Header Ads

वीमेन्स वॉशरूम का बदला-बदला दृश्य, खड़े होकर पेशाब करेंगी लड़कियां


वीमेन्स वॉशरूम का बदला-बदला दृश्य, खड़े होकर पेशाब करेंगी लड़कियां

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में लड़कियों को एक अलग तरह की ट्रेनिंग दी जा रही है। यहां महिलाओं को खड़े होकर पेशाब करने की ट्रेनिंग दी जा रही है। ऑस्ट्रिया की ग्रीन पार्टी ने अपने सदस्यों के लिए ये ट्रेनिंग शुरू किया है। इस ट्रेनिंग का मकसद लड़कियों को ऑड सिचुएशन्स में पेशाब लगने पर उन्हें इसके लिए तैयार करना है। ऑस्ट्रिया की ग्रीन पार्टी पिछले 12 सालों से महिलाओं के लिए ब्रेकफास्ट मीटिंग आयोजित की जा रही है। इस मीटिंग में देश के सियासी हालत के अलावा सामाजिक मुद्दों पर भी चर्चा होती है। इस बार इस मीटिंग का एजेंडा महिलाओं को खड़े होकर पेशाब की ट्रेनिंग देना था। इसके लिए महिलाओं दो डिवाइस दी जा रही है। ‘Pibella’ और ‘Urinella’ नाम के इस दो डिवाइस के जरिये महिलाएं और लड़कियां खड़े होकर पेशाब कर सकेंगी। इसके लिए फीमेल पेल्विक एक्सरसाइज एक्सपर्ट को भी बुलाया गया है।

एक्सपर्ट ने महिलाओं को इस डिवाइस को इस्तेमाल करने की तरकीब बताई है। इस पार्टी का मानना है कि इस ट्रेनिंग को लेने के बाद महिलाएं ऑड सिचुएशन्स जैसे रॉक क्लाइम्बिंग के दौरान इस्तेमाल कर सकेंगी। ग्रीन पार्टी के सदस्यों का कहना है कि मेडिकल इमरजेंस, लंबी यात्रा और भीड़ भाड़ वाले इलाकों में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। ग्रीन पार्टी का कहना है कि इस ट्रेनिंग की घोषणा के साथ ही इस मीटिंग में आने वाली महिलाओं और लड़कियों की संख्या बढ़ गई है। बता दें कि यूरोपीय देश ऑस्ट्रिया में ज्यादातर महिलाएं काम काजी हैं, सरकार अब यहां के पब्लिक टॉयलेट को इस तरह बना रही है ताकि महिलाएं भी बिना किसी परेशानी का इसका इस्तेमाल कर सकें।






यहाँ महिलाओं को पुरषों की तरह खड़े होकर हो कर पेशाब करने के लिये किया जाता है मज़बूर और बनाया 


यह बात तो हम सबको पता है कि महिलाएं बैठकर ही पेशाब करती हैं और इसी कारण से उन्हें कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। मगर आज हम आपको ऐसा कुछ बताने वाले है जिसके बाद महिलाओं को इस समस्या से छुटकारा पाने में आसानी होगी। आज आपको ऐसी ट्रेनिंग के बारे में बताया जा रहा है जिसके बाद महिलाएं सेहत संबंधी बीमारियों से बच सकती हैं।

आप और हम सब ये बात अच्छी तरह से जानते हैं कि सार्वजनिक जगहों पर पेशाब की समस्या पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा होती है। इसी कारण से जब महिलाएं घर से दूर जाती हैं तो कभी कभी महिलाएं बहुत समय तक पेशाब भी नही जा पाती हैं। लम्बे समय तक पेशाब को रोके रखे जाने के कारण दुनिया की करोड़ों महिलाओं को यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन यानी यूटीआई से ग्रसित हो जाती है। आपको बता दें कि यह एक गंभीर समस्या है और आम तौर पर किसी भी महिला के साथ हो सकती है।



महिलाओं को दी जाएगी खड़े होकर सूसू करने की ट्रेनिंग






ये सुनकर आपको काफी अजीब लगेगा लेकिन ऑस्ट्रिया की एक राजनैतिक पार्टी महिलाओं को खड़े होकर सूसू करना सिखाएगी. जी हां ये सच है, पार्टी का कहना है कि वो जल्द ही इस सिलसिले में एक विशेष बैठक बुलाने वाली है, जिसमें महिलाओं को सिखाया जाएगा कि गंदे सार्वजनिक शौचालय में किस तरह खड़े होकर पेशाब किया जाए. आस्ट्रिया की ग्रीन पार्टी सामाजिक और राजनैतिक मुद्दों को लेकर अक्सर ही एक इवेंट का आयोजन करती है.

आने वाले कुछ दिनों में पार्टी इस इवेंट को कराने वाली है और पार्टी के सूत्रों की मानें तो इस बैठक में मूत्राशय से जुड़ी चिंताओं पर बात की जाएगी. इस इवेंट में महिला श्रोणि व्यायाम की एक एक्सपर्ट ग्रीन पार्टी द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगी. इस इवेंट में महिलाओं को ये बताया जाएगा कि कैसे वो होम मेड तरीके से तैयार एक बार इस्तेमाल किए जाने वाले मूत्र विसर्जन पात्र का इस्तेमाल कर सकते हैं.I 
एक तरफ जहां महिलाओं को एक नए तरह के काम करने की ट्रेनिंग दी जाएगी वहीं इस खबर के लीक होने पर सोशल मीडिया पर इसका मजाक उड़ाया जाने लगा है. सोशल मीडिया पर ही एक व्यक्ति ने इस बारे में कहा कि ‘क्या इस तरह से ये काम करने का कोई औचित्य है?’ लोकल काउंसलर मार्था का कहना है कि हम हमेशा ही कुछ ऐसे मुद्दों पर चर्चा करते हैं, जो हमेशा से विवादास्पद रहे हैं और जिनके बारे में कोई चर्चा नहीं करता है, लेकिन इस मुद्दे पर लोगों के ऐसे रिएक्शन जानकर थोड़ा अजीब लग रहा है.

उन्होंने कहा कि इस इवेंट को लेकर हमारे पास कई धमकी भरी और गंदी ईमेल आ चुकी हैं, इसलिए इवेंट के दौरान कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया जाएगा.


कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.