Header Ads

कैसे पाए खर्राटों की समस्या से छुटकारा

कैसे पाए खर्राटों की समस्या से छुटकारा
 Ways to Avoid snoring




जब कोई व्यक्ति सोते समय नाक से तेज आवाज करते हुए साँस लेता है और छोड़ता है तो इसे खर्राटे लेना कहते है | खर्राटे लेने की वजह से आपके आस पास रहने वाले लोगों क नींद खराब होने के साथ भी आप भी शर्मिंदगी महसूस करते है | अगर आपक भी खर्राटे लेने की समस्या से परेशान तो क्या आपने इसके लिए किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ से इस समस्या के उपचार के बारे में सलाह ली है |


खर्राटे लेने की समस्या होने के बाद भी ज्यादातर लोग इस तरफ ध्यान नहीं देते है और इसे सामान्य क्रिया मान लेते है लेकिन इससे आपको गंभीर समस्या हो सकती है | खर्राटे लेने से स्लिपिंग डिसऑर्डर नामक गंभीर रोग हो सकता है इसलिए सही समय पर उचित उपचार द्वारा खर्राटों की समस्या को दूर किया जा सकता है |

जब व्यक्ति सोने की मुद्रा में होता है तब उकसे गले का पिछला हिस्सा थोड़ा संकरा होता है इसलिए जब आक्सीजन ऐसी संकरी जगह से जाती है तो आस पास के उत्तक आवाज करने लगते है | इसी आवाज को खर्राटे कहा जाता है | अगर किसी व्यक्ति को इस तरह की समस्या हो तो रात को उसके आस पास सोने वाले व्यक्ति को बहुत परेशानी होती है | उसके खर्राटों की आवाज किसी को भी चैन से नहीं सोने देती है |


क्यों आते है खर्राटे :


खर्राटे लेने की समस्या कई कारणों से हो सकती है | नाक में खराबी, एलर्जी, नाक की सूजन, जीभ मोटी होना, अधिक धूम्रपान करना, शराब पीना या नशीले पदार्थों का सेवन करना और रात को अधिक भोजन करना आदि कारणों से खर्राटे आने लगते है | अगर आप इनसे बचाव करना चाहते है तो इसके लिए आपको कुछ उपायों का इस्तेमाल करने की जरूरत है | आइये जानते है खर्राटों की समस्या से बचने के उपायों के बारे में जो आपके सामने इस प्रकार से है:


मन को शांत रखें :


जो व्यक्ति खर्राटों की समस्या से ग्रस्त है उन्हें हमेशा अपने मन को शांत रखना चाहिए | क्योंकि मन या मस्तिष्क में बुरे विचार आने से सोते समय व्यक्ति के दिमाग पर जोर पड़ता है जिसके कारण खराटे आते है | इसलिए सभी बातों से निश्चिंत होकर भरपूर और अच्छी नींद लेनी चाहिए |

शरीर को भरपूर आराम दें :


सोते समय शरीर के किसी भी अंग पर दबाव नहीं पड़ने देना चाहिए और शरीर को पूर्ण आराम देकर सोना चाहिए | इस तरह से आप खर्राटों की समस्या से बच सकते है |


ज्यादा खाना ना खाएं :


रात के समय ज्यादा खाना खाने से या अधिक समय तक जागते रहने से खर्राटे आने लगते है | इसलिय हमेशा भूख के अनुसार ही खाना खाएं और उचित समय पर सो जाएं |


वजन को कम करें :


शरीर का वजन बढ़ने और मोटापे की समस्या से ग्रस्त व्यक्तियों को अक्सर खराटे आते है इसलिए उन्हें इस समस्या से बचने के लिए अपने वजन को नियंत्रित करने के साथ साथ मोटापे को भी कम करना चाहिए |


करवट बदल लें :

सोते समय खर्राटे आने पर करवट बदल लें या करवट लेकर सोयें | जब आपको एक तरफ करवट लेने से खर्राटे आते है तो उसके विपरीत करवट बदल लें | इस तरह से खर्राटों की समस्या से बचा जा सकता है |


नींद की गोलियों का सेवन करें बंद :


कई व्यक्तियों को रात को नींद नहीं आती है इसलिए उन्हें गोलियों का सेवन करना पड़ता जिसके कारण उन्हें खर्राटे आने की समस्या भी हो जाती है | अगर उन्हें खर्राटों की समस्या से बचाव करना है तो उन्हें नींद की गोलियों से परहेज रखना चाहिए |


सिर को ऊँचा करें :


सोते समय सिर को ऊँचा करके सोने से भी खर्राटों की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है | इसके लिए आप सिर के नीचे तकिया या अन्य उपाय करके लाभ ले सकते है |


उचित रूप से साँस लें :


आपको सोते समय साँस लेने की प्रक्रिया सामान्य रखनी चाहिए | क्योंकि साँस लेने और छोड़ने की क्रिया का संतुलन बिगड़ने के बाद भी खर्राटे आने की समस्या हो सकती है |


नशीले पदार्थों से परहेज रखें :


जो व्यक्ति नशीले पदार्थ जैसे शराब व सिगरेट का सेवन अधिक मात्रा में करता है उन्हें भी खर्राटे आने की समस्या हो सकती है | इसलिए आज से ही नशीले पदार्थों का सेवन बंद करके खर्राटों की समस्या से निजात पायी जा सकती है |


सोने का उचित तरीका :


पीठ के बल सोने वाले व्यक्तियों को अपनी आदत बदल लेनी चाहिए क्योंकि इससे भी खर्राटे आने लगते है |

पति पत्नी के बीच में इस समस्या से कभी भी झगड़ा हो सकता है और उनके रिश्ते बिगड़ने लगते है | इसलिए कपल्स को हमेशा अपनी इस समस्या को दूर करने के लिए उपाय करने चाहिए | खर्राटों की समस्या से बचने के लिए अप ऊपर दिए गए तरीको को आजमा कर अधिक से अधिक लाभ ले सकते है | इसके अलावा आपको अपनी कई बुरी आदतों में भी बदलाव लाना जरूरी है | अगर आपको घरेलू उपायों से ज्यादा फायदा नहीं मिले तो आप इसके लिए डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह लेकर फायदा ले सकते है |

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.