Header Ads

होली की खुशियों को न कर दें कम

Healths Is Wealth
केमिकल युक्त रंग होली की खुशियों को न कर दें कम घर पर बनाएं नेचुरल कलर –

Healths Is Wealth
फाल्गुन मास के पूर्णिया को मनाया जाने वाला होली त्योहार का सभी को ब्रेसबी से इंतेजार रहता है। बच्चों हो या फिर बुढ़ें होली के दिन हर धर्म के लोग उत्साह के साथ इसे मनाते है। रंगों का यह पर्व भाईचारे का संदेश देते है। इस दिन सभी धर्म, सम्प्रदाय , जाति के लोग एक दूसरे को अबीर, गुलाल लगाकर अपनी खुशियों का इजहार करते है। लेकिन इस होली में आपकी खुशियां बरकरार रहे इसके लिए थोड़ी सावधानी भी बरतनी होगी। आजकल मार्केट में केमिकल युक्त रंगों का चलन है। ये केमिकल युक्त रंगों (chemical colours) न सिर्फ आपकी त्वचा के लिए हानिकार साबित हो सकती है बल्कि आप स्वास्थय पर भी बुरा असर पड़ सकता है। आज हम आपको घर पर बनाएं नेचुरल कलर (Homemade natural colours in holi) बनाने के तरीके बताने जा रहे है
Healths Is Wealth
मार्केट में मिलने वाले केमिकल युक्त रंग शरीर के लिए नुकसान दायक हो सकता है। इन रंगों में मिलाए जाने वाले केमिकल काफी हानिकारक होते है। हरे रंग में कॉपर सल्फेट होता है जो आँखों के लिए बहुत ही खतरनाक है। इससे कई बार आंखों की रोशनी जाने का भी खतरा रहता है। सिल्वर कलर में एल्युमिनियम ब्रोमाइड होता है जो कैंसर का कारण बन सकता है। वही बच्चों का फेवरेट लाल रंग में मरकरी सल्फाइट होता है जो त्वचा के लिए के लिए नुकसानदह है। इनके अलावा कई रंग में क्रोमियम आयोडाइड होता है जो एलर्जी और दमा के रोगी के बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है। 
घर पर बनाएं नेचुरल कलर – Homemade natural colours in holi

ऐसे बनाए घर पर बनाएं नेचुरल लाल रंग – 
Homemade natural Red colour in hindi

लाल रंग बनाने के लिए बीटरूट, अनार के छिलके, टमाटर या फिर गाजर का इस्तेमाल कर सकते है। इन सभी को पीसकर इसका रस बना सकते है। फिर इसे पानी में घोलकर अच्छी तरह से नैचुरल लाल रंग बना सकते है। वही लाल रंग का गुलाल बनाने के लिए गुलाब की पंखुड़ियों को पीसकर आटे के साथ मिलाकर गुलाल बना सकते है। इसके अलावा आप चुकुंदर का भी प्रयोग लाल रंग बनाने के लिए कर सकते है। नैचुर रंग होने के कारण त्वचा को किसी भी प्रकार का नुकसान नही होगा।
घर पर बनाएं नेचुरल पीला रंग – Make natural yellow colour at home in hindi

हल्दी, सूजरमुखी, बेसन, मेरिगोल्ड के फूल के इस्तेमाल से नैचुरल पीला रंग बनाया जा सकता है। पीला रंग का होली खेलने के लिए हल्दी को पानी में मिलाकर रंग बना सकते हैं। हल्दी को उसके दुगुने मात्रा में बेसन के साथ मिलाकर पीले रंग का गुलाल भी बना सकते हैं। बेसन के जगह पर हल्दी को मुल्तानी मिट्टी के साथ मिला सकते हैं। दोनों त्वचा के लिए अच्छा होता है। या आप गेंदे के फूल को भी पीसकर पीला रंग बना सकते हैं।
घर पर बनाएं नेचुरल नारंगी रंग – Make natural orange colour at home in hindi

टेसू या पलाश के फूल को पीसकर पावडर बना लें और उसको पानी में घोलकर नारंगी रंग का मजा लें। वही नारंगी रंग का गुलाल बनाने के लिए पलाश के फूल का पावडर को चंदन के पावडर के साथ मिलाकर बनाया जा सकता है।


ऐसे बनाए घर पर बनाएं नेचुरल हरा रंग – Make natural green colour at home in hindi

हरा रंग बनाने के लिए धनिया या पालक के पत्ते को इस्तेमाल किया जा सकता है। आप इसे पीसकर पानी में मिलाकर हरा रंग बना सकते हैं। इसके जगह पर मेंहदी के पावडर का उपयोग आटे के साथ मिलाकर भी हरा रंग का गुलाल बना सकते हैं।
ऐसे बनाए घर पर बनाएं नेचुरल बैंगनी रंग – Make natural purple colour at home in hindi

चुकंदर को बारीक काट कर रात भर पानी में भिगोकर रख दें। अगले दिन सुबह उबाल लें और छानकर इसका रस निकाल लें। इस रस को पानी में मिलाकर सुंदर बैंगनी रंग से होली खेलने का मजा उठा सकते हैं। जामुन के फल को पीसकर कर भी आप बैंगनी रंग बना सकते हैं। 
ऐसे बनाए घर पर बनाएं नेचुरल काला रंग – Make natural black colour at home in hindi

काले रंग के अंगूर के बीज को निकालकर अच्छी तरह से पीस लें। फिर इसको पानी में अच्छी तरह से मिला लें। इससे काला रंग आसानी से बन जाएगा।
होली खेले मगर इन बातों का रखें खास ख्याल – Play Holi but keep these things in mind in hindi

होली में केमिकलयुक्त रंग का प्रयोग नहीं करे। हर्बल रंग का उपयोग करें।
ऐसे लोग रंगों से दूर रहे जिन्हें इनसे एलर्जी है।
रंग खेलने से पहले शरीर पर तेल जरूर लगाए जिससे रंग त्वचा पर नहीं पकड़े
होली के दौरान ज्यादा देर तक भीगे कपड़ें नहीं पहने इससे सर्दी, जुकाम का खतरा बढ़ जाता है।



प्राकृतिक तरीके से छुड़ाए होली का रंग – Remove holi colour naturally in hindi


शरीर पर एक बार रंग लग जाने के बाद काफी मुश्किल से ये छुटता है। ऐसे में प्राकृतिक तरीके का इस्तेमाल करके रंगो को आसानी से हटाया जा सकता है। आप नींबू का रस . दही या चंदन का पेस्ट या हल्दी बेसन का लेप त्वचा पर 10 मिनट तक लगाकर छो़ड़ दे। इसके बाद इसे पानी से धो ले।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.