Header Ads

गर्मी में ऐसे बचे सूरज की किरणों से


गर्मी में ऐसे बचे सूरज की किरणों से 

कभी आपने सोचा हैं कि अगर आप थोडा और गोरे होते तो कैसा होता? अपने आपको खुबसूरत, गोरा और सुन्दर बनाये रखने ले लिए हमेशा सूरज की रौशनी से होने वाली कालिमा से बचें. ज्यादातर चेहरे पर कालिमा का कारण सूरज की रौशनी से जलने की वजह से ही होती हैं. इस कालिमा को बढ़ने से रोकने के लिए आप सॅनब्लॉक SPF का इस्तेमाल कर सकते हैं और उसे 30 SPF के बेस सपफ के साथ प्रयोग कर सकते हैं. 


ज्यादातर डरमेटोलोजिस्ट का कहना हैं की 15 SPF अब कारगर नहीं रह गया हैं. खतरनाक अल्ट्रा-वायलेट किरणे आपके चेहरे को नुकसान पहुंचा सकते हैं. घर से बाहर निकलते वक्त टोपी का इस्तेमाल करें. जुलाई और अगस्त के समय इसका विशेष धयान रखें. 


बाज़ार में बहुत सारी प्रकार की टोपिया उपलब्ध हैं आप उसमें से कोई भी इस्तेमाल कर सकते हो और अपनी त्वचा पर ट्रेलब्लेजर का प्रयोग करें. आप कम से कम हफ्ते में 3 दिन इस रासायनिक उत्पाद का इस्तेमाल कर सकते हैं. ग्ल्य्कोलिक हर्ष कोर्रोसिव, रेटिनल और सैलिसिलिक हर्ष कोर्रोसिव आपके चेहरे से कालिमा को खत्म करता हैं. चमकती हुई त्वचा का गोल्ड स्टैण्डर्ड हाइड्रोकुइनिन हैं. आप इसकी खोज ओवर थ काउंटर्स नॉन एसेंशियल आइटम्स 2% या उससे कम में कर सकते हैं. 

कैसे जाने कि लड़का आपको सेक्स की निगाहों से देख रहा है


https://healthtoday7.blogspot.in/
पुरुष के पिछले हिस्‍से में पहले की तुलना में थोड़ा और उभार आ जाता है. साथ ही वह उस स्‍त्री से कुछ ज्‍यादा ही देर तक निगाहें मिलाता है. आंखों की पुतलियां भी फैल जाती हैं. किसी महिला से प्‍यार चाहने की अवस्‍था में पुरुष अपने बालों को संवारने की कोशिश करता है.


अगर पुरुष के पूरे शरीर पर एक निगाह डाली जाए, तो वह थोड़ा और तन जाता है. प्रेम पाने को आतुर पुरुष उस अवस्‍था में कुछ युवा नजर आने लगते हैं. ऐसी स्थिति में वह अपने हाथ की उंगलियों को पूरी तरह खोल लेता हैं. 


शोध में यह बात सामने आई है कि कलाई भी कामुक क्षेत्रों में से एक है. प्‍यार पाने को आतुर पुरुष महिला की कोमल कलाइयों को निहारते हुए उन्हें पकड़ने की कोशिश भी करते है. 



सेक्स की चाह रखने वाली लड़कियों की बॉडी लैंग्वेज




शोधकर्ताओं ने स्‍त्री-पुरुष की भाव-भंगिमाओं को लेकर कुछ ठोस निष्‍कर्ष निकाले हैं. एक-दूसरे से प्‍यार और 'संबंध' बनाने को इच्‍छुक लोगों की बॉडी लैंग्‍वेज के बारे में कुछ तथ्‍य इस प्रकार हैं. प्‍यार के आगोश में पड़ने वाले व्‍यक्ति के चेहरे के उस हिस्‍से में कसावट आ जाती है, जो आमतौर पर थोड़ा फूला होता है. 


ऐसी स्थिति में आंखों में थोड़ी सिकुड़न भी आ जाती है. प्‍यार की चाह वाली अवस्‍था में शरीर का ढीलापन गायब हो जाता है. सीना थोड़ा बाहर की ओर निकल जाता है, साथ ही पेट थोड़ा अंदर की ओर धंस जाता है.


अगर कामातुर महिला की बॉडी लैंग्‍वेज की बात की जाए, तो कुछ बातें एकदम स्‍पष्‍ट नजर आती हैं. स्‍त्री पुरुष को पाने के लिए अनायास ही कुछ प्रयास करती है. महिला अपने बालों को छूती है और अपने कपड़ों पर भी हाथ फेरती है. महिला के एक या दोनों हाथ अचानक पीछे की ओर चले जाते हैं. स्‍त्री अपने शरीर का कुछ भाग पुरुष की ओर झुका देती है. संभोग की इच्‍छुक महिला के गालों की लाली अचानक की बढ़ जाती है. 



कितना स्वास्थवर्धक है स्त्रियों का मास्टरबेशन करना?



कई स्त्रियां मैथुन के लिए एक समय सेट कर लेती हैं, यदि उस दौरान उन्‍हें अकेलापन नहीं मिलता तो उन्‍हें तनाव होने लगता है और गुस्‍सा आने लगता है. ऐसे में अन्‍य लोगों से झगड़े की संभावना बढ़ जाती है. 


हीमेच्‍यूरिया स्त्रियों में पायी जाने वाली वह बीमारी है, जिसमें यूरीन में ब्‍लड आने लगता है. यूरीन गाढ़ी हो जाती है और उसमें से गंध आने लगती है. गुप्‍त रोग विशेषज्ञों के मुताबिक मैथुन की वजह से इस बीमारी के लगने की आशंका बढ़ जाती है. इससे काफी कमजोरी भी आती है और खून की कमी हो जाती है. 


जरूरत से ज्‍यादा मैथुन करने से पीरियड, मासिक धर्म अथवा मेंसुरेशन साइकिल में समस्‍याएं उत्‍पन्‍न होने लगती हैं. इस वजह से गुप्‍तांग में सूखापन आ जाता है और वहां खुजली एवं दर्द होता है. यही नहीं इससे आगे चलकर बच्‍चा होने में भी दिक्‍कत होती है.


अंत में सबसे अहम बात यह कि मैथुन से महिलाओं में यौन इच्‍छाएं कम होने लगती हैं. ऐसा करने पर उन्‍हें संभोग में ज्‍यादा मजा नहीं आता और फिर उन्‍हें सेक्‍स की चरम सीमा तक पहुंचने में दिक्‍कत होती है. 




ऐसे करते है अनल सेक्सऐसे करते है अनल सेक्स



लोग सेक्स कई प्रकार से करते है और कई लोग गुदा मैथुन का भी आंनद लेते हैं. जबकि दूसरों को गुदा मैथुन करने में शर्म आती है और इसे गंदा मानते हैं. गुदा मैथुन को प्रायः वर्जित या निषिद्ध माना जाता है. मज़ा देता है गुदा मिथुन- गुदा को सहलाया जाना अच्छा लग सकता है. गुदा में उंगली प्रवेश कराया जाना भी अच्छा लग सकता है. जब आप पहली बार छूते हैं तो गुदा-द्वार सिकुड़ कर बंद हो जाता है- इसे मांसपेशी की त्वरित प्रतिक्रिया कहते हैं. कुछ देर तक वहां उंगली लगाए रखें, उसके बाद आप आगे बढ़ सकते हैं.


गुदा मैथुन करते समय दर्द नहीं होना चाहिए. लेकिन यदि आपको इस बारे में कोई अनुभव नहीं है, तो यह कष्टदायी हो सकता है. सेक्स के समय चिकनाईयुक्त पदार्थ का प्रयोग करें और सहज रहें, तो दर्द चला जाता है. जब गुदा में लिंग प्रवेश कराते समय दर्द होता है, तो उसे सावधानीपूर्वक बाहर निकाल लें.

जब आप पहली बार गुदा मैथुन करते हैं तो यह कभी-कभार डरावना और कष्टदायी हो सकता है. अनुभव के साथ यह समस्या दूर हो जाती है, संभोग के समय चिकनाईयुक्त पदार्थ का प्रयोग करें और तनावमुक्त बने रहें. 


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.