Header Ads

पुरुषों में कब खत्‍म हो जाती हैं यौन इच्‍छाएं


पुरुषों में कब खत्‍म हो जाती हैं यौन इच्‍छाएं

क्‍या आपके पति ने आपको छूना बंद कर दिया है, या फिर कई-कई दिन बीत जाते हैं और आप दोनों के बीच यौन संबंध स्‍थापित नहीं होते? जब आप अपने पति के करीब जाती हैं तो क्‍या वो आपसे दूर हटते हैं या फिर क्‍या वो आपके सामने सेक्‍स करने की इच्‍छा प्रकट नहीं करते? इन सभी सवालों के जवाब यहां इस लेख में मिलेंगे। जी हां हम आपको बतायेंगे कि पुरुषों में कब अपनी पत्‍नी में रुचि कम होने लगती है। हम उन कारणों पर चर्चा करेंगे कि जिसके कारण पति अपनी पत्‍नी से सेक्‍स करना कम कर देते हैं या बंद कर देते हैं। 
1. सबसे पहला कारण यह कि अगर बेडरूम के अंदर रोमांच की कमी होगी, तो पुरुषों का मन सेक्‍स से हट जाता है। इसके लिए आपको पोजीशन बदल-बदल कर सेक्‍स करना चाहिये, इससे हर पोजीशन में आपके पार्टनर को एक नया अनुभव होगा, जिससे प्‍यार बना रहेगा।
2. यदि आप मोटी हो रही हैं, तो समझ लीजिये कुछ ही दिनों में आपके पति के अंदर सेक्‍सुअल इच्‍छाएं कम हो सकती हैं। लिहाजा हमेशा यह कोशिश करें कि आपकी बॉडी में फैट नहीं बढ़े। 
3. बच्‍चा पैदा होने के बाद अक्‍सर महिलाएं अपने पतियों से दूरियों का अहसास करती हैं। इसका मुख्‍य कारण होता है योनि में ज्‍यादा स्‍पेस होना। यानी उसका साइज बढ़ जाना। ऐसे में पति को ज्‍यादा मजा नहीं आता।
4. बेडरूम में झगड़ा करने से भी पतियों के अंदर सेक्‍स की इच्‍छा खत्‍म हो जाती है। लिहाजा बेहतर होगा यदि आप अपने पति से सोने से पहले झगड़ा मत करें। दूसरी बात सेक्‍स करते वक्‍त कोई भी ऐसी बात नहीं छेड़ें जिससे उसे गुस्‍सा आये। 
5. यदि आपके पति ने सेक्‍स करना बंद कर दिया है या कम कर दिया है, तो हो सकता है उसके कारण ऊपर के सभी कारणों से अलग हो, क्‍योंकि कई बार ऑफिस में अत्‍याधिक काम का बोझ और काम का टेंशन भी सेक्‍सुअल इच्‍छाओं का दमन कर देता है। 
6. यौन शक्ति का कम होना भी एक बड़ा कारण है। उम्र के साथ ऐसा होता है। उम्र ढलने पर पुरुषों के यौन अंग कमजोर पड़ने लगते हैं। यदि ऐसा हो तो आप खुल कर उनसे बात करें और डॉक्‍टर से सलाह लें।

गर्भावस्था मे सम्बन्ध बनाना कितना सही है ?



कईयों के लिए टेंशन की वजह! हज़्बंड को भी इस वक्त सेक्स का मन हो सकता है लेकिन वाइफ की हेल्थ को लेकर डर, या बच्चे की फिक्र सारी एक्साइटमेंट को ठंडा कर देती है।

दरअसल, विमिंस जब प्रेग्नेंट हों तब सेक्स करना बुरा नहीं है। नॉर्मल प्रेग्नेंसी में आप डिलिवरी तक सेक्शुअल रिलेशन बना सकती हैं। लेकिन इंडियन मेंटैलिटी मानती है कि प्रेग्नेंट विमिन को डिलिवरी के लिए उसके पैरंट्स के घर भेज दिया जाता है। ऐसा माना जाता है कि लास्ट वीक्स में सेक्स नहीं करना चाहिए, इससे वक्त से पहले डिलिवरी पेन हो सकता है।
इससे बचें:

- सॉफ्टली लव रिलेशन रखें। यदि आपको तकलीफ होती है तो डीप पेनिट्रेशन से बचें।
- सेक्स के दौरान किसी बाहरी वस्तु का इस्तेमाल न करें।

- उन टबों, बिस्तरों या काऊचों पर सेक्स न करें जो कमजोर हों।
- सेक्स के बाद अपने प्राइवेट पार्ट के आपपास एरिया को एक साफ तौलिए या टिशू पेपर से साफ करें।
- चिकनाई युक्त क्रीम या जेल से बचें जिनसे जलन या एलर्जी हो सकती है |

क्या सेक्स से बेबी को नुकसान हो सकता है?

सेक्स करने से आपके बेबी को नुकसान नहीं पहुंचेगा। एक गाढ़ा म्यूकस प्लग वॉम्ब के डोरवे को बंद कर देता है और इन्फेक्शन से बचाव में मदद करता है। 'पानी की थैली' और यूटेरस की मसल्स आपके बेबी को सेफ रखते हैं।

क्या सेक्स पहले जैसा अच्छा लगेगा?

कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स में काफी आनंद आता है क्योंकि अब उन्हें गर्भधारण और फैमिली प्लानिंग की कोई टेंशन नहीं होती। बढ़ी ब्लीडिंग का मतलब है कि आपकी सेक्शुअल रिलेशन की अनुभूति बढ़ गई है। लेकिन इसी वजह से कुछ महिलाओं को सेक्स के बाद भारी सा महसूस होता है। कुछ महिलाओं को सेक्स के दौरान परेशानी महसूस होती है, या पेट में मरोड़ भी हो जाती है।

क्या ओरल सेक्स सुरक्षित है?

हां, सामान्य ओरल सेक्स से आपको तथा आपके बेबी को कोई नुकसान नहीं पहुंचता और अनेक पति-पत्नियों को सेक्स का जोखिम उठाने के बजाए यह तरीका बेहतर 

लड़कियों में चरम आनंद या आर्गैज़्म

जब किसी लड़की को चरम आनंद महसूस होता है, तो योनि और गुदा के आस-पास पेड़ू तल (पेल्विक फ्लोर) की मांसपेशियां एक साथ लयबद्ध तरीके से सिकुड़ती हैं, तनाव में आती हैं और ढीली पड़ती हैं।

कभी-कभार गर्भाशय भी सिकुड़ता है और फैलता है। इस संकुचन से पेडू़ में बहुत अधिक आनंद महसूस होता है।

कुछ लड़कियां तो यह आनंद अपने पूरे शरीर में महसूस करती हैं। यह चरम आनंद आपके पूरे शरीर को रोमांचित कर सकता है।
एक से अधिक बार आर्गैज़्म
लड़कियां एक साथ एक से अधिक बार आर्गैज़्म महसूस कर सकती हैं, जिनके बीच अंतर बहुत कम हो सकता है। ऐसा इसलिए संभव है क्योंकि आर्गैज़्म के 10 से 15 सेकेंड बाद टिठनी अपने सामान्य आकार में आ जाती है। और यह फिर से उत्तेजना के लिए तैयार हो जाती है। लड़कों को वीर्यपात के बाद सामान्य होने में इससे अधिक देर लगती है।
आर्गैज़्म महसूस करते समय कुछ लड़कियों की योनि से तरल की धार निकलती है। यह पेशाब नहीं होती, बल्कि योनिस्राव योनि का तरल पदार्थ होता है।

लड़कियां किस प्रकार आर्गैज़्म महसूस कर सकती हैं ?
टिठनी को सहलाएं, उदाहरण के तौर पर उसे उंगली से या जीभ से महसूस कर ऐसा किया जा सकता है। अधिकांश लड़कियों को केवल योनि-सेक्स करने से आर्गैज़्म महसूस नहीं होता। क्योंकि योनि तुलनात्मक रूप से कम संवेदनशील होती है, और केवल योनि में लिंग के अंदर-बाहर होने से टिठनी को पर्याप्त उत्तेजना नहीं मिल पाती। उंगली से सहलाना और मुख मैथुन भी देखें।
जी-स्पोट
कुछ लड़कियों में जी-स्पोट भी मौज़ूद होता है। यह, योनि के तीन-पांच सें. मी. अंदर सामने वाली सतह पर सिक्के के आकार का एक क्षेत्र होता है। कुछ लड़कियों के लिए इसका कोई खास महत्व नहीं होता, लेकिन दूसरों के लिए यह विषेश संवेदनशील होता है। इसे उंगली द्वारा या कुछ विशेष आसनों में मैथुन करते समय उत्तेजित किया जा सकता है।
स्तन और सेक्स
स्तन और खासकर उनके निप्पल, छूने के प्रति संवेदनशील होते हैं और आपके उत्तेजित होने पर कड़े तथा बड़े हो जाते हैं। निप्पल के चारों ओर का घेरा फूल जाता है और उनका रंग अधिक गहरा हो जाता है, तथा वहां की चमड़ी ऊबड़-खाबड़ हो जाती है। कई लड़कियों को सेक्स के समय अपने स्तन और निप्पल सहलाया जाना पसंद है। आपके साथी ऐसा करने के लिए अपनी उंगलियों, होठों, जीभ या दांतों का भी प्रयोग कर सकते हैं। जब स्तनों को छुआ जाता है तो उसका असर आपको योनि में महसूस होता है, जिसमें चिकनाई या गीलापन आ जाता है। यदि आपके स्तनों और भग को साथ-साथ छुआ-सहलाया जाए, तो विषेश आनंद महसूस हो सकता है।

सेक्स के बाद की यौन क्रिया
सेक्स करने के बाद एक-दूसरे के पास-पास लेटना, सहलाना और बातें करना अच्छा लगता है। खासकर कई लड़कियों को सेक्स के बाद की जाने वाली यौन क्रिया बहुत ज़रूरी लगती है।

पोर्न फिल्में, सेक्सी तस्वीरें और सेक्स




रोजमर्रा की जिन्दगी में सेक्स को अब एक आम बात माना जाने लगा है। युगल दिन भर के अन्य कामों की तरह ही रात को बिस्तर में हमबिस्तर होते हैं लेकिन इस तरह से जैसे यह भी कोई काम है जिसे करना जरूरी है।
इस तरह की क्रिया से सेक्स के प्रति रूचि कम होने लगती है और एक वक्त ऎसा भी आता है जब पति पत्नी के मध्य सेक्स की क्रिया नहीं के बराबर हो पाती है। यदा-कदा अगर ऎसा होता भी है तो इस क्रिया में वो आनन्द और मजा नहीं आता जिसकी चाह हर औरत और पुरूष को रहती है।आम तौर पर युवाओं में आजकल सेक्स के प्रति अरूचि होने के समाचार ज्यादा मिलते हैं। इसकी एक वजह जहां तनाव भरी जिन्दगी है वहीं दूसरी ओर इस कार्य को करने की जानकारी का अभाव है। अक्सर युगल रात को हमबिस्तर होते वक्त एक ही क्रिया से सेक्स करते हैं जिससे इस काम में आनन्द का अभाव महसूस होता है। हाल ही में एक सर्वे से यह साबित हुआ है कि अपनी सेक्स लाइफ को दिलचस्प और मनोरंजन बनाने के लिए सेक्स वीडियो या पोर्न फिल्मों को देखना चाहिए। इस वीडियोज और फिल्मों के जरिए रचनात्मकता के साथ सेक्स करने की प्रेरणा मिलती है। सबसे अहम बात यह है कि पोर्न वीडियो को सिर्फ मनोरंजन के लिए मत देखें, यदि आप उससे कुछ सीखने के प्रयास करेंगे, तो आपकी लव लाइफ बेहतरीन हो जाएगी।कई युगल ऎसे होते हैं, जो एक साथ बैठकर पोर्न फिल्में या पोर्न तस्वीरें देखने में झिझकते हैं। चाहे भले ही उनकी शादी को कई साल क्यों न हो गए हों। आम तौर पर महिलाएं ऎसे वीडियो या तस्वीरें देखने से झिझकती हैं। लेकिन सही मायने में ऎसा करने से सेक्स के प्रति भूख बढती है और सेक्स की इच्छा ज्यादा हो जाती है।वीडियो या पोर्न फिल्में एक साथ देखने से आप अपने पार्टनर के साथ ज्यादा खुल सकेंगे। इन्हें देखने के बाद आप सेक्स के नए तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं। यही नहीं यदि आपके साथी को चरम सीमा तक पहुंचने में देर लगती है, तो पोर्न वीडियो इस मामले में कारगर साबित हो सकते हैं।यदि आपकी पार्टनर पोर्न तस्वीरें नहीं देखना चाहती है, तो अच्छा होगा कि आप उसे वीडियो दिखाएं। उन्हें ऎसे वीडियो दिखाएं जिसमें çस्त्रयों के एक्शन ज्यादा हों। इससे आपकी पार्टनर भी क्रियाएं बदल-बदल कर सेक्स करने में सहयोग करेगी और आपकी सेक्स लाइफ जिसमें रिक्तता महसूस होने लगी उसमें फिर से क्रियाशीलता आएगी। 



सेक्स में क्यों,वाइल्ड हो जाती हैं महिलाएं!




कई बार महिलाएं बिस्तर पर सेक्स के दौरान बहुत वाइल्ड हो जाती हैं और बिल्लियों की तरह व्यवहार करती हैं। जैसे की सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को नाखून से नोंचना और दांत लगा देना इत्यादि। इसके पीछे कई कारण हैं कि महिलाएं बिस्तर पर ऎसी क्यों हो जाती हैं। लेकिन सब महिलाएं ऎसा नहीं करती। कुछ महिलाएं शर्मिली होती हैं जबकि कुछ सेक्स के दौरान काफी सहज महसूस करती है। आइए जानते हैं महिलाएं कैसे और क्यों सेक्स के दौरान ऎसा करती हैं।


नाखूनों से नोंचना:


कई महिलाएं सेक्स के दौरान बिल्लियों जैसा व्यवहार करती हैं। जैसे अपने पार्टनर को नाखूनों से नोंच लेती हैं। कई बार सेक्स के दौरान महिलाएं अपने पार्टनर की पीठ, सीने और बाजुओं पर नाखूनों से स्क्रैच कर देती हैं। कुछ महिलाओं को ऎसा करना पसंद होता हैं।


लव बाइट:


कुछ महिलाएं सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को किस करते समय उनके होंठों को हल्के से काट लेती हैं। ऎसा करने से महिलाएं खुद को उत्तेजित करती हैं। कई बार महिलाएं ज्यादा उत्तेजना में भी ऎसा करती हैं।

बिल्ली की तरह झपटना:

कई महिलाओं को वाइल्ड सेक्स पसंद होता है। बिस्तर पर सेक्स के दौरान जैसे जैसे महिला की उत्तेजना बढती जाती है, तो वह वाइल्ड होना शुरू कर देती हैं। वाइल्ड होने पर वह अपने पार्टनर पर बिल्ली की तरह झपटती हैं और अपने पार्टनर को भी वाइल्ड करने की कोशिश करती है।

प्रथम संभोग:

जब महिला का प्रथम संभोग होता है तो कई महिलाओं को काफी पीडा का सामना करना पडता है। पीडा और दर्द के कारण महिलाएं अपने पार्टनर की पीठ, सीने और बांहों पर अपने नाखून लगा देती हैं। साथ ही कई जगहों पर अपने दांतों से पुरूष मित्र को काट भी लेती हैं।

ज्यादा उत्तेजना:

कई बार महिलाएं सेक्स के दौरान ज्यादा उत्तेजना के कारण भी वाइल्ड हो जाती हैं। जब पुरूष मित्र महिला को अच्छा फोरप्ले देता है तो महिला ज्यादा उत्तेजित हो जाती है। ज्यादा उत्तेजित होने पर महिलाएं सेक्स के दौरान किस करते समय अपने पार्टनर के होंठ हल्के से काटती हैं। यह व्यवहार भी बिल्लियों की तरह ही होता है। कई महिलाएं ऎसा करके खुद को उत्तेजित भी करती हैं। 


सेक्स में क्यों,वाइल्ड हो जाती हैं महिलाएं!
कई बार महिलाएं बिस्तर पर सेक्स के दौरान बहुत वाइल्ड हो जाती हैं और बिल्लियों की तरह व्यवहार करती हैं। जैसे की सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को नाखून से नोंचना और दांत लगा देना इत्यादि। इसके पीछे कई कारण हैं कि महिलाएं बिस्तर पर ऎसी क्यों हो जाती हैं। लेकिन सब महिलाएं ऎसा नहीं करती। कुछ महिलाएं शर्मिली होती हैं जबकि कुछ सेक्स के दौरान काफी सहज महसूस करती है। आइए जानते हैं महिलाएं कैसे और क्यों सेक्स के दौरान ऎसा करती हैं।

नाखूनों से नोंचना:

कई महिलाएं सेक्स के दौरान बिल्लियों जैसा व्यवहार करती हैं। जैसे अपने पार्टनर को नाखूनों से नोंच लेती हैं। कई बार सेक्स के दौरान महिलाएं अपने पार्टनर की पीठ, सीने और बाजुओं पर नाखूनों से स्क्रैच कर देती हैं। कुछ महिलाओं को ऎसा करना पसंद होता हैं।
लव बाइट:
कुछ महिलाएं सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को किस करते समय उनके होंठों को हल्के से काट लेती हैं। ऎसा करने से महिलाएं खुद को उत्तेजित करती हैं। कई बार महिलाएं ज्यादा उत्तेजना में भी ऎसा करती हैं।

बिल्ली की तरह झपटना:

कई महिलाओं को वाइल्ड सेक्स पसंद होता है। बिस्तर पर सेक्स के दौरान जैसे जैसे महिला की उत्तेजना बढती जाती है, तो वह वाइल्ड होना शुरू कर देती हैं। वाइल्ड होने पर वह अपने पार्टनर पर बिल्ली की तरह झपटती हैं और अपने पार्टनर को भी वाइल्ड करने की कोशिश करती है।

प्रथम संभोग:

जब महिला का प्रथम संभोग होता है तो कई महिलाओं को काफी पीडा का सामना करना पडता है। पीडा और दर्द के कारण महिलाएं अपने पार्टनर की पीठ, सीने और बांहों पर अपने नाखून लगा देती हैं। साथ ही कई जगहों पर अपने दांतों से पुरूष मित्र को काट भी लेती हैं।

ज्यादा उत्तेजना:

कई बार महिलाएं सेक्स के दौरान ज्यादा उत्तेजना के कारण भी वाइल्ड हो जाती हैं। जब पुरूष मित्र महिला को अच्छा फोरप्ले देता है तो महिला ज्यादा उत्तेजित हो जाती है। ज्यादा उत्तेजित होने पर महिलाएं सेक्स के दौरान किस करते समय अपने पार्टनर के होंठ हल्के से काटती हैं। यह व्यवहार भी बिल्लियों की तरह ही होता है। कई महिलाएं ऎसा करके खुद को उत्तेजित भी करती हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.