Header Ads

पाकिस्तानी महिला ने लिखा सेक्स पर लेख और फिर...


पाकिस्तानी महिला ने लिखा सेक्स पर लेख और फिर...

Healths Is Wealth






शादी से पहले सेक्स पर एक पाकिस्तानी महिला के एक लेख से बवाल मच गया है. पाकिस्तान में इस लेख ने लोगों को खेमों में बांट दिया है. सोशल मीडिया पर एक तरफ जहां बहुत से लोग इसका विरोध कर रहे हैं, वहीं बड़ी संख्या में लोग इसका खुलकर समर्थन भी. पाकिस्तान में सेक्स एक प्रतिबंधित विषय है.


यह लेख जाहरा हैदर ने लिखा है जो लेखिका हैं और मानवाधिकार मामलों की वकालत करती हैं. जाहरा हैदर का यह लेख 'वाइस' पत्रिका में प्रकाशित हुआ है. इस लेख का शीर्षक है 'पाकिस्तान में शादी से पहले सेक्स से मैंने क्या सीखा.' इस लेख ने सोशल मीडिया पर नई बहस छेड़ दी है.


इस लेख में जाहरा लिखती हैं, 'पाकिस्तान में रहते हुए मैंने कई तरीकों से सेक्स किया. अपने पार्टनर के घर में, उसके पापा के ऑफिस में और सुनसान जगह पर खड़ी कार में. मैंने कई बार होटलों का भी इस्‍तेमाल किया.'


टॉरन्‍टो में बसी जाहरा ने पाकिस्तान में शादी से पहले सेक्स के अपने अनुभवों और घर पर पता चलने पर मां-बाप की प्रतिक्रिया के बारे में लिखा है. वह लिखती हैं, 'जब परिजनों को पता चला तो उन्होंने इसे बेहद नाटकीय और तर्कहीन तरीके से लिया. हमारे मर्दों के दबदबे वाले समाज में ऐसा करने पर पुरुषों के बारे में कोई राय नहीं बनाई जाती है, लेकिन यदि मध्य वर्ग या गरीब परिवार की कोई लड़की शादी से पहले सेक्स करते हुए पकड़ी जाती है तो बवाल मच जाता है.'

जानिये इस जर्मन वायग्रा का सच

Healths Is Wealth





कहा जाता है कि एक जर्मन टैबलेट वायग्रा 100 ली, लेने से सहवास में काफी मदद मिलती है. यदि आप भी इसे खरीदने जा रहे है तो हम आपको बता दे कि यह कुछ और नहीं, सिल्डेनाफिल साइट्रेट ही है. इसे देसी वायग्रा के नाम से जाना जाता है. यह गोली ख्वाहिश तो नहीं, लेकिन आए हुए तनाव में इजाफा जरूर कर सकती है.


यह गोली खाली पेट (खाने के आधा घंटा पहले या खाना खाने के 2 घंटे बाद) ज्यादा असरदार रहती है. इसे 24 घंटे में एक बार लिया जा सकता है. इसका असर लेने के बाद 4-5 घंटे तक बना रहता है. लेकिन हाँ अगर किसी को सामने वाला इंसान पसंद ही न हो या उसके प्रति अनिच्छा हो तो यह दवा बिल्कुल कारगर नहीं है. मेनोपॉज या हॉर्मोन की गड़बड़ी में भी यह गोली किसी काम की नहीं होती.


आजकल मार्केट में यह स्ट्रिप, फिल्म या जेली के फॉर्म में भी उपलब्ध है. इसके साइड इफेक्ट कम होते हैं और असर 15 मिनट में ही शुरू हो जाता है. इसमें खाली पेट भी रहने की जरूरत नहीं. ध्यान रहे कोई भी दवा अपने डॉक्टर की सलाह के बिना न लें.

शराब पीने का सेक्स पर असरशराब पीने का सेक्स पर असर





शराब के नशे में धुत होकर सेक्स करना और शराब पीकर सेक्स करने में बहुत फर्क होता है. थोड़ी मात्रा में यानि सुरूर बनाने के लिए शराब किसी को भी बेबाकी से संबंध बनाने में सहायता करता है. मगर ज्यादा शराब आपकी सेक्स लाइफ को बर्बाद कर सकती है.

Healths Is Wealth



अधिक शराब के चलते नशे में लोग अक्सर नियंत्रण खो बैठते हैं. बिस्तर पर पहुँचने के बात अहसास होता है कि कम पी होती तो बेहतर होता. इसका कारण यह कि शराब से उत्तेजना कम होती है. शेक्सपीयर ने भी कहा है कि शराब डिजायर बढ़ाती है और परफार्मेंस गिराती है.


शराब के नशे में सेक्स लाइफ न तो शारीरिक संतुष्टि देती है और न ही मानसिक. इस तरह के सेक्स का कोई लॉजिक नहीं होता. इस तरह के सेक्स से संक्रमण, अनचाहे गर्भ और रिश्तों में दरार की संभावना ज्यादा होती है. यह कारण है कि वीकेंड पर कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स की डिमांड ज्यादा होती है.

: लड़कों को यहाँ टच करो, आएगा मज़ा





यदि आप एक लड़की है और अपने बॉयफ्रेंड या पति को ख़ुशी के चरम एहसास तक ले जाना चाहती है तो सेक्स करने से पहले लड़को को इन तीन हगहों पर टच जरूर करे.


होंठ:

जैसा कि हमने पहले ही कहा, किस करना प्यार में तड़का लगाने का सबसे कारगर तरीका है. आप अपने पार्टनर के होठों को चूसकर, उन्हें चूमकर उन्हें काफी उत्तेजित कर सकते हैं. उसके बाद तो सेक्स के खूबसूरत अहसास के लिए तैयार रहिए.


बट:

मर्दों का बट भी काफी सेंसिटिव होता है. जब वे आपके उपर छाए हों, या जब भी मौका मिले, उनके बट को जरूर ध्यान में रखें. वहां पर हल्का-सा मसाज भी पुरुषों को बहुत उत्तेजित करता है.


जीभ:

यह बताने की जरूरत नहीं है कि एक लंबा और प्यारा-सा किस सेक्स के दौरान कितना जरूरी होता है. यह आपके पार्टनर को उत्तेजित करने का सबसे आसान तरीका है. हां, किस करते वक्त यह याद रखें कि हर मूव के बाद इसमें कुछ नयापन हो. पहले हल्का किस, फिर धीरे-धीरे गहरे किस करते रहना चाहिए और हां, इस दौरान अपनी जीभ का जमकर इस्तेमाल करें.
मेमोरी पावर बढ़ाना है तो पीए पुदीना की चाय

Healths Is Wealth





अगर आप बमुश्किल किसी चीज को याद रख पाते हैं, तो पुदीने की चाय पीजिए, क्योंकि एक शोध में पता चला है कि पुदीने की चाय स्वस्थ वयस्कों की याददाश्त लंबी अवधि के लिए सुधार सकती है. इस शोध के लिए अध्ययनकर्ताओं ने 180 प्रतिभागियों को पुदीने की चाय, कैमोमिल (बबूने का फूल) की चाय और गर्म पानी का सेवन कराया था.


शोध के परिणामों से पता चला कि है कि कैमोमिल और गर्म पानी का सेवन करने वालों की तुलना में जिन प्रतिभागियों ने पुदीने की चाय का सेवन किया था, उनकी दीर्घकालिक स्मरणशक्ति और सतर्कता में महत्वपूर्ण सुधार देखे गए.


वहीं कैमोमिल चाय का सेवन करने वाले प्रतिभागियों में पुदीने की चाय और गर्म पानी का सेवन करने वाले प्रतिभागियों की तुलना में स्मृति और एकाग्रता की क्षमता में कमी महसूस की गई. इस शोध को हाल ही में नॉटिंघम में आयोजित साइकोलॉजिकल सोसाइटी के वार्षिक सम्मेलन में पेश किया गया था.

: तुलसी दिलाएगी पिंपल्स से छुटकारा





एक जड़ी-बूटी है जिसका इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं इसका इस्तेमाल रूप-रंग निखारने के लिए भी किया जा सकता है? तुलसी में कई ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जो त्‍वचा और बालों से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने में सहायक हैं.

Healths Is Wealth


त्वचा और बालों से जुड़ी कई समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है. ये एक नेचुरल उपाय है. ऐसे में किसी भी तरह के साइड-इफेक्ट का खतरा नहीं होता है.


पिंपल्स से छुटकारा: तुलसी और नीम के पत्‍तों को पीस लें और एक पेस्ट तैयार कर लें. इस पेस्ट में शहद की कुछ बूंदें मिला लें. पेस्‍ट को पिंपल्‍स पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें. कुछ दिन ये उपाय करने पर पिंपल दूर हो जाएंगे.


डैन्‍ड्रफ से छुटकारा: अगर आपके सिर में रूसी है तो तुलसी के पत्‍तों का पेस्‍ट बना लें. इसे आंवले के पाउडर के साथ मिलाकर स्कैल्प में लगाएं. कुछ देर बाद बाल धो लें. इसके अलावा आप चाहें तो तुलसी की पत्त‍ि‍यों को पानी में उबालकर भी इसे प्रयोग में ला सकते हैं.


दांतों में चमक लाने के लिए: दांतों में पीलापन आ जाना एक आम समस्या है. आप चाहें तो तुलसी की पत्त‍ियों को सुखाकर एक पाउडर बना सकते हैं. इसके अलावा आप चाहें तो इसे संतरे के छिलके के साथ पीसकर पेस्ट भी बना सकते हैं. इस पेस्ट के नियमित इस्तेमाल से पायरिया की शि‍कायत दूर हो जाती है.

ओह! तो महिलाए यह चाहती है आपसे सेक्स के दौरान







सेक्स एक ऐसा विषय है जिस पर लगातार शोध आज भी जारी है. इस पर पहले भी काफी कुछ लिखा जा चुका है साथ ही ऐसे कई शोध हो चुके है जिनमें पुरुष तथा महिलाओ के सेक्स सम्बंधित अलग-अलग विचार जाने गए.


तो आइये हम आपको महिलाओ पर किये ऐसे रिसर्च के बारे में बताते है जिससे यह पता चल पाया है कि सेक्स के दौरान महिलाए अपने पार्टनर से क्या चाहती है. इस सम्बन्ध में सेक्‍स से जुड़े विषय के एक्‍सपर्ट्स के अलावा 700 से ज्‍यादा महिलाओं ने खुलकर अपने विचार व्‍यक्‍त किए हैं.


अहिस्ता-अहिस्ता, आराम से : सभी महिलाएं यही चाहती हैं कि उसके बेहद कोमल अंगों को शुरुआती दौर में ज्‍यादा तकलीफ न दी जाए. महिलाएं पुरुषों से चाहती हैं कि वे उसके सेंसिटिव अंगों के साथ संवेदनशीलता से ही पेश आएं. मतलब यह कि संभोग के दौरान वे चाहे तो जीभ व उंगलियों का इस्‍तेमाल करके जरूरी उत्तेजना पैदा करें, पर कष्‍ट देने से बाज आएं.


वातावरण के अनुसार : शोध के दौरान 50 फीसदी महिलाओं ने स्‍वीकार किया कि संभोग के दौरान अनुकूल मौसम व वातावरण न होने की वजह से वे चरम तक न पहुंच सकीं. महिलाओं ने माना कि दरअसल पुरुषों के ठंडे पांव की वजह से उन्‍हें ज्‍यादा तकलीफ होती है. डॉ. होल्‍सटेज ने कहा कि सेक्‍स के दौरान वातावरण भी काफी मायने रखता है. अगर कमरे का तापमान अनुकूल रहता है, तो यह सेक्‍स का मजा बढ़ा देता है.


सेक्स पॉजिशन : ऑस्‍ट्रेलियन सेक्‍स रिसर्चर जूलियट रिचटर्स कहती हैं कि सर्वे में शामिल पांच में से केवल एक महिला ने माना कि वे केवल एकदम नॉर्मल तरीके से किए गए संभोग से ही चरम तक पहुंच जाती हैं. ज्‍यादातर युवा महिलाओं का मानना था कि वे अपने पार्टनर से चाहती है कि वे सेक्‍स के दौरान अपने हाथ और मुंह का भी ज्‍यादा इस्‍तेमाल करें. उन्‍हें अपनी किताब के लिए 19 हजार लोगों पर किए गए सर्वे के दौरान इस तथ्‍य का पता चला.90 फीसदी से ज्‍यादा महिलाओं ने माना कि वे केवल सेक्‍स के दौरान अपने पार्टनर द्वारा मुख का भी इस्‍तेमाल किए जाने के बाद चरम तक पहुंचती हैं.

रिसर्च में पाया गया कि जब कामक्रीड़ा आरामदायक तरीके से, धीरे-धीरे, पर लगातार किया जाता है, तो जोड़े चरम तक जल्‍दी पहुंच जाते हैं.


संवेदनशील अन्‍य अंगों को पहचानें : सेक्‍स पर शोध करने वालों ने पाया है कि केवल G-स्‍पॉट ही आनंद देने के लिए पर्याप्‍त नहीं है, बल्कि महिलाओं के शरीर में और भी ऐसे भाग हैं, जहां संवेदना ज्‍यादा होती है. इसमें A- स्‍पॉट भी शामिल है, जहां सहलाने से महिलाओं का शरीर यौन क्रिया के लिए शारीरिक रूप से तैयार हो पाता है. इस काम में उंगलियों की कारस्‍तानी काम आती है.


चरम तक पहुंचा ही जाए यह जरुरी नहीं : महिला हर बार चरम तक पहुंच ही जाए, यह कोई जरूरी नहीं है. कई बार तनाव व थकान की वजह से ऐसा नहीं हो पाता. ऐसे में जबरन आधे घंटे तक ‘खेल’ जारी रखने की बजाए इसे खत्‍म करना बेहतर रहता है. चरम तक न ले जाने के लिए हर बार पुरुष ही जिम्‍मेदार नहीं होता. फिर भी अगर महिला चाहे, तो आप अपने हाथों और उंगलियों से उसे संतुष्‍ट कर सकते हैं. कुल मिलाकर इस क्रीड़ा का आनंद ही मायने रखता है.
: क्या आप भी चाहते है जल्दी उठना, रखे इन बातो का ध्यान







कहते है जो सोता है वह खोता है इसलिए जल्दी उठाना बहुत लाभकारी होता है और हमारे घर के बड़े लोग तथा डॉक्टर की भी यही सलाह रहती है कि आपको यदि अपना स्वाथ्य ठीक रखना है तो सुबह जल्दी उठने की आदत डाले, तो आइये हम करते है इस मुश्किल काम में आपकी मदद।


1.रात में खाने के बाद चाय या कॉफी कभी न लें। इससे रात में जल्दी नींद आएगी और सुबह जल्दी नींद खुल जाएगी।


2.फोन, टैबलट या किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को अपने साथ बिस्तर में लेकर न सोएं। इससे देर से नींद आएगी और सुबह जल्दी नहीं उठ पाएंगे


3.अगर आप भी कमरे में एसी चलाकर सोने के आदि हैं तो रूम टेम्प्रेरचर मेंटेन करना जरूरी है। बेडरूम का तापमान 18 से 22 डिग्री के बीच ही होना चाहिए।


4.रात में हाई प्रोटीन डाइट लेने से नींद भी देर से आती है। इसलिए रात को हल्का भोजन लें। इससे जल्दी नींद भी आएगी और सुबह जल्दी उठ पाएंगे।


5.सुबह के अलार्म टाइम को हर दिन 5-5 मिनट कम करें। इससे सुबह जल्दी उठने की आदत बन जाएगी। जैसे ही अलार्म बजे तुरंत उठ जाएं। बार-बार स्नूज बटन न दबाएं। ऐसे में जल्दी उठने में मदद मिलेगी।


6.सुबह जल्दी उठने के लिए रात में सोने से पहले खुद को मोटिवेट करना जरूरी है। इस बात को कई बार सोचें कि सुबह जल्दी उठना है।


7.अलार्म को इतना दूर रखें कि आवाज भी सुनाई दे और उसे बंद करने के लिए उठ कर जाना पड़े। बिस्टर छूटने से नींद दूर करने में मदद मिलती है। साथ ही यह भी जरूरी है कि आप कोई अपनी पसंद की अलार्म टोन लगाएं। इससे आप अलार्म बजने पर आसानी से उठ जाएंगे।

नपुंसकता को दूर करने के लिए अपनाए यह डाइट







प्रतिदिन दूध के साथ शतावरी का सेवन करें. दूध को बहुत उबाल कर ही पीएं. केले और संतरे का नियमित सेवन करें. घी, मख्खन, हरी सब्जियां, फल और बादाम का रोजाना सेवन करें. इससे प्राटीन मिलता है और शुक्राणुओं में वृद्धि होती है.


प्रतिदिन एक ग्लास गाजर का जूस पिएं या फिर प्रतिदिन चार-पांच गाजर खाएं. मूंगफली के दाने और सूखा नारियल खाना भी लाभदायक है. सिर्फ दूध पीना शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है. दूध के पाचन के लिए जरूरी हे कि उसमें थोड़ी सी शक्कर भी मिलाई जाएं.


शरीर में विटामिन मात्रा बनाए रखने के लिए पालक, फूल गोफी, गाजर जैसी हरी-सब्जियों का सेवन करना बहुत आवश्यक है. शरीरिक कमजोरी के मामले में एक बात का विशेष ध्यान रखें कि शराब-सिगरेट का सेवन बिलकुल न करें. चिकित्सीय सलाह पर अश्वगंधारिष्ट का सेवन भी कर सकते हैं.


शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सिर्फ आहार ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि पाचन क्रिया भी सही होनी चाहिए. इसके लिए नियमित एक्सरसाइज भी बहुत जरूरी है. नियमित एक्सरसाइज तनाव से मुक्ति व सेक्स लाइफ का खास टॉनिक है.

शुरुआती पलो में ही कंडोम पहन ले वरना....







सेक्स के दौरान कंडोम पहनना कितना महत्वपूर्ण होता है यह तो आप सभी जानते ही होंगे. यह ना सिर्फ हमे यौन सम्बन्धी बीमारियों से बचाता है बल्कि अनचाहे गर्भ से भी रक्षा करता है.


लेकिन कई पुरूष सेक्स के शुरूआती क्षणों में कंडोम नहीं पहनते मगर स्खलित होने के समय अगर जरा सी चुक हो जाए तो स्‍पर्म योनी में ही गिर सकता है जिससे गर्भ ठहरने का डर बना रहता है. ऐसा करना ख़तरनाक हो सकता है.


कुछ मिनटों का यह असुरक्षित सेक्स भी यौन रोगों को आमंत्रण दे सकता है. इसलिए हमारी सलाह यह होगी कि आप सेक्स करने से पहले ही कंडोम पहन लेना अच्छा विकल्प होगा.

पेट संबंधी बीमारियों में खाये यह हरी चीज







पेट से सम्बंधित समस्याएँ होने पर बहुत तकलीफ होती है. जब यह समस्यां होती है तो किसी और काम में मन नहीं लगता है. यहाँ तक की बिस्तर पर लेटना भी मुश्किल हो जाता है. ऐसे में आप डॉक्टर्स का सहारा ले सकते है.


लेकिन यदि डॉक्टर्स का अपॉइंटमेंट लेट है और आप से दर्द सहन नहीं हो रहा तो आप एक घरेलु नुस्खा भी ट्रॉय कर सकते है. पेट और गैस से सम्बंधित बीमारियों में पुदीना रामबाण का काम करता है.


इसकी चटनी और शरबत पीने से पेट में ठंढक पहुँचती है और लीवर में इकठ्ठा जहरीला पदार्थ बाहर आ जाता है. इसको नियमित खाते रहने से पाचन शक्ति बढ़िया हो जाती है. पुदीने के तेल की पेट पर मालिश करने से भी गैस और पेट दर्द में आराम मिलता है.



गर्मी में खाये लाभकारी पुदीना







1. नियमित रूप से पुदीना खाने से शरीर का हीमोग्लोबिन बढ़ने लगता है, वैसे भी हरी साग सब्जियां खून बढाने में रामबाण का काम करती हैं.


2. पुदीने का तेल लगाने से सिरदर्द में तुरंत लाभ मिलता है, आयुर्वेदिक तेलों में इसका बहुत इस्तेमाल किया जाता है. इसका तेल बालों और शरीर की त्वचा के लिए बहुत बढ़िया होता है.


3. बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाओं की छाती में दर्द होने पर भी पुदीने का तेल फायदेमंद होता है.


4. पुदीने का रस काली मिर्च व काले नमक के साथ चाय की तरह उबालकर पीने से जुकाम, खांसी व बुखार में राहत मिलती है.


5. पुदीने की पत्तियां चबाने या उनका रस निचोड़कर पीने से हिचकियां बंद हो जाती हैं.


6. सिरदर्द में पुदीने की पत्तियों का लेप माथे पर लगाने से आराम मिलता है.


7. पुदीने की पत्तियों को सुखाकर बनाए गए पाउडर को मंजन की तरह प्रयोग करने से मुंह की दुर्गंध दूर होती है और मसूड़े मजबूत होते हैं.



: कार में ऐसे ले सेक्स का मजा







आजकल की बिजी लाइफ में लोग सेक्‍स का पूरा मजा नहीं ले पाते. एक ओर ऑफिस में बॉस की टेंशन और घर में मेहमान, ऐसे में सेक्‍स के लिए पर्याप्‍त समय निकालना काफी मुश्‍किल है. आज हम आपको एक ऐसी टिप्‍स देंगे जिनकी मदद से चंद पलों में आप सेक्‍स का मजा ले सकते हैं.


जब घर पे टाइम नहीं हो तो आप कार के अंदर सेक्स का मजा ले सकते है. हालांकि कार में सेक्‍स करने का तरीका काफी पूराना है मगर इसे आज भी सबसे अच्‍छा तरीका समझा जाता है. इसकी ख़ास बात यह है कि आप अपने साथी को ऑफिस से घर जाते समय पिकअप कर ले और रस्ते में ही सेक्स का मजा ले ले.


बस इतना ध्‍यान रहें आप पुलिस और पब्‍लिक प्‍लेस से दूर हों. अगर आप की कार बड़ी है तो बैक सीट में आराम से सेक्‍स का मजा लिया जा सकता है.

सांस की बीमारियों का घरेलु उपाय







सांस की बीमारी आज लगभग हर तीसरे हिन्दुस्तानी को है. इसकी सब से बड़ी वजह है लगातार बढ़ता वायु प्रदुषण. अब सिर्फ शहर ही नहीं बल्कि गावों में भी यह वायु प्रदुषण बढ़ता जा रहा है. बढ़ते वाहनों की संख्या इसकी जिम्मेदार कही जा सकती है.


यदि दुर्भाग्यवाश आपको भी सांस संबंधी बीमारी हो गई है तो इस बात की सम्भावना ज्यादा है कि आप ज्यादा सीढ़ी चढ़ने पर हांफते होंगे या कोई भारी वजन उठाने पर आपकी साँसे फूलने लगती होगी. यदि आपने कभी ऐसा महसूस किया है तो आज ही डॉक्टर से चेकअप करवाए. आप चाहे तो कुछ घरेलु उपाय भी अपना सकते है.


नियमित रूप से पुदीना खाने वालों को सांस की ‘घरघराहट और सरसराहट’ जैसे बामारियों से फायदा मिलता है. पुदीने के तेल की छाती पर मालिस करने से छाती का दर्द भी सही होता है. आयुर्वेदिक सीरप में पुदीने का जमकर इस्तेमाल किया जाता है. अस्थमा में भी लाभ मिलता है.



ऐसे बढाए अपना वजनऐ







वजन भी एक समस्‍या है चाहे वह ज्‍यादा हो या कम. लेकिन जिनका वजन कम हे वे इसे बढ़ाने के लिए कई प्रकार के जतन करते हैं, कुछ लोग तो जल्दी वजन बढ़ाने के लिए कुछ ऐसे नुस्खे आजमाते हैं जो वजन तो बढ़ाते हैं लेकिन उसका नुकसान शरीर पर होता है. आइये जाने वजन बढ़ाने का सही तरीका.


1. वजन बढ़ाने के लिए सबसे पहले तो आपका फिट रहना जरूरी है. आप वजन बढ़ाना चाहते हैं इसका ये अर्थ नहीं कि आप शारीरिक रूप से बिल्कुल भी सक्रिय नहीं होंगे.


2. वजन बढ़ाने के लिए नियमित व्यायाम बहुत जरूरी है, इसके लिए आप फिटनेस सेंटर ज्वॉइन कर सकते हैं.


3. वजन बढ़ाने के लिए सबसे बढ़िया उपाय है आप हाई कैलोरी का खाना खाएं. लेकिन इसका ये अर्थ नहीं कि आप जंकफूड भारी मात्रा में खाने लगे. जंक फूड और फास्ट फूड की तुलना में स्‍वस्‍थ और अधिक कैलोरीयुक्त खाद्य-पदार्थों को प्राथमिकता दीजिए.


4. अगर आप वजन हेल्दी रूप से बढ़ाना चाहते हैं तो आपको सुबह का नाश्ता हेवी करना होगा. सुबह का नाश्ता करने आप दिनभर ऊर्जावान बने रहते हैं.


5. वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन शेक भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है. इससे हड्डियां भी मजबूत होती है. चिकन, चावल, फिश, अंडा इत्यादि भी वज़न बढ़ाने में सहायक हो सकते हैं.



: इस तरह पहुचाएं अपने पार्टनर को चरम तक







आज के समय में हो रहे शोध से पता चल रहा है कि अधिकतर पुरुष बिस्तर पर अपनी पत्नी को चरम तक पहुचने में असफल हो रहे है और यह काफी चिंता का विषय है तो आइये हम आपको ऐसे तरीके बता रहे है जिन्हें अपनाकर आप अपनी पार्टनर को SEX में सम्पूर्ण सुख प्राप्त करवाने में सफल होंगे.


अंडरस्टैंडिंग : सेक्स या संभोग में केवल तन का मिलन न होकर मन का मिलन भी उतना ही आवश्यक होता है, क्योकि अगर आपका और आपके साथी के बीच अंडरस्टैंडिंग नहीं होगी तो आप कभी भी इस क्रिया का पूरा आनंद नहीं ले पाएंगे.


जोश के साथ सेक्स : सम्पूर्ण आत्मविश्वास से लबालब होकर और मन की ताकत जोश से सेक्स करें, क्योकिं एक प्राचीन कहावत है “मन के हारे हर है और मन के जीते जीत.”


सही समय : समय का चुनाव अतिमहत्वपूर्ण होता है, मतलब ऐसे किसी भी समय का चुनाव नहीं करें जिसमे आपको लगता है की कोई दरवाजा खटखटा देगा या कोई भी डिस्टर्ब करेगा.


मानसिक तनाव : हालाँकि सेक्स शरीर को थकान और चिंता से निकालता है और एक नई स्फूर्ति प्रदान करता है लेकिन अत्यधिक चिंता या तेज मानसिक तनाव होने पर सेक्स न करें, नहीं तो पूरा आनंद नहीं ले पाएंगे.


खुशनुमा माहौल : कमरे का माहौल खुशनुमा रखे जैसे की किसी अच्छे रूम फ्रेशनर या खुशबूदार पुष्पों का इस्तेमाल करना. धीमे स्वर में संगीत बजाना भी माहौल को चार चाँद लगा देगा.


सही स्टेप्स: सर्वप्रथम मुड बनाने का पूरा प्रयास करें जैसे की रोमेंटिक बातें करना, चुम्मन, आलिंगन और उसके बाद हौले हौले शुरुआत करें.केवल विडियो देखकर उसके जैसी सारी स्टेपस अपनाने का प्रयत्न बिलकुल नहीं करें, पुर्णतः कम्फर्ट रहने वालें ही संभोग आसन का उपयोग करें.


पुरुष को चाहिए की खुद ज्यादा उत्तेजित न होकर स्त्री को पहले पूर्णरूप से उत्तेजित करें, जिसमे कान के नीचे और गले का भाग, वक्षस्थल, कमर, नाभि, जांघ आदि को सहलाना और चूमना शामिल होता है.


यदि पुरुष को लगे की वह स्खलित होने वाला है लेकिन स्त्री स्खलित नहीं हुई होतो, उसे कुछ क्षणों के लिए अपनी गति को रोक देना चाहिए और अपना ध्यान किसी और काम में लगा देना चाहिए जैसे की ऑफिस का हिसाब किताब याद करना, क्योकि स्खलन का सीधा सम्बन्ध मष्तिष्क से ही होता है इसीलिए इससे स्खलन-संभोग क्रिया को ज्यादा समय तक चलाया जा सकता है



बीमारियों में खाएं यह फल







जिन लोगों को डायबिटीज है उनके लिए अंगूर सेवन करना हितकारी है. अंगूर शुगर की मात्रा को कम करता है. खून में मौजूद शुगर को नियंत्रित करने में अंगूर अहम भूमिका निभाता है. अंगूर खून की कमी और आयरन की कमी को भी दूर करता है.


यदि सिर में दर्द हो रहा हो तो 8-10 नग मुनक्का ,10 ग्राम मिश्री और इतनी ही मात्रा में मुलेठी एवं थोड़ी मात्रा में शुद्ध जल रात भर खुले आसमान के नीचे छोड़ दें और सुबह मिलाकर पीस लें. नाक में दो बूँद टपका दें. सिरदर्द में लाभ मिलेगा. नाक से खून आना (नकसीर) में भी ऊपर लिखा फार्मूला अत्यंत लाभकारी है.




यदि पांच से दस ग्राम मुनक्का नियमित रूप से खाई जाए तो मुख की दुर्गन्ध में लाभ मिलता है. आठ से दस नग मुनक्का और हरीतकी का काढ़ा लगभग 20 मिली की मात्रा में शहद के साथ मिलाकर खाने से दमा रोग में भी लाभ मिलता है.

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए यह करे




कभी किसी को दूर की चीजें नहीं दिखती तो कभी किसी को पास की जीचें देखने में परेशानी होती है. अगर आपकी आंखें भी थकान और कमजोर नजर की शिकार है तो हमारा यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा. जी हां, आज हम अपने लेख में बताएंगे कुछ आंखों के व्यायाम और कुछ खास टिप्स जो आपकी मदद करेंगे कमजोर नजर को सही करने में.


आखों का व्यायाम जरूर करें. आप अपने दो अनमोल आंखों की पुतलियों को दाएं बाएं फिर ऊपर नीचे घुमाए. यही नहीं अपनी आंखों की पुतलियों को चारों तरफ भी घुमाए. यह बेस्ट व्यायाम है आपकी आंखों के लिए। इसे करते रहे फिर आप देखेंगे कि आपकी नजरें कमजोर नहीं बल्कि तेज़ हो गई है. जिस तरह आपका शरीर व्यायाम करने से हमेशा फिट और हेल्दी रहता है ठीक उसी तरह आंखों को भी व्यायाम की जरूरत है.


काम करते-करते अकसर अपनी आंखों को थोड़ी देर के लिए बंद कर लिया करें. दिन में 3 से 4 घंटे के बाद अपनी आंखों को आराम जरूर करने दें. इस टिप्स से आपकी आंखें ज्यादा लंबे देर तक नहीं खुली रहेगी लगातार. ऐसा करने से आपकी आंखों को आराम मिलेगा. आंखें ही अगर थक जाए तो आप इस खूबसूरत दुनिया को एंजॉय कैसे करेंगे.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.