Header Ads

मेडिटेशन करने का सबसे आसान और सबसे छोटा तरीका


मेडिटेशन करने का सबसे आसान और सबसे छोटा तरीका

मेडिटेशन आपको मानसिक रूप से शांति प्रदान करता है। इसके लिए आपको बहुत अधिक प्रयत्न करने की जरूरत नहीं है आप चाहे तो आसान तरीकों से बहुत कम समय में ही रोजाना मेडिटेशन कर सकते हैं।





मेडिटेशन करने की सबसे आसान और प्रभावी तकनीक वह होती है जो कहीं भी किसी समय की जा सके और आपको उसे करने के बाद तुरंत आराम महसूस हो। आज के व्यस्त जीवन में किसी के पास भी इतना समय नहीं है कि वो मेडिटेशन करने के लिए मोमबत्ती का इस्तेमाल करे या सही जगह के बारे में सोचे। तो मेडिटेशन करने के लिए कुछ ऐसे टूल ढूंढें जिसकी मदद से तुरंत फायदा मिल सके। आइए आपको कुछ तकनीक बताते हैं जिससे बिना आंखें खुली रखकर आपको अपने केंद्र को ढूंढने में मदद मिलती है। इस दौरान आप जीवन के तूफान और विकर्षणों के बीच आप दुख, डर से दूर रहने के लिए कुछ सेकेंड मेडिटेशन करते हैं। जो लाभदायक होता है। जब भी आपको तनाव, चिंता महसूस हो तो कुछ समय के लिए मेडिटेशन करके इस समस्या को दूर किया जा सकता है। 
1- कम समय मे मेडिटेशन करने के लिए सबसे पहले अपना ध्यान अपनी सांसों पर एकत्रित करते हुए ध्यान को अपने बेली पर फोकस करते हुए गहरी सांसें लें।
2-अब मानसिक तौर यह ऐसा दोबारा करते हुए सांस लें और छोड़ें। इसे करते समय आप मंत्र का उच्चारण भी कर सकते हैं। इस तरह से तब तक दोहराते रहें जब तक आपको अच्छा महसूस ना होने लगे।
3-ध्यान दें कि आपके हल्का सा सांस लेने पर आपके मुंह के कोने कर्ल होने लगते हैं। इसके साथ ही ध्यान दें कि आप और गहरी सांस लेने लगते हैं। ऐसा करने से आपके चेहरे पर मुस्कुराहत आती है जिससे आपको आरामदायक महसूस होता है।इससे आपके दिमाग और शरीर को मैसेज मिलता है कि सब ठीक हो जाएगा। 

4- खुद को खुश रखने के लिए यह मेडिटेशन करने के यह आसान उपाय थें।
मेडिटेशन के लिए इमेज परिणाम
आप इस मेडिटेशन को अपने शरीर पर एक्सपैरीमेंट के साथ आगे बढ़ा सकते हैं। इसको करते दौरान आपको अपने शरीर के किसी भाग में टेंशन महसूस होता है। इस टेंशन को आप आसानी से दूर कर सकते हैं। जैसे अगर आपके कंधों पर टेंशन महसूस कर रहे हैं तो मानसिक तौर पर सांस लेते और छोड़ते समय यह बात दोहराएं कि आपको पता की कंधों पर टेंशन है। ऐसा करने से सांस छोड़ते समय आपके कंधों पर आराम महसूस होगा। यह बहुत ही प्रभावी होता है।



योग से पुराने से पुराने पीठ दर्द में मिलता है फायदा 

पीठ का दर्द कई बार किसी बीमारी या स्थिति की वजह से भी होता है 


नियमित योग से कमर में होने वाले दर्द को ठीक करने में काफी मदद मिलती है। भारत, ब्रिटेन और अमेरिका में हुए शोध की हाल में हुई समीक्षा में ये बात सामने आई।


कमर में दर्द सेहत से जुड़ी आम समस्या है और इसे लोग आम तौर पर खुद ही दुकान से दवा खरीदकर या फिर खुद देखभाल कर ठीक करते हैं।


कुछ लोगों में ये तीन महीने या इससे ज्यादा समय तक बना रहता है, और तब इसे ‘‘गंभीर’’ माना जाता है।

पीठ का दर्द कई बार किसी बीमारी या स्थिति की वजह से भी होता है लेकिन अधिकतर मामलों में कमर दर्द की वजह का पता नहीं होता और यही वजह है कि इन्हें अनिर्दिष्ट भी कहा जाता है।


मौजूदा दिशानिर्देश बताते हैं कि व्यायाम चिकित्सा इसमें लाभदायक है और खास तौर पर योग को भी कई बार इलाज के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।


अमेरिका के मेरीलैंड विश्वविद्यालय की सूसन वीलैंड ने कहा, ‘‘हमारे नतीजे बताते हैं कि योगा5यास कमर दर्द के लक्षणों को कुछ मात्रा में कम कर देता है।’’ दिल दिमाग के व्यायाम के तौर पर योग को दुनियाभर में लोकप्रियता मिली है जिससे आम जीवन शैली में फायदा भी होता है

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.