Header Ads

गर्भावस्था के दौरान रोज करने चाहिए ये 5 योगासन…

गर्भावस्था के दौरान रोज करने चाहिए ये 5 योगासन…


गर्भावस्था के दौरान रोज करने चाहिए ये 5 योगासन…
अभी हाल ही में हुआ विश्व योग दिवस, जिसमें पूरा देश एक होकर इस दिवस को मनाने की पहल कर रहा था। क्योंकि आज के समय में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योगा सबसे अच्छा उपचार बन चुका है। खासकर उन महिलाओं के लिए सबसे जरूरी है जो कि मां बनने की दहलीज पर खड़ी हो क्योंकि इस दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के परिवर्तन होते है। जो उनकी थकान, तनाव और शारीरिक कमजोरी का कारण बनते है। इस समस्या के समाधान के लिए योगा सबसे अहम भूमिका अदा करता है।

अभी हाल ही में भारत की पूर्व मिस यूनिवर्स रही लारा दत्ता ने एक सुंदर सी बेटी को जन्म दिया है। जिसमें उन्होंने बच्चे के जन्म के पूर्व गर्भवती महिलाओं के लिए एक खास सीडी भी लांज की थी। जिसमें बताया गया था कि गर्भवती महिलाओं के लिए योगा कितना जरूरी है। आज हम उन्हीं बातों से गर्भवती महिलाओं को अवगत करा हैं जिसमें कुछ आसन बताए जा रहें हैं। जिसको करने के बाद गर्भवती महिलाएं काफी फायदा उठा सकती है।
1. वक्रासन
इस आसन को करने के लिए सबसे पहले आप सीधे नाक की सीध में रखते हुए पैरों को फैलाकर बैठे। अब सांस अंदर की ओर लेते हुए अपने दोनों हाथों को कंधे की सीध में फैलाएं, हथेलियों का मुंह नीचे की ओर रखें। अब सांस छोड़ते हुए कमर से ऊपर के भाग को जितना मोड़ सकें, उतना मोड़ें। अधिक खीचाव न लें। फिर सांस लेते हुए सामान्य अवस्था में आएं। अब इस विधि को दूसरी दिशा में कमर मोड़ते हुए एक बार और दोहराएं और फिर सामान्य मुद्रा में आ जाएं।
2. उत्‍कतासन
इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले सीधा खड़े हो जाए। इसके बाद धीरे-धीरे कुर्सी पर बैठने के तरीके में आप अपने घुटनों को मोड़ने की कोशिश करें। इस मुद्रा को करने के दौरान आप अपने दोनों हाथों को नमस्‍कार की मुद्रा में सीधा उठाकर ऊपर की ओर ले जाये। इस आसन को करने से शरीर में खून की स्त्राव सुचारू रूप से होने लगता है और रीढ़ की हड्डिया मजबूत होती है। जिससे गर्भावस्था के समय पीठ दर्द या कमर दर्द से बचा जा सकता है।
3. कोणासन
इस आसन को करने के लिए आपको अपने पैरों में 24 इंच की दूरी बनाते हुए खड़े होना है। अपने आपको सहारा देने के लिए आप किसी दीवार के पास खड़े होकर इस योगा को कर सकती है। इसके बाद सांस लेते हुए अपने दाहिने हाथ को सीधे ऊपर उठाते हुए बाईं ओर झुकाने का प्रयास करें। फिर सामान्‍य अवस्था में आते हुए सांस छोड़ना शुरु करें। इसी तरह से यह प्रक्रिया दूसरी तरफ के लिये भी दोहराएं। इस आसन को करने से कमर दर्द के साथ प्रसव में आने वाली दिक्कतों से झुटकारा मिलता है।
4. भद्रासन
इस आसन को करने के लिए अपने पैरों को ‘ नमस्ते ‘ की पोजीशन में रखते हुए पूरी तरह से फैलाकर बैठ जाएं और अपनी पीठ को सीधे रखे। अब अपने घुटनों को फैलाते हुए दोनों हाथों की सहायता से पैरों के पजें को पकड़ने की कोशिश करें। कुछ समय तक ऐसे ही पकड़े रहे बाद में अपनी मूल पोजिशन में आ जाएं।
5. पर्वतासन
गर्भावस्था के दौरान इस आसन को करने से कमर के दर्द में काफी फायदा प्राप्त होता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपनी पीठ को सीधी रखते हुए बैठ जाएं। अब सांस को भीतर की ओर लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर ले जाएं और दोनों हथेलियों को नमस्ते की मुद्रा में जोड़ लें। अपनी कोहनी को सीधी रखें। कुछ समय तक इसी मुद्रा में रहें फिर कुछ समय के बाद अपनी सामान्य अवस्था में आ जाएं। इस आसन को आप दो या तीन बार से ज्यादा ना करें|
किसी भी आसन को करने से पहले अपने डाक्टर या किसी योग विशेषज्ञ की सलाह जरूर अवश्य लें।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.