Header Ads

समय के साथ पीरियड्स और मेनोपॉज में बदलाव आ रहा है ये है कारण



समय के साथ पीरियड्स और मेनोपॉज में बदलाव आ रहा है ये है कारण

depressed girl के लिए इमेज परिणाम



उम्र के साथ महिलाओ के शरीर में बहुत से परिवर्तन होते है, जैसे की आठ से सत्रह वर्ष की उम्र में महिलाओ को माह वारी होने लगती है, ये हर महिला के साथ होने वाली सभी शारीरिक प्रक्रियाओ में से एक है, मासिक धर्म के होने पर महिलाओ के प्राइवेट पार्ट से रक्त का प्रवाह होता है, और महिलाओ को माह वारी होना भी बहुत जरुरी है, क्योंकि इसके न होने पर महिला कभी भी माँ नहीं बन सकती है, कई महिलाओ को मासिक धर्म के दौरान पेट या कमर दर्द की समस्या सामना भी करना पड़ता है, इसके बाद उम्र के एक पड़ाव पर आने के बाद महिलाओ को मासिक धर्म होना बंद हो जाता है, इस स्थिति को मैनो पोज़ कहा जाता है।

इन्हें भी पढ़ें:- मासिक धर्म कब होता हैं, मासिक धर्म कैसे होता हैं
मासिक धर्म कब होता है, मासिक धर्म कैसे होता है के लिए इमेज परिणाम

मेनोपॉज या रजोनिवृति कोई बिमारी नहीं है, बल्कि ये भी शरीर में होने वाली एक प्रक्रिया ही है, जिससे हर महिला को एक उम्र के बाद गुजरना पड़ता है, और मेनो पॉज के होने पर महिलाओ की प्रजनन क्षमता खत्म हो जाती है, और महिला उसके बाद कभी भी माँ नहीं बन पाती है, क्योंकि इसके शरीर में होने पर महिला गर्भ में बच्चे को रहने के लिए सक्षम नहीं रह जाती है, तो ये मासिक धर्म और रजोनिवृति के बारे में कुछ बातें थी, परंतु क्या आप जानते है की आज के समय में महिलाओ के पीरियड्स के समय में और मेनोपॉज की अवस्था में भी बदलाव आ रहा है, जबकि पहले के समय में लड़कियां न तो इतनी जल्दी जवान होती थी, और न ही उनके अंडर इतनी जल्दी शारीरिक बदलाव आते थे।
मासिक धर्म कब होता है, मासिक धर्म कैसे होता है के लिए इमेज परिणाम



पहले के समय में जहां लड़कियां पंद्रह से सोलह वर्ष की आयु में माहवारी से ग्रसित होती थी, वही आज लड़कियां आठ से सत्रह की उम्र में लड़कियां माहवारी की शिकार हो जाती है, लड़कियों का शारीरिक विकास भी पहले के मुकाबले आज के समय में तेजी से हो रहा है, इसके साथ महिलाये एक लंबी उम्र के बाद भी बच्चे को जन्म देने के लिए सक्षम है, इसके कई कारण हो सकते है, लोगो के रहन, सहन, खान, पान, बातें करने के ढंग के कारण, टीवी या इन्टरनेट पर ज्यादा रहने के कारण, भी आप मान सकते है की महिलाओ के साथ होने वाले पीरियड और मैनो पोज़ की अवस्था में बदलाव आ रहा है, तो आइये अब विस्तार से जानते है की महिलाओ में आने वाले इस बदलाव के कौन कौन से कारण हो सकते है।

बातों के ढंग में बदलाव आने के कारण:-
मासिक धर्म कब होता है, मासिक धर्म कैसे होता है के लिए इमेज परिणाम
आज कल कम उम्र में ही टीवी और इन्टरनेट का इस्तेमाल करके या दुसरो की बातों को सुनकर उनके बारे में ज्यादा सोच विचार करने से भी आपके शरीर के हॉर्मोन्स पर असर पड़ता है, जिसके कारण आपको हॉर्मोन्स में तेजी से बदलाव होने लगता है, और इनमे होने वाले बदलाव के कारण आपके शरीर की क्रियाएं भी तेजी से होती है, जिसके कारण शारीरिक विकास तेजी से होता है, जैसे की महिलाओ का स्तन बढ़ना, प्राइवेट पार्ट से सफ़ेद पानी का आना, और समय से पहले ही पीरियड्स का होना, इन सब का कारण आपका गलत तरह से बातें करना और उनके बारे में ज्यादा सोचने के कारण भी ये परेशानी हो सकती है।

पढ़ाई के तरीको में बदलाव आने के कारण:-


मासिक धर्म कब होता है, मासिक धर्म कैसे होता है के लिए इमेज परिणाम

पहले के समय में पढ़ाई को लेकर लोग इतने सक्रिय नहीं थे, जितने की आज के समय में है, जैसे की आज के समय में छोटी क्लास में ही आपके शरीर के अंगो के बारे में विस्तृत जानकारी देना शुरू कर देते है, जिसके कारण आपके शरीर में हॉर्मोन्स का बदलाव होता है, और आपको शारीरिक गतिविधियां भी सक्रिय हो जाती है, और आपको जल्दी पीरियड्स आने लगते है, और इसके साथ आपकी मेनोपॉज की अवस्था में भी बदलाव आता है।

इन्हें भी पढ़ें:- माहवारी के बंद होने की समस्या (Menopause)

खान पान के कारण:-


मासिक धर्म कब होता हैं, मासिक धर्म कैसे होता हैं के लिए इमेज परिणाम

आज कल लोगो के खान पान में भी बहुत बदलाव आ गया है, संतुलित व् पोष्टिक आहार की जगह लोग गलत खाना मतलब की ज्यादा तला हुआ और मसालेदार भोजन पसंद करते है, जिसमे की ख़टास भी जयादा होती है, जिसके कारण भी आपके शारीरिक विकास पर असर पड़ता है, जैसे की आपके शरीर का वजन बढ़ने लगता है, और आपका शरीर भी बहुत तेजी से ग्रोथ करता है, ऐसा करने से आपके शरीर में होने वाले हॉर्मोन्स इम्बेलेंस के कारण भी आज कल मासिक धर्म और मेनोपॉज की अवस्था में भी बदलाव आने लग गया है।

इन्टरनेट और टीवी का ज्यादा इस्तेमाल करने के कारण:-
मासिक धर्म कब होता है, मासिक धर्म कैसे होता है के लिए इमेज परिणाम

आज कल टीवी और इन्टरनेट पर जितना आप चाहते है, उससे भी ज्यादा विस्तृत जानकारी उपलब्ध है, और इसके कारण आपको जितना आप चाहते है उससे ज्यादा जानने के लिए मिलता है, और जब लड़कियां या लड़के किसी भी ऐसी चीज के बारे में सुनते है जो की आपकी शारीरिक गतिविधियों से संपर्क रखती है, तो लड़कियां या लड़के कोई भी उन्हें ज्यादा पढ़ता है या उनके बारे में ज्यादा सोचता है तो इसके कारण भी महिलाओ को ख़ास कर तेजी से शारीरिक बदलाव होने शुरू हो जाते है, ऐसा करने से भी महिलाओ के शारीरिक गतिविधियों से जुड़े मासिक धर्म और मेनोपॉज की अवस्था में बदलाव आ रहा है।




इसके अलावा महिलाओ को मेनोपॉज आज कल 50 की उम्र के बाद ही होता है, इसका मतलब ये होता है की महिलायें इस उम्र तक प्रज नन की क्षमता रखती है, इसके अलावा कई महिलाओ को ,मासिक धर्म के दौरान शरीर के कई अंगो में दर्द होता है, और कई महिलाओ को नहीं होता है, ये भी उनके हॉर्मोन्स पर ही निर्भर करता है, यदि कोई महिला चाहती है की वो एक उम्र के बाद मासिक धर्म को अपने शरीर में से बंद करवा लें, तो वो ऐसा नहीं कर सकती है, क्योंकि ये एक ऐसी शारीरिक प्रक्रिया है जो की अपने आप ही शरीर में होती है।


और ऐसा भी नहीं है की महिलाओ को एक ही बार में मासिक धर्म आना बंद हो जाता है, बल्कि महिलाओ को एक बार बंद होने के बाद ये दुबारा भी हो सकता है, मेनोपॉज होने पर महिलाओ के के गर्भाशय में अंडो का उत्सर्जन होना कम हो जाता है, जिसके कारण महिलाओ को एक समस्या के बाद प्रज नन करने की क्षमता कम हो जाती है, और ये सब कुछ कारण थे जिनके कारण महिलाओ के मासिक धर्म और मेनोपोज़ की अवस्था में बदलाव आ रहा है, और छोटी उम्र में ही आज के समय में माँ बाप बच्चे बन रहे है, तो जितना हो सकें आपको अपने बच्चों को इन चीजों से बचा कर रखना चाहिए

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.