Header Ads

तुम ने ज़िन्दगी का नाम तो सुना होगा….

तुम ने ज़िन्दगी का नाम तो सुना होगा….
हम ने पुकारा है तुम्हे इस ही नाम से अक्सर …”
*******
लोग सीन में कैद रखते हे दीलो को,
हम ने तो सर पे चढ़ा कर रखा हे…
*******
पहले ताकत कलम में होती थी,,
अब ताकत की बोर्ड में हो गयी है !!
*******
वो कहते हैं कि कुछ सोच लो बेहतर……तो बेहतर होगा,
मैंने सोचा कि बेहतर है तुझे सोचूं…
तुझसे बेहतर क्या होगा……..!!
*******
मुफ्त में रिश्ते भी नही निभाते लोग
मुफ्त तो यहाँ हवा भी नहीं मिलती
एक साँस भी तब आती है
जब एक साँस छोड़ी जाती है
*******
दिल से पूछो तो आज भी तुम मेरे ही हो,
ये ओर बात है कि किस्मत दग़ा कर गयी..
*******
ख़्वाब भूले है रास्ता दिन में…
रात जाने कहाँ बिताते है.!
*******
मेरी जिंदगी में तेरी
दखलंदाजी की आदत गई
नही.. साँसों में भी रुकावट
डालती हो.. हिचकियां बनकर ..!!
*******
नहीं करेंगे आज के बाद कभी मन्नतें तुम्हारी,,, खुदा जब राजी होगा तब तुम तो क्या,,, हर चीज़ मेरी होगी…!!!..
*******
किसी की मजबूरियाँ पे न हँसिये.
कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नहीं लाता.
*******
यूं अकड मे रहना बंद कर दें
,वो तो प्यार है तूजसे…
वरना गरज तो किसी के बाप की भी नहीं…
*******
नफरत हमे उन से नही है..जो हमारे न हुए..नफरत तो हमे उन से है..जो हमे अपना कहते थे फिर भी गैरोँ के हुए…
*******
तेरी आँखों से यू तो सागर भी पिए हैं मैने,
तुझे क्या खबर जुदाई के दिन कैसे जिए हैं मैने…
*******
सुना है तुम ले लेते हो हर बात का बदला …….
आजमाएंगे कभी तुम्हारे लबों को चूम कर ।
*******
चाह कर भी पूछ नहीं सकते हाल उनका…
डर है कहीं कह ना दे के ये हक तुम्हे किसने दिया…
*******
मुझे खबर हैं तेरे पल पल की…..
पर तुझको नही खबर मेरे दिल की!!!!
*******
करो यकीं तो बताऊँ तुम्हे,
बहुत ख़ास, बहुत खास, बहुत खास हो तुम !!!!”
*******
कुछ ना था मेरे पास खोने को,
.
तू मिला तो डर गया हूँ मैं…
*******
मेरे ग़म को तलाक़ तो दे दो,
फ़िर खुशी से निकाह कर लेना..!
*******
अक्सर यह बहुत खास बहुत खास करने वाले..
दिल में बहुत खटास भर जाते हैं!!!!
*******
सिर्फ दो ही वक़्त पर तेरा साथ चाहिए,
एक तो अभी और एक आने वाले कल मे…!!
*******
कोई तुम सा भी काश तुम को मिले
हमें तो मतलब इन्तक़ाम से है…!!!!
*******
काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
मुहब्बत न सही ,देखना तो नसीब होता …
*******
खूश्बु कैसे ना आये मेरी बातों से यारों ;
मैंने बरसों से एक ही फूल से जो मोहब्बत की है…!!
*******
मैंने सब कुछ पाया ,बस तुझको पाना बाकी है…
यूं तो मेरे घर में कुछ कमी नहीं, बस तेरा आना बाकी है-…
*******
तुम मानो न मानो मेरी ख़ुशी की फ़िक्र तुमको भी है,
ये ऐहसास बहुत बार दिल ने मेहसूस किया है….
*******
तुम पढ़ती हो इसलिए लिखता हूँ….
वरना कलम से अपनी, कुछ ख़ास
दोस्ती नहीं….
*******
वो चूड़ी वाले को, अपनी कलाई थमा देती है !
जिनकी आज तक हम उंगलियाँ न छू सके !!
*******
उम्मीदें भी कभी कभी राख हो जातीहैं… चूल्हा रोज़ नहीं जलता मजदूर के घर का …..
*******
तेरे खंजर के ज़ख्म फीके हैं …
कुछ नमक मिर्च भी लगाया कर..
*******
आरजू नही रखता मैं किसी को याद करने की….
क्यू की मैं तो कभी भूलता ही नहीं अपनों को!!!!
*******
ख्वाईशें इस खुदा की कायनात में किसी की कम नही….
एक हो जाए पूरी तो शुरू हैं दूसरी!!!
*******
किस्मत से अपनी कोई खुश नही….
जो मिला हैं नसीब से वो किसी को मंजूर नही!!!
*******
ना जाने कैसे इम्तेहान ले रही है जिँदगी..
मुक्दर, मोहब्बत और दोस्त तीनो नाराज रहते है………
*******
तुम ना लगा पाओगे अंदाजा मेरी तबाही का…
तुमने देखा ही कहाँ है मुझको शाम होने के बाद…
*******
यूँ आँखे मूंद लेने से नींद नहीं आती..
सोते तो वो लोग है जिनके पास किसी की यादें नहीं होती…
*******
कभी दिमाग,कभी दिल,कभी नजर में रहो,
सब तुम्हारे ही घर हैं, किसी भी घर में रहो..
*******
वक्त और हालात के साथ शौक बदल जाते है आदते नही,मैं तुम्हारा शौक हुँ,और तुम मेरी आदत.
*******
तरक्की की फसल, हम भी ‘काट’ लेते..,
थोड़े से तलवे, अगर ‘हम’ भी चाट लेते….
*******
कब से बैठा हुआ हूँ मैं
सादे काग़ज़ पे लिखके नाम तेरा,
इससे बेहतर क्या शायरी होगी!!
*******
सुना है आजकल तेरी मुस्कुराहट गायब हो गयी है,
तू कहे तो फिर से तेरे क़रीब आ जाऊँ..!!
*******
मैं दुनिया के जलने का इंतजाम कर आया,
“तू ही इश्क मेरा” ये खुले आम कह आया…!!!
*******
जब ख्वाबों के रास्ते ज़रूरतों की ओर मुड़ जाते हैं ,,
तब असल ज़िन्दगी के मायने समझ में आते हैं…
*******
जिनके मीलते ही दिल को खुशी मिलती है,
वो लोग क्यो जिन्दगी में कम मीलते है ?
*******
मिलेगी परिंदों को मंजिल ये उनके पर बोलते हैं,
रहते हैं कुछ लोग खामोश लेकिन उनके हुनर बोलते हैं ।
*******
हूँ परेशान मैं ये कहने के लिये,
तू ज़रूरी है मुझको ज़िन्दा रहने के लिये…
*******
मरने के बाद भी मेरीे आन्खे खुली रेह गइ आदत जो तेरे इन्तजार की थी
*******
सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाये,
माँ एक बार मुस्कुरा दे तो जन्नत मिल जाये.
*******
कैसे ये कह दूं की “तुमसे मोहब्बत
नहीं” मुँह से निकला झूठ “आँखों से
पकड़ा जायेगा”
*******
ये तेरा कसुर नहीं के तु ग़ुस्से मे आ गया..
पैसों का ज़ोर था जो तेरे लेहज़े मे आ गया..
*******
मैं खुद हैरान हूँ अपने सब्र का पहलू देखकर,,
तुमने याद करना छोड़ दिया पर मैंने इंतज़ार नहीं…!!!
*******
दिलो जान से करेंगे हिफ़ाज़त उसकी बस एक बार वो
कह दे कि “मैं अमानत हूं तेरी”
*******
मैं वो हूँ जो कहता था की इश्क़ मे क्या रखा है….
आज कल एक हीर ने मुझे रांझा बना रखा है ….!
*******
उस शख्स की आँखों में चुभने लगा हूँ मैं,
मैं वैसा नहीं था, जैसा लगने लगने लगा हूँ मैं…
*******
जब लोग परेशां हो जाते हैं,
काफी हद तक इंसान हो जाते हैं………
*******
मैंने आज चाहतों की सब किताबें फाड़ दी,
सिर्फ एक कागज पे लिखा लफ्ज़ माँ रहने दिया…
*******
दर्द” वो है, जो दूसरों को दर्द में देखकर महसूस हो,
वरना
अपना दर्द तो जानवरों को भी महसूस होता है…!
*******
कुछ हार गई तकदीर , कुछ टूट गये सपने,
कुछ गैरों ने किया बरबाद कुछ भूल गये अपने।…
*******
टकरा जाता हूँ अक्सर मैं तेरे साये से…
तुम जब दिखते नही हो,
तो महसूस क्यों होते हो मुझे…
*******
“बहुत खूबसूरत वहम है मेरा….
कहीं तो कोई है…. जो सिर्फ मेरा है…!!”
*******
दुश्मन हो तो इश्क जेसा ,
सीधे दिल पर वार करे…..!!
*******
ना जाने किस बात पे वो नाराज है हमसे. ….
ख्वाबों मे भी मिलता हू।तो बात
नही करती…
*******
अब मिलेंगे तो खूब रुलायेंगे उस संगदिल को…!
सुना है उसे रोते हुए लिपट जाने की आदत है…..!!
*******
इजाजत हो तो तेरे पास आ जाऊं मै..
चाँद के पास भी तो एक सितारा रहता है !!
*******
कैसे करू भरोसा गैरों के प्यार पर,
अपने ही मजा लेते हैं अपनों की हार पर..
*******
कल चुमा उसके होठो को तो महसूस हुआ,
कि सिगरेट से भी बढ के नशा होता है किसी चीज मे…!!!
*******
रंगों को चुन रहा था के कलियाँ बिखर गयीं,
लम्हों के ऐतबार में सदियाँ गुज़र गयीं….
*******
लौट कर फिर न मोहब्बत के जमाने आए…
याद भी आए तो कुछ दर्द पुराने आए…..!!!
*******
रूठ जाते है शब्द भी, अपने गलत इस्तेमाल पर,,
देखा है हमने शब्दों को भी, अक्सर नाराज़ होते हुए !!
*******
फुर्सत मिले तो कभी बैठ कर सोचना…
तुम भी मेरे अपने हो, या सिर्फ हम ही तुम्हारे हैं…!!
*******
शौक तो जिन्दगी मे हथियार पकडने का था..
मगर पगली ने फूल पकडा दिया..
*******
गहराइ हो जिनमे ज़मींनी,
वही रिश्ते आसमानी होते है ।
*******
तुम्हारी नाराजगी बहुत वाजिब है,
मै भी खुद से खुश नहीं हूँ….
*******
जिम्मेदारिया जब कंधो पर पढ़ती है
तो अक्सर बचपन याद आता है..!!
*******
आज कल अपना लास्ट सीन तक छुपा लेते हे लोग,
दिल क्या ख़ाक दिखायेंगे…
*******
प्यार करता हूँ तुम से इसलिए तेरे फ़िक्र करता हूँ…
गर नफरत करूँगा तो जिक्र भी नही करूँगा!!!
*******
मेरे नाम पे उसकी आँखों मैं आँसू?
उफ़!!ना कर मज़ाक, इस बात पे जान भी जा सकती है…….!!
*******
किसी की ज़िंदगी की ख़ुशी हो तुम….बस यही सोच कर , तुम अपना ख्याल रखना..
*******
हो जा मेरी, कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे,
लोग हसरत करेंगे, तेरे जैसा नसीब पाने के लिए..!!
*******
ये बात और हैं की मजबुर हैं हम,
वरना आज भी हमारी किस्मत हमें मंजुर नहीं हैं ।
*******
चली जाने दो उसे किसी ओर कि बाहों मे।।
इतनी चाहत के बाद जो मेरी ना हुई, वो किसी ओर कि क्या होगी ।
*******
इरादे मेरे साफ़ होते हैं…….!!!
इसीलिए……
लोग अक्सर मेरे ख़िलाफ़ होते हैँ…!!!
*******
दर्द सारे निकाल कर फेकने गए थे दिल से अपने,
पर दिया है जो तुमने, वो घाव बड़ा “गहरा है” ।।
*******
काश तेरी याद़ों का खज़ाना बेच पाते हम..
हमारी भी गिनती आज अमीरों में होती..
*******
काश ये दिल बेजान होता ,
ना किसी के आने से धडकता ना किसी के जाने पर तडपता…
*******
मासूमियत का कुछ ऐसा अंदाज़ था मेरे सनम का,
उसे तस्वीर में भी देखूं तो पलकें झुखा लेती थी ….
*******
बहुत सी मिठाइयाँ चखी है मैंने …


पर ख़ुशी के आसुओं का स्वाद सबसे मीठा है.!!
*******
तुमसे अच्छा तो हम चाँद से ही मोहब्बत कर लेते,
लाख दूर सही पर नजर तो आता है ॥!
*******
काश तू मेरी आँखों का आँसु बन जाये….!!!
मैँ रोना छोड़ दूँ तुझे खोने के डर से….!!!
*******
वो उम्र भर तो साथ निभा ना सके मेरा,
लेकिन याद बनाकर उसने मुझे कभी तन्हा ना छोड़ा..
*******
तेरे बग़ैर जिंदगी कुछ यूँ गुज़रेगी..!!
हर रात एक खुशी खुदखुशी करेगी..!!
*******
आँख खुलते ही याद आ जाता है तेरा चेहरा,
दिन की ये पहली खुशी भी कमाल होती है!”
*******
सूकून की नींद कही बिकती है क्या…!
ख्वाब देखे एक अरसा हो गया….
*******
हम तो सदियों से नींद में ही है पर यहां चो ख्वाबों में भी सुकून मिलता नहीं।।।
*******
मेरी ज़िंदगी में रहोगे तुम….. उम्र भर अब…..चाहे प्यार बनकर रहो या फिर…… दर्द बन कर…….
*******
कायनात बदल जाने से पहले मुलाकात तो कर लूँ,
मौत आ जाने से पहले अपनी ज़िंदगी तो जी लूँ…
*******
मत खोलना मेरी किस्मत की
किताबों को,,,
हर उस शख्स ने दिल दुखाया है …
जिस पे हमको नाज़ था ;
*******
अकेलेपन ने बिगाड़ी है आदतें मेरी,
तुम लौट आऔ तो मुमकिन है सुधर जाऊँ मैं…
*******
उसके सामने सिगरेट पिया तो उसने
कातिलाना सवाल पूछ लिया,
क्या इसकी तलब मेरे होंठों से जयादा हैं..!!
*******
वक़्त खराब है तो झुकता जा रहा हु,
जब दिमाग खराब होगा तो हिसाब पल पल का लूँगा..
*******
तुम अच्छे हो तो बन के दिखाओ,
हम बुरे है तो साबित करके दिखाओ !!
*******
तेरा नजरीया मेरे नजरीये से अलग था शायद ।
तूने वक्त गूजारा था हमने जिन्दगी गुजार दी…
*******
दोस्ती का इरादा था.. प्यार हो गया।।
दोस्तो अब..
दुआ दीजिये… सलाह नही।।
*******
ये वहम है मेरा िक मुझे बेहोश करती है शराब
होश में कब हूँ मैं तुझसे मोहब्बत करने के बाद…
*******
अब तो ख़ुद अपनी भी ज़रूरत नहीं हमको,
वो भी िदन थे कभी तेरी ज़रूरत हम थे…
*******
शक़ ना कर मेरी मोहबत पर ए पगली…….
सबूत देने पर आया तो तू बदनाम हो जायेगी..!!..!!..!!
*******
इश्क़ वो नहीं जो तुझे मेरा कर दे,
इश्क़ वो है जो तुझे किसी और का ना होने दे..
*******
जब तक किस्मत का सिक्का हवा में है, तब खुद के बारे में फैसला कर लो, क्योंकि जब वो नीचे आएगा तब अपना फैसला खुद सुनाएगा ||
*******
सुना है तुम्हारी निगाहों से क़त्ल होते है
एक नज़र हमको भी देख लो के जीना अच्छा नहीं लगता।
*******
” अजब है इन आँखों का भी..
तुमसे बात न हो तो पूरी रात नींद नहीं आती
बात हो जाये तो ख़ुशी के मारे आँख नहीं लगती!!: ”
*******
कभी तो यकीन कर लो तुम मेरी मोहब्बत का,
कहीँ उमर न गुज़र जाये मुझे आज़माने मेँ…
*******
इस दिल को तुमही रख लो..बड़ी फिकर रहती है इसे तुम्हारी…
*******
जलन जन्नत को भी होती तो होगी….
दुआओ में तुम्हें जब मांगता हूँ….मै….
*******
चुप रहना ही बेहतर हैं, ज़माने के हिसाब से,
धोखा खा जाते हैं, अक्सर ज्यादा बोलने वाले !!
*******
कितने सितम करोगे इस टूटे हुए दिल पर,
थक जाओ तो बताना ज़रूर मेरा ज़ुर्म क्या था…!!
*******
तेरी बातों मे जिकर मेरा,मेरी बातों मे जिकर तेरा।
अजीब है ये इश्क भी,ना मैं तेरी ना तू मेरा!
*******
मेरी हैसियत से ज्यादा मेरे थाली में तूने परोसा है,
..
तु लाख मुश्किलें भी दे दे मालिक, मुझे तुझपे भरोसा है।
*******
लगे हो ना भूल जाने में मुझे ?
मासूम सी दुआ है, नाक़ाम रहो तुम.
*******
तुम याद न कर के भी अच्छे लगते हो,
ख़ुदा जाने तुम याद करते तो क्या होता!
*******
मेरे मरने के लिए काफी था तेरा मुझसे न बात करना…
*******
नींद में भी गिरते हैं मेरी ….आँख से आंसू..
जब भी तुम ख्वाबों में ….मेरा हाथ छोड़ देते हो..
*******
तकदीर बनाने वाले, तूने भी हद कर दी;
तकदीर में किसी और का नाम लिखा था;
और दिल में चाहत किसी और की भर दी!
*******
काश वो आकर कहे किसी दिन मोहब्बत से…
ये बेसब्री कैसी ?
” तेरी ही हूँ ” तसल्ली रख…. !!!
*******
तेरे चेहरे के हजारों चाहने वाले,
तेरी रूह का मैं अकेला दीवाना…
*******
मुझे जिन्दगी के सारे दर्द मिल
जाये !!!! मुझे कोई गम नही !!
पर
अगर तेरे प्यार मे दर्द मिला तो मै
जी नही पाउंगा !!!!
*******
तुम याद भी आते हो तो चुप रहते हैं, ….!!
के आँखो को खबर हुई तो बरस जाएंगी…
*******
मैं क्यों कहूँ उससे की मुझसे बात करो….!
क्या उसे नहीं मालूम की उसके बिना मेरा दिल नहीं लगता….!!
*******
तोड़ दिया तूने मेरा दिल, यह बड़ी बात थी,
पर जिस लिए तोड़ा वो मामूली सी बात थी…
*******
शायरी की लत ऐसी लगी है की छोड़ी नहीं जाती…
जिस दिन छोड़ ने की सोची उसी वक्त तुम्हारी यादे फिर से लिखने को मजबूर कर देती है….
*******
एक नींद है जो रात भर नहीं आती,
और एक नसीब है जो न जाने कब से सो रहा है…
*******
” मोहब्बत भी ईतनी शीद्दत से करो कि,
वो धोखा दे कर भी सोचे के वापस जाऊ तो किस मुंह से जाऊ..! ”
*******
तुम जानते हो मेरी ज़िन्दगी की सबसे कीमती चीज क्या है …?
बस इस मैसेज का पहला लफ्ज़…..”
*******
छेड़ने लगीं सहेलियां उसकी, उसको मुजसे मिलने के बाद ||
.
कि रंग क्यों बदला है तेरे होठों का उसको मिलने के बाद ||
*******
ना block किया था और ना कभी करेंगे.. तुझे तो अपना dp और status दिखा दिखा के जलायेगे..
*******
आज किसी की दुआ की कमी है, तभी तो हमारी आँखों में नमी है, कोई तो है जो भूल गया हमें, पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है…
*******
तेरे गुस्से पर भी आज हमें प्यार आया है..
चलो कोई तो है.जिसने इतने हक से, हमें धमकाया है.
*******
ना मांग इतना खून मेरे ज़ख़्मी दिल से,
की बूँद भी न रहे तेरे सिंदूर के लिए..
*******
अगर अपनी किस्मत लिखने का जरा सा भी हक हो मुझे….
तो अपने नाम के साथ पगली हर बार तेरा नाम लिखूंगा में…
*******
हथेलियों पर मेहँदी का “ज़ोर” ना डालिये,
दब के मर जाएँगी मेरे “नाम” कि लकीरें…!!!!
*******
तुम मुझे नहीं चाहते तो क्या हुआ,
क्या इसी बात पर तुम्हे चाहना छोड़ दूँ …..
******
तुम्हारी शातिर नजरे कत्ल करने में माहिर हैं,
तो सुन लो…..
हम भी मर-मर कर जीने में उस्ताद हो गये हैं….
*******
इजाजत हो तो आज मांग लू तुमको,
सुना है आज कबूलियत की रात है..
*******
मैं ख़ुद भी एहतियातन उस गली से कम गुज़रता हूँ,
कोई मासूम क्यों मेरे लिए बदनाम हो जाए!!!
*******
कुछ चीजें होती हैं इतनी बेमतलब ..!!!
जैसे … तेरे बिन ज़िन्दगी ..!!!
*******
दुख ना दस्तावेज़ होय के सुख नुं सोगंदनामु ध्यान थी जोशों तो नीचे सही तमारी ज हशे…
*******
फ़िक्र नहीं हमें की तुम दिल तोड़ दो,
फ़िक्र है हमें कि कहीं तुम्हें इश्क न हो जाये…
*******
वो कहती है अचानक मैं तुम्हे यूँ
ही रुला दूँ तो….
मैं कहता हूँ मुझे डर है के तुम भी भीग जाओगी…
*******
मेरी फितरत में नहीं हैं किसी से नाराज होना,
नाराज वो होतें हैं जिन्हें अपनेआप पर गुरूर होता है।।
*******
ज़िन्दगी जीने के लिए बनी थी..
मैंने इंतज़ार में गुज़ार दी..
*******
एक़ उसे हीं चाहा था ज़माने से लड़ क़र,उस ने ज़माने से मील क़र मुझें हीं तन्हा कर दीया !
*******
ऐ महोब्बत शरम से डूब मर,
तू एक शख्श को मेरा ना कर सकी…
*******
बारिश बन के बरसती हैं जब भी उसकी यादें मुझ पर,
.
मैं टूट जाता हूँ कच्चे झोपड़े की तरह!
*******
जाओ तन्हाइयो थोड़ा आराम कर लो
सवेरे फिर चली आना अभी हाथ में प्याला है…
*******
कितना मुश्किल होता है….
जिस के लिए जीना, उस के बिना जीना………
*******
है परेशानियाँ यूँ तो, बहुत सी ज़िंदगी में;
तेरी मोहब्बत सा मगर, कोई तंग नहीं करता।
*******
हर शक्स ने अपने अपने तरीके से इस्तेमाल किया,
और हम समझते रहे कि लोग हमें पसंद करते है…
*******
तुम मौसम की तरह बदल रही हो,,
मैं फसल की तरह बरबाद हो रहा हूँ..!!
*******
”मुझे तुम्हारी जुदाई का कोई रंज़ नहीं…
मेरे खयाल की दुनिया में मेरे पास हो तुम”
*******
कौन कहता है-
मैं तन्हाँ हूँ !
देखो ना –
मुस्कुराता चाँद भी
मेरी बचकानी बातें पर
ठहाके लगा रहा है !!
*******
जिंदगी में अपनों से बड़ो को प्रणाम करना सीखिये,
कहा जाता है की प्रणाम “परिणाम” बदल देता है..!!
*******
अपने उसूल कभी यूँ भी तोड़ने पड़े।
खता उसकी थी हाथ मुझे जोड़ने पड़े।।
*******
इस क़दर कीमती तो ना था मेरा चैन-ओ-सकून!
लूट कर ले गया वो किसी अनमोल ख़ज़ाने की तरह!!

तेरी मुहब्बत पर मेरा हक तो नही पर दिल चाहता है,
आखरी सास तक तेरा इंतजार करू…

बदनामी का डर तो उसे होता है,
जिसमे नाम कमाने की हिमंत
नही होती…!!
*******
करनी है खुदा से गुजारिश
तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले….
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा
या फिर कभी जिंदगी न मिले..!

एक ही शख्स था मेरे मतलब का,
और वही मतलबी निकला.!!
*******
“याद नहीं वो रूठा था…या मैं रूठा था…,
साथ हमारा बस जरा सी बात पे छूटा था…।”
*******
कहीं तुम भी न बन जाना किरदार किसी किताब का …
लोग बड़े शौक से पड़ते है कहानिया बेवफाओं की…

कोई दिल की ख़ुशी के लिए तो कोई दिल्लगी के लिए !!
हर कोई प्यार ढूंढ़ता है यहाँ अपनी तनहा सी ज़िन्दगी के लिए !!

उसके शहर की गलिओं से बदनाम हो के लौटा हूँ ….
मैं जंग-ए-मोहब्बत में नाकाम हो के लौटा हूँ !!
*******
तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करू, कुछ कहते हुए भी डरता हूँ…
कही भूल से तू ना समझ बैठे, के मैं तुझ से मोहब्बत करता हूँ …

हर “जुर्म” पे उठती हैं उँगलियाँ मेरी तरफ,
क्या “मेरे” सिवा शहर में “मासूम” हैं सारे…!!!

नफरत भी उसी के साथ मोहब्बत भी उसी के साथ,
खत्म कर लिये है ताल्लुक हमने हर किसी के साथ.

हो सके तो मुहब्बत न करना,
हो जाए मुहब्बत तो जमाने से नहीं डरना।।
*******
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,.??
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी तेरे नाम कर दी. !!

मैंने दिन रात ख़ुदा से ये दुआ माँगी थी,
कोई आहट ना हो दर पर मेरे जब तू आए …!!

यहाँ मेरा कोई अपना नहीं है..
चलो अच्छा है कुछ ख़तरा नहीं है !!

टूटता हुआ तारा सबकी दुआ पूरी करता है..
क्यों के उसे टूटने का दर्द मालूम होता है…

“फ़क्र ये के तुम मेरे हो,,,,
फ़िक्र ये पता नही कब तक”

क्यों प्यार में हर दिल मजबूर होता है..!!!
महबूब सबका क्यों आँखों से दूर होता है …!!!
*******
सिर्फ इसी कर्ज को अदा करनेँ के वास्ते हम सारी रात नहीँ सोते,
कि शायद कोई जाग रहा हो इस दुनिया मेँ हमारे लिए..!!
*******
सब टूटकर बिखर जाना जिंदगी का दस्तूर हैं,
ना मै कुछ कहू ,ना तुम कहो दोनों का दिल मजबूर हैं…
*******
लाख जोड़ा फ़िर भी टुट गये….
इतने कमजोर क्यूँ होते है “अपनों से रिश्ते”!! 
*******
है जो तुझमे दम तो दे दे आज इन लबों पे हँसी..
कल तो हम भी ढूँढ लेगे वजह मुस्कुराने की…
*******
दिल ने सोचा था, उन्हें टूट के चाहेंगे ……….!!!
यकीन मानो हम टूटे भी बहुत और चाहा भी बहुत…!!
*******
झगड़ा तभी होता है जब दर्द होता है..
और दर्द तभी होता है जब प्यार होता है..!
*******
ऐसा नहीं की आप के आने की आहट हमें नहीं !
खोया हुआ था आप की यादों में दिल कहीं !!
*******
“गरूर’ तो नहीं करते लेकिन इतना यक़ीन ‘ज़रूर’ है..कि अगर ‘याद’ नहीं करोगे तो ‘भुला’ भी नहीं सकोगे..
*******
खता इतनी की उनको पाने की कोशिश की,,
अगर छीनने की कोशिश करते तो आज वो हमारे होते…

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.