Header Ads

दालचीनी दूध के फायदे और नुकसान -

Healths Is Wealth  
दालचीनी दूध के फायदे और नुकसान -


दालचीनी दूध के फायदे और नुकसान (Cinnamon Milk Benefits and side effects in Hindi, Dalchini Doodh ke Fayde aur Nuksan in Hindi): दालचीनी एक मसाला है जो कि सिनेमन (cinnamon)वंश के विभिन्न प्रकार के पेड़ों की प्रजातियों की अंदरूनी छाल से प्राप्त किया जाता है। दालचीनी को मुख्यत: विविध प्रकार के खाद्य पदार्थों और व्यञजनों का स्वाद बढ़ाने के किए उपयोग में लाया जाता है। दालचीनी में पानी, फ़ाइबर (fiber), कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate), प्रोटीन (protein) और वसा (fat) उपयुक्त मात्रा में पाया जाता है। दालचीनी दूध के गुणों में जीवाणुरोधी (antibacterial), एंटीफ़ंगल (antifungal) और एंटीवायरल (antiviral) घटक सम्मिलित होने के कारण यह अच्छे स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से एक अत्यंत पौष्टिक और औषधीय पेय पदार्थ है। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में अभूतपूर्व सुधार होता है और अनेक प्रकार के रोगों से बचाव में त्वरित लाभ प्राप्त होता है। दालचीनी के दूध के फ़ायदे में मधुमेह पर नियंत्रण, पाचन तंत्र को मज़बूती, अनिद्रा से मुक्ति, प्रतिरक्षा तंत्र को दृढ़ता, हड्डीयों को सघनता, मसूड़ों को स्थायित्व एवम् बालों तथा त्वचा सम्बंधी समस्याओं से निदान के प्रयासों और उपचारों में महत्वपूर्ण लाभ प्राप्त होता है। दालचीनी वाले दूध के सेवन से कोई भी व्यक्ति त्वरित स्वास्थ्य – लाभ प्राप्त करके दीर्घायु जीवन का आनंद ले सकता है। यह कैंसर – रोधी (anti-cancerous) गुणों का भी स्रोत है।
Healths Is Wealth  
दालचीनी वाला दूध पीने के फायदे - Health Benefits of Cinnamon Milk in Hindi
दालचीनी वाला दूध पीने से पाचन क्रिया ठीक रहती है।
दालचीनी वाला दूध से कमजोर हड्डियों को ताकत मिलती है।
दालचीनी वाला दूध पीने से ब्लड शुगर कण्ट्रोल में रहता है।
दालचीनी वाला दूध का नियमित सेवन गले सम्बन्धी समस्याओं से बचाता है।
दालचीनी दूध पीने के फायदे से नींद अच्छी आती है।
दालचीनी दूध का उपयोग गैस एसिडिटी की समस्या को ख़तम करता है।
दालचीनी दूध के गुण बालो को लम्बा और त्वचा को सुन्दर बनाते है।
1. दालचीनी दूध बनाने की विधि - Cinnamon Milk Recipe in Hindi
2. दालचीनी दूध के फायदे - Dalchini Doodh ke Fayde in Hindi
दालचीनी वाला दूध का सेवन त्वचा और बालों के लिए - Dalchini Milk Benefits for Skin and Hair in Hindi
दालचीनी दूध के घरेलू नुस्खे से प्रतिरक्षा तंत्र को दृढ़ता - Cinnamon Benefits for Immunity in Hindi
दालचीनी दूध पीने के फायदे मधुमेह ग्रस्त रोगियों के लिए - Dalchini Milk Benefits for Diabetes in Hindi
दालचीनी वाला दूध के फायदे पाचन तंत्र के लिए - Milk and Cinnamon Benefits for Digestion in Hindi
दालचीनी वाला दूध करे गले में आई खराश का उपचार - Dalchini Milk Benefits for Sore Throat in Hindi
दालचीनी दूध के औषधीय गुण से हड्डियों में सघनता और मज़बूती - Cinnamon Milk Benefits for Strong Bones in Hindi
दालचीनी दूध के लाभ का मौखिक स्वच्छता पर प्रभाव - Cinnamon Milk ke Fayde for Oral Health in Hindi
अनिद्रा में दालचीनी के दूध का सेवन - Dalchini Wala Doodh ke Fayde for Insomnia in Hindi
दालचीनी दूध के गुण का कैंसर पर प्रभाव - Cinnamon Milk Benefits for Cancer in Hindi
3. दालचीनी दूध के नुकसान - Dalchini Doodh ke Nuksan in Hindi
Healths Is Wealth  
दालचीनी दूध बनाने की विधि - Cinnamon Milk Recipe in Hindi
इसको निम्नलिखित दो प्रकार से घर में ही आसानी से तैयार करके इसका सेवन किया जा सकता है: -
एक कप या एक गिलास आवश्यकता अनुसार गर्म दूध लें एवम् इसमें 2 छोटे चम्मच दालचीनी पाउडर अच्छी तरह मिलाकर पियें।
किसी बर्तन में दूध और लगभग एक इंच का दालचीनी का टुकड़ा डाल कर उबाल लें। उबालने के बाद उसे छान लें और शहद मिलाकर पियें।
सोने से पहले दालचीनी और दूध के फ़ायदे वाला स्वास्थ्यवर्धक पेय बेहतर लाभ देता है एवम् इसको पीने के बाद पानी नहीं पीना चहिए।
( और पढ़े - शहद और दालचीनी का पानी मिलाकर पीने के फायदे नहीं जानते होंगे आप ) के लिए इमेज परिणाम
दालचीनी दूध के फायदे - Dalchini Doodh ke Fayde in Hindi
इसके अनेक लाभ हैं जो कि किसी के व्यक्तिगत स्वास्थ्य एवम् सौंदर्य दोनों को बेहतर करता है। दालचीनी के दूध का सेवन बेहद आसान और इसे बनाने की घरेलू विधि अत्यंत सरल है। यह एक ऐसा स्वास्थ्यवर्धक नुस्खा है जिसके फ़ायदे निम्नलिखित हैं: -
दालचीनी वाला दूध का सेवन त्वचा और बालों के लिए - Dalchini Milk Benefits for Skin and Hair in Hindi
दालचीनी दूध के औषधीय गुण आंतरिक और बाह्य दोनों प्रकार के स्वास्थ्य – लाभ में सहायक और अत्यंत प्रभावशाली है। इसका दूध पीने से लगभग सभी प्रकार के चर्म रोगों से छुटकारा मिलता है। थोड़ी मात्रा में इसका दूध, सोने से पहले, चेहरे पर लगाने से त्वचा की प्राकृतिक चमक निखर के सामने आती है।
इसके दालचीनी दूध के सेवन से त्वचा सम्बंधी रोगों तथा संक्रमण में त्वरित लाभ मिलता है। इसका जीवाणुरोधी गुण, बाह्य संक्रमण को पनपने नहीं देता और एंटीऑक्सीडेंट घटक आंतरिक विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में सहायक होते हैं जो कि त्वचा को नुकसान पहुँचाते हैं।
बालों में दालचीनी का दूध लगा कर 2-3 घंटे बाद सामान्य शैम्पू से बालों को धोने पर वे लम्बे, चमकदार और घने होते हैं।
दालचीनी दूध के उपर्युक्त सभी व्यक्तिगत स्वास्थ्य सम्बंधी घरेलू उपाय और देसी नुस्खे विभिन्न प्रकार की शारीरिक अनियमितताओं, दोषों एवम् रोगों से बचाव और उनके त्वरित निवारण में अत्यंत प्रभावशाली रूप से लाभदायी है। दालचीनी के दूध का सेवन हर उम्र का व्यक्ति कर सकता है और इसके गुणकारी घटकों के कारण लम्बे समय तक अच्छे स्वास्थ्य का लाभ ले सकता है।
( और पढ़े - शहद और दालचीनी का पानी मिलाकर पीने के फायदे नहीं जानते होंगे आप ) के लिए इमेज परिणाम

दालचीनी दूध के घरेलू नुस्खे से प्रतिरक्षा तंत्र को दृढ़ता - Cinnamon Benefits for Immunity in Hindi
दालचीनी दूध के उपयोग और नियमित सेवन से मानव शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता में अभूतपूर्व विकास होता है और शरीर के प्राकृतिक प्रतिरक्षा तंत्र को दृढ़ता मिलती है। अक्सर छोटी उम्र के बच्चे जल्दी रोग – ग्रस्त हो जाते हैं; दालचीनी दूध के औषधीय गुण उनके लिए अत्यंत लाभप्रद है क्योंकि इससे उनके प्रतिरक्षा तंत्र को मज़बूती मिलती और और वे जल्दी बीमार नहीं पड़ते।
सिर्फ़ बच्चे ही नहीं, अपने प्रतिरक्षा तंत्र को सुचारु रखने के लिए कोई भी व्यक्ति दालचीनी दूध के घरेलू उपाय से स्वास्थ्य लाभ ले सकता है।
इसके दूध के नियमित सेवन से रोज़मर्रा के तनावग्रस्त जीवन में भी लाभ मिलता है क्योंकि तनाव हमारे प्रतिरक्षा तंत्र पर प्रतिकूल असर डालता है और शरीर आसानी से छोटे-बड़े रोगों की चपेट में आ जाता है। इसके दूध को शहद या हल्दी के साथ लेने से जीवाणु और विषाणु आघातों के प्रति मानव शरीर अधिक प्रतिरोधी हो जाता है एवम् अनेक प्रकार के रोगों से लड़ने और उनकी रोकथाम में सहायता मिलती है।


दालचीनी दूध पीने के फायदे मधुमेह ग्रस्त रोगियों के लिए - Dalchini Milk Benefits for Diabetes in Hindi
टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए दालचीनी दूध का सेवन अत्यंत लाभदायक है। कई औषधीय अनुसंधानों से यह सिद्ध हो चुका है कि दालचीनी में वह यौगिक सम्मिलित हैं जो रक्त में शुगर / शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के साथ उसे सुधारने में भी सहायक हैं।
एक चिकित्सकीय निष्कर्ष से यह जाना गया कि दालचीनी का नियमित रूप से मात्र 1 – 6 ग्राम तक का सेवन भी टाइप 2 मधुमेह रोगियों के रक्त में मौजूद ग्लूकोस स्तर, कोलेस्टेरॉल स्तर (cholesterol level), आदि को नियंत्रित करने में सहायक है।
इतना ही नहीं, दालचीनी दूध का उपयोग सीरम ग्लूकोस (serum glucose), ट्राइग्लिसराइड (triglyceride) और LDL को घटा कर मधुमेह ग्रस्त शरीर की इंसुलिन सम्बंधी सम्वेदनशीलता (insulin related sensitivity) को भी बढ़ाता है।


दालचीनी वाला दूध के फायदे पाचन तंत्र के लिए - Milk and Cinnamon Benefits for Digestion in Hindi
स्वास्थ्य सम्बंधी अधिकांश समस्याएँ, प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से, पाचन तंत्र की अनियमितताओं के कारण होती हैं। दालचीनी का दूध व्यक्ति के पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है और यह गैस, कब्ज़, डायरिया आदि उदर सम्बंधी समस्याओं के लिए अत्यंत प्रभावी औषधि के रूप में कार्य करता है।
दालचीनी के दूध के औषधीय गुण अपच जैसी गम्भीर समस्या का भी निदान करते है एवम् पाचन प्रक्रिया के दौरान शरीर के अंदर किसी भी प्रकार के जीवाणु / विषाणु वृद्धि की रोकथाम में भी सहायक हैं।
दालचीनी के दूध के नियमित सेवन से पाचन तंत्र सुदृढ़ रहता है एवम् स्वास्थ्य लाभ में अप्रत्याशित वृद्धि होती है।



दालचीनी वाला दूध करे गले में आई खराश का उपचार - Dalchini Milk Benefits for Sore Throat in Hindi
अक्सर गले में खराश की वजह से, दिन के कार्यों के साथ-साथ, रात की नींद भी बुरी तरह प्रभावित होती है। गले की इस परेशानी के कारण निर्बाध निद्रा की स्थिति प्राप्त नहीं हो पाती है। इस कारण, खाना निगलने में दिक्कत, बोलते समय गला बैठ जाना, बार – बार गला सूखना और गले में दर्द जैसी समस्याएँ हो जाती हैं। दालचीनी के दूध में एंटीवायरल, एंटीफ़ंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो गले की खराश को ठीक करने में अत्यंत सहायक होते हैं।
दालचीनी के गर्म दूध में शहद, कालीमिर्च, अदरक का पाउडर, आदि भी मिलाकर उसके असर को और अधिक प्रभावशाली बनाया जा सकता है जिससे अतिशीघ्र स्वास्थ्य – लाभ मिल जाएगा।
दूध में दालचीनी की मात्रा थोड़ी ही रखनी चाहिए अन्यथा अधिक मात्रा में यह स्वास्थ्य पर विपरीत असर डालती है जिससे लिवर और किडनी को नुकसान पहुँचता है।


दालचीनी दूध के औषधीय गुण से हड्डियों में सघनता और मज़बूती - Cinnamon Milk Benefits for Strong Bones in Hindi
यह प्रमाणित तथ्य है कि दालचीनी वाला दूध पीने के फ़ायदे में हड्डियों में अधिक सघनता लाना है, जिससे वह जल्दी टूटती नहीं अर्थात् हड्डियों की
आघात – प्रतिरोधक क्षमता (anti-shock capacity) में विकास होता है तथा वे अधिक दबाव झेलने में सक्षम बनती हैं।
अधिकतर वृद्ध व्यक्तियों और उनमें भी महिलाओं को होने वाली ओस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) नामक बीमारी के कारण हड्डियाँ कमज़ोर हो जाती हैं और उनके टूटने की सम्भावना बढ़ जाती है; इसको रोकने के लिए दालचीनी के दूध का सेवन अत्यंत लाभप्रद है जो कि कमज़ोर हड्डियों को मज़बूती प्रदान करता है।
दालाचीनी में हड्डियों का घनत्व बढ़ा कर उन्हें सघनता और मज़बूती प्रदान करने की क्षमता है। बढ़ती उम्र के बच्चों और बुज़ुर्गों दोनों को इसका सेवन अवश्य करना चाहिए।


दालचीनी दूध के लाभ का मौखिक स्वच्छता पर प्रभाव - Cinnamon Milk ke Fayde for Oral Health in Hindi
दालचीनी में प्राकृतिक रूप से एंटीफ़ंगल, एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जिनके कारण विभिन्न समस्याएँ जैसे मुँह की दुर्गंध, मसूड़ों की सूजन, दातों के कीड़े और उनमें होने वाली कैविटी (cavity) इत्यादि से शीघ्र स्वास्थ्य लाभ मिलता है।
दाँत में दर्द होने पर खड़ी दालचीनी के छोटे से टुकड़े को चबाने से तुरंत आराम मिलता है।
दालचीनी दूध का सेवन करने से स्वस्थ दाँत और मसूड़े प्राप्त होते हैं एवम् लगभग सभी मुख – सम्बंधित बीमरियों से निजात मिलती है।


अनिद्रा में दालचीनी के दूध का सेवन - Dalchini Wala Doodh ke Fayde for Insomnia in Hindi
दालचीनी वाला दूध पीने के फ़ायदे में सोने से ठीक पहले पीना, जिससे अनिद्रा जैसी समस्या से त्वरित और दीर्घावधि लाभ मिलता है, शामिल है। दालचीनी दूध का उपयोग अनिद्रा को दूर करने का एक सरल और घरेलू उपाय है।
दूध को आवश्यकता अनुसार गर्म करके उसमें दालचीनी का पाउडर या खड़ी दालचीनी डालें और मिलाएँ; कुछ देर बाद उसका सेवन करें।
ध्यान रहे कि इस दूध को पीने के बाद अन्य कोई पेय पदार्थ ना लें। दालचीनी के दूध के घरेलू उपाय से अनिद्रा में शीघ्र लाभ प्राप्त होगा।


दालचीनी दूध के गुण का कैंसर पर प्रभाव - Cinnamon Milk Benefits for Cancer in Hindi
दालचीनी एक ऐसी चमत्कारी औषधि है जिसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) हैं जो कि कैंसर की रोकथाम में अत्यंत प्रभावशाली है।दालचीनी के दूध के नियमित सेवन से कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाएँ नष्ट होती हैं एवम् उन्हें शरीर के अन्य हिस्सों में फ़ैलने से रोका जा सकता है।लचीनी दूध के औषधीय गुण में एंटी-ट्यूमर घटक शामिल हैं जो एक प्राकृतिक कैंसर – निवारक औषधि की तरह कार्य करते हैं और शरीर की कोशिकाओं के DNA में होने वाले नुकसान से बचाते हैं।
विभिन्न प्रकार के कैंसर जैसे सर्वाइकल कैंसर (cervical), प्रोस्टेट कैंसर (prostate), कोलन कैंसर (colon), आदि में दालचीनी वाले दूध के सेवन से महत्वपूर्ण और अत्यंत प्रभावी लाभ होता है|



दालचीनी दूध के नुकसान - Dalchini Doodh ke Nuksan in Hindi
दालचीनी दूध के नुकसान - Cinnamon Milk Side Effects in Hindi
इसके अनेक फ़ायदे हैं तो इसके अधिक मात्रा में सेवन के स्वास्थ्य सम्बंधी कुछ विपरीत प्रभाव भी हैं जो कि निम्नलिखित है: -
गर्भवती महिलाओं को दालचीनी दूध के उपयोग से बचना चाहिए; यह सर्जरी के बाद अत्यधिक रक्त्स्त्राव (post-surgery bleeding) का कारण बन सकता है।
दालचीनी के अधिक सेवन से रक्त शर्करा (blood sugar) की मात्रा कम हो सकती है।
अधिक सेवन से लिवर और किडनी को नुकसान हो सकता है।
दालचीनी दूध के गुण हर प्रकार के मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के लिए लाभप्रद नहीं है।
दालचीनी विभिन्न प्रकार के रसायनों (chemicals) से मिलकर विपरीत प्रभाव डाल सकता है; वे रसायन जो कोई व्यक्ति दवाइयों के रूप में पहले से ले रहा हो।
दालचीनी, उसका तेल, उसका पानी और दूध; सभी स्वास्थ्य सम्बंधी अनेक रोगों को दूर करने में लाभदायक हैं लेकिन इनका उपयोग निश्चित और सीमित मात्रा में करने से पूर्ण स्वास्थ्य – लाभ के लक्ष्य की प्राप्ति की जा सकती है। दालचीनी हर रूप में अत्यंत लाभकारी है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.