Header Ads

दरवाज़े पर क्यों लगाए जाते हैं आम के पत्तों के तोरण !

No automatic alt text available.

दरवाज़े पर क्यों लगाए जाते हैं आम के पत्तों के तोरण ! क्या है इससे जुड़ी हुई मान्यता !
हमारी भारतीय संस्कृति में आम और उसके पत्तों का खासा महत्व होता है.
आम जिस तरह से हमारी ज़ुबान को अपनी मिठास से भर देता है ठीक उसी तरह उसके पत्ते भी हमारे जीवन में मिठास भरने का काम करते हैं.
पूजा-पाठ जैसे धार्मिक अनुष्ठान में जब कलश की स्थापना की जाती है, तब जल से भरे कलश के ऊपर आम की पत्तियां रखी जाती हैं.
कुछ खास मौकों पर घर के मुख्य द्वार पर आम की पत्तियों, गेंदे के फूल और धान की बालियों से बने तोरण को लगाया जाता है.
घर के मुख्य द्वार पर आम के पत्तों का तोरण को आखिर क्यों लगाया जाता है और आम के पत्तों का तोरण जिसमे अक्सर गेंदे के फूल और धान की बालियों को लगाने के पीछे कौन सी मान्यता जुड़ी हुई है.
आइए हम आपको बताते हैं आम के पत्तों का तोरण की मान्यता 
आम के पत्तों का तोरण और उससे जुड़ी मान्यता
– सदियों से हमारे देश में आम के वृक्ष को पूजनीय माना जाता है तभी तो किसी भी तरह के मांगलिक कार्यों में आम के पत्तों का उपयोग किया जाता है. तोरण, बांस के खंबे आदि में भी आम की पत्तियां लगाने की परंपरा है.
– हमारी भारतीय संस्कृति में आम के पेड़ की लकड़ियों का उपयोग समिधा के रूप में वैदिक काल से ही किया जा रहा है. माना जाता है कि आम की लकड़ी, घी, हवन सामग्री आदि के साथ हवन में उपयोग से वतावरण में सकारात्मकता बढ़ती है.
– घर के मुख्य द्वार पर आम की पत्तियां लटकाने से घर में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति के साथ सकारात्मक ऊर्जा घर में आती है. जिससे घर में सुख व समृद्धि बढ़ती है.
– आम के पत्तों का तोरण द्वार पर लगाने से सभी मांगलिक कार्य निर्विघ्न पूरे हो जाते हैं. बुरी शक्तियां एवं नकारात्मक ऊर्जा भी शुभ कार्य में बाधा नहीं डाल पाती हैं, इसलिए दरवाज़े पर आम के पत्तों को लटकाना हमारे शास्त्रों के अनुसार बहुत शुभ माना गया है.
– धार्मिक मान्यता के मुताबिक आम हनुमान जी का प्रिय फल है. इसलिए जहां भी आम और आम का पत्ता होता है वहां हनुमान जी की विशेष कृपा बनी रहती है.

https://healthtoday7.blogspot.in/

गेंदे के फूल से जुड़ी मान्यता
दरवाज़े पर लगाए जानेवाले आम के पत्तों के तोरण में अक्सर पीले रंग के गेंदे के फूलों को भी लगाया जाता है.
– गेंदे के फूल के बारे में कहा जाता है कि यह वास्तव में एक फूल नहीं बल्कि छोटे-छोटे फूलों का एक गुच्छा है. गेंदे के फूल को आम के पत्तों के तोरण के साथ द्वार पर लगाने से सकारात्मकता घर में आती है.
– गेंदे के फूल का संबंध बृहस्पति ग्रह से होता है इसलिए कहा जाता है कि जिस घर के द्वार पर गेंदे का फूल लगाया जाता है उस घर में सुख-समृद्धि आती है.

धान की बालियों से जुड़ी मान्यता
अक्सर आम के पत्तों और गेंदे के फूल के तोरण के साथ धान की बालियों को भी दरवाजे पर लटकाया जाता है. इसको लेकर मान्यता है कि जिस घर के द्वार पर धान का बालियों को लगाया जाता है, वो घर हमेशा धन-धान्य से भरा होता है. ऐसे घरों में कभी अनाज की कमी नहीं होती है.

गौरतलब है कि हमारे हिंदू धर्म में आज भी लोग मांगलिक कार्यों में आम की पत्तियों, गेंदे के फूल और धान की बालियों का उपयोग करते हैं. ये सभी चीजें इंसान के जीवन को सकारात्मक... ऊर्जा, खुशहाली और धन-धान्य से भर देती हैं.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.