Header Ads

गर्भ के पहले तीन महीनो में ये बिलकुल न खाएं

गर्भ के पहले तीन महीनो में ये बिलकुल न खाएं


गर्भ के पहले तीन महीनो में ये बिलकुल न खाएं
प्रेगनेंसी के बारे में जैसे ही आपको या आपके परिवार वालों को पता चलता है, तो हर कोई अपना एक्सपीरियंस और सलाह देने लगता है, ऐसे में हर कोई अलग अलग अनुभव बताता है, जिसके कारण महिला कंफ्यूज हो जाती है, किसकी बात माने और किसकी बात न माने, और पहले तीन महीने महिला के लिए बहुत अहम होते भी है, और थोड़ी सी लापरवाही कई बार गर्भपात का कारण भी बन जाती है, क्योंकि इस दौरान शरीर में बहुत तेजी से हार्मोनल परिवर्तन भी आते है, साथ ही महिला के स्वभाव में परिवर्तन, शारीरिक रूप से बदलाव, मानसिक रूप से चिडचिडापन होना आम बात होती है,

https://healthtoday7.blogspot.in/

ऐसे में महिला को धैर्य से काम लेना चाहिए, और महिला के पति को भी उसका अच्छे से ध्यान रखना चाहिए, इस अलावा महिला को अपने स्वास्थ्य का भी अच्छे से ध्यान रखना चाहिए, जैसे की अपने खान पान का पर पूरा ध्यान देना चाहिए क्योंकि प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने यदि आप गरम चीजो, विटामिन सी युक्त आहार, कच्ची सब्जियों आदि का सेवन करते है तो आपको परेशानी का अनुभव करना पड़ता है, साथ ही कई बार गर्भपात या अन्य कोई परेशानी हो जाती है, तो आइये आज हम आपको बताते हैं की प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने आपको क्या क्या नहीं खाना चाहिए।
कच्चे पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए:-
प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने ही नहीं बल्कि हो सकें तो प्रेगनेंसी के पूरे समय आपको कच्चे पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है, जिसके कारण यदि आप इसका सेवन करते है तो गर्भपात का खतरा बना रहता है।

दवाइयों का सेवन न करे:-

प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में शरीर के अंगो में दर्द रहना, या उलटी आदि की समस्या होना आम बात होती है, ऐसे में इससे राहत के लिए आपको किसी भी तरह की दवाई का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि गर्भनाल के रास्ते रक्त के माध्यम से बच्चे तक उसके पहुँचने की आशंका रहती है, जो शिशु पर गलत प्रभाव डाल सकती है, यदि आपको अधिक परेशानी है तो भी बिना डॉक्टर की राय के किसी भी तरह की दवाई का सेवन न करें।
कच्चे मास, अंडे आदि का सेवन न करें:-

प्रेगनेंसी के खासकर पहले तीन महीने आपको कच्चे अंडे, मास, पनीर आदि का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि आप इसका सेवन करते है तो इसके मौजूद गंदे तत्व आपके शरीर में प्रवेश कर जाते है जिसके कारण आपको परेशानी का अनुभव होता है।
ज्यादा तला भुना न खाएं:-
https://healthtoday7.blogspot.in/
इस समय जितना हो सकें आपको ज्यादा तला भुना खाने से बचना चाहिए क्योंकि यदि आप अधिक तले भुने खाने का सेवन करते है, तो इसके कारण आपको पेट में जलन, गैस आदि की समस्या हो जाती है, इसीलिए आपको ज्यादा तले भुने और मसालेदार भोजन का सेवन करने की बजाय हलके और पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए।
बासी भोजन का सेवन न करें:-

बासी व् फ्रिज में रखे हुए ठन्डे भोजन का सेवन भी आपको नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपको उस भोजन को पचाने में समस्या होती है, जिसके कारण आपको बाद में पेट दर्द आदि भी होने लग जाता है, और उसमे किसी तरह के पोषक तत्व भी नहीं होते है जिसके कारण वो आपकी सेहत को नुकसान ही पहुंचाता है।

कटहल व् अनानास का सेवन न करें:-


प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने खासकर आपको कटहल व् अनानास या उसके रस का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें भी विटामिन सी की अधिकता होने के कारण इसके सेवन से गर्भपात का खतरा बना रहता है।
डिब्बा बंद चीजों का:-

आपको इस दौरान डिब्बा बंद चीजों के सेवन को नज़रअंदाज़ करना चाहिए, जैसे की डिब्बा बंद जूस, ने आहार आदि, क्योंकि इनमे मिलावट होती है,और जो केमिकल इन्हे बनाने में इस्तेमाल किया जाता है, वो कई बार आपको और शिशु के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।
सी फ़ूड न खाएं:-

सी फ़ूड के सेवन से भी आपको परहेज करना चाहे, यदि आप खाना चाहते हैतो मछली का सेवन कर सकते है, और वो अच्छी तरह से पकाई हुई, क्योंकि सी फ़ूड का सेवन बच्चे के दिमाग पर बुरा असर डालता है, और उसे कमजोर बना देता है, इसीलिए शिशु के मानसिक रूप से विकास के लिए इससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए।
इलायची का सेवन न करें:-


इन दिनों में आपको इलायची का सेवन नहीं करना चाहिए, न ही चाय में, और न ही अन्य किसी चीज में क्योंकि यदि आप इलायची का सेवन अधिक मात्रा में करते है, तो इससे भी आपको गर्भपात का खतरा रहता है।
ड्राई फ्रूट्स से परहेज करें:-

ड्राई फ्रूट्स की तासीर भी गरम होती है, इसके लिए यदि आप प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों में इसका सेवन अधिक मात्रा में करते है, तो इससे भी आपके गर्भपात के चांस बढ़ जाते है, इसीलिए आपको गर्भपात की समस्या से बचने के लिए ड्राई फ्रूट्स का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रेगनेंसी के पहले तीन महीनो के लिए अन्य टिप्स:-
दाल, पनीर, अंडा, सोयाबीन, दूध, दही, पालक, गुड़, अनार, चना, पोहा, आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए।
फल व् हरी सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।
हर दो से तीन घंटे के अंतराल में कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए।
पानी का भरपूर सेवन करना चाहिए।
ओमेगा-3 और ओमेगा-6 से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए इससे गर्भ में पल रहे शिशु का तेजी से विकास होने में मदद मिलती है।
फलों के रस, सलाद, आदि का सेवन भी भरपूर मात्रा में करना चाहिए।
प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीने ये बिल्कुल न करें:-
भारी वजन न उठाएं।
लम्बी यात्रा से परहेज करें।
ज्यादा ड्राइविंग को भी नज़रअंदाज़ करें।
हील्स यानि ज्यादा ऊंचे सैंडल्स को न पहने।
ज्यादा व्यायाम न करें।
डांस आदि न करें।
झुककर या पेट के बल कोई भी काम न करें।

तो ये कुछ आहार हैं जिन्हे प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने में बिल्कुल नहीं खाना चाहिए साथ ही जो आपको खाना चाहिए इस बारे में भी बताया गया है, पहली तिमाही महिला के लिए बहुत कठिन होता है, क्योंकि इस दौरान महिला बहुत से नए बदलाव से गुजरती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.