Header Ads

सावधान: पेनकिलर से बढ़ता है हार्ट अटैक का खतरा


सावधान: पेनकिलर से बढ़ता है हार्ट अटैक का खतरा


नई दिल्ली। आजकल छोटे-छोटे दर्द के लिए भी लोग पेनकिलर खाते हैं, जिससे उन्हें उस समय तो दर्द और तकलीफ़ से आराम मिल सके। लेकिन आपको बता दें कि पेनकिलर्स आपकी सेहत के लिए घातक होती हैं, डायबिटीज, किडनी, हाई ब्‍लडप्रेशर, हाई कॉलेस्ट्रॉल के मरीज़ हैं।

पेनकिलर बड़ी ही आसानी से मेडिकल स्टोर्स में मिल जाती है इसलिए लोग ज़रा सी तकलीफ होने पर इसका सेवन कर लेते हैं, लेकिन आपको बता दें कि पेनकिलर से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है, जिससे मौत भी हो सकती है।




अमेरिकी ड्रग रेगुलेटर ने चेताया है कि भारत में आसानी से मिलने वाले पेनकिलर्स आपको उस वक्त दर्द से आराम तो दिलाते हैं लेकिन हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा देते हैं, जिससे आपकी मौत भी हो सकती है। रेग्यूलेटर ने सावधान किया है कि भारत में ब्रूफीन, वोवेरान, मेफ्तान फोर्टी जैसी ब्रांड की दवाएं काफी प्रचलित हैं और मेडिकल स्टोर्स पर बड़ी ही आसानी से मिल जाती हैं।




अक्सर आपने देखा होगा कि लोग इन दवाओं को खुद से ही जब दर्द हुआ खा लेते हैं, डॉक्टर से सजेशन लेने की ज़रूरत तक महसूस नहीं करते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि ये दवाएं डॉक्टरों के बीच भी काफी लोकप्रिय होती हैं फिर भी मरीजों को इन दवाओं की सलाह देते समय उन्हें काफी सावधानी बरतनी चाहिए, और बिना प्रिसक्रिप्शन के तो इसका सेवन ज़हर के समान है।



यूएस फूड ऐंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने पिछले 10 साल के मामलों को रिव्यू करने के बाद यह बात कही है। इन दवाओं का असर पहले हफ्ते से ही नज़र आने लगता है, और बार-बार इसे खाने से लोगों को इसकी लत पड़ जाती है।




अमेरिकन रेगुलेटर ने हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स को आदेश जारी कर दिया है कि इन दवाओं के उपयोग के समय मराजों को इसके हार्ट संबंधी घातक प्रभाव की चेतावनी को भी बताएं। पेनकिलर से हार्ट अटैक का मामला पहली बार एफ.डी.ए. द्वारा 2005 में सामने आया था। जिसके बाद उन्होंने ड्रग लेवल चेतावनी बॉक्‍स की शुरुआत की थी।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.