Header Ads

विटामिन की कमी से होने वाली समस्याएं और उनके समाधान

विटामिन की कमी से होने वाली समस्याएं और उनके समाधान


हमारे खानपान में भी ऎसे कई पोषक तत्व होते हैं जिनकी हमें रोजमर्रा के कामों के लिए जरूरत होती है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

विटामिन-ए
यह स्वस्थ आंखों के अलावा बालों, त्वचा, हडि्डयों और दांतों के लिए जरूरी है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
कमी से : रात में कम दिखना, सूखी त्वचा व कमजोर हडि्डयां।
स्रोत : सोया मिल्क, डेयरी उत्पाद, गाजर, पालक, हरी मटर, टमाटर का जूस, तरबूज, चुकंदर आदि।

विटामिन बी-1
शरीर में कार्बोहाइड्रेट को एनर्जी में बदलने का काम यह विटामिन करता है। यह नर्व सिस्टम की कार्यप्रणाली को सामान्य बनाने व पाचन शक्ति को मजबूत करता है।
कमी से : ध्यान न लगना, भूख में कमी, थोड़ा काम करते ही थकावट।
स्रोत : केला, फलियां, आलू, चुकंदर, तरबूज, साबुत अनाज।

विटामिन-सी
शरीर के अंगों व ऊत्तकों को एक-दूसरे से जोड़े रखने में सहयोगी।
कमी से : मसूड़ों से खून आना, घाव जल्दी न भरना।
स्रोत : खट्टे फल, खरबूजा, टमाटर, आलू, हरी मिर्च, हरी पत्तेदार सब्जियां।

विटामिन-डी
कैल्शियम को सोखने में मददगार और शरीर में फॉस्फोरस के स्तर को बढ़ाता है। हडि्डयां मजबूत व स्वस्थ रखता है।
कमी से: कमजोर हडि्डयां।
स्रोत : दूध, धूप, साबुत अनाज।

विटामिन-ई
यह शरीर में लाल रक्त कणिकाओं को बनाने का काम करता है।
कमी से : पेट संबंधी रोग।
स्रोत : साबुत अनाज और दालें व सूखे मेवे।
विटामिन-के
खून के थक्के बनने से रोकने का काम इसी विटामिन का है।
कमी से : नाक से खून आना, आंतरिक रक्तस्राव।
स्रोत : हरी सब्जियां, सोयाबीन।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.