Header Ads

स्वास्थ्य का ध्यान रखने का समय ही नहीं बचता...


स्वास्थ्य का ध्यान रखने का समय ही नहीं बचता
आजकल लोग इतना ज्यादा व्यस्त रहने लगे हैं कि उनके पास स्वास्थ्य का ध्यान रखने का समय ही नहीं बचता है। कभी कभी थकान के कारण बॉडी के कुछ हिस्सों में दर्द होने लगता है। आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं जिनके प्रयोग से आप बॉडी में होने वाले दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।


1- अगर आपकी कमर में दर्द हो रहा है तो सरसों या नारियल के ऑयल में लहसुन की 3-4 कलियों को डालकर गर्म करें। जब यह ऑयल हल्का ठंडा हो जाए तो इससे अपनी कमर की मसाज करें। ऐसा करने से आपकी कमर का दर्द अच्छा हो जाएगा।

2- सिर दर्द होने पर अदरक के रस में नींबू का रस मिलाकर दिन में एक दो बार सेवन करें। ऐसा करने से आपको सिर के दर्द से आराम मिल जाएगा।

3- जोड़ों के दर्द की समस्या में 100 ग्राम पानी में 10 लहसुन की कलियां व सौ ग्राम दूध डालकर गर्म करें। अब गर्म गर्म ही इस काढ़े का सेवन करें। इसका सेवन से आपके जोड़ों का दर्द अच्छा हो जाएगा।

4- लगातार खड़े रहने के कारण कभी कभी एड़ियों में तेज दर्द होने लगता है। इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए सरसों के ऑयल में लौंग का ऑयल मिलाकर अपनी एड़ियों की मसाज करें।

फटी एड़ियों की कठिनाई काफी ही दुखदाई रहती

फटी एड़ियों की कठिनाई काफी ही दुखदाई रहती है। कभी-कभी एड़िया इतनी फट जाती है के इनमे से खून भी निकलने लगता है लेकिन आप घरेलु नुस्खों के प्रयोग से फटी एड़ियों को राहत दे सकते है।आज हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे तरीका जो फटी एड़ियों की कठिनाई से आपको राहत देगा।

एक चम्मच वेसिलीन में एक निम्बू के रस को मिला ले व रात को सोने से पहले इस पेस्ट को अपनी फटी एड़ियों पर लगाए व प्रातः काल उठ कर धो ले रोज़ाना ऐसा करने से आप खुद फर्क महसूस करेंगे।

नीम एक एंटीसेप्टिक फटी एड़ियों के लिए लाभकारी रहता है, एड़ियों के इन्फेक्शन व खुजली को दूर करने के लिए आप नीम का प्रयोग कर सकते है। इसके लिए एक कटोरी में नीम की पत्तियों का पेस्ट तैयार कर ले व इसमें तीन चम्मच हल्दी मिला ले अब इसे अपनी फटी एड़ियों पर लगा कर 2 घंटे के लिए छोड़ दे व इसके बाद इसे धो ले।

रोज़ सोने से पहले एक निम्बू काट कर फटी एड़ियों पर रगड़ ले प्रातः काल गुनगुने पानी से धो ले इससे आपको बहुत ज्यादा राहत मिलेगी

गुलाब जल व ग्लिसरीन फटी एड़ियों के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक होता है गुलाब जल स्कीन को vitamin A, B3, C, D व E के साथ-साथ antioxidants, anti-inflammatory व antiseptic properties प्रदान करता है। गुलाब जल व ग्लिसरीन को मिलाकर इससे अपने पैरों की मालिश करें।

पके हुए केले में बहुत ज्यादा मॉइस्चर होता है जो एड़ियों के लिए एक अच्छा तरीका है। इसके लिए एक केले को मैश करे व इसका पेस्ट बना ले व इसे पेरो पर लगा ले अब 5-10 मिनट के बाद गुनगुने पानी से इसे धो ले व फिर अपने पैरो को ठन्डे पानी में डुबो ले ऐसा नियमित करने से आपको जल्दी आराम मिलेगा।

शरीर में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण अंग होता लीवर, ऐसे करेंगे केयर तो नहीं होगा खराब


हर इंसान के शरीर में लीवर सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण अंग होता है। यह खून को साफ करने के साथ खाना पचाने में भी मदद करता है और आंतों के कीटाणुओं को भी मारता है। जिससे रोगों से लड़ने की शक्ति बनी रहती है। अगर व्यक्ति का लिवर सही तरीके से काम न करे तो समस्या गंभीर भी हो सकती है। आज यानि 19 अप्रैल के दिन हर साल अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर वर्ल्ड लिवर डे मनाया जाता है। इसे मनाने के पीछे का उद्देश्य लोगों को लीवर के स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है।

कुछ लोगों का मानना है कि अल्कोहल युक्त पदार्थों का सेवन करने से लीवर में खराबी आनी शुरू हो जाती है। यह बात कॉफी हद तक सही है लेकिन हमारी कुछ गलत आदतें भी लीवर को खराब करने मेें पूरा योगदान देती हैं, जिसके बारे में बहुत लोग अनजान होते हैं। जैसे पेट भरने के बावजूद भी खाने का सेवन करना, तले भोजन का सेवन, एक्‍सरसाइज न करना,धूम्रपान आदि। इन चीजों से लीवर पर ज्यादा दवाब पड़ना शुरू हो जात है। जिससे शरीर का यह महत्वपूर्ण अंग सही तरीक से काम नहीं कर पाता और विषाक्त पदार्थ बॉडी में ही रह जाते हैं, जो रोगों का कारण बनते हैं। अपने लाइफस्टाइल में बदलाव करने से आप लीवर को हमेशा स्वस्थ रख सकते हैं।

1. सल्‍फर युक्त आहार
स्वस्थ लीवर शरीर में इंजाइमों का उत्पादन करता है जो सभी अंगों के लिए बहुत जरूरी है। सल्फर युक्त आहार लीवर का काम आसान कर सकते हैं जैसे ब्रोकली,हरी सब्जियां,अंकुरित अनाज, अंडा,दूध आदि। इस आहारों को अपनी रोजाना के डाइट में जरूर शामिल करें। इस तरह के आहार लीवर को इंजाइम उत्‍पादन करने में मदद करती है।
2. विटामिन्स का सेवन
फास्ट फूड खाने की बजाय अपने आहार में बैलेंस डाइट को शामिल करें। मिनरल्स और विटामिन युक्त भोजन जैसे गाजर,सलाद,आंवला,बादाम,फलों के रस को दिन में कम से कम एक बार शामिल जरूर करें।
3. ऑलिव ऑयल
खाना बनाते समय रिफाइंड ऑयल की जगह ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करें। जैतून का तेल शरीर में फ्री रैडिकल्स बनने नहीं देता जिससे कोशिकाएं डैमेज नहीं होती। इससे लिवर पर भी ज्यादा दवाब नहीं पड़ता।
4. ऑर्गेनिक डाइट
ऑर्गेनिक डाइट को ज्यादा अहमियत दें। इसमें कीटनाशकों का इस्तेमाल कम किया जाता है। जो पूरी तरह से प्राकृतिक होती है। कैमिकल या फिर जीवाणु युक्त आहार के रसायन लीवर में जाकर जम जात हैं। जिससे लीवर के काम पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
5. कार्बोहाइड्रेट्स पर दें ध्‍यान
कार्बोहाइड्रेट्स शरीर के लिए जरूरी है लेकिन जरूरत से ज्यादा कार्बोहाइड्रेट फूड्स का सेवन लीवर में चर्बी जमा कर देता है। इसके साथ फाइबर फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करें।
6. तनाव से रहें दूर
ज्यादा तनाव लेने से भी लिवर पर बुरा असर पड़ता है। इसके लिए मेडिटेशन और योग का सहारा लिया जा सकता है।
7. व्‍यायाम बहुुत जरूरी
हर रोज खुद के लिए समय जरूर निकालें। व्यायाम करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है, जिससे शरीर में जमा चर्बी आसानी पिघलनी शुरू हो जाती है और लीवर भी स्वस्थ रहता है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.