Header Ads

सेक्सुअल प्रॉब्लम्स के घरेलू नुस्ख़े


सेक्सुअल प्रॉब्लम्स के घरेलू नुस्ख़े


Aditya-Shraddha
इन दिनों सेक्स संबंधी समस्याएं काफ़ी बढ़ रही हैं. ऐसे में इन होम रेमेडीज़ से न केवल सेक्सुअल प्रॉब्लम्स को दूर किया जा सकता है, बल्कि सेक्सुअल लाइफ भी इम्प्रूव की जा सकती है. इसके बारे में पारस ब्लिस हॉस्पिटल की कंस्लटेंट गायनाकोलॉजिस्ट
डॉ. प्रीति रहेजा ने उपयोगी जानकारियां दीं.
स्वप्नदोष (नाइट फॉल)
– जिन लोगों को अधिक स्वप्नदोष की समस्या है, वे हर रोज़ आंवले का मुरब्बा खाएं.
– लहसुन की दो कली दरदरा कूटकर निगल जाएं. फिर थोड़ी देर बाद गाजर का जूस पीएं.
– काली तुलसी की 10-12 पत्तियां पानी के साथ लें.
– तुलसी की जड़ के टुकड़े को पीसकर पानी के साथ लें. यदि जड़ न ले सकें, तो 2 चम्मच तुलसी का बीज शाम के समय मेें खाएं.
– आधा चम्मच मुलहठी का चूर्ण और एक चम्मच आक की छाल का चूर्ण दूध के साथ लें.
– एक लीटर पानी में त्रिफला चूर्ण रातभर भिगोकर रखें. सुबह छानकर पीएं.
– यदि हर रोज़ नीम की पत्तियां ख़ूब चबाकर खाएं, तो नाइट फॉल की समस्या दूर हो जाती है.
शीघ्रपतन (इजैक्युलेशन)
– आधा-आधा चम्मच शहद, मिश्री व स़फेद प्याज़ का रस मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें.
– रात को सोते समय 1 चम्मच त्रिफला का चूर्ण 5 मुनक्कों के साथ लें और ऊपर से ठंडा पानी पीएं.
– सुबह खाली पेट 2 छुहारे ख़ूब चबाकर दो हफ़्ते तक खाएं. फिर तीसरे हफ़्ते 3 छुहारे और चौथे हफ़्ते 4 छुहारे रोज़ खाएं. इसके साथ ही रात को सोते समय दो हफ़्ते तक 2 छुहारे, फिर तीसरे व चौथे हफ़्ते से तीन महीने तक 4 छुहारे 250 मि.ली. दूध में उबालकर गुठली निकालकर ख़ूब चबा-चबाकर खाएं और ऊपर से दूध पीएं.
– 100-100 ग्राम अश्‍वगंधा, बिदारीकंद व स़फेद मूसली को लेकर बारीक़ चूर्ण बनाकर रख लें. 5 ग्राम इस चूर्ण को सुबह-शाम दूध के साथ लें.
– आधा किलो इमली के बीज को 3 दिन तक पानी में भिगोकर रखें. फिर छिलके निकालकर स़फेद बीजों को खरल में पीस लें और इसमें आधा किलो मिश्री मिलाकर कांच के बर्तन में रख दें. इसे सुबह-शाम आधा चम्मच दूध के साथ लें.
नपुंसकता (इम्पोटेंसी)
– जायफल को घिसकर दूध में मिलाकर 3 दिन तक पीएं.
– 2 चम्मच प्याज़ के रस में 1 चम्मच शुद्ध घी मिलाकर सुबह के समय 3-4 हफ़्ते तक लें.
– 10-10 ग्राम स़फेद मूसली, अश्‍वगंधा चूर्ण, तालमखाना व कौंच बीज चूर्ण- सभी को मिलाकर रख लें. इसे 5 ग्राम की मात्रा में ठंडे दूध के साथ लें.
– 25 ग्राम सिंघाड़े का आटा, 50 ग्राम शक्कर, 15 ग्राम घी व पाव लीटर दूध लेकर हलवा बनाकर खाएं.
– काले तिल व गुड़ का लड्डू बनाकर नियमित रूप से खाएं.
– 6-6 ग्राम तालमखाना, गोखरू व उटंगन के बीज के चूर्ण को आधा लीटर दूध में पकाएं. जब पानी आधा रह जाए, तब आंच पर से उतारकर ठंडा कर पीएं. इसका 21 दिनों तक सेवन करें.
– उड़द की दाल को भिगोकर पीस लें. फिर इसे दही के साथ गूंधकर वड़े बनाकर फ्राई करके खाएं.
बांझपन (इंफर्टिलिटी)
– सुबह के समय 5 कली लहसुन चबाकर ऊपर से दूध पीएं.
– माहवारी के समय तुलसी के बीज चबाने से या पानी में पीसकर लेने या काढ़ा बनाकर सेवन करने से कंसीव होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं.
– 1 कप गुनगुने पानी में 1 चम्मच दालचीनी का चूर्ण मिलाकर 1 महीने तक दिन में एक बार रोज़ाना लें. साथ ही अपने भोजन-नाश्ता में भी दालचीनी चूर्ण मिलाकर खाएं.
– अनार के बीज व छाल को बराबर मात्रा में मिलाकर बारीक़ चूर्ण बनाकर एक एयर टाइट जार में रख लें. कुछ हफ़्तों तक इस मिश्रण को आधा चम्मच दिन में दो बार गुनगुने पानी से लें. साथ ही ताज़ा अनार का फल व रस भी ले सकते हैं.
– 50 ग्राम गुलकंद में 20 ग्राम सौंफ मिलाकर चबाकर खाएं और एक ग्लास दूध पीएं. इसका नियमित रूप से सेवन करने से इंफर्टिलिटी की समस्या दूर होती है.
– पीरियड्स के बाद एक हफ़्ते तक 2 ग्राम नागकेसर के चूर्ण को दूध के साथ लें.
– महिलाएं शतावरी चूर्ण को घी-दूध मिलाकर लें. इससेे गर्भाशय की सारी समस्याएं दूर हो जाएंगी और वे कंसीव भी कर सकेंगी.
– प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए योग-प्राणायाम की मदद भी ले सकते हैं, जैसे- भ्रामरी प्राणायाम, योग निद्रा, हस्तपादासन, जानु शीर्षासन, पश्‍चिमोत्तासन, विपरीतकरणी, शोधन प्राणायाम आदि.
सेक्स लाइफ को इम्प्रूव करने के लिए
– 100 मि.ली. पेठे के रस में शक्कर मिलाकर सुबह-शाम पीएं.
– 2-4 सूखे अंजीर दूध में पकाकर खाएं और ऊपर से दूध पीएं.
– दूध में 10 ग्राम गोखरू का चूर्ण व 15 ग्राम काला तिल पकाकर पीएं.
– रिसर्च के अनुसार, हर रोज़ अनार के जूस का सेवन वियाग्रा की तरह काम करता है.
– सूर्यास्त से पहले बरगद के पत्ते तोड़कर उसमें से निकलनेवाले दूध की 10-12 बूंदें बताशे पर रखकर खाएं.
– एक चम्मच शहद में एक चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर हर रोज़ सुबह खाली पेट लें.
– 2 ग्राम इलायची के दानों का चूर्ण, 1 ग्राम जावित्री का चूर्ण, 5 बादाम व 10 ग्राम मिश्री लें. बादाम को रातभर भिगोकर सुबह पीसकर पेस्ट बना लें. फिर इसमें अन्य सामग्री व 2 चम्मच मक्खन मिला लें. हर रोज़ सुबह नियमित रूप से लें.

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.