Header Ads

ऐसे 10 खाद्य पदार्थ जिनमें होता है सबसे ज्यादा कैरेटेनॉइड


ऐसे 10 खाद्य पदार्थ जिनमें होता है सबसे ज्यादा कैरेटेनॉइड
कैरेटेनॉइड एक तरह के फैट सॉल्यूबल न्यूटियंट्स होते हैं. इसे आप जैतून के तेल, नट्स, सीड्स, नारियल का तेल और ऐवाकाडो से ले सकते हैं.




कैरेटेनॉइड एक ऐसे प्रकार का गुड फैट होता है जिसकी जरूरत हमारे शरीर को होती है. कैरेटेनॉइड्स आप कई तरह के प्लांट-बेस्ड फूड्स से ले सकते हैं. इसमें फल और सब्जियां जैसे गाजर, मीठे आलू, टमाटर और स्क्वॉश शामिल हैं.






कैरेटेनॉइड एक तरह के फैट सॉल्यूबल न्यूटियंट्स होते हैं. इसे आप जैतून के तेल, नट्स, सीड्स, नारियल का तेल और ऐवाकाडो से ले सकते हैं. कैरेटेनॉइड्स एक प्रकार के फाइटोन्यूट्रीयंट्स होते हैं जो शरीर में फ्री-रैडिकल को नष्ट होने से बचाते हैं.







ये इंफ्लेमेशन और शरीर में होने वाली मौसमी बीमारियों से लड़ने में कारगर होते हैं. कैरेटेनॉइड कई प्रकार के होते हैं. इसमें सबसे पहले आते हैं बीटा-कैरोटिन और ए-कैरोटिन. ये पालक, स्क्वॉश, मीठे आलू और गाजर में पाया जाता है. इनमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण कैंसर के खतरे को कम करने में कारगर है.






ल्यूटिन और जिएक्सथिन ये दोनों ही कैरोटिन हरी पत्तेदार सब्जियों और समुद्री सब्जियों में पाए जाते हैं. ये आंखों के लिए काफी अच्छे होते हैं. बढ़ती उम्र के साथ होने वाली आंखों की समस्याओं से बचाते हैं.






लायकोपीन कैरोटिन सबसे ज्यादा टमाटर में पाए जाते हैं. ये प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करने में कारगर है.







कैरेटेनॉइड्स क्लोरेला (एक प्रकार का समुद्री ऐल्गी होता है जिसमें क्लोरोफिल और कैरेटेनॉइड्स दोनों पाए जाते हैं), हरी पत्तेदार सब्जी जैसे केल (एक प्रकार का पत्ता), पालक, व्हीट ग्रास, खीरा, सेलरी, रोमन लैटिस, पार्स्ली और चुकंदर के पत्तों में भी पाया जाता है. Pic credit: pexels.com

इन 5 चीजों को फॉलो कर आप भी पा सकते हैं Flat Tummy

भूखे रहने से हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म बिगड़ता है और हमारा शरीर पेट के चारों तरफ फैट इकट्ठा करने लगता है. इसलिए एक ही बार में हैवी खाना खाने की बजाए हर दो घंटे के अंतर पर कुछ खाते रहें.




पेट पर जमी चर्बी को बिना ज्यादा मेहनत किए घटाने के बारे में सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है. कई ऐसी चीजें हैं जिन्हें अगर आप रोज करें तो आसानी से वजन घटा सकते हैं. ऑफिस में बैठे-बैठे काम करने से हम लोगों का पेट निकल जाता है. ऐसे में यह समस्या आम है.






इसका सबसे अच्छा उपाय है कि आप रोज एक्सरसाइज करें या जिम जाएं. लेकिन अगर आपके पास इन दोनों में से किसी भी एक चीज का समय नहीं और बेली फैट कम करना चाहते हैं तो इन टिप्स को अपनाएं.







ये बात सुनकर आपको अजीब लगेगी लेकिन क्या आप जानते हैं कि जल्दी-जल्दी बात करने या चुइंग-गम ज्यादा चबाने से आप ज्यादा हवा निगल सकते हैं जिससे आपका पेट फूल सकता है.





स्टडी से पता चला है कि हंसने से पेट की मसल्स सिकुड़ती हैं जिससे पेट की मांसपेशियों का वर्कआउट होता है. ऐसे में दिन में खुद को खुश रखने की कोशिश करें और हंसने की वजह ढूंढें.






भूखे रहने से हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म बिगड़ता है और हमारा शरीर पेट के चारों तरफ फैट इकट्ठा करने लगता है. इसलिए एक ही बार में हैवी खाना खाने की बजाए हर दो घंटे के अंतर पर कुछ खाते रहें.


Healths Is Wealth

रोजाना दो से तीन लीटर पानी पिएं. आपका वजन नियंत्रित रहेगा. साथ ही डिहाइड्रेशन की वजह से पेट फूलने की समस्या से भी छुटकारा मिल जाएगा. 

2

नारियल का तेल स्किन के लिए होता है नुकसानदायक, जानिए कैसे...
जिन लोगों को मुंहासों की समस्या होती है वे भी नारियल का तेल इस्तेमाल करने से बचें. इसकी तासीर गर्म होने की वजह से मुंहासे और भी बढ़ सकते हैं.




कहते हैं कि नारियल का तेल स्किन और बालों दोनों के लिए काफी अच्छा होता है. आप इसे खाने में भी शामिल कर सकते हैं. वैसे तो नारियल का तेल सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है लेकिन आज हम आपको इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं.





नारियल का तेल अकेले ही कई ब्यूटी प्रॉडक्ट्स के बराबर होता है लेकिन वो कहते हैं न कि हर चीज की अति बुरी होती है. नारियल के तेल के साथ भी कुछ ऐसा ही है.


Healths Is Wealth




वैसे तो नारियल का तेल मॉइश्चराइज करने का अच्छा काम करता है लेकिन हर तरह की स्किन के लिए यह ठीक नहीं है. जिन लोगों की स्किन ड्राई होती है उनके भीतर की त्वचा को तो ये पोषण देता है लेकिन ड्राई स्किन को मॉइश्चराइज नहीं कर पाता है. ऐसे में इसका इस्तेमाल जरूरी नहीं कि आपके लिए फायदेमंद हो.


Healths Is Wealth



आयुर्वेद के अनुसार नारियल के तेल की तासीर गर्म होती है. ऑयली स्किन वाले इसके सेवन से बचें.


Healths Is Wealth



जिन लोगों को मुंहासों की समस्या होती है वे भी नारियल का तेल इस्तेमाल करने से बचें. इसकी तासीर गर्म होने की वजह से मुंहासे और भी बढ़ सकते हैं.


Healths Is Wealth


Healths Is Wealth
इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति की स्किन सेंसिटिव है तो वह पहले नारियल का तेल अपने हाथ पर या कान के पीछे लगाकर टेस्ट कर लें. कई बार नारियल के तेल के इस्तेमाल से लोगों को स्किन में रैश हो जाते हैं. ये स्किन को ड्राई और रफ बनाते हैं. 

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.