Header Ads

एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पाने के आसान घरेलु उपाय


एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पाने के आसान घरेलु उपाय



आज पूरी दुनिया पैसे के पीछे पागल है। कभी-कभी गलत लाइफस्टाइल या गलत खानपान के कारण एसिडिटी की समस्या हो जाती है। वैसे तो यह कोई बड़ी समस्या नहीं होती है। पर एसिडिटी होने पर पेट में तेज जलन और खट्टी डकारें आने लगते हैं। जिससे बहुत तकलीफ होती है।


एसिडिटी की समस्या से आराम कैसे पाएं: 


# एसिडिटी की समस्या होने पर एक गिलास ठंडे पानी में एक नींबू का रस और एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पिए। ऐसा करने से आपको तुरंत ही एसिडिटी की समस्या से आराम मिल जाएगा।


# केले में भरपूर मात्रा में एल्कलाइन प्रॉपर्टीज मौजूद होती हैं जो पेट के एसिड को न्यूट्रीलाइज करते हैं। केला खाने से एसिडिटी की समस्या से आराम मिल जाता है।


# अगर आपको अक्सर एसिडिटी की समस्या रहती है तो नियमित रूप से एक ग्लास ठन्डे दूध का सेवन करें। दूध पेट में जाकर एसिड को न्यूट्रीलाइज करता है और पेट को ठंडक पहुंचाता है।


एसिडिटी की समस्या दूर करने के लिए ये आसान घरेलू उपचार हो सकते है कारगर



हेल्थ डेस्क। खान-पान की अनियमित आदत और खाने का पाचन ठीक से ना होने के कारण अक्सर लोगों को एसिडिटी की समस्या का सामना करना पड़ता है। एसिडिटी को आयुर्वेद में अम्लपित्त के नाम से जाना जाता है और इसकी वजह से आपकी छाती और पेट में कई समस्याएं उत्पन्न होती है।

एसिडिटी के प्रमुख लक्षणों में सीने में दर्द और जलन, मुंह में खट्टा पानी आना आदि शामिल है। अगर आप भी अक्सर इस समस्या से पीड़ित होते है तो इन आसान घरेलू उपायों से आप इस समस्या को दूर कर सकते है।





तुलसी - तुलसी के पत्ते आपके पेट को अधिक कफ उत्पन्न करने में मदद करते हैं और इनमें एंटी-अल्सर गुण भी होती हैं। इसके अलावा ये गैस्ट्रिक एसिड के प्रभाव को भी कम करते हैं। एसिडिटी से पीड़ित होने पर पांच या छह तुलसी की पत्तियों को चबाना इस समस्या को दूर करने का एक प्रभावी तरीका है।

केला - आप एसिडिटी की समस्या को दूर करने के लिए पका हुआ केला खा सकता है। इनमें पोटेशियम की मात्रा अधिक होने के कारण ये आपको एसिडिटी की समस्या से राहत प्रदान करता है।




जीरा - जीरे में ऐसे गुण होते हैं जो लार के उत्पादन को बढ़ाकर करके बेहतर पाचन में मदद करता है और चयापचय में सुधार करता है। जीरा आपको गैस और अन्य गैस्ट्रिक परेशानियों से भी राहत प्रदान करता है। आप एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए जीरे के कुछ बीजों का सेवन कर सकते है या जीरे को पानी में उबाल कर ठंडा होने के बाद इस पानी को पी सकते हैं।

ठंडा दूध - दूध में कैल्शियम की मात्रा बहुत अधिक होती है जो एसिडिटी की समस्या को बढ़ने से रोकती है और इसमें कमी भी करती है। वास्तव में एसिडिटी के दौरान ठन्डे दूध का सेवन करना आपको जलन से राहत प्रदान करता है। लेकिन इसको पीते समय इसमें चीनी ना मिलाएं।



पुदीना - अगर आपको एसिडिटी की समस्या होती है तो इस दौरान पुदीने के पत्ते लें, इसे उबलते हुए पानी में डालें और बाद में इस पानी को ठंडा कर के पीएं। पुदीना पेट की एसिड सामग्री को कम करने में मदद करता है और पाचन में सुधार करता है। इसका आपने पेट में ठंडा प्रभाव भी होता है जो एसिडिटी से होने वाले दर्द और जलन को कम करने में मदद करता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.