Header Ads

क्‍या कभी टाइम से नहीं आते है आपको पीरियड, जाने घरेलू हल..



क्‍या कभी टाइम से नहीं आते है आपको पीरियड, जाने घरेलू हल..

समय से माहवारी न आना कोई नई बात नहीं है। ज्यादातर महिलाएं माहवारी की समस्याओं से परेशान रहती है लेकिन अज्ञानतावश या फिर शर्म या झिझक के कारण लगातार इस समस्या से जूझती रहती हैं। कई बार महिलाओं को लंबे समय के अंतराल पर पीरियड्स होते हैं तो वहीं कुछ महिलाओं को जल्‍दी जल्‍दी यानी 21 दिनों के अदंर पीरियड्स होने की समस्‍या होती है।

अगर समय पर पीरियड न आए तो महिलाएं को बदन दर्द,पीठ में दर्द,बालों का झड़ना,घबराहट के अलावा सेहत से जुड़ी और भी बहुत सी परेशानियां होनी शुरू हो जाती है। यह सभी कुछ हार्मोन में परिवर्तन होने की वजह से होता है। अगर आपको भी अनियमित मासिक धर्म या पीरियड की समस्‍या हे तो हम आपको कुछ घरेलू उपाय बता रहे है। जिससे आपको पीरियड आना शुरु हो जाएगा।


जीरा

जीरे का पानी पीने से मासिक तो नियंत्रित होता ही है साथ में उससे होने वाले दर्द से भी आराम मिलता है। इससे आपको आयरन मिलता है जो महिलाओं में प‍ीरियड्स के दौरान कम हो जाता है। एक चम्‍मच जीरे में साथ 1 चम्‍मच शहद का सेवन हर रोज़ करें।


सुबह ऐसे खाएं बादाम

रात को 2 छुआरे और 4 बादाम को पानी में भिगो कर रख दें। सुबह इनके साथ थोड़ा सी मिश्री के साथ इन्हें पीस लें और मक्खन के साथ इसका सेवन करें। मासिक धर्म से जुडी समस्याएं दूर हो जाएंगी।
कच्‍चा पपीता

इसमें ढेर सारा पोषण, एंटीऑक्‍सीडेंट और बीमारी को ठीक करने वाले गुण होते हैं। कच्‍चे पपीते का सेवन मासिक धर्म से जुड़ी हर समस्‍या से निजात दिलाता है।

एलोवेरा भी है लाभकारी

हर रोज सुबह 50 ग्राम एलोवीरा जूस को 1 गिलास पानी में डालकर पिएं। रात के समय दोबारा इसका सेवन करें। इस बात का ध्यान रखें कि इसे पीने से 1 घंटा पहले और बाद में कुछ न खाएं।
एलोवेरा

हर रोज सुबह 50 ग्राम एलोवीरा जूस को 1 गिलास पानी में डालकर पिएं। रात के समय दोबारा इसका सेवन करें। इस बात का ध्यान रखें कि इसे पीने से 1 घंटा पहले और बाद में कुछ न खाएं।
अदरक

पीरियड्स को नियमित करने के लिए अदरक बेहद लाभकारी होता है और इससे पीरियड्स के दौरान होने वाला दर्द भी कम हो जाता है। आधा चम्मच अदरक को पीस लें और 1 कप पानी में सात मिनट तक उबालें। अब इसमें थोड़ी शक्कर डालें और खाना खाने के बाद इसे दिन में 3 बार पिएं। ऐसा कम से कम 1 महीने तक करें
हल्दी

हल्दी शरीर में गर्मी पैदा करती है, आपके हार्मोन्स नियंत्रित और माहवारी नियमित करने में सहायता करती है। इसमें एंटीस्पास्मोडिक और एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं जो माहवारी के दर्द को कम करते हैं। एक चौथाई हल्दी को दूध, शहद या गुड़ के साथ ले। तब तक इसका सेवन करें जब तक आपको अपने आप में सुधार नहीं दिखाई देता।



कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.