Header Ads

ये हैं वो समय जब आपको पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए


ये हैं वो समय जब आपको पानी बिल्कुल नहीं पीना चाहिए 
आपके काम की हैं ये बातें।




पानी तो हम रोज ही पीते हैं। मगर ये हमारे लिए कितना जरूरी है, तब समझ आता है जब हमें भरी दोपहरी में घंटों घूमने के बाद भी पानी नसीब नहीं होता है। ऐसा लगता है जैसे हमारे शरीर में ही सूखा पड़ गया हो। 

यह तो हम सभी जानते हैं कि पानी की कमी से कई तरह की बीमारियां हो जाती है। खासकर गर्मी के दिनों में तो पानी की बहुत ज्यादा ही जरूरत होती है। अक्सर एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि दिन में औसतन 8 गिलास पानी तो पीना ही चाहिए। पानी ना पीने से बहुत कुछ होता ही है, मगर ज्यादा पानी भी नुकसानदायक हो सकता है। 

दरअसल सही समय पर पानी पीना भी बहुत आवश्यक होता है। हमको बचपन से ही हिदायत दी जाती है कि खाना खाते समय पानी से दूरी बनाए रखनी चाहिए। यह तो केवल एक ही मामला है। लेकिन साथ ही ऐसे और भी कई मौके हैं जब पानी पीना नुकसानदायक होता है। 

आइए करते हैं इसी पर बात। 

सोने से पहले 



सोने से पहले पानी पीना कई लोगों की आदत होती है। लेकिन अधिक मात्रा में पानी पीना आपके लिए दिक्कतें बढ़ा सकता है। ऐसा करने से आपको रात में ज्यादा बार हल्के होने जाना पड़ सकता है। 


होती है सूजन 





रात में पानी पीने से जुड़ा दूसरा तथ्य यह है कि हमारी किडनी दिन की तुलना में रात में धीरे काम करती है। इसकी वजह से आपको सुबह चेहरे या हाथ-पैरों में सूजन देखने को मिल सकती है। 

वर्कआउट के दौरान 


वर्कआउट के दौरान व्यक्ति थक जाता है और उसे प्यास भी खूब लगती है। लेकिन इस दौरान ज्यादा पानी पी लेना नुकसान करता है। इंटेंस वर्कआउट करने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है। फिर आप पानी पी लेते हैं तो ये तेजी से कम हो जाता है, जिस वजह से 'Electrolyte Depletion' की स्थिति बनती है। इस वजह से सिरदर्द, जी मिचलाना और चक्कर आने जैसी समस्याएं हो जाती हैं।

यूरिन को सफेद 

आमतौर पर यूरिन का रंग हल्का पीला तो होता ही है। लेकिन यदि यह रंगहीन है तो ये ओवर-हाइड्रेशन का लक्षण है। आप दिन में प्यास ना लगने पर भी जरूरत से ज्यादा पानी पी रहे हैं। पानी ज्यादा पीने से सोडियम का स्तर कम हो जाता है। इससे हार्ट अटैक आदि का खतरा बढ़ जाता है।


तीखा खाने के बाद 


तीखा खाने के बाद जलन इसलिए होती है क्योंकि इसमें Capsaicin नाम का केमिकल होता है। यह दूध जैसी ड्रिंक्स के साथ ही घुल पाता है। लेकिन पानी के साथ मिलकर यह पूरे मुंह में फैल जाता है और स्थिति और खराब हो जाती है।


खाने के दौरान 




यह बात तो आपको पता ही है। हम इसकी वजह भी बता देते हैं। दरअसल भोजन के दौरान सलाइवा के साथ ही कुछ एन्जाइम्स भी बनते हैं, जो खाने को पचाते हैं। यदि हम इस दौरान पानी पीते रहेंगे तो हमें अपचन की समस्या हो जाएगी। इस दौरान ठंडा पानी या अल्कोहल पीना और ज्यादा खतरनाक होता है। 



आर्टिफिशियल स्वीटनर्स


यदि पानी में आर्टिफिशियल स्वीटनर मिला हो तो इसे पीना आपके लिए अच्छा नहीं होता है। यह वजन बढ़ाने का काम करते हैं। 


समुद्र का पानी 


समुद्र का पानी नहीं पीना चाहिए ये तो हम सभी जानते हैं। लेकिन ऐसा क्यों? दरअसल इस पानी में पैथोजेनिक ह्यूमन वायरस होते हैं। साथ ही इसमें सोडियम की मात्रा भी बहुत ज्यादा होती है। 


पी चुके ज्यादा 



ज्यादा पानी पीने से सोडियम कम हो जाता है यह तो हम पढ़ ही चुके हैं। इसके अलावा ज्यादा पानी पीने से किडनी अपना काम ठीक तरीके से नहीं कर पाती और ब्लड में महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स रेग्युलेट नहीं हो पाते हैं। 


हो सकती है मौत 


ऐसी स्थिति बहुत कम ही होती है। मगर अत्यधिक पानी पीने से hyponatremia नाम की बीमारी हो सकती है, जिसमें सोडियम की मात्रा बहुत ज्यादा कम हो जाने से जी मिचलाना उल्टी, दौरे पढ़ना यहां तक कि मौत भी हो सकती है। 

इन सब बातों से डरकर आपको पानी पीना बंद नहीं कर देना चाहिए। आप बस अपनी आदतों पर थोड़ा ध्यान जरूर दें। आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर कीजिएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.