Header Ads

पीरियड्स के तेज दर्द को कम करने में असरदार हैं ये 15 उपाय

पीरियड्स के तेज दर्द को कम करने में असरदार हैं ये 15 उपाय


Periods Pain problem
लाइफस्टाइल डेस्कः महिलाओं के लिए पीरियड्स हर महीने होने वाला एक नेचुरल प्रोसेस है जो 4 से 5 दिनों तक रहता है। इस दौरान मूड स्विंग होने के साथ ही पेट में भयंकर दर्द होने की शिकायत भी ज्यादातर महिलाओं के साथ होती है। कई बार ये दर्द इतना बढ़ जाता है कि दवा खाने और हॉस्पिटल जाने की नौबत तक आ जाती है। आखिर इस दर्द के पीछे क्या वजह है और कैसे इन्हें दूर किया जा सकता है इसके बारे में जानेंगे।
हरी सब्जियां
सब्जियां, जैसे- हरी प्याज, पत्तगोभी, मैथी, पालक आदि को डाइट में शामिल करें। इनमें मौजूद विटामिन्स और मिनरल्स बॉडी की कई सारी जरूरतों को पूरा करते हैं। साथ ही इनमें कैलोरीज की मात्रा भी बहुत कम होती है, जिससे वजन बढ़ने की समस्या भी नहीं होती। इसके अलावा इसके एंटी-ऑक्सीडेंट्स बॉडी से टॉक्सिन्स को बाहर निकालते हैं। हरी व पत्तेदार सब्जियों के अलावा हरी मटर, टमाटर, पत्तागोभी, एवोकैडो खाने से भी पीरियड्स का दर्द कम होता है।
पाइनएप्पल
अनन्नास में ब्रोमलेन जो प्रोटीन-डाइजेस्टिव एंजाइम का मिक्सचर है मौजूद होता है जो दर्द में आराम दिलाता है। सिर्फ पीरिडड्स में ही नहीं ये जोड़ों के दर्द की भी कारगर दवा है।
पपीता
पपीते का एंटी-इन्फ्लेमेटेरी तत्व, दर्द में आराम दिलाता है। इसके अलावा इसमें कैरोटिन, आयरन, कैल्शियम और विटामिन ए और सी जैसे न्यूट्रिएंट्स भी मौजूद होते हैं जो ब्लड क्लॉटिंग नहीं होने देते साथ ही मसल्स कॉन्ट्रेक्शन को भी रोकते हैं।
Other beneficial things: दूध, खट्टी चीजें, अदरक, ऐलोवेरा, पानी, तुलसी की पत्तियां, पुदीना, दालचीनी, अजवायन, लैवेंडर ऑयल, गाजर, नमक
दूध
इन 4-5 दिन के दौरान होने वाले दर्द से बचने के लिए गर्म दूध पीने से फायदा मिलता है। दूध में थोड़ी सी खसखस की मात्रा मिलाकर पीएं।
खट्टी चीजें
पीरियड्स के एक हफ्त पहले से ही खट्टी व ठंडी चीजें खाना बंद कर दें। अचार, मसालेदार खाने को अवॉयड करें क्योंकि ये दर्द को बढ़ाते हैं।
अदरक
पीरियड्स शुरू होने के पहले से ही पानी में अदरक को उबालें और उसमें शहद मिलाकर पिएं। इससे उस दौरान होने वाले दर्द में आराम मिलता है। दिन में 2-3 बार इस नुस्खे का इस्तेमाल करें।
ऐलोवेरा
पीरियड्स के भयंकर दर्द बचने के लिए एक सप्ताह पहले से रोजाना ऐलोवेरा जेल को खाना शुरू करें।
पानी
पीरियड्स में बहुत तेज दर्द होने पर गुनगुने पानी में शुद्ध घी मिलाकर पिएं।
तुलसी की पत्तियां
तुलसी के पत्ते पीरियड्स के दर्द को दूर करने में बहुत ही फायदेमंद होते हैं। तुलसी के पत्तों को गर्म पानी में उबालकर उसमें 1 टीस्पून शहद मिलाकर दिन में तीन बार लेने से दर्द नहीं होता। इसके अलावा तुलसी के पत्तों को चबाने से भी दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है।
पुदीना
पुदीने की पत्तियों केा पानी में उबालकर उसमें शहद मिलाएं और दो से तीन बार पीएं। इससे दर्द से तुरंत राहत मिलती है। इसके अलावा इसके तेल से 15 मिनट पेट की माशिल करने से भी आप दर्द में राहत पा सकती हैं।
दालचीनी
दालचीनी मसाले का एक प्रकार है जो कई सारे मिनरल्स का भी खजाना होता है। जो पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत दिलाते हैं। इसके लिए दालचीनी पाउडर को शहद के साथ इस्तेमाल करें।
अजवायन
रसोई में मौजूद अजवायन इन दिनों को बहुत आसान बना सकती है। एक कप पानी गर्म कीजिए। इसमें एक चम्मच अजवायन डालकर उबलने दें। लगभग पांच मिनट उबलने के बाद गैस बंद कर दें। इसे छानकर पी लें। उबालना न चाहें, तो आधा चम्मच अजवायन मुंह में डालकर गुनगुना पानी पी लें। भुनी अजवायन एक कप गर्म दूध के साथ लेने से भी राहत मिलेगी।
लैवेंडर ऑयल
अपने पेट के पास लैवेंडर ऑयल लगाने से पेट दर्द व ऐंठन से 10-15 मिनट में ही आराम मिल जाता है।
गाजर
गाजर न सिर्फ आपकी आंखों के लिए अच्छी होती है बल्कि ये पीरियड्स में भी मददगार साबित होती है। इस दौरान एक ग्लास गाजर का जूस पीने से आराम महसूस होता है।
नमक
पीरियड्स में ब्लॉटिंग होना आम बात होती है। लेकिन अगर आप पीरियड्स से कुछ पहले से नमक खाना कम कर दें तो दर्द की समस्या कम हो जाएगी।
दर्द का कारण
पीरियड्स के दौरान पेट और कमर में दर्द होना बहुत आम बात है। इस दर्द का कारण प्रोस्टेग्लेंडाइन है। जो गर्भाशय के पास निकलने वाला एक हार्मोन होता है। ये हार्मोन डिलीवरी के दौरान भी एक्टिव रहता है। इससे गर्भाशय की लाइनिंग बाहर निकलती है। साथ ही, गर्भाशय में इस दौरान खून की कमी होती है जिसकी वजह से मसल्स में प्रॉब्लम होती है। साथ ही स्मोकिंग, ऐल्कोहल और ड्रग्स लेने से भी ये समस्या बढ़ जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.