Header Ads

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं करती थीं ऐसे-ऐसे काम


पुराने समय में प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं करती थीं ऐसे-ऐसे काम
सनलाइट से भी बनाकर रखती थीं दूरी।


जब घर में मम्मी और दादी होती है तो हमें अक्सर ही उनके जमाने की कई बातें सुनने को मिलती हैं। फिर हमें अहसास होता है कि इतने सालों में चीजें कितनी बदल गई हैं। अपने अन्य अनुभवों के साथ ही खासतौर से लड़कियों से प्रेगनेंसी के अनुभव शेयर करती हैं। 

हम सभी ने देखा है कि आजकल तो अधिकतर डिलीवरी हॉस्पिटल्स में होती हैं और जो नार्मल चाहते हैं उनकी भी सिजेरियन हो जाती है। लेकिन हमारे पेरेंट्स का जमाना अलग था। तब तो घर पर भी बच्चे पैदा हो जाया करते हैं। मेरी मम्मी अक्सर ही कहानी सुनाया करती है कि तेरी बड़ी बहन तो बाथरूम में ही पैदा हो गई थी। उस दौरान की गर्भवती महिलाओं की लाइफस्टाइल भी अलग होती थी और वो इतना ज्यादा दवाई-गोलियों पर निर्भर नहीं थी। 

ये तो कुछ बातें हैं जो आपने भी कभी ना कभी सुनी होगी। ये हमारे देश की बात है। मगर पुराने जमाने में दुनियाभर में गर्भवती महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान ऐसी-ऐसी चीजें करती थीं, जो आपको चौंका देंगी।



पहनती थीं यह 




हम सभी जानते हैं कि अपने फिगर को मैंटेन रखने के लिए एक जमाने में महिलाएं कोर्सेट पहना करती थीं। उस दौरान गर्भवती महिलाएं को भी यह पहनाया जाता था। माना जाता है कि ऐसा करने से महिला के साथ ही बच्चा भी स्वस्थ पैदा होता था।

सुरक्षित नहीं होता था


लेबर के दौरान गर्भवती महिलाओं की बॉडी में एपीड्यूरल इंजेक्ट कर एक हिस्से को सुन्न किया जाता है। लेकिन इनके आने से पहले उन्हें क्लोरोफॉर्म या ईथर का डोज दिया जाता था जो इतना सुरक्षित नहीं होता था। 

इंटिमेसी को ना 


मॉडर्न टाइम में तो डॉक्टर्स कुछ सावधानियों के साथ इंटिमेट होने की इजाजत दे देते हैं। मगर उस दौर के एक जाने-माने डॉक्टर का मानना था कि बच्चे के जन्म से पहले ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए, वरना बच्चा कामुक विचारों वाला पैदा होता है।



कार राइड 


हम तो कार राइड को प्रेगनेंट महिला के लिए सुरक्षित मानते हैं। मगर पुराने दौर में माना जाता था कि कार राइड के दौरान दचके लगने से बुरा प्रभाव पड़ता है। इसलिए महिलाएं ट्रेन से सफर करती थीं।

स्मोकिंग का सुझाव 



आज तो सिगेरट के पैकेट्स पर खास हिदायत दी जाती है कि गर्भवती महिलाएं इसका सेवन ना करें। यह होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता है। मगर उन दिनों डॉक्टर्स खुद महिलाओं को स्मोकिंग की सलाह देते थे। 

देखें कुछ अच्छा 


पुरानी मान्यताओं के अनुसार गर्भावस्था या डिलीवरी के दौरान किसी सुंदर वस्तु पर ध्यान लगाने से बच्चा भी सुंदर पैदा होता है। इस बात में कितना लॉजिक है, यह तो आप समझ ही सकते हैं। 


ड्रिंक करना 



तब डॉक्टर्स प्रेगनेंट महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान रेड वाइन पीने की हिदायत देते थे। फिर बाद में हुई स्टडीज में सामने आया कि थोड़ी मात्रा में अल्कोहल ठीक है। लेकिन महिलाएं इसका सेवन ना करें तो ही नवजात के लिए बेहतर रहेगा। 

कार्विंग्स पर कंट्रोल 



प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कभी कुछ तो कभी कुछ खाने का मन करता है। ऐसे में हेल्दी खाना जरूरी है। मगर पुराने समय में फिजिशियन स्वास्थ्य की दृष्टि से नहीं बल्कि सुंदरता के लिए उन्हें खाने पर कंट्रोल रखने की हिदायत देते थे। 


सनलाइट से दूरी 


विटामिन डी तो सभी के लिए जरूरी होता है। इसलिए कुछ देर सूर्य की रोशनी में सभी को रहना चाहिए। लेकिन महिलाओं को हिदायत दी जाती थी कि वो सनलाइट में बिल्कुल भी बाहर ना निकले, ये बच्चे के लिए नुकसानदायक होगा। 


अजीब डिलीवरी मेथड्स 



उस दौर में कुछ घुमा देने वाली डिलीवरी मेथड्स को फॉलो किया जाता था। इनमें से एक में तो डिलीवर में दिक्कत होने पर हंस का सीमेन पीया जाता था।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.