ध्यान रखेगा
वज़न बढ़ने के साथ-साथ आपका ब्लड प्रेशर भी बढ़ सकता है. यदि आपका वज़न आपके शरीर, उम्र और लिंग के अनुसार आदर्श वज़न से बहुत अधिक है तो वक़्त है तुरंत चेतने का. जल्द से जल्द वज़न कम करने में जुट जाएं. यदि आपने ज़रा-सा भी वज़न कम कर लिया तो उसका बहुत अच्छा परिणाम आपको देखने मिलेगा. उसका सकारात्मक फ़र्क़ ब्लड प्रेशर पर स्पष्ट दिखेगा. 


आप ऐक्टिव रहेंगे तो बीमारियों की ऐक्टिविटी धीमी पड़ जाएगी 
शारीरिक गतिविधियों से न केवल आपका ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहेगा, बल्कि वज़न भी नियंत्रित रहेगा. इतना ही नहीं हृदय मज़बूत बनेगा और तनाव का स्तर घटेगा. सप्ताह में पांच दिन 30-30 मिनट तक की जानेवाली ब्रिस्क वॉकिंग जैसी गतिविधि से भी आपका काम बन जाएगा. सीढ़ियां चढ़ना, हाइकिंग, जॉगिंग, रनिंग, साइकिलिंग, स्विमिंग, डांस, स्पोर्ट्स ऐक्टिविटीज़... आदि आपको फ़िट बनाए रखने में अहम् भूमिका निभाएंगी. 


तंबाकू को ‘ना’ का मतलब है, सेहत को ‘हां’
स्मोकिंग से हाई ब्लड प्रेशर होने के बारे में अभी तक शोधों में कुछ प्रामाणिक रूप से नहीं पता चला है, पर इतना ज़रूर तय है कि हर सिगरेट के साथ आपका ब्लड प्रेशर कई मिनटों तक के लिए बढ़ा रहता है. यदि आप हार्ट अटैक और स्ट्रोक से बचना चाहते हैं तो तंबाकू का सेवन बंद करें. हां, सेकेंड हैंड यानी पैसिव स्मोकिंग से भी दूर रहें. 

शराब, कहीं कर न दे सेहत को ख़राब
बहुत अधिक अल्कोहल पीने से ब्लड प्रेशर ख़तरनाक स्तर तक बढ़ जाता है. एक बार में तीन पेग से अधिक पीने से आपका ब्लड प्रेशर टेम्प्रेरी रूप से बढ़ जाता है. यदि आप लगभग रोज़ाना ही शराब का सेवन करते हैं तो शरीर पर उसका पर्मानेंट प्रभाव पड़ना तय है. यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो शराब पीने से बचें. यदि पीना ही पड़े तो संयमित मात्रा में लें. 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.